अपनी चालू सहेली के भाई से चुदी

(Apni Chalu Saheli Ke Bhai Se Chudi)

हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम नेहा यादव है. मैं बहुत ही सेक्सी लड़की हूँ. मैं एक दो बार अपनी दूसरी सहेली के भाई से चुद चुकी हूँ, लेकिन ये कहानी कुछ अलग है. ये कहानी मेरे बेस्ट फ्रेंड के भाई के बारे में है. मेरी सहेली, जो मेरी बेस्ट फ्रेंड है, मैं उसके भाई से चुदी हूँ. वो मुझे पसंद करता था और हम दोनों ने कैसे एक दूसरे के साथ सम्बन्ध बनाए और कैसे एक दूसरे के जिस्म को मजा दिए. मैं ये आपको अपनी इस कहानी में बताउंगी.

जो मेरे बारे में नहीं जानते हैं, उनके लिए बता दूँ कि मेरी फिगर बहुत अच्छी है. कोई भी मुझे पहली नजर में चोदने के लिए पागल हो उठेगा.

मेरी ये सहेली मुझसे बहुत घुली मिली है. इसी वजह से मैं अक्सर उसके घर जाती रहती थी. मेरी सहेली मेरे पड़ोस में रहती थी, इसलिए हम दोनों लोग एक दूसरे के घर आते जाते रहते थे. हम दोनों में बहुत अच्छी दोस्ती थी. मेरी सहेली थोड़ी चालू लड़की थी और उसके बहुत ब्वॉयफ्रेंड थे. मैं भी थोड़ी चालू हूँ. पर अपने ब्वॉयफ्रेंड के बारे में मैं अपनी सहेली को नहीं बताती थी, क्योंकि वो साली इतनी बड़ी रंडी है कि मेरे ब्वॉयफ्रेंड पर भी लाइन मारना शुरू कर देती थी.

इधर मेरी जब उसके भाई से दोस्ती हो गई तो मैं अपनी इस सहेली के भाई से धीरे धीरे बात करने लगी. बातचीत होते होते हम दोनों में भी बहुत अच्छी दोस्ती हो गयी. चूंकि हम दोनों पड़ोसी थे, इसलिए जब मेरी सहेली अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ कहीं घूमने निकल जाती थी, तो मैं उसके भाई से बात कर लेती थी.

मेरी सहेली इतनी बिंदास है कि वो अपने घर में किसी से डरती नहीं थी. मुझे उसकी ये बात बहुत अच्छी लगती थी. वो जॉब करती थी और उसके घर वाले भी उसको कुछ नहीं बोलते थे.

मैं तो थोड़ा अपने घर वालों से डरती थी इसलिए मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड से ज्यादा चुद भी नहीं पाती थी. मेरे घर में जब कोई नहीं रहता था, तो मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ होटल में जाकर चुदवा पाती थी. हम दोनों बहुत दिनों में चुदाई कर पाते थे, इसलिए मुझे अपनी चूत में बड़ी खुजली सी होने लगती थी और मुझे बहुत चुदवाने का मन करने लगता था.

इधर मेरी सहेली तो रोज अपने ब्वॉयफ्रेंड से चुदवाती थी. वो इतनी बड़ी चुदक्कड़ है साली कि मुझे ये भी नहीं पता चलता था कि वो कब किस ब्वॉयफ्रेंड से चुदवाती है. उस कमीनी के बहुत सारे ब्वॉयफ्रेंड थे. मैं अपनी सहेली की तरह मौज नहीं कर पाती थी.

एक दिन मेरी सहेली अपने घर नहीं थी और मैं उसके घर गयी, तो मेरे पूछने पर उसके भाई ने बताया कि वो जॉब करने गयी है और शायद आज उसका ओवर टाइम काम है.
मैं समझ गयी थी कि वो कुतिया अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ घूमने गयी है. मेरी सहेली हमेशा जॉब करने के बाद जब भी ओवर टाइम की बात अपने घर में कहती थी, तो समझो वो अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ घूमने निकल गई है.
ये बात उसने मुझे बताई थी कि जब भी उसका मन किसी से चुदने का करता था तो वो अपने घर पर ओवर टाइम का कह कर चुदवाने चली जाती थी.

मेरी मम्मी ने मेरी सहेली को एक लड़के के साथ देख लिया था. मेरी मम्मी मुझे मना करने लगी थी कि मैं अपनी इस सहेली के साथ नहीं रहूँ.
मैं फिर भी अपने सहेली के साथ रहती थी क्योंकि वो मुझे अपने ब्वॉयफ्रेंड के बारे में बताती थी और अपनी चुदाई के बारे में मुझे बताती रहती थी, जिससे मैं भी गरम हो जाती थी. मेरी सहेली थोड़ा ज्यादा ही चालू थी. मैं अपनी सहेली से इसलिए भी दोस्ती करे रहती थी क्योंकि वो हमेशा बाजार जाती थी, तो मेरा कोई काम भी करवा देती थी.

मैं सहेली के भाई से बात कर रही थी कि तभी उसने मुझसे मेरा नंबर माँगा. हम दोनों के पास एक दूसरे के नंबर नहीं थे, इसलिए मैंने उसको बड़ी ख़ुशी से अपना नंबर दे दिया ताकि उससे बातचीत हो सके. मैं अपने सहेली के भाई से नार्मल बात करती थी, लेकिन मुझे ये पता था कि वो मुझे पसंद करता है. क्योंकि वो मुझे कभी कभी जबरदस्ती गिफ्ट देता था.

इसके बाद हम दोनों में फ़ोन पर बातें होने लगीं. मैं भी अपने ब्वॉयफ्रेंड से मिल नहीं पाती थी, तो अपनी सहेली के भाई से फ़ोन पर बात कर लेती थी और मेरा दिन निकल जाता था. बात करते करते हम दोनों की बातें सेक्स पर होने लगीं. मैंने एक दिन उसकी बहन के बारे में पूछा कि आपको अपनी बहन के बारे कुछ पता है कि नहीं?
तो वो मुझसे पूछने लगा कि मेरा मतलब क्या है.
मैंने उसको अपनी मम्मी की हिदायत के बारे में उसे बताया तो वो मुझसे बोला कि ये मॉडर्न दुनिया है, जिसको जो करना है, वो करे. इसमें क्या गलत और सही है?

जब उसके मुँह से मैंने ये बात सुनी तो मैं समझ गई कि इसका मतलब ये था कि मेरी सहेली के भाई को भी उसके चालचलन के बारे में सब पता था कि उसकी बहन बाहर चुदवाती है.

मैं भी अब अपनी सहेली के भाई से थोड़ा खुलकर बातें करने लगी थी. उसने मुझे बताया कि मेरी बहन का एक ब्वॉयफ्रेंड तो हमारे घर भी आता है और मेरी बहन मेरे घर वालों से बोलती है कि वो उसका दोस्त है.
उसने जब ये बात मुझसे कही, तो मैं समझ गई कि इसको अपनी बहन की चुदाई की आदत के बारे में सब पता है. क्योंकि सहेली के उस दोस्त के बारे में मुझे भी पता था.

इस तरह की बातों के खुलासा होने के बाद मैं और मेरी सहेली का भाई, हम दोनों एक दूसरे के बहुत करीब आ गए थे.
मैंने भी हंस कर उससे कहा- हां वो उसका ब्वॉयफ्रेंड ही है, मुझे मालूम है.

इस तरह से मेरी सहेली के भाई से मेरी बातें खुल कर होने लगीं. हम दोनों सहेली के ब्वॉयफ्रेंड और उनसे उसके सेक्स को सामने रख कर सेक्स के टॉपिक पर खुल कर बात करने लगे.

अब तो बात यहां तक बढ़ गई थी कि मैं अपने घर वालों को चूतिया बना कर मौका देखकर उसके साथ बाहर घूमने भी जाने लगी थी. हम दोनों लोग ज्यादातर दोपहर में घूमने जाते थे.

मेरी सहेली का भाई तो कभी कभी मुझसे पीरियड के बारे में भी पूछने लगा था. मुझे लगता था कि मेरी सहेली का भाई मेरी बहुत केयर करता है और मुझे उसकी ये बात बहुत अच्छी लगती थी.

एक दिन हम दोनों अकेले में मिले, तो मेरी सहेली के भाई ने मुझे अपनी तरफ खींचते हुए किस कर लिया. मैं भी उसके साथ राजी थी, तो मैं भी उसको किस करने लगी.
उस दिन हम दोनों ने एक दूसरे को बहुत देर तक किस किया. फिर मैं उसको मना करने लगी क्योंकि हम दोनों लोग गार्डन में थे. मैं कुछ देर उसके साथ यूं ही बैठी रही, फिर अपने घर चली आई. मैं नहीं चाहती थी कि हम दोनों को किस करते हुए कोई देख ले.

उस दिन के बाद से हम दोनों हमेशा एक दूसरे से फ़ोन पर बातें करते रहे और इस बीच हमें जब भी मौका मिलता था, तो हम दोनों एक दूसरे को किस कर लेते थे.

मेरी सहेली का भाई एक दिन मुझे अपने घर ले गया क्योंकि उसके घर कोई नहीं था. वो मुझे अपने बेडरूम में ले गया और मुझे किस करने लगा. हम दोनों एक दूसरे को लिपटा कर जबरदस्त किस कर रहे थे. वो मेरे रसीले होंठों को चूस रहा था. मेरी तो चूत में आग पहले से ही लगी थी. कुछ ही देर में हम दोनों जोश में आ गए थे और हम दोनों पागलों की तरह एक दूसरे को चूमने चूसने लगे थे. मेरी सहेली के भाई ने मेरे होंठों को बहुत देर तक चूसा.

मेरा सूट थोड़ा मॉडर्न था, जिसमें से मेरी चूची का आकर बिल्कुल साफ़ दिख रहा था. उसने मेरी सलवार और शर्ट को निकाल दिया. जल्द ही मैं अपने सहेली के भाई के सामने ब्रा और पेंटी में हो गयी. हम दोनों लोग बिस्तर पर लेट गए और एक दूसरे को किस करने लगे. मेरी सहेली का भाई मुझे अपने ऊपर करके मुझे किस कर रहा था. अब उसने मेरी ब्रा भी निकाल दी और मेरे बूब्स को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा.

मैं गर्म आहें भरने लगी, मुझे भी सेक्स चढ़ने लगा और मैं भी चुदासी हो गयी. मेरी सहेली के भाई ने मेरे मम्मों को चूसने के बाद मेरी पेंटी को भी निकाल दिया और मैं उसके सामने एकदम नंगी हो गयी.

मेरी सहेली का भाई मुझे नंगी करने के बाद मुझे देख कर बोला- क्या माल हो तुम … तुमको तो देख कर ही मुझे तुमको चोदने का मन करने लगा.

वो मेरी टांगों की तरफ आ गया और मेरी टांगें फैला कर मेरी चूत को चाटने लगा. उसने मेरी चूत पर अपनी जीभ रगड़ी और चूत चाटने लगा. चूत चटवाने से मैं और भी ज्यादा गरम हो गयी. मैंने अपनी टांगें पूरी तरह से खोलकर चूत को उठाते हुए उसके मुँह से लगा दिया.

मेरी मुलायम चूत को मेरी सहेली का भाई बहुत अच्छे से चाट रहा था. चूत से प्रीकम निकलने लगा था जिससे चूत लिसलिसी हो गई थी. चिकनाई निकलने के बाद मेरी चिकनी चूत को मेरी सहेली के भाई ने बहुत देर तक चाटा. अब मैं भी बहुत चुदासी हो गयी थी. मेरी चूत से बहुत पानी निकल रहा था. तभी मेरी चूत को थोड़ा ज्यादा सा खोल कर उसने अपनी जीभ मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा. मुझे बहुत अजीब लग रहा था, लेकिन बहुत अच्छा भी लग रहा था. मेरी चूत लगातार पानी छोड़ रही थी. कुछ देर के बाद मेरी चूत ने बहुत सारा पानी छोड़ दिया और मैं थोड़ा ठंडी हो गयी.

मेरी सहेली के भाई ने मेरी चूत को पूरी तरह से चाटने के बाद लंड चूसने के लिए बोला. तो मैं भी अपनी सहेली के भाई का लंड चूसने लगी. वो भी कुछ देर के बाद झड़ गया और उसके बाद हम दोनों ने थोड़ी देर आराम किया.

दस मिनट के आराम के बाद मुझे चूत में फिर चींटियां रेंगने लगीं. मेरी चूत लंड लेने के लिए तड़प रही थी और मेरी चूत में से फिर से पानी भी निकलने लगा था.
ये बात मैंने उससे कही- अब देर न करो, मेरी चूत में अपना लंड पेल कर मेरी आग बुझा दो.

मेरी सहेली का भाई मेरी चूत में अपनी उंगलियों डाल कर रगड़ने लगा. उसके बाद वो मेरी दोनों टांगों के बीच में आ गया और टांगों को पूरा खोलकर अपना लंड मेरी चूत की फांकों में घिसने लगा. मैंने भी गांड उठा कर उसे सिग्नल दिया तो उसने एकदम से अपना लंड चूत में डाल दिया और मुझे चोदने लगा. मुझे उसके लंड घुसने से एकदम से दर्द सा हुआ, पर कुछ ही पलों बाद मेरी चूत ने इस मीठे दर्द को जज्ब कर लिया और मैं उसके लंड से चुदने का मजा लेने लगी.

हम दोनों लोग जोरों से सेक्स करने लगे. मैं मादक आवाजें निकालने लगी. वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा था, ऐसा लग रहा था कि वो सेक्स करने में बहुत अनुभवी चोदू है.
मैंने उससे पूछा- क्या तुम पहले भी किसी के साथ सेक्स कर चुके हो?
उसने बताया कि वो अपनी बहन की एक और सहेली को भी चोदता है.
उसने यही सवाल मुझसे पूछा तो मैंने भी उसे अपने ब्वॉयफ्रेंड से चुदने की बात बता दी.

अब तो हम दोनों लोग पहले से भी ज्यादा खुल गए थे. हम दोनों लोग पूरी मस्ती से सेक्स कर रहे थे और एक दूसरे से खुल कर बातें भी कर रहे थे.

मुझे अपनी सहेली के भाई से चुद कर बहुत अच्छा लग रहा था. मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड से भी चुदवाती हूँ लेकिन मेरी इस सहेली के भाई का चोदने का अंदाज कुछ दूसरा था. वो मेरी चूत को कभी कभी धीरे धीरे चोद रहा था, तो कभी कभी मेरी चूत को चाट रहा था, जो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

अभी हम दोनों कंडोम लगाकर सेक्स कर रहे थे. जब उसने मुझे कमरे में लाकर चोदना चालू किया था, तब कंडोम लगा लिया था. उस वक्त तो मुझे उससे पूछने का याद नहीं रहा था, लेकिन अब जब हम लोग सेक्स के दौरान सब तरह की बातें कर रहे थे तो मैंने उससे पूछा कि आप कंडोम हमेशा अपने कमरे में रखते हैं?
उसने मुझे बताया कि वो रोज सेक्स करता है.
उसके मुँह से ये बात सुनकर मुझे बहुत अजीब लगा. मैंने उससे जानना चाहा कि रोज चूत का इंतजाम कैसे होता है?
तो उसने मुझे बताया कि वो अपनी भाभी को भी चोदता है.

मेरी सहेली की एक भाभी भी है और उसके मुँह से ये सुनकर मुझे बहुत अजीब लग रहा था क्योंकि भाभी तो दिखने में बहुत सीधी शालीन लगती थी. मुझे लेकिन आज मुझे पता चल गया था कि वे भी चुदक्कड़ हैं.
मुझे आज ये बात समझ आ गई थी कि जब औरतों को लंड नहीं मिलता है, तो वे किसी से भी चुदवाने लगती हैं. फिर वो तो भाभी थी, जो अपने ही घर में देवर के लंड चुदवा लेती थी.

इस वक्त मेरी सहेली का भाई मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चोद रहा था और बता रहा था कि वो अपनी भाभी को किस आसन में चोदता है.. उसकी भाभी को कौन से स्टाइल में चुदना ज्यादा अच्छा लगता है.
मैंने उससे कहा- मुझे भी अपनी भाभी की स्टाइल में चोदो, तो वो राजी हो गया.

अब हम दोनों उसकी भाभी की चुदने की स्टाइल में भी चुदाई करने लगे. इस आसन में वो मुझे अपने ऊपर लाया और उसके बाद मुझे अपने लंड पर बैठा कर मुझे चोदने लगा. मुझे चोदते समय वो मेरी हिलती हुई चूचियों को भी दबा रहा था. मैं उसके लंड पर अपनी गांड उठा उठा कर उछल रही थी.

हम दोनों करीब बीस मिनट सेक्स करने के बाद झड़ गए और हम दोनों का एक साथ पानी निकल गया.

मस्त सेक्स करने के बाद हम दोनों एक दूसरे के ऊपर ही ढेर हो गए. इससे ये हुआ कि हम दोनों के पानी से बिस्तर ख़राब हो गया था. इसलिए मेरी सहेली के भाई ने जल्दी से बिस्तर की चादर को बदल दिया. इसके बाद हम दोनों बाथरूम में आ गए और एक दूसरे को नहलाने लगे.

हम दोनों ने बाथरूम में भी 69 के मजे किये. वो मेरी चूत को चाट रहा था और मैं उसके लंड को चूस रही थी. हम दोनों लोग ओरल सेक्स करने के बाद झड़ गए. उसके बाद हम दोनों बाथरूम में नहाकर बाहर आ गए.

हम दोनों उसके बाद जब भी मौका मिलता है, हम दोनों लोग सेक्स कर लेते हैं.

आप सबको मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लगी. प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं. मैं आप सबके मेल का इंतज़ार करूँगी.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top