पतियों की अदला बदली-2

(Patiyon Ki Adla Badli- Part 2)

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है:

अगर कॉलेज का दोस्त पति के बॉस के रूप में घर आ जाए तो पुरानी यादें ताजा हो जाती हैं, दोनों तरफ़ आग सी भड़क जाती है, इन्तजार होती है तो बस एक चिंगारी की!

रेखा ने अपने पति के बॉस और अपने कॉलेज के दोस्त समीर का भड़काने में कोई कसर न छोड़ी, उसे मालूम था कि समीर इस छेद से झांकेगा जरूर!
रेखा ने शावर लिया और सिर्फ तौलिया लपेट कर ही अंदर घूमने लगी, उसने छिप कर उस लॉक होल की तरफ देखा जहाँ से अब कोई रोशनी नहीं आ रही थी… मतलब समीर की आँखें उस होल पर टिकी हुई थीं।

अब रेखा को मजा आने लगा… वो ऐसे ही सोफे पर बैठ गई और टांग के ऊपर टांग चढ़ा ली। अब उसकी चिकनी टांगें पूरी नंगी दिख रही थीं… अगर वो थोड़ा तौलिया और ऊपर करती तो शायद चूत भी दिख जाती!

रेखा ने छेद की तरफ पीठ कर के तौलिया आगे से खोला और थोड़ा ऊपर नीचे करके फिर बाँध लिया, इस से उसकी नंगी पीठ पूरी दिख गई।
अब बहुत हो चुका था… रेखा कमरे में गई और टॉप और कैपरी पहन आई और डिनर की तैयारी में जुट गई, तभी अनिल भी आ गया।

अब रेखा ने देखा कि छेद से रोशनी आ रही थी… मतलब समीर अब वहाँ से हट गया था। अनिल ने समीर को फोन किया कि क्या वो चाय दोबारा लेगा तो समीर बोला कि वो जरा बहार जा रहा है, एक घंटे में आ जाएगा।

डिनर के टाइम पर समीर को अनिल ने अंदर से ही बुला लिया।
समीर एक व्हिस्की की बोतल और आइसक्रीम लेकर आया। रेखा ने उससे गुस्सा होते हुआ कहा कि वो अपनी दोस्त के यहाँ है, न कि अनिल के यहाँ!

आज तो समीर डिनर जल्दी लेकर चला गया क्योंकि अनिल को सुबह 5 बजे टूर पर जाना था।
समीर के जाते ही अनिल ने रेखा को भींच लिया और उसका टॉप उतार दिया और ब्रा भी…
रेखा ने बहुत कहा कि मेज तो साफ़ करने दो पर अनिल ने एक बार उसके मम्मे चूसे तभी उसे काम करने दिया और वो भी इस शर्त से कि वो जल्दी ही बेड पर आ जाएगी।

रेखा जानती थी कि समीर का लंड अब उसके हाथों में होगा क्योंकि रेखा ने जीना लॉक ना करके हल्का सा खुला छोड़ दिया था ताकि समीर आराम से उसके जलबे देख सके।

काम निबटा कर उसने इस हैरानी से जीने की खुली किवाड़ को देखा जैसे वो गलती से उसे खुला छोड़ गई हो और ऊपर चढ़ी उसे बंद करने तो उसे तेजी से चलते पावों की आहट सुनाई दी… समीर तेजी से अंदर जा रहा था।

रेखा ने डोर लॉक किया और मुस्कुराते हुए बेडरूम में गई जहाँ अनिल बेड शीट ओढ़े लेता था। वो जानती थी कि अनिल ने क्या पहना होगा।
वो वाशरूम में गई फ्रेश होकर बेड पर आई और कैप्ररी उतारकर अंदर घुस गई, अनिल भी बिना कपड़ों के उसका इंतज़ार कर रहा था। दोनों चिपट गए।

अनिल ने पहले तो उसके मम्मे जम कर चूसे और फिर वो नीचे होकर उसकी चिकनी चूत पर पिल गया… रेखा ने दिन में ही वेक्सिंग कराई थी और चूत की भी शेव की थी।
अनिल को चूत चिकनी ही पसंद थी, इसलिए हर हफ्ते रेखा चूत चिकनी कर लेती थी।
देर तक जम कर चुदाई करने के बाद दोनों चिपट कर सो गए। अनिल ने 4 बजे का अलार्म लगाया था, अलार्म से अनिल और रेखा दोनों ही उठ गए।

Comments

सबसे ऊपर जाएँ