कुँवारी चूत, कुँवारी कन्या की पहली चुदाई की कहानियां

बिना चुदी नंगी चुत की पहली बार चुदाई, कुँवारी चूत की हिंदी कहानी, कुँवारी कन्या के पहले सेक्स की स्टोरी

Kunvari chut ki Chudai ki Hindi Kahani

choot Sex Stories About First Time Sex with a Virgin Girl

Story about Defloration of a Virgin Girl.

तीन पत्ती गुलाब-29

मैं मधुर के गालों को चूमते हुए और उसके नितम्बों पर हाथ फिराते हुए यही सोच रहा था पता नहीं गौरी के नितम्बों को चूमने और मसलने का मौक़ा कब मिलेगा।

नयी नवेली कुंवारी दुल्हन भाभी को चोदा

मेरे एक दोस्त की शादी हुई. मैंने उसकी नयी नवेली दुल्हन को चोदा. यानि कुंवारी भाभी को चोदा. यह कैसे सम्भव हुआ? मेरी सेक्सी कहानी पढ़ कर पता लगाएं.

स्कूल की चाहत की कॉलेज में आकर चुदाई

12वीं क्लास में मेरी क्लास में एक नयी लड़की आई. उससे मेरी दोस्ती हुई, वो मुझे चाहती थी, मैं उसे ... लेकिन कभी 'आई लव यू ...' नहीं बोल पाये. तो फिर मिल्न कैसे हुआ?

भाभी ने कुंवारी लड़की की चूत चुदवा दी-2

मेरे पड़ोस की भाभी की चुदाई मैं करता था. उनके पास एक कुंवारी लड़की आती थी. मैंने उस कुंवारी लड़की को पटा लिया था, बस चुदाई करनी थी. उसमें भाभी मेरी मदद कर रही थी.

चाची की बेटी की वासना और सेक्स

मेरी चाची की बेटी कुछ दिन के लिए हमारे घर आई. मेरी चचेरी बहन की बातों से लगा कि उसकी वासना काबू में नहीं है. मैंने उसकी कामुकता को जान लिया और ...

तीन पत्ती गुलाब-23

मैंने अपनी जेब से वह सोने की अंगूठी निकाली और गौरी के दायें हाथ की अनामिका में पहना दी। मैंने गौरी के हाथ को अपने हाथ में लेकर उस पर एक चुम्बन ले लिया। गौरी लाज से सिमट गई। “गौरी मेरी प्रियतमा! आज की रात हम दोनों के लिए सुनहरे सपनों की रात है। आओ […]

स्टूडेंट से प्यार और मस्त चुदाई-1

मैं स्कूल टीचर हूँ. अपने स्कूल की एक लड़की पर मेरा दिल आ गया. उसके साथ टांका भी भिड़ गया. मैंने उस कुंवारी लड़की की बुर की सील कैसे तोड़ी? पढ़ें इस गर्म कहानी में!

तीन पत्ती गुलाब-22

गौरी इस समय रोमांच के उच्चतम स्तर पर पहुँच चुकी थी और बस मेरी एक पहल पर अपना तन, अपना कौमार्य मुझे सौम्प देने के लिए आतुर थी लेकिन तभी ...

तीन पत्ती गुलाब-21

मैंने उसकी पजामी का इलास्टिक पकड़ा और उसे धीरे धीरे नीचे करने लगा। जब पजामी थोड़ी नीचे सरकने लगी तो उसने अपने नितम्ब थोड़े से ऊपर उठा दिए ...

तीन पत्ती गुलाब-20

काश कल सुबह वो नहाते समय अपनी सु-सु दिखाने के लिए राजी हो जाए तो मज़ा आ जाए। उसके साथ नहाते समय सु-सु को चूमने का विचार मन में आते ही लंड महाराज ने तो पाजामे में कोहराम ही मचा दिया.

तीन पत्ती गुलाब-19

गुरु ... ठोक दो साली को ... क्यों बेचारी को तड़फा रहे हो ... लौंडिया तुम्हारी बांहों में लिपटी तुम्हें चु...ग्गा (चूत गांड) देने के लिए तैयार बैठी है तुम्हें प्रवचन झाड़ने की लगी है।

तीन पत्ती गुलाब-18

एक बार वो मेरा लंड चूस चुकी थी. अगले दिन मेरा दिल कर रहा था कि अपना पूरा लंड उस नवयौवना के मुख में डाल कर चुसवाऊँ. क्या मैं ऐसा कर पाया? कहानी में पढ़ें.

तीन पत्ती गुलाब-16

देखो, मैं अपना निक्कर उतारता हूँ। तुम्हें मेरे लिंग को पकड़कर बस थोड़ी देर हिलाना है और उसके बाद उसमें से वीर्य निकलने लगेगा। तुम्हें थोड़ी जल्दी करनी होगी.

तीन पत्ती गुलाब-15

उसकी जांघें इतनी चिकनी और गोरी थी कि उन पर नीले से रंग की हल्की-हल्की शिरायें सी नज़र आ रही थी। और घुटनों के ऊपर का भाग तो मक्खन जैसा लग रहा था।

तीन पत्ती गुलाब-14

सेक्स ईश्वर द्वारा मानव को प्रदत्त आनन्दायक क्रिया है यह कोई पापकर्म नहीं है। इसमें पति-पत्नी या प्रेमी-प्रेमिका को जिन क्रियाओं में आनन्द मिले वो सब प्राकृतिक निष्पाप होती हैं।

मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की कहानी

मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मैं अपने कॉलेज के दोस्त के साथ अपने घर में पढ़ाई करती थी. एक बार मैंने उसके फोन में पोर्न क्लिप देख लिया तो ...

तीन पत्ती गुलाब-13

पता नहीं उसने अपने प्रथम शारीरिक मिलन को लेकर कितने हसीन ख्वाब देखे होंगे? क्या वो इतनी जल्दबाजी में पूरे हो पाते? सम्भोग या चुदाई तो प्रेम की अंतिम अभिव्यक्ति है.

तीन पत्ती गुलाब-11

गौरी ने टॉप के नीचे समीज या ब्रा नहीं पहनी थी तो मेरी निगाहें तो बस उसकी गोल नारंगियों और जीन पैंट में फंसी जाँघों और नितम्बों से हट ही नहीं रही थी।

माँ बेटी दोनों चुद गईं

मेरा बेटा और बेटी जवान हो गये थे. एक दिन मैंने अपने बेटे को देखा कि वो अपनी बहन को कमरे में ले गया. मैंने खिड़की से झाँक कर देखा तो ...

मौसी ने अपनी भानजी की चुदाई करायी-2

मैं भाभी की बहन की बेटी की चूत चुदाई के लिए तड़प कर रह गया. वो हाथ से निकल गयी थी एक बार तो ... लेकिन किस्मत ने एक बार फिर से हम दोनों को मिला दिया.

Scroll To Top