कामुकता से भरी जवान लड़की फेसबुक पर मिली

(Kamukta Se Bhari Jawan Ladki Facebook Par Mili)

आप सभी को नमस्कार और उन सभी पाठकों को बहुत धन्यवाद, जिन्होंने मेरी पिछली कामुकता भरी गर्म सेक्स स्टोरी को सराहा और मुझे मेल किए. मैं सभी लोगों को जबाव नहीं दे पाया उसके लिए मैं माफी चाहता हूँ.

आज मैं अपनी एक नई कहानी लिख रहा हूँ. जो एकदम सच्ची है.
मेरी पहली कहानी थी
रशियन लड़की की मालिश और चूत चुदाई

मेरा नाम हरी सिंह राठौर है. मैं जोधपुर राजस्थान में रहता हूँ. मेरे लंड का साइज़ काफी बड़ा है और मोटा भी. मेरी हाइट 5.10 है.. जिम जाता हूँ बॉडी भी अच्छी है. मेरी उम्र 26 साल है.

यह कहानी आज से कोई एक साल पुरानी है. मैं तब किसी काम के सिलसिले में दिल्ली में रहता था. वहां मेरी दोस्ती फेसबुक चलाते समय एक लड़की से हो गई, जिसका नाम रिया था. रिया की उम्र 22 साल थी, वो वहां हॉस्टल में रह कर स्टडी करती थी. उसका 34-28-34 का फिगर एकदम हॉट था. जब हमारी दोस्ती हो गई, तो हम दोनों रोज़ बातें करने लगे थे.

मैंने एक दिन उसको मिलने बुलाया तो वो बोली- कहां मिलेंगे?
मैंने कहा- डिस्को में मिलते हैं.
वो मान गई.

हम दोनों ने दस बजे मिलने का टाइम तय किया. मैं तैयार होकर सही टाइम पर पहुँच गया और उसका इन्तजार करने लगा. मैं उसको आज यहां पहली बार देखने वाला था. मेरे पास उसका नंबर था, लेकिन मैंने उसे कॉल नहीं किया. मैंने सोचा इंतजार कर लेता हूँ.

थोड़ी देर बाद एक ऑटो रुका और उसमें से एक लड़की निकली. उसने सिंपल सी जीन्स और टी-शर्ट पहन रखी थी. उसके हाथ में एक मध्यम आकार का हैंडबैग भी था.
उसने वहां उतरने के बाद कॉल किया तो मैंने हाथ हिला कर इशारा किया कि मैं ही हूँ.

वो मेरे पास आ आई, हम दोनों ने हाय हैलो की. मुझे लगा कि यार ये तो जैसी फोटो में थी, वैसी बिल्कुल भी नहीं है. फिर भी सोचा कि चलो आ गई है, तो अब एंजाय कर लेते हैं. क्यों शाम को बर्बाद करूँ.

हम दोनों ने थोड़ी देर इधर उधर की बात की और डिस्को में चले गए. वहां अभी कम लोग थे. मैंने एक टेबल बुक की, वहां कुछ खाने पीने का ऑर्डर दिया.
मैंने पूछा- वोड्का चलेगी?
वो बोली- ओके.

मैंने वोड्का और कुछ खाने का मंगवा लिया. थोड़ी देर बाद वहां और लोग आने लगे. अब तक हम दोनों ने 2-4 शॉट मार लिए थे.
तभी वो बोली कि मैं वॉशरूम होके आती हूँ.
मैं हां में सर हिलाया और वो अपना बैग उठा कर चली गई. मैं उसका वेट करने लगा.

दस मिनट जब वो वापस आई तो मैं उसको पहचान ही नहीं पाया. उसने अपनी ड्रेस चेंज कर ली थी. अब वो एक शॉर्ट स्कर्ट में थी, जो उसकी जाँघों तक था. उसकी चिकनी मखमली टाँगें क्या गजब लग रही थीं. ऊपर एक टाइट टी-शर्ट पहनी हुई थी. उसमें उसके चूचे क्या मस्त गजब लग रहे थे. मैं तो बस उसको देख कर पागल सा हो गया और मेरी जीन्स के अन्दर मेरे लंड महाराज़ सलामी देने लगे.

उसके मम्मों के निप्पल का उभार उसकी टाइट टी-शर्ट में से साफ दिख रहा था. वो अपनी गांड मटकाती हुई मेरे पास आई और बैठ गई. मैं तो बस उसको अपलक देखे जा रहा था.

वो मुस्कुरा कर बोली- ऐसे क्या देख रहे हो?
मैं बोला- तुम बहुत सेक्सी लग रही हो.
वो बोली- थैंक्स.

फिर हम दोनों ने 2 शॉट और मार लिए. अब तक थोड़ा थोड़ा नशा और सुरूर भी चढ़ गया था.

वहां पे दूसरे लड़के लड़कियां भी डांस करने लगे थे. म्यूजिक तेज हो गया था. मैं भी उसका हाथ पकड़ कर उसको डांस फ्लोर पे ले आया. हम दोनों डांस करने लगे. वो अपनी मस्त गोल गोल गांड मटकाते हुए डांस कर रही थी. मेरे जीन्स में लंड ने बस टेंट बना दिया था. उसके चूचे भी यूं उछल रहे थे, जैसे कोई दो बॉलें उछल रही हों. उसका स्कर्ट भी काफी छोटा सा था तो गोरी जांघें भी मदहोश कर रही थीं.

फिर हम डांस करते हुए करीब हो गए और एक दूसरे की बांहों में बांहें डाल कर डांस करने लगे. उसकी बॉडी की खुशबू मुझे गरम कर रही थी और ऊपर से वोड्का का नशा भी था. मैं उसकी कमर पर हाथ रख कर डांस कर रहा था. धीरे धीरे मैंने अपने हाथ उसकी गांड पे रख दिए.

आह.. क्या बताऊं क्या अहसास था.. उसकी एकदम मखमली गांड, जैसे मक्खन के गोले.

वो भी कुछ नहीं बोली, शायद उसे भी नशे में मजा आने लगा था और अच्छा लग रहा था.

फिर मैं हल्के से उसके चूतड़ों को दबाने लगा. वो मेरी बांहों में खुद को ढीला छोड़े हुए थी. मुझे उसकी गरम गरम साँसें महसूस हो रही थीं. फिर मैंने उसको घुमा दिया. अब मैं पीछे से उसको पकड़े हुए डांस कर रहा था. मेरे हाथ उसके मम्मों पर थे और मैं हल्के हल्के उसके मम्मो को दबा रहा था. उसको भी मजा आने लगा था. मेरा लंड पीछे से उसकी स्कर्ट के ऊपर से उसकी गांड को कुरेद रहा था.

थोड़ी देर ऐसे करते करते मैंने अपना एक हाथ उसकी स्कर्ट के अन्दर डाल दिया. मुझे जन्नत का मजा आ गया था.. एकदम मखमली गांड मेरे हाथ में थी. उसने पेंटी भी वो वाली पहन रखी थी, जिसमें पीछे से पूरी गांड खुली होती है, बस आगे से चुत ढकी होती है.

मैं उसकी गांड इस तरह से सहलाने लगा कि कोई देख ना ले, लेकिन सब वहां नशे में थे.

अब उसने भी अपना एक हाथ पीछे कर के मेरे खड़े लंड पर रख दिया और हल्के हल्के दबाने लगी. हम दोनों कामुकता से गरम हो गए थे.

अब मैंने उसको वापस मेरी तरफ घुमा लिया और उसके मुलायम होंठों पे एक किस कर लिया. उसने भी मुझे चूमा.. और फिर बार बार सबकी नज़र बचा कर हम दोनों किस करने लगे.

काफ़ी देर ऐसे मज़े लेने के बाद मैंने बोला- रिया रूम पर चलें?
तो उसने हां बोल दी.

हम बाहर आ गए और टैक्सी बुक करके मेरे रूम पर आ गए. मैं अपने दोस्त के साथ रहता था, आज वो दूसरे दोस्त के कमरे में सोने गया था. मेरे पास दूसरी चाभी थी.

रूम में घुसते ही मैं उस पर टूट पड़ा. उसको गोदी में उठा कर बेड पर पटक दिया और उसके मुलायम होंठ चूसने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी.
मैं कभी उसके होंठ चूसता तो कभी उसकी जीभ चूसने लग जाता. दोनों एक दूसरे की जीभ चूसते तो कभी होंठों के अमृत को चूसने में लग जाते.

