मौसी की बेटी की चूत चुदाई की वो हसीन रात

मैं मौसी के घर जाता था. मेरी मौसी की बेटी गर्म माल है, मैं अपनी बहन के ऊपर लट्टू था और मैंने कई बार उसे सोते हुए किस किया है. मैंने कैसे मेरी मौसेरी बहन की कुंवारी चूत को चोदा? पढ़ें और मजा लें!

जाटणी के यार से अपनी चूत की प्यास बुझवाई

मेरे प्यारे दोस्तो, एक बार फिर से मैं भावना मेघवाल, राजस्थान से अपनी कहानी का अगला भाग लेकर अन्तर्वासना की इस सेक्स सभा में प्रस्तुत हुई हूँ। मेरी पिछली लेस्बियन… [Continue Reading]

कमसिन लड़की की मोटे लंड की चाहत-4

साली, तेरी गांड बहुत बहुत हॉट है.. भैन की लौड़ी क्या उठान है तेरे चूतड़ों के.. काश और पहले तुम मुझसे खुल जातीं तो हम आज तक में हम दोनों कितनी बार मस्त चुदाई कर चुके होते!

मामा की लड़की से प्यार हो गया

यह कहानी मेरी और मेरे मामा की लड़की ख़ुशी की है. जब मैं कॉलेज की पढ़ाई के लिए शहर गया था तो किस तरह मुझे मेरे मामा की लड़की बस में मिली, उससे प्यार कैसे हुआ, यह कहानी में पता चलेगा.

कमसिन लड़की की मोटे लंड की चाहत-1

मेरी टीचर ने पढ़ाई के बहाने सेक्स कहानियों की किताब देकर पढ़वाई और फिर मुझे अपनी वासना का खिलौना बनाना चाहा, मेरे मुँह में अपना लन्ड चुसवाया, फिर मैंने खुद गुड्डे गुड़िया की शादी का खेल खेलने के बहाने…

एक कुंवारा, एक कुंवारी और चुदाई का मजा

यह सेक्स कहानी है कॉलेज में पढ़ने वाली एक कुँवारी लड़की की जिसने कभी सेक्स नहीं किया था. उसकी दोस्ती एक कुंवारे लड़के से हो गयी. उन दोनों ने चुत चुदाई का मजा कैसे लिया, पढ़ें इस कहानी में!

जाटणी के साथ पहला लेस्बियन अनुभव

मैं नई नई कॉलेज में आई थी, वहां मेरी एक सहेली बन गई, वो जाटणी थी. एक बार हम दोनों वाटर पार्क गयी तो वो जाटणी मेरे अधनंगे बदन को घूरने लगी, उसकी आंखों में हवस थी। फिर हमने क्या किया?

मैं उसकी चूत का हीरो

मैं सीढ़ियों से ऊपर अपनी क्लास की तरफ बढ़ रहा था, मुझे कुछ आवाज़ें सुनाई देने लगीं. ये सिसकारियाँ भरने की आवाज़ें थीं. मैं समझ तो गया कि कोई खेल चल रहा है.. लेकिन मैंने सोचा कि किसी का मज़ा क्यूँ खराब करूँ!

बॉयफ्रेंड के साथ मेरी पहली चुदाई

मैं साधारण लड़की हूँ, मेरे साथ में ही कॉलेज में लड़का पढ़ता था, उससे मेरी बात होने लगी और दोस्ती हो गयी. एक दिन मैं उसके घर गयी किसी काम से तो उसने दरवाजा खोला. तब वह केवल तौलिए में था.

लोहड़ी की रात मेरी पहली सुहागरात

मेरे पड़ोस की एक लड़की जवान हुई तो मेरी कामुक दृष्टि उसकी जवानी पर पड़ी. मैंने उस अल्हड़ बाला को कैसे अपने काबू में करके उसकी कुंवारी चूत का उपभोग किया, उसे उसके प्रथम सहवास का मजा दिया, पढ़ें मेरी सेक्सी कहानी में!

अधूरी ख्वाहिशें-5

मेरी बहन मेरी फैली टांगों के बीच औंधी लेट कर हाथ से मेरी योनि के ऊपरी सिरे को सहलाने लगी। मेरे दिमाग में चिंगारियां छूटने लगीं। मैंने कभी सोचा नहीं था कि पेशाब करने वाली जगह में इतना अकूत आनंद हो सकता है।

भाभी की भतीजी से वासना भरा प्यार और चुदाई

मेरे भाई की शादी के बाद भाभी की दो भतीजी हमारे घर रहने आई. उनमें से छोटी वाली मुझे पसंद आ गई. हमारी दोस्ती हो गयी. उसके बाद क्या हुआ, मेरी सेक्स कहानी में पढ़ कर मजा लें!

कमसिन बेटी की महकती जवानी-6

पद्मिनी बापू के लंड पर झुक गयी. पहले बापू के कहने पर अपनी जीभ को लंड के ऊपर वाले हिस्से पर फेरा, फिर और एक बार फिर से.. और एक बार.. धीरे धीरे वो अपने बाप का लंड चाटती गयी.

कमसिन बेटी की महकती जवानी-5

बापू आहिस्ते आहिस्ते अपनी बेटी पद्मिनी की जवान कुंवारी चुत की पंखुड़ियों को अपनी उंगलियों से आराम से खोलते हुए अपनी जीभ को चूत के उन मुलायम हिस्सों पर फेर रहा था.. जो ज़्यादा लाल और नाज़ुक होते हैं.

कमसिन बेटी की महकती जवानी-4

मैं टीचर के साथ क्लास में बिल्कुल अकेली थी, तो उसने मुझको किस किया, मेरे जिस्म पर हाथ फेरा. पता नहीं क्यों वह मुझे अच्छा लगा. उसके बाद जब भी मौका मिलता वह मेरा ब्लाउज खोल मेरी चूचियों को चूसता!

कमसिन बेटी की महकती जवानी-3

पद्मिनी पीठ पर स्कूल बैग लिए हुए बापू के कंधों को पकड़ कर मीठी आवाज़ में बोली- आज क्या हो गया आपको, मुझे स्कूल नहीं जाने दोगे? छोड़िये मुझे, बस करो प्यार करना.. कितना दुलार करेंगे आज आप मेरे साथ?

अधूरी ख्वाहिशें-2

हमारे समाज ने सेक्स को टैबू बनाया हुआ है, सौ में से नब्बे लोग इन समाजों में यौनकुंठित और दुखी ही हैं। जबकि पश्चिमी सभ्यता में यह रोजमर्रा का आम व्यवहार है और वे सेक्स को खुल कर जीते हैं और हमारे मुकाबले वे ज्यादा खुश और खुशