विदेशी महिला मित्र के साथ सेक्स सम्बन्ध-2


दोस्तो, मेरी स्टोरी
विदेशी महिला मित्र के साथ सेक्स सम्बन्ध
का अगला भाग प्रस्तुत है.

दोस्तो, मैक्सिको टूर का यह तीसरा दिन था. साईट-सीइंग के बाद हम सभी एक इटालियन रेस्तरां में बैठे थे कि वेरोनिका की बहन का फोन आ गया.
उसने हमारी लोकेशन पूछी. वेरोनिका की बहन, जिसका नान एना था, वो अपने ब्वॉयफ्रेंड हेक्टर के साथ आई और हमारे टूर के ग्रुप के साथ जुड़ गई.

एना एक 36 वर्षीय महिला थी और हेक्टर 39 वर्षीय था. एना एक बहुत खूबसूरत माल थी, मैंने नजर भरके उसकी फिगर को निहारा. उसकी फिगर लगभग 36-32-38 की रही होगी.

मैं एना के मम्मों की तरफ बार बार देखे जा रहा था … क्योंकि उसने एक गहरे गले वाला टॉप पहना हुआ था. वेरोनिका ने ये बात नोटिस कर ली और जब मैं और वेरोनिका वाशरूम गए, तो उसने मुझसे अंग्रेजी में पूछा- हू हैव द बिग साइज? मी ऑर एना? (क्या मेरे दूध ज्यादा बड़े हैं या एना के?)

मैं उसके इस सवाल से थोड़ा हैरान हुआ और हंस दिया.

उन सभी के साथ हुए संवादों को मैं अब हिंदी में ही लिखूंगा.

वेरोनिका ने मेरे कंधों पर दोनों हाथ रखते हुए पूछा- बताओ न राज … क्या तुम एना को पसंद कर रहे हो? क्या आज रात तुम उसको चोदना चाहोगे?
मैंने पूछा- अगर मैं आज रात एना के साथ गुजारूंगा तो उसके ब्वॉयफ्रेंड हेक्टर का क्या होगा?
वेरोनिका ने तुरंत जवाब दिया- मैं हेक्टर को झेल लूंगी.

मैं हंस दिया और उसकी मंशा समझ गया कि इसको आज रात हेक्टर का लंड चाहिए है. शायद वेरोनिका एक मस्त जिन्दगी जीने वाली लड़की थी. उसने अपनी बहन एना को भी अपनी इस योजना में पहले से ही शामिल किया हुआ था.

इस तरह से हम चारों की आज रात की प्लानिंग होने लगी. शाम 6 बजे हम अपने ग्रुप के साथ वापिस होटल लौट आए और अपने अपने कमरों में चले गए.

वेरोनिका और मैं एक साथ बाथरूम में चले गए और नहाने के लिए गर्म पानी का फव्वारा चला दिया. वेरोनिका की गांड और चुचे देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और मेरा मन इसी वक्त वेरोनिका की गांड में लंड घुसाने का करने लगा.

उसने मेरा तना हुआ लंड देखा, तो उसकी आंखें चमकने लगीं और उसने उसी वक्त न आव देखा, न ताव … बस अपने घुटनों पर बैठ कर जोर जोर से मेरा खड़ा लंड चूसने लगी.
मैंने लंड चुसाते हुए वेरोनिका से कहा- आज मैं तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ.

वेरोनिका ने मेरी तरफ मुस्करा कर देखा और हाँ कर दी. वो टॉयलेट शीट पर झुक कर खड़ी हो गई और उसने मुझे गांड मारने का न्यौता दे दिया. मैंने लंड हिलाते हुए उसकी गांड पर घिसा, तो उसने मुझसे तेल की शीशी की तरफ इशारा कर दिया.
उसने मुस्कुराते हुए कहा- पहले तेल तो लगा लो … क्या सूखी ही गांड मारने का इरादा है.

मैंने वैसा ही किया और उसकी गांड के छेद पर कुछ ज्यादा सा तेल मल दिया. फिर मैंने अपने लंड पर भी तेल लगा कर लौड़ा तैयार कर लिया. फिर मैं उसकी गांड के छेद पर लंड रगड़ने लगा.

उसने अपनी मखमली भूरी गांड पर मेरे लंड के सुपारे का अहसास किया, तो लंड झेलने के लिए उसने अपनी टांगों को फैला लिया, ताकि मेरा लंड आसानी से उसकी गांड में घुस जाए.

दो मिनट बाद मैं उसकी गांड में लंड डालने की कोशिश करने लगा और बड़ी मेहनत के बाद आखिरकार उसकी गांड में मैं लंड घुसा सका. मैंने हल्के झटकों से उसकी गांड मारने की शुरूआत की और धीरे धीरे गति को बढ़ाता रहा.

वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगी और उसकी कराहों से मुझे जोश आने लगा. मैंने धीरे धीरे करके अपना पूरा लंड वेरोनिका की गांड में पेल दिया. इसके बाद मैं कुछ पल के लिए रुक गया और मजा लेने लगा. उसका दर्द भी खत्म सा हो चला था. मैं कभी उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मारता और कभी आगे हाथ बढ़ा कर उसके चूचों को दबा देता.

वो कुछ पल खुद ही अपनी गांड हिलाने लगी. मैंने तेल की शीशी से कुछ तेल उसकी गांड में और टपका दिया, ताकि चिकनाई से उसको मजा ज्यादा आए.

मैंने उसकी गांड को हिलते देखा, तो मैं शुरू हो गया. उसके चूचों को अपने दोनों हाथों में दबा आकर मैंने उसकी गांड मारना चालू कर दी और लम्बे लम्बे शॉट मारने लगा. साथ ही मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में भी डाल दी ताकि उसे दोनों छेदों का मजा आ सके.

फिर 15 मिनट की धमाकेदार गांड चुदाई के बाद मेरे लंड से निकले हुए पानी से उसकी गांड भर चुकी थी और उसकी सांसें उखड़ चुकी थीं. वेरोनिका थक कर वहीं टॉयलेट शीट पर ही बैठ गई और लम्बी लम्बी सांसें लेने लगी.
उसने मुझे बधाई देते हुए कहा- हनी, तुमने एक और सुराख पा लिया..

मैंने हंसते हुए उसके मुँह की तरफ अपना लंड किया और उसे चूसने को कहा. उसने मेरा लंड मुँह में लेकर साफ़ कर दिया. फिर हम दोनों नहा कर बाथरूम से निकल आए.

उसने बोदका के दो पैग बनाए और हम दोनों अपनी थकान उतारने के लिए मजा लेने लगे.

अब मुझे रात का इंतज़ार था … क्योंकि आज रात मुझे दूसरी चुत जो मिलने वाली थी. आखिरकार हम डिनर करके सभी लोग अपने अपने कमरों में पहुंच गए.

मैंने और वेरोनिका ने आज एक इंटरकनेटिंग रूम लिया था, जिसमें 2 कमरे थे. एक कमरे में … या यूँ कहें कि एक बेड पर मैं और वेरोनिका थे और दूसरे बेड पर एना और हेक्टर थे. मैं और वेरोनिका एना के कमरे में जाकर बैठ गए. मैं हेक्टर से बातें करने लगा.

मैंने हेक्टर से ड्रिंक के लिए पूछा, तो उसने हाँ कर दी. फिर मैंने और हेक्टर ने 2-2 वोडका के पैग लगाए और बातें करने लगे.

उससे बात करके मुझे पता चला कि हेक्टर वेरोनिका को चोदना चाहता है. मैं मन ही मन खुश हुआ और मैंने उससे डील की कि क्यों न आज हम अपने पार्टनर स्वैप कर चारों चुदाई का मजा लें.
वो झट से राजी हो गया.

इस प्लान के मुताबिक हम एना के कमरे में दाखिल हुए और मैंने एना से बातचीत करनी शुरू की. हेक्टर वेरोनिका से बात करने लगा.

मैं कभी एना के करीब जाता, तो कभी उसका हाथ पकड़ लेता.

करीब एक सवा घंटे तक ऐसे ही चलता रहा और फिर मैंने एना से कहा- एना, तुम्हारे माउंट्स वेरोनिका से कुछ ज्यादा ही बड़े हैं.
उसने मेरी इस बात पर स्माइल करते हुए खुल कर कहा- हां मेरे मम्मे उससे ज्यादा बड़े हैं … लेकिन तुमने कैसे जाने?

मैंने भी हंसते हुए जवाब दिया कि मैं उसके हाथ में लेकर देखे हैं और तुम्हारे सिर्फ दूर से ही देखे हैं. यदि तुम चाहो तो मैं..
एना बोली- हां हां पूरी बात कहो … रुक क्यों गए … क्या तुम मेरे दूध दबा कर चैक करना चाहते हो या उससे आगे भी कुछ करने की चाहत रखते हो?
मैंने कहा दिया- तुमको यदि अच्छा लगे, तो मैं तुमको आज रात हर तरह से देखना चाहता हूँ.
ऐना आंख दबा कर बोली- सिर्फ देखना चाहते हो, तो पूरी रात की क्या जरूरत है, वो तो कुछ ही देर में देखा जा सकता है.

ऐना मुझसे मस्ती कर रही थी.

मैंने भी अपना गिलास पूरा खाली किया और एक सिगरेट जलाते हुए कहा- तुम्हारा भी मन हो, तो मैं आज तुमको चोदना चाहता हूँ.

उसी वक्त हेक्टर ने बोला- हां, मैं भी आज रात वेरोनिका को चोदना चाहता हूँ.

हम दोनों की इस बात पर वेरोनिका और एना ने ताली बजा दी और ओके बोल दिया.
बस हम चारों चुदाई के लिए शुरू हो गए.

