दोस्त की बहन को चुदाई करके रखैल बनाया

(Dost Ki Bahan Ki Chudai Karke Rakhail Banaya)

मैं शिव आज फिर हाज़िर हूँ एक नई चुदाई की सेक्सी कहानी लेकर!
आप लोगों को मेरी पिछली कहानी
मेरी बहन की गांड की खुशबू से लेकर बुर चुदाई
काफी पसंद आई।
यह कहानी मेरी पहली सच्ची कहानी थी और आज मैं अपनी दूसरी सच्ची कहानी लिख रहा हूँ।
लड़कियां अपनी बुर में उंगली, लंड, डिल्डो डालने के लिए तैयार हो जाओ और लड़के अपने लंड को अपने हाथ से पकड़ लीजिए या अपने लंड को अपनी बीवी, भाभी, प्रेमिका, गर्लफ्रेंड, पड़ोसन आंटी या जिस की भी चूत आपके पास हो, चूत के छेद पे टिका लीजिए।

बात तब की है जब मैं अपनी बहन को रोज़ चोदता था, कई महीने हो गए थे, मेरी बहन मुझे पूरा संतुष्ट रखती थी और मैं भी अपनी बहन को संतुष्ट रखता था। इसीलिए मेरी बहन ने कभी भी कोई बॉयफ्रेंड नहीं बनाया, वो कहती है कि वो कभी शादी भी नहीं करेगी।

पर ख़ैर में आपको अपनी कहानी पर ले जाता हूँ।
उस समय में अपनी बहन से खुश था पर साथ ही मेरी नज़र मेरे दोस्त की बहन पर भी थी, वो काफी गोरी थी और उसकी चुची सनी लियोनी की चुची की तरह हैं, उसका फिगर है 30-26-32… कमाल का फिगर है।
मेरे दोस्त का नाम सन्नी और उसकी बहन का नाम भावना है।

उसे चोदने का मन तब से था जब मैं 10th में था, मतलब जब मैंने उसे पहली बार देखा था। वो हॉस्टल में पढ़ती थी इसीलिए वो कुछ ही दिन के लिए अपने घर आती थी।
वैसे वो मुझे लाइन भी देती थी जैसे मुझे देख कर स्माइल देना, मेरे से सट कर बैठना… जिससे में पूरा कामुक हो जाता था, उसकी परफ्यूम की खुशबू भी मुझे पागल कर देती थी।

वो दीवाली का समय था, उसकी छुट्टियां चल रही थी दीवाली में सिर्फ कुछ ही दिन थे
मुझ में और सन्नी में काफी अच्छी दोस्ती है तो मैं उसके घर बिना खटखटाए ही चला जाता हूँ।

उस दिन मैं उसके घर बिना खटखटाए ही चला गया। जब मैं उसके कमरे के बाहर पहुँच तो मैंने उसकी बहन की सिसकारियाँ सुनी, वो कह रही थी- जोर से चाटो आह.. ओह.. खा जाओ.. मेरी चूत को!

यह सुन कर मैं चौंक गया, मुझे लगा कि यह किसी बॉयफ्रेंड के साथ चुद रही है।
मैंने सोचा क्यों ना इनको डराया जाए।

और मैंने दरवाजा खोलना चाहा तो वो अंदर से लॉक था। तो मैंने नोक किया तो कुछ रिप्लाई नहीं आया।
फिर मैंने दोबारा नोक किया, तब भी कोई जवाब नहीं आया।

तो मैंने जानबूझ कर बोला- सन्नी… सन्नी… घर पर है क्या सन्नी?
तो अंदर से आवाज आई- हाँ बोल… मैं घर पर ही हूँ।
वो आवाज सन्नी की थी, मैं तो हैरान रह गया और मुझे मामला समझते देर ना लगी।

मैंने संयम से काम लिया, बोला- दरवाज़ा खोल, कुछ काम है।
तो उसने दरवाज़ा खोल दिया।

उसने बनियान और पजामा पहन रखा था और पूरा पसीने से लथपथ था। वो बोला- बोल, क्या काम है?
मैं बोला- अंदर नहीं बिठाएगा क्या?
तो वो बोला- चल आ जा, बैठ जा!

जब मैं अंदर गया तो अंदर कोई भी नहीं था।
मैंने दरवाजा बंद कर दिया और मैंने सन्नी से बोला- यार क्या कर रहा था घर पे बैठे बैठे?
मुझे पता था कि भावना अभी भी कमरे में ही है, बस कहीं छुपी होगी।

मैं सन्नी को जानबूझ कर बातों में फ़ंसा रहा था ताकि भावना को ढूंढ सकूँ।
मैंने उससे बोला- यार अकाउंट्स की कॉपी दिखाईओ अपनी?
वो बोला- रुक अभी!

और जैसे ही उसने अपने बैग से कॉपी निकाल कर मुझे दी तो मैंने जान बूझ कर उसे नीचे गिरा दी और उसे झुक कर उठाने लगा।
मैंने इतने में पलंग के नीचे देखा तो वहाँ पर भावना छिपी हुई थी, वो भी बिल्कुल नंगी!

