नौकर के बेटे की वासना भरी निगाहें-1

कम मैं भी नहीं हूँ, पति जब बाहर नित नई चूत को चोद रहे हों, तो मैं कैसे बिना मर्द के रह सकती थी। मैंने भी अपनी जवानी को बहुतों पर लुटाया है। मैंने कभी इस बात की परवाह नहीं की कि जो मेरे ऊपर चढ़ने जा रहा है, वो कौन है।

फ़ेसबुक पे पटा कर चंडीगढ़ में चोदा-1

एक दिन फ़ेसबुक पर एक लड़की की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई हुई थी. मैंने चैट शुरू की और उसका परिचय जाना, हम अच्छे दोस्त बन गये. उसके बाद क्या हुआ? मेरी सेक्सी कहानी में पढ़ें!

काजल की चुदाई: दूध वाला राजकुमार-6

भैया गांव में कुश्ती लड़ते थे, उनका गोरा गठीला जिस्म देख सारी लड़कियां चूत में उंगली किये बिना नहीं मानती थी, यही दुआ करती थी कि किसी तरह भैया के कसरती जिस्म और मूसल से लन्ड से मिलन हो जाए।

योनि का दीपक- भाग 3

कहाँ तो एकदम परम्परागत लड़की थी – शादी से पहले नो किसिंग, न हगिंग, फकिंग तो बहुत दूर की ही बात थी। लेकिन आज एकबारगी न सिर्फ टैटू वाले के सामने टांगें खोलकर चूत पर चित्र बनावाया बल्कि…

डॉक्टरनी के साथ पहाड़ी पर मस्ती

मैं दवा कंपनी में काम करता था, मेडिकल कॉलेज में जाता था, एक डॉक्टरनी से काफी अच्छी दोस्ती हो गई. दोनों कैंटीन में काफी खुलकर बातें करते थे. एक दिन वो मुझे पास की पहाड़ी पर ले गई. वहां क्या हुआ? पढ़ें मेरी इस सेक्स कहानी में!

मेरी स्टूडेंट ने मुझे दुनिया दिखाई-1

मैं एकदम सीधा सादा लड़का था जिसका मानना था कि सेक्स शादी के बाद का टॉपिक होता है। मैंने अपना कोचिंग सेंटर खोला तो काफी लड़कियां आने लगी, उनमें से एक बहुत खूबसूरत और सेक्सी लड़की थी और बहुत बातूनी भी।

सौतेली माँ के साथ चूत चुदाई की यादें-8

मैं जैसे ही उसके पास पहुँची तो जानबूझ कर उसके ऊपर इस तरह गिर गई जैसे कि मैं फिसली हूँ. उसने भी मुझे इस तरह से पकड़ा कि मेरे दोनों मम्मे उसके हाथों में आ गए और वो उनको दबाने लगा.

आंटी की चूत का चौराहा बनाया

मेरी दूकान के सामने से एक मस्त आइटम आंटी रोज बस लेती थी, मैं उसे लाइन देता था। धीरे धीरे वो भी मुझे लाइन देने लगी। उस आंटी को मैंने कैसे चोदा? पढ़ें मेरी इस कहानी में!

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-6

अगले दिन पापा के ऑफिस जाने के बाद मैंने कॉलेज से छुट्टी मारने की सोची और दस बजे के बाद अपने घर को बंद करके आंटी के दरवाज़े पर दस्तक… [Continue Reading]

वो कौन थी-2

चाचा की बेटी की शादी में गाँव में सर्दियों की रात में मैं रजाई लेकर सोया हुआ था कि मेरे साथ कोई लड़की सोई हुयी थी, उसके ऊपर रजाई नहीं थी. मैंने उसके ऊपर रजाई डाली तो वो मेरे पास आ गई. मेरी कामुकता जागने लगी.

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-2

मेरी पड़ोसन आंटी के साथ मेरे पापा के सेक्स सम्बन्ध थे. मैंने सबूत जुटाने के लिए किसी तरह से आंटी के बेडरूम में कैमरा लगा दिया और फिर मैंने आंटी को उनके पति से सेक्स करते देखा.

