मेरी काम वासना के रंगीन सपने -2

नपुंसक पति के कारण मैंने मन ही मन चंदर से संभोग करने का इरादा बना लिया। मैं उठकर भान्जे के कमरे में गई और छानबीन की.. पर उसकी अलमारी से कुछ नहीं मिला.. बिस्तर के नीचे कुछ नहीं था। लेकिन गद्दे के नीचे कुछ किताबें मिलीं.. साथ में कन्डोम के कुछ पैकेट भी मिले।

मेरी काम वासना के रंगीन सपने -1

पति की नाकामयाबी मेरे साथ एक धोखा सा था.. पति को धोखा देना कोई पाप नहीं लग रहा था।
अगर मेरे पति बिस्तर में कामयाब और नॉर्मल होते.. तो आज उनके साथ खुश रहती..

लौड़े की बदकिस्मती

मैंने सुना था कि लड़कियाँ बहुत गरम होती हैं। अगर लड़की एक बार किसी से चुद जाए.. तो वो हमेशा चुदने के लिए तैयार रहती है, फ़ुद्दी चुदाने का नशा कंट्रोल नहीं होता.. ऐसे ही एक भाभी को मैंने गर्म करके चोदना चाहा तो उसने मना नहीं किया…

चुद गई बच्चे की चाह में

उनकी चूची मेरे सीने से बार बार लग रही थी, वो मेरे सीने से लगी रही। मैं अपने हाथों को नहीं रोक सका और उनकी पीठ पर फेरने लगा, उन्होंने कोई आपत्ति नहीं जताई

पड़ोसन भाभी की अतृप्त अन्तर्वासना-2

देसी रोमियो हरमन मैं दो मिनट तक भाभी के ऊपर ही लेटा रहा और भाभी से पूछा- आपकी चूत दो बच्चों की माँ होते हुए भी इतनी टाइट क्यों है..?… [Continue Reading]

पड़ोसन भाभी की अतृप्त अन्तर्वासना-1

भाभी ने बच्चों को जल्दी सुला दिया और मैं सोने की तैयारी कर रहा था। रात के 11 बज चुके थे, अचानक भाभी ने मेरे कमरे का दरवाज़ा खटखटाया, जब मैंने दरवाज़ा खोला तो वे सामने खड़ी थीं।

पति और खान के साथ दुबई में रंगरलियाँ-5

पहली बार सोना के भरपूर नंगे बदन को मैंने बेड पर देखा, चुदाई की उसकी प्यास महसूस की, मैं समझ गया कि इसे साण्ड जैसा आदमी चाहिए जो इसे मसल-मसल कर पटक-पटक कर चोदे।

वो अक्षत योनि की क्षति -2

पूरी रात मैं सपना के सपने को साकार करता रहा। उस रात करीब पांच बार लम्बा सम्भोगों का दौर चला। इस संगमरमर की मूरत को हर बार मैंने संतुष्ट किया।