पोर्न ब्लू फिल्म

कुंवारी देसी लड़की को ब्लू फ़िल्म दिखा कर चूत की सील तोड़ी

कुंवारी जवान लड़की घर में अकेली हो, उसे ब्लू फ़िल्म देखने को मिल जाए तो उसकी चूत में लंड लेने की इच्छा तो होगी ही ना… यही तरीका मैंने अपनी पड़ोसन पर आजमाया और चूत की सील तोड़ी।

पड़ोसन लड़की मेरे कमरे में आकर चूत चुदवा गई

तेज बारिश हो रही थी, देखा कि पड़ोसन लड़की बाहर खड़ी भीग रही थी। उसका टॉप पारदर्शक होने की वजह से उसकी काली ब्रा साफ़ दिख रही थी। उसने देख लिया और एक सेक्सी मुस्कुराहट दी।

देवर ने ब्लू फ़िल्म दिखा कर फ़ंसाया और चोदा

मेरा देवर घर पर रहता था और मुझे लैपटॉप पर फ़िल्में दिखाता था। एक दिन उसके लैपटॉप में मुझे ब्लू फ़िल्म मिली। मुझे ब्लू फ़िल्म की लत पड़ गई और देवर ने मुझे चोद दिया।

सेक्सी देसी लड़की फुफेरी बहन की चुदाई

मेरी बुआ की लड़की बहुत सेक्सी देसी लड़की है। मैं बुआ के घर गया हुआ था तो मेरी बहन ने मेरे मोबाइल में ब्लू फ़िल्म देख ली। उसके बाद मेरी बहन ने कसिए अपनी चुदाई करवाई… इस कहानी में!

बॉडी मसाज़ गर्ल के साथ लेस्बियन सेक्स

मैं ब्यूटी पार्लर में गई। वहां लड़की ने मुझे बॉडी मसाज़ के लिए कहा, मुझे नंगी होने को कहा। मुझे शर्म आ रही थी तो उस लड़की ने मेरे कपड़े उतारने शुरु किए। मैं पूरी नंगी हो गई थी।

देसी आंटी ने ब्लैकमेल करके चूत चुदवाई

मैं घर पर अकेला था, ब्लू-फिल्म देख रहा था। हमारी किरायेदार आन्टी को पता चल गया और वो मुझे ब्लैकमेल करने लगी, कहने लगी कि मेरी बात मान, नहीं तो!

ऑफ़िस में ब्लू फिल्म और हस्तमैथुन

मैं शुरू से खुले विचारों वाली लड़की रही हूँ। सहेलियों के साथ गंदे मज़ाक करना, उनके बूब्स दबा देना, चूत पर हाथ मार देना या गांड में उंगली कर देना मुझे बहुत अच्छा लगता था।

सेक्सी लड़की के मोबाईल में नंगी फोटो

मेरी कोचिंग क्लास की एक लड़की मुझे पसंद आई, उससे दोस्ती की. एक बार उसका मोबाइल देखा तो उसमें नंगी फोटो थी. मैंने मोबाइल में एक सेक्स वीडियो डाल दी.

पड़ोस की दीदी की चूत चुदाई का खेल

पड़ोस की एक लड़की के घर मेरा आना जाना था, मैं उसे चोदना चाहता था। मुझे लगता था कि वो भी ऐसा ही चाहती है। एक दिन अकेले में मैंने उसे पकड़ लिया। फ़िर क्या हुआ?

जिस्मानी रिश्तों की चाह -15

आपी का भी एक हाथ टाँगों के दरमियान और दूसरा उनके एक उभार पर था.. फिर आहिस्तगी से उन्होंने अपनी सलवार से ही अपनी टाँगों के बीच वाली जगह को साफ किया और फिर सीधी बैठीं!

जिस्मानी रिश्तों की चाह -14

जैसे-जैसे दास्तान आगे बढ़ती जा रही थी आपी की बेचैनी भी बढ़ती जा रही थी। वो कभी टाँगों को आपस में भींचती थीं तो कभी अपनी दोनों रानों को एक-दूसरे से रगड़ देती थीं..

जिस्मानी रिश्तों की चाह -13

जब आपी ने देखा तो उनकी ब्रा मेरे बायें हाथ में थी और मैं कप के अन्दर ज़ुबान फेर रहा था। मैंने आपी को देखा लेकिन अब मैं अपनी मंज़िल के बहुत क़रीब था इसलिए अपने हाथ को रोक नहीं सकता था।

जिस्मानी रिश्तों की चाह -12

आपी आज भी सिर्फ़ गाउन में थीं और हालात कल शाम वाले ही थे। मैंने आपी के मम्मों पर एक भरपूर नज़र डाली और ठंडी आह भरते हुए टेबल से उठ खड़ा हुआ।

जिस्मानी रिश्तों की चाह -10

आपी का अबया उनके घुटनों तक उठा.. तो मुझे हैरत का एक शदीद झटका लगा। आपी ने अबाए के अन्दर कुछ नहीं पहना हुआ था.. मतलब आपी अबाए के अन्दर बिल्कुल नंगी थीं।

जिस्मानी रिश्तों की चाह -9

मेरी बड़ी बहन.. मेरी आपी.. अपने राईट हैण्ड से की बोर्ड को कंट्रोल कर रही थीं और लेफ्ट हैण्ड की 2 उंगलियों से उन्होंने अपने लेफ्ट मम्मे के निप्पल को पकड़ रखा था और उसे चुटकी में मसल रही थीं।

जिस्मानी रिश्तों की चाह -8

मेरी आपी का रंग गुलाबी है.. उनकी लम्बाई तकरीबन 5 फीट 4 इंच है.. उनका जिस्म भरा हुआ था.. पेट बिल्कुल नहीं था। उनकी भारी कदली सी जाँघें हैं और उनके सीने के दोनों उभार काफ़ी बड़े और वैलशेप्ड हैं.. मेरे पूरे खानदान में ही सब औरतों के मम्मे बड़े-बड़े ही हैं।

जिस्मानी रिश्तों की चाह -7

मैंने अपने छोटे भाई को अपनी बहन की शर्ट पहन कर लड़की बनने को कहा और कुछ ही लम्हों बाद मेरा लण्ड जड़ तक उसके मुँह में था। तभी बड़ी बहन की आवाज से मैं डर गया।

समलैंगिकता का मजा-1

स्कूल में तो लड़के सेक्स के बारे में हमेशा बातें करते रहते थे और मुझे भी उनकी बातों में बड़ा मजा आता था। मुझे एक बात थोड़ा अजीब लगती थी कि मैं लड़कियों के मुकाबले लड़कों की तरफ ज्यादा आकर्षित हो रहा हूँ।

जिस्मानी रिश्तों की चाह -2

मैंने सोचा कि क्या होगा अगर मेरे पास एक लड़का और एक लड़की हो.. तो मैं चोदने के लिए किसे तरजीह दूँगा। फ़ौरन ही मेरे जेहन ने मुझे बता दिया कि मैं 'गे' नहीं हूँ। मैं हमेशा लड़की को चुदाई के लिए तरजीह दूँगा..

जिस्मानी रिश्तों की चाह -1

उस वक़्त मेरी उम्र 19 साल थी। मैं सेक्स के मामले में बिल्कुल पागल था। चौबीस घंटे मेरे जेहन में सिर्फ़ सेक्स ही भरा रहता था। मैं हर वक़्त सेक्स मैगजीन्स की तलाश में रहता था।

सबसे ऊपर जाएँ