मैं बोला- भावना… तू अंदर क्या कर रही है? वो भी नंगी?
वो घबरा गई और सन्नी भी!

मैंने भावना को हाथ देकर बाहर निकाला।
जब वो बाहर निकली तो मैंने उसकी गांड पे हाथ रखते हुए उसे ऊपर उठाया, फिर मैंने पूछा- भावना, यहाँ कर रही है वो भी नंगी?
तो वो रोने लगी, मुझसे कहने लगी- सॉरी शिव, ये बात किसी को मत बताइयो।
मैंने बोला- पागल है क्या? तुम दोनों इतनी गिरी हुई हरकत कर रहे थे और मैं किसी को ना बताऊँ?

तो सन्नी मुझसे कहने लगा- भाई प्लीज यार!
मैंने मना कर दिया और सबको बताने की धमकी देने लगा।
मैं जाने लगा।

जैसे ही मैं दरवाजे की तरफ जाने लगा तो भावना ने मुझे पकड़ लिया और मेरे होंटों को कस कर चूमने लगी और मेरे लंड पर पैंट के ऊपए से हाथ से सहलाने लगी।
और सन्नी मुझसे कहने लगा- अगर तू किसी को कुछ नहीं बताएगा तो तू भावना को रोज़ चोद सकता है।

मैंने कहा- ठीक है।
और फिर मैंने उससे पूछा- तूने अपनी बहन को कैसे मनाया सेक्स के लिए?

तो उसने बताया- यार, एक दिन जब यह हॉस्टल से आई थी ना… तो रात में कमरे में चूत में उंगली ले रही थी। मैंने वो सब रिकॉर्ड कर लिया और उससे इसे ब्लैकमेल किया। पर मुझे बाद में पता चला कि ये भी मेरा लंड लेने के लिए बेताब है, और तब से लेकर आज तक यह मेरी रखैल है, जब भी हॉस्टल से घर आती है, मैं इसे रोज चोदता हूँ।

उसने मुझे उसकी कुछ फ़ोटो भी दिखाई जिसमें भावना सन्नी का लंड ले रही थी गांड में और मुँह में… और उसकी कुछ नंगी फ़ोटो भी थी।

उसने मुझे उसके हस्तमैथुन की वीडियो भी दिखाई जिसमें भावना खुद अपनी चूत में उंगली कर रही थी।
सन्नी ने अपनी बहन की कई सारी वीडियो बना रखी थी। वो पूरी तरह से सन्नी की रखैलल बन चुकी थी।

फिर मैंने सन्नी के फ़ोन से सारी वीडियो और फ़ोटो अपने मोबाइल में सेंड कर ली और फिर सन्नी को कमरे से जाने को कहा।

सन्नी कमरे से जैसे ही गया, मैंने दरवाजा बंद कर दिया।
अब सन्नी की बहन भावना मेरे सामने थी, वो भी नंगी! उसने अपनी चूत भी शेव कर रखी थी।

मैं उसके पास गया और उसके पीछे जाकर उसकी कमर को दोनों तरफ से पकड़ लिया और उसे चूमने लगा।
फिर उसे अपनी गोद में उठा कर अटैच्ड बाथरूम में ले गया और अपने सारे कपड़े उतार दिए।
मैंने शावर चालू कर दिया और साबुन उसके पूरे शरीर पर लगा कर उसका पूरा शरीर नापा।

फिर मैं उसका हाथ पकड़ कर उसे वापस बेड रूम में लाया और उसे लिटा कर उसकी चूत चाटने लगा।
क्या रसीली चूत थी!

मैंने देखा कि वहीं पर चॉकलेट रखी हुई थी, मैंने एक चॉकलेट खोल कर भावना की चुत पर मल दी और जीभ से सारी चॉकलेट साफ़ कर गया।
इस बीच उसकी चूत ने अपना पानी भी छोड़ा था, मैं सारा पानी पी गया।

फिर मैं सीधा खड़ा हो गया और उसे बुलाया।
वो पहले से ही समझदार थी, वो मेरे पैरों में बैठ कर मेरे लंड आइसक्रीम की तरह चूसने लगी।

उसने मेरे लंड को अभी 5-7 मिनट ही चूसा होगा कि मेरा पानी झड़ गया, वो सारा पानी पी गई।
फिर उसने मेरे आंडों को चाटना चालू कर दिया, मैंने उसे फ़िर से लंड खड़ा करने को कहा और मैं उसके नंगे शरीर को सहलाने लगा।

कुछ देर बाद मेरा लंड फिर से सलामी देने लगा, मैंने उसे सीधा लिटाया और उसकी चूत में लंड टिका दिया।
वो खुश थी काफी जैसे उसका सपना पूरा हो रहा हो!