तभी वेरोनिका ने एक कंडीशन रखी कि पहले सेक्स की शुरुआत हम सभी अपने अपने पार्टनर के साथ करेंगे और फिर अपने अपने पार्टनर को एक दूसरे से बदल लेंगे.

मैंने ओके कहते हुए वेरोनिका को अपनी गोदी में बैठा लिया और उसे किस करना शुरू कर दिया. किस करते करते हम दोनों ने दूसरे के कपड़े उतार दिए. मैं वेरोनिका के गले पर चूमने लगा. उसके बदन के खुशबू को महसूस करने लगा और उसकी चूचियाँ भींचने लगा.

तभी हम दोनों ने एना की कराह सुनी, तो पलट कर देखा, तो पाया कि एना और हेक्टर नंगे हो चुके थे. एना सिर्फ एक काली पेंटी में थी और हेक्टर का लंड चूस रही थी.

उन्हें देखकर हमें भी जोश आ गया और वेरोनिका ने मुझे अपनी चुत चाटने को कहा. मैंने उसकी चुत चाटनी शुरू कर दी और वो दोनों हाथों से मेरा सर अपनी चुत पर दबाने लगी.

हेक्टर एना को छोड़ कर वेरोनिका के मुँह में लंड डालने लगा. वेरोनिका हेक्टर का लंड चूसने लगी और मैं वेरोनिका की चूत चाट रहा था. फिर एना ने मेरा लंड पकड़ लिया और वो मेरी मुठ मारने लगी.

सच कहूं तो मुझे पहली बार ऐसी चुदाई का सुख मिला था. मुझे बहुत मजा आ रहा था.

अब हेक्टर वेरोनिका की चुत चाटने लगा और एना मेरे लंड को मुठ मारती हुई चूसने लगी.

मेरे लंड ने 5 मिनट बाद पानी छोड़ दिया तो एना ने अपने मम्मों पर सारा पानी लगा लिया. झड़ने के बाद मेरा लंड शांत हो गया. मैं बैठ गया.

उधर हेक्टर और वेरोनिका का सीन चल रहा था. हेक्टर वेरोनिका को कुतिया बना कर चोदने लगा था और इधर एना मेरे लंड को चूस चूस कर कड़क कर रही थी. दस मिनट बाद मेरा लंड खड़ा हो गया. एना मेरा लंड पकड़ कर मुझे बिस्तर पर ले आई. उसने अपनी पेंटी उतार कर मुझे अपनी चूत के दर्शन करवाए.

एना हेक्टर से कई बार चुद चुकी थी, इस लिए उसकी चूत का रास्ता खुला हुआ था. मैंने लंड लगाया, तो दूसरे झटके में ही मेरा पूरा लंड एना की चूत के अन्दर तक चला गया. मैंने धीरे धीरे अपनी रफ़्तार बढ़ानी शुरू कर दी.

मैं एना के बड़े बड़े चूचे चूस रहा था और उसके निप्पलों को बारी बारी से काट रहा था. बीच बीच में मैं उसके दोनों चूचों को हाथों मैं पकड़ कर जोर जोर से चुत मैं लंड अन्दर बाहर करने लगता, जिससे एना को काफी मजा आ रहा था.

एना अपनी कमर उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थी. उधर हेक्टर जोर जोर से वेरोनिका की गांड मार रहा था.

पूरे कमरे में बस चुदाई का संगीत गूंज रहा था. ‘अह्हआ आईई आई एएए …’ और ‘पच पच …’ की आवाजें आ रही थीं.

मैंने एना की दोनों टांगें अपने कंधों पर रख लीं और जोर जोर से झटके मारने लगा. कुछ ही देर में एना एकदम अकड़कर आवाजें करने लगी. मेरा शरीर भी अकड़ने लगा.

एना को लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ, तो वो चिल्ला उठी- अन्दर मत छोड़ना. मुझे तुम्हारा माल पीना है … मेरे मुँह में अपना पानी छोड़ना.
उसने झट से चूत से लंड निकाला और मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया. मैंने भी अपने माल से उसका मुँह भर दिया. उसने मेरा पूरा लंड चाट चाट कर साफ कर दिया.

इधर हेक्टर ने वेरोनिका की चूत में पानी छोड़ दिया. फिर हम चारों एक दूसरे से चिपक कर सो गए.

इस तरह मेरी ज़िंदगी में पहली बार एक साथ दो विदेशी गोरी लड़कियों के साथ सेक्स सम्बन्ध कायम हुए.

मेरी यह गोरी फिरंगी बहनों की चुदाई की कहानी आप सबको कैसी लगी, मुझे लिखना न भूलें.
दोस्तो, अब आप लोग मुझे फेसबुक पर भी खोज सकते हैं.
राज दीपक के नाम से या [email protected] की आईडी से भी खोज सकते हैं.

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top