फिर धीरे से मैं उसकी गांड तरफ आ गया और उस पर किस करने लगा. ऊपर बढ़ कर उसके कानों पर किस करने लगा. मैंने उसके दोनों हाथ अपने हाथों में दबा लिए थे. धीरे से मैं उसकी गर्दन पे हल्के से काट लेता, फिर उसकी गर्दन पर किस करता.

मैंने अपना एक हाथ उसके मम्मों पर रखा और भींचते हुए दबाने लगा. उसने अपने हाथ मेरे गर्दन में डाल रखे थे. उसे खूब सहलाने के बाद मैंने उसकी टी शर्ट ऊपर की तो उसकी वाइट कलर की ब्रा सामने आ गई. मैंने ब्रा के ऊपर से उसके मम्मों पे अपना मुँह रख दिया और हल्के हल्के किस करने लगा.

वो ‘आह मुँहह..’ करने लगी. फिर मैंने उसकी ब्रा उतार दी. उसके 34 के साइज़ के चूचे उछल कर मेरे सामने आ गए. इतने सुडौल मम्मों को देख कर मैं तो दीवाना हो गया और दोनों हाथों से दबाने लगा. फिर एक चूचे को मुँह में भर के चूसने लगा. उसके निप्पल को काटने लगा और चूसने लगा.

वो नशे में कहे जा रही थी- आओ.. ऊवू.. उया और चूसो आहह.. मजा आ रहा है.. और दबाओ मेरे मम्मों को..
उसके मुँह से मैं ये सुन कर और जोश में आ गया और जोर से चूसने लगा. काफ़ी देर चूसने के बाद मैं नीचे आया और मैं अपनी ज़ुबान उसकी नाभि में डाल कर घुमाने लगा.

वो आँखें बंद करके लेटी हुई थी. फिर मैं उसकी स्कर्ट उतारने लगा तो उसने अपनी गांड ऊपर उठा के स्कर्ट उतारने दिया.

अब वो मेरे सामने पिंक पेंटी में लेटी हुई थी. मैंने अपना एक हाथ उसकी चुत पे रखा और अपनी उंगली से धीरे धीरे उसकी चुत कुरेदने लगा. वो कामुकता से भरी सिसकारियां लेने लगी.

फिर मैंने बिना उसकी पेंटी उतारे अपने होंठ उसकी चुत पर रख दिए और चुत को चुम्मा करने लगा. अपनी नाक उसकी चुत पे रगड़ने लगा. उसकी चुत की महक मेरे नाक में आने लगी थी. उसकी चुत की महक से मैं तो पागल सा हो गया.

फिर मैंने अपनी उंगली से उसकी पेंटी को एक साइड में किया और मुझे उसकी गोरी सी छोटी सी पाव सरीखी फूली हुई चुत दिख गई. जिस पर छोटे छोटे बाल उगे हुए थे.

ये उसने बाद में बताया कि उसको अपनी फुद्दी पर छोटी छोटी झांटें डिजायन में रखना पसन्द हैं.

मैंने अपना मुँह उसकी नंगी चुत पे रख दिया. उसकी चुत काफी गीली हो गई थी और उसमें से चुत रस टपक रहा था. मैं अपनी ज़ुबान से उसकी चुत चाटने लगा और उसकी चुत के होंठों को अपने होंठों में दबा के चूसने लगा. मेरे इस तरह चुत चूसने से वो तो एकदम से पागल सी हो गई. उसने मेरे सर को पकड़ा और अपनी चुत पर दबाने लगी.

वो मेरे बालों में हाथ घुमाने लगी और बड़बड़ाने लगी- ऑश मेरे राजा.. हां और चूसो.. चाटो मेरी चुत को हय.. मजा आ रहा है.. आह.. चाटो मेरे राजा..

मैं अपनी ज़ुबान से उसकी चुत चोदने लगा. उसने अपनी टाँगें मेरे कंधों पर रख दी थीं. मैं कभी उसकी चुत को ज़ुबान से चोदता, तो कभी उसके क्लाइटॉरिस को दांतों से काट लेता. वो अब मदहोश हो रही थी और मेरे सर को अपनी चुत पे दबाए जा रही थी.

मैंने अपनी एक उंगली उसकी टाइट गांड में डाल दी और धीरे गांड चोदने लगा. दस मिनट इस तरह चोदने से वो मेरे मुँह में झड़ गई. मेरा पूरा मुँह उसके चुत रस से भर गया और मैं वो सारा नमकीन जूस पी गया.