भाई की कुंवारी साली की सील तोड़ी-5

मकान मालिक मेरे सामने आए और सीधे मेरी स्कर्ट को पकड़ा ऊपर उठाया फिर ना जाने क्या उनके दिमाग में आया सीधे खींच कर नीचे उतार दिया, मैं उनके सामने ऊपर टॉप में जो मेरी नाभि के नीचे तक थी, नीचे सिर्फ पैंटी में मुझे खुद शर्म आने लगी.

इत्तेफाक से जेठ बहू के तन का मिलन-1

कभी-कभी जिंदगी भी इत्तेफाक के दम पर आगे बढ़ती है। ऐसा ही इत्तेफाक इस कहानी में भी है, मेरे छोटे भाई की बीवी के साथ मेरा सेक्स यानि जेठ बहू का सम्भोग किन परिस्थितियों में हो गया, पढ़ें इस इन्सेस्ट कहानी में!

दोस्त की कुँवारी नौकरानी को चोदा

मैं अपने दोस्त के घर उसका कम्प्यूटर ठीक करने गया, घर में कोई नहीं था सिर्फ नौकरानी आई थी तभी… वो एक युवा लड़की थी, मेरा दिल मचल गया, मैंने उससे बात करनी शुरू की जो आखिर उसकी चूत चुदाई तक पहुँच गई. आप भी पढ़ें कि ये सब कैसे हुआ!

यार से चुदाई के बाद पड़ोसन से लेस्बियन सेक्स का मजा

एक दिन मैं पड़ोसन के घर गई तो उसे उसके पूर्व पति से चुदाई करवाते देख मेरी कामवासना भड़क गई. मैंने अपने दो दोस्तों को फोन किया अपनी चूत चुदवाने के लिए.

सुहागरात: मेरे पहले मिलन की रात

सुहागरात को मैं कमरे में पहुँचा तो वो मेरा इन्तजार कर रही थी. कुछ देर तक प्यार की बातें करने का बाद मैंने उसके माथे पर किस किया. इस वक्त संसार का वो सुख मिल रहा था, जो सिर्फ एक पति पत्नी को ही मिलता है. पति पत्नी के इस पवित्र सेक्स की कहानी का मजा लीजिये.

मेरे पहले प्यार कविता की ज़न्नत

मेरे नए कोचिंग इन्स्टिट्यूट के लिए मैंने एक लड़की कविता को रिसेप्शनिस्ट रखा. वो मुझ पर कुछ ज़्यादा ही ध्यान देती थी। मेरी सेक्स कहानी पढ़ कर देखें कि कैसे मुझे कविता ने अपनी ज़न्नत के दर्शन कराये.

पड़ोसन भाभी की माँ बनने की इच्छा

मैं पड़ोस की एक भाभी की चुदाई करता था. एक बार भाभी ने कहा कि मेरी इच्छा है कि मैं तुम्हारे बच्चे को अपने गर्भ से जन्म दूँ. मैंने भाभी की चूत बार बार चोद कर उन्हें कैसे संतान का सुख दिया, पढ़ें मेरी हिंदी सेक्स कहानी में!

लिफ्ट का अहसान चूत देकर चुकाया-8

मेरी हिन्दी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपने दोस्त के खाली घर में दो लड़कियों को चोदने के लिए ले गया. अभी एक कुंवारी लड़की की बुर में लंड घुसाया ही था कि मेरे दोस्त की बीवी वहाँ आ गई और थोड़ा नाराज होने के बाद वो भी हमारे चुदाई के खेल में शामिल हो गई.

कमसिन देसी लड़की की चुदाई की सेक्स कहानी

मेरी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने एक कुंवारी लड़की की सील तोडी. उस कमसिन देसी लड़की का घर मेरे घर के पास में ही है। वो मुझे एक साल छोटी है, उसकी गदर जवानी पर गांव के लड़के जान देते थे, मैं भी उनमें से एक था.. उसने मुझे बहुत तड़पाया, लेकिन फिर उसी ने इतना मज़ा दिया कि क्या बोलूँ।