मैंने उसकी चूत के छेद पर लंड टिकाया और अन्दर डालने के लिए एक झटका मारा पर मेरा लंड उसकी चूत में अंदर नहीं जा पाया।
मैं समझ गया कि यह अभी भी कुंवारी चूत वाली है।

मैंने उससे पूछा- सन्नी ने तेरी चूत नहीं मारी?
तो वो बोली- नहीं, मेरा भाई बस मेरी चूत चाटता है और चुची चूसता है। और कभी कभी अपना लंड भी चुसवाता है।
मैं बोला- ऐसा क्यों?
तो बोली- मेरे भाई को इस बात का डर है कि कहीं मैं माँ ना बन जाऊँ।

मैं बोला- डरो मत, जब तक वीर्य तेरी बुर में नहीं जायेगा, तब तक तू माँ नहीं बन सकेगी।
पर मैं मन ही मन खुश था कि मुझे कुंवारी चूत चोदने को मिल रही है।

मैं उसकी चूत में लंड डालने जा ही रहा था कि वो बोली- रुको, मैं अभी आई!
और वो कोई क्रीम लाई और मेरे लंड पे लगाई और अपनी चूत पे भी!
वो बोली- अब डालो, अब आसानी से चला जायेगा।

मैंने लंड को चूत के छिद्र पर टिकाया और उसके हाथ को कस के पकड़ लिया, उसके दोनों पैरों को अपने पैरों में जकड़ लिया और एक जोर का झटका लगाया।
वो चीख पड़ी-आह… मम्मी… नई.. मुझे नहीं चुदवाना… छोड़ बहनचोद… छोड़ मुझे!

और तेज़ चिल्लाने लगी, उसका मुँह मैंने अपने मुँह से बंद किया और फिर थोड़ा शांत पड़ गया।
इतने में बाहर से सन्नी की आवाज आई- सब ठीक तो है ना?
मैंने कहा- हां!

फिर जब भावना शांत हुई तो मैंने उसे कहा- बहन की लौड़ी, अब दो मिनट चुप रहियो, नहीं तो तेरी वीडियो पूरे देश में फैला दूंगा।
तो वो बोली- ठीक है।
मैंने एक और जोरदार झटका लगाया, वो पूरी दर्द से सिहर गई पर वो चीखी नहीं, बस अंदर ही अंदर आवाज को दबाने लगी। काफी बेबस पड़ गई थी बेचारी!

मैंने उसे होंटों को चूमते हुए सॉरी कहा और कहा- सॉरी बेबी, तुझे शांत रखने के लिए ऐसा बोला!
फिर वो बोली- कोई बात नहीं!

मैंने अपना लंड आगे पीछे करना शुरू कर दिया, वो भी अपनी गांड उठा उठा के मजा लेने लगी और जोर जोर से सिसकारने लगी- आह… म…ज…अ…आ र..हा.. है… चोदो मुझे भैया… आह… तुम्हारा लंड कमाल का है।

फिर इसी के साथ वो झड़ गई।
और फिर मैं बेड से नीचे उतर कर खड़ा हो गया, उसे गोदी में उठा कर चोदा 1-2 मिनट!
इसके बाद उसे कुतिया बना दिया, पीछे से भावना की चुत में लंड डाल कर चोदा।
फिर उसे अपने ऊपर बिठा कर चोदा!

और जब मैं झड़ने वाला था तो उससे हटने को कह दिया, जैसे ही वो हटी, मैंने जल्दी से अपना लंड उसके मुँह में पेल दिया और सारा माल झाड़ दिया।

कुछ देर लेटने के बाद हम दोनों बाथरूम में गए और नहा कर मैंने उसके साथ नंगे ही कई फोटो खींची। और फिर उसकी नंगी वीडियो भी बनाई अपने साथ!
फिर हम दोनों ने कपड़े पहने और एक दूसरे को जबरदस्त किस किया, उसे कुर्सी पर बैठने को कहा और गेट खोल दिया।

सन्नी बाहर ही था, गेट खोलते ही वो अंदर आ गया, उसने बिस्तर देखा तो वो खून और वीर्य के दागों से गन्दा हो गया था।
उसने मुझसे कहा- अबे, अगर मेरी बहन माँ बन गई तो क्या होगा?
मैं बोला- कुछ भी नहीं होगा, तू डर मत!

मैंने उसे पूरा समझाया तो उसे मुझ पर विश्वास हो गया।

फिर मैंने सन्नी की बहन भावना को गले लगा लिया जाते वक़्त और सन्नी को भी!

मैं जाने लगा तो याद आया कि मैं तो अपनी बुक लेने आया था।
मैंने बुक ली और चला आया अपने घर!

उस दिन के बाद मैंने भावना को कई बार चोदा, उसके भाई मैंने और उसने थ्रीसम भी किया। काफी मजा किया हमने भावना के साथ!

तो दोस्तों, कैसे लगी आपको मेरे दोस्त सन्नी की बहन भावना की चुत चुदाई की यह स्टोरी?
कमेंट में जरूर बताइयेगा और मुझे मेल जरूर भेजिएगा।

पर हाँ दोस्तो, प्लीज कोई भी लड़का मुझे यह मत कहना कि मुझे भी उस लड़की के साथ सेक्स करना है या कुछ और!
क्योंकि यह संभव नहीं है। बस आप कहानी पढ़ कर मजा लीजिये, लड़के अपने लंड को हिलाइए और लड़कियाँ अपनी बुर को सहलाइए।
[email protected]