फिर मैं खड़ा हो गया और मैंने अपने कपड़े उतार दिए. अब उसके सामने में एकदम नंगा खड़ा था और वो बेड पर बैठ गई. मैं उसके पास में जाकर खड़ा हो गया. उसने मेरे लंड को पकड़ा और सहलाने लगी. मेरे लंड महराज़ अपना सर हिला हिला कर झटके मार रहे थे. मैंने उसका सर पकड़ा और अपने लंड पे रख दिया. वो समझ गई और हौले हौले किस करने लगी और लंड को चाटने चूमने लगी.

लंड की चुसाई से मैं तो बस जन्नत में पहुँच गया था. उसके कोमल होंठों का स्पर्श मेरे लंड पे महसूस होते ही मैंने अपनी आँखे बंद कर लीं.

वो लगातार लंड चूसे जा रही थी. मैंने उसके बाल पकड़े और अपने लंड पे उसका मुँह दबाने लगा और उसका मुँह चोदने लगा.

उसके मुँह से ‘उम्म गुऊमम हूंम्म…’ की आवाज़ निकल रही थी. बीच बीच में मेरे टट्टे भी चाट रही थी. कुछ मिनट लंड को चाटने चूसने के बाद मैंने उसको बिस्तर पर लिटा दिया.

उसकी पेंटी उतारी और उसकी चुत पर थूक लगा दिया. उसकी टाँगें अपनी कंधे पे रख दीं और अपने लंड का टोपा उसकी चुत के मुँह पर लगाकर एक करारा धक्का दे मारा. मेरा लंड ‘फॅक..’ की आवाज़ करता हुआ उसकी चुत में घुस गया.
वो हल्की सी कराह उठी- एयाया ऑश..

मैंने बिना रुके दूसरा जोरदार धक्का मारा और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया.. इस बार वो थोड़ा सा चिल्लाई, लेकिन मैंने अपने होंठ उसके होंठों पे रख दिए और उसको चूसने लगा. फिर एक और जोर का झटका लगाया और पूरा लंड उसकी चुत में पूरा अन्दर तक पेल दिया मेरे आंड उसकी चुत के मुँह पर जम गए थे.

वो दर्द से ‘मुँहह मुँहह..’ करने लगी. मैं थोड़ा सा रुका और अन्दर बाहर करने लगा. ऐसे में उसको भी मजा आने लगा और वो नीचे से गांड उठा उठा के साथ देने लगी.

अब मैंने अपने धक्कों की स्पीड तेज कर दी और उसके मम्मों को पकड़ के उसे चोदने लगा. वो भी मेरी पीठ में अपने नाख़ून गड़ा रही थी. मुझे और जोश आ गया और मैं और तेज तेज चोदने लगा.

वो अब मस्त आवाज़ निकालने लगी थी- ऊहह याअ यस फक मी.. फक मी आआहह मजा आ रहा है… यस यस ऑश यस…
दस मिनट की चुदाई में वो झड़ गई.. लेकिन मेरा अभी निकला नहीं था.

मैंने उसको अगले 5 मिनट तक अपना लंड चुसवाया और फिर मैंने उसको डॉगी स्टाइल में करके पीछे से उसकी चुत पे अपना लंड रख कर एक जोर का धक्का दे मारा. मेरा पूरा का पूरा लंड एकदम सीधा अन्दर जड़ तक घुस गया.

वो थोड़ा सा चिल्लाई और आगे को भी सरक गई लेकिन मैंने उसकी कमर को सख्ती से पकड़ रखा था और बिना रुके तेज तेज चोदने लगा. एक हाथ से उसके बाल मैंने पीछे से पकड़ लिए और दूसरे हाथ से उसकी गांड पे झापड़ मारता हुआ उसको धकापेल चोद रहा था.

यूं चोदते चोदते मैंने एक उंगली भी उसकी गांड में पेल दी और गांड भी चोदने लगा. दस मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी चुत में झड़ गया और मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर उसके मुँह में दे दिया. उसने मेरा पूरा लंड चाट कर साफ कर दिया.
मैंने भी उसकी चुत चाट कर पूरी साफ कर दी. उस रात हम दोनों ने 3 बार चुदाई की. फिर हम यूं ही नंगे सो गए.

दोस्तो कैसी लगी मेरी कामुकता भरी जवान लड़की की हॉट सेक्स स्टोरी.. प्लीज़ मुझे मेल जरूर करना.
[email protected]