तू मेरा लंड और मैं तेरी चूत

(Tu Mera Lund Mai Teri Chut)

आप सभी को मेरा नमस्कार, मेरा नाम राहुल है, मैं ग्वालियर का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 24 साल है।

बात 2008 की है जब मैं कक्षा 12 का छात्र था मेरी कक्षा की एक लड़की जिसका नाम रीना था वो मुझे बहुत पसंद करती थी।
उसका फिगर 34-26-34 का होगा।

हमारे स्कूल और कोचिंग के कई लड़के उस के दीवाने थे।
हों भी क्यों न… वो थी ही क़यामत!
पर मैं किसी और को पसंद करता था, इस कारण रीना को ज्यादा भाव नहीं देता था।
मेरे रीना की तरफ ध्यान न देना रीना को मेरी ओर और आकर्षित करता गया।

जिस लड़की को मैं पसंद करता था, वह किसी और को पसंद करती थी तो मैंने अपना मन पढ़ाई में लगाना ज्यादा सही समझा।

एक दिन हमारे स्कूल ख़त्म होने क बाद अनजान नम्बर से मैसेज आया ‘कैसे हो?’
मैंने उत्तर दिया- मैं ठीक हूँ लेकिन मैंने आपको पहचाना नहीं।?
उसने जवाब दिया- मैं रीना, तुम्हारी क्लास मेट!

और फिर तब से हमारी बात चीत शुरू हो गई। मैं जानता था कि रीना मुझे पसंद करती है फिर भी अनजान बना रहता था।
असल में अब मेरी जवानी भी भड़क रही थी और एक चूत की तलाश थी, बस एक मौके की जरूरत थी।

तभी कुछ दिन बाद रीना मुझसे मिलने की जिद करने लगी तो मैंने उसे मिलने के लिए मॉल में बुला लिया।
वह जीन्स और टॉप पहन कर आई थी और क्या मस्त लग रही थी, सब लड़के उसी को देख रहे थे, कई लड़कों के पैंट में उठाव साफ़ दिखाई दे रहा था।
उसका फिगर पहले से भी ज्यादा सेक्सी हो गया था।

उसने मुझे गले लगा कर हेलो कहा और मैंने भी कमी नहीं छोड़ी उसकी तारीफ़ करते हुए कहा- यू आर लुकिंग गॉर्जियस!
वह मुस्कुराई और थैंक्स कहा।

फिर हम मॉल में आइस क्रीम पार्लर में बैठ कर बातें करने लगे पर मेरे मन में तो बस रीना की चूत और बूब्स घूम रहे थे… क्या बड़े बड़े बूब्स थे, उन्हें देख कर तो किसी का लंड भी खड़ा हो जाए।

अब मेरे लंड ने भी हरकत करना शुरू कर दिया था तो मैं रीना से वाशरूम का कह कर अपने लंड को शांत करने चला गया पर रीना ने मेरा खड़ा लंड देख लिया था।

जब मैं लौट कर आया तो रीना ने कहा- बड़ी देर लगा दी?
तो मैंने बात टाल दी।

अब बार बार उसकी नज़र मेरे लंड पर जा रही थी।

अब हमने अगले दिन मूवी देखने का प्लान बनाया और बाय कह कर चल दिए।

मैंने रात को दो बार उसे याद करके मुठ मारी।
मैंने मूवी की 2 कार्नर सीट ले ली थी।

मूवी के शुरू होने के बाद उसमे किस्सिंग सीन आया, मैं तो पहले ही गर्म था, मेरे लंड ने फिर हरकत करना शुरू कर दी।

कुछ सेकंड बाद रीना ने मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया, मैंने उसकी तरफ देखा तो वह मुस्कुराने लगी। मैं समझ गया था कि रीना भी गर्म हो चुकी है।
अब मैंने अपना एक हाथ रीना की टांग पे घुमाना शुरू किया, रीना कुछ पल में ही और गर्म हो गई और मेरे पैर पर हाथ फ़ेरने लगी।

अब मैं उसकी चूत के ऊपर हाथ घुमा रहा था जिससे उसे और मजा आने लगा और वह सिसकारियाँ भरने लगी ‘आह! उह! आह! यहाँ नहीं कोई देख लेगा आह! उह! उह!

अब मैं एक हाथ से उसका एक स्तन दबाने लगा तो वह और मचलने लगी और अब वह भी पूरे जोश में आ चुकी थी, वह भी मेरा लंड ऊपर नीचे करने लगी।

तब ही मूवी का इंटरवल हो गया तो हम ठीक होकर बैठ गए। तभी मैंने रीना का हाथ पकड़ा और उसे वहाँ से ले गया।

वो गाड़ी पर मुझसे इस तरह चिपक कर बैठी थी कि मेरा मन उसे वहीं चोदने का कर रहा था।

मैं रीना को अपने दोस्त के घर ले गया जहाँ कोई नहीं था। यह बात मैंने रीना को रास्ते में ही बता दी थी।

घर में घुसते ही रीना मुझसे पागलों की तरह चिपक गई और पागलों की तरह चूमने लगी।
मैंने रीना को दीवार से टिकाया और मैं भी उसे चूमने लगा, हम दोनों एक दूसरे में खो चुके थे।

‘कम ऑन राहुल… मैं तुम्हारे लिए कब से पागल हूँ…’
‘और मैं तो तुम्हारा दीवाना कल मॉल में ही हो गया था मेरी जानेमन!’

मैं रीना की स्कर्ट के अंदर हाथ डालने लगा, उसकी चूत गीली हो चुकी थी।
मैं उसके बूब्स छोटे बच्चे की तरह चूस रहा था।

रीना बके जा रही थी- मेरी जान, कितना इंतज़ार करवाया है तूने मुझे इस दिन का!
तो मैंने कहा- आज कसर पूरी कर दूँगा मेरी जानेमन!

मैंने धीरे से उसकी पेंटी निकाल दी, उसका टॉप भी आधा उतर ही चुका था, मैं उसे गोदी में उठा कर बेडरूम में ले जाने लगा।
हम एक दूसरे को चूम रहे थे।

मैंने उसे पलंग के नीचे खड़ा किया। अब उसने मेरी टीशर्ट उतार फेंकी और मेरे जिस्म को चूमने चाटने लगी।
इस बीच मेरा लंड बार बार उसकी चूत को स्पर्श कर रहा था।

तब उसने मेरी जीन्स उतार फेंकी और मेरे लंड को चूसने लगी। वह लंड को ऐसे चूस रही थी जैसे कोई बच्चा लॉलीपोप चूसता है।

अब मेरे मुँह से भी आवाज़ निकलने लगी- मेरी रानी चूस इसे, शांत कर दे इसे… आज पूरा अंदर तक ले साली रंडी!
मैं उसके बाल पकड़ कर उसकी गर्दन आगे पीछे करने लगा।

कुछ देर चूसने के बाद मेरा छूटने वाला था तो उसने कहा- साले हरामी, बहुत प्यासी हूँ मैं पूरा पी जाऊँगी।
और वह मेरा पूरा वीर्य पी गई।।

अब मैंने उसे पलंग पर लेटाया और हम 69 की पोजीशन में आ गए।
क्या गुलाबी और टाइट चूत थी साली की… अब मैं अपनी जुबान उसकी चूत के दाने पर धीरे धीरे फेरने लगा और वह मेरे लंड को मस्त होकर चूस रही थी।

मैंने उसकी चूत में उंगली डाल दी तो उसकी चीख निकल गई- आह धीरे…
तो मैं धीरे धीरे उंगली अंदर बाहर करने लगा और एक हाथ से उसका एक चूचा मसल रहा था, वह ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी- ओह यस कम ऑन कम ऑन… चोद दो मुझे मेरी जान… आह उह आह आह आह।

तब मैंने उसे अपनी ओर खींचा और एक ज़ोरदार चुम्बन लिया और उसे घोड़ी बना दिया। अब मैंने लंड उसकी चूत पर लगाया तो वह फिसल गया।
तब मैंने पास पड़ी वेसलीन उठाई उसकी चूत पर लगाई, अब मैंने फिर से लंड चूत पर लगा कर धक्का मारा तो लंड थोडा सा अंदर गया और रीना की चीख निकल गई- आह दर्द हो रहा है… धीरे!

तब मैंने एक झटका और मारा तो मेरा आधा लंड अंदर जा चुका था।
रीना और ज़ोर से चिल्लाई- मैं मर गई… निकालो इसे… मुझे नहीं करना!

मैंने कहा- दो मिनट दर्द होगा और फिर मज़ा ही मज़ा है मेरी चुदक्कड़ रानी।
मैंने उसे बातों में फंसा कर एक ज़ोरदार झटका मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समां गया।

वह और ज़ोर से चिल्लाई, मैंने उसके होंठों पे अपने होंठ रख दिए और उसके बूब्स मसलने लगा।
कुछ मिनट ऐसे ही रहने के बाद वह अपनी गाण्ड आगे पीछे करने लगी तो मैं समझ गया कि इसे मजा आने लगा है, तब मैंने अपने लंड को आगे पीछे करना शुरू किया।

रीना मस्त हो चुकी थी और ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी- ओह यस ओह यस… कम ऑन कम ऑन फ़क मी हार्डर… उहं उहं आह आह ओह… माय मैन… मेरी चूत को फाड़ दो… और ज़ोर से आह आह उहं उहं उहं मर गई।

अब मैंने अपनी पोजीशन बदली, अब मैं नीचे था और वह मेरे ऊपर… वह ऐसे कूद रही थी मेरे लंड पर जैसे किसी झूले पर उछल रही हो।

कुछ देर बाद मैंने उसे नीचे लेटाया और उसकी टांगें चौड़ी करके अपना लंड फिर उसकी चूत में घुसा दिया,
इस बार पूरा लंड एक ही बार में अंदर चला गया।

मैं फुल स्पीड से झटके मार रहा था और वह सिसकारिया ले रही थी और मुझे और ज़ोर से करने को कह रही थी- आह आह… और ज़ोर से कर मेरे रजा… पूरा मज़ा दे… सनी लियॉन समझ के चोद मुझे… उहं उहं आह आह ओह।

करीब 15 मिनट ऐसे ही चोदने के बाद वह झड़ गई लेकिन मेरा अभी तक नहीं हुआ था, 5-10 झटकों के बाद मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने रीना से पूछा- कहाँ निकालूँ?
तो उसने कहा- इस बार भी मुझे पीना है।

तो मैंने लंड बाहर निकाल कर उसके मुँह में दे दिया और वह मेरा सारा रस पी गई।

अब हम दोनों कुछ देर बिस्तर पे ऐसे ही लेटे रहे। रीना ने मुझ एक चुम्बन किया और थैंक्यू कहा तो मैंने कहा- इतने साल की प्यास एक ही बार में थोड़ी बुझेगी और अभी तो गांड भी बाकी है।

तो रीना बोली- मैं तो इस बार के लिए बोल रही थी और अब तो तू मेरा परमाननेट लंड और मेरी तेरी परमानेंट चूत हूँ। जब चाहे जहाँ चाहे चोद लेना जानी।
[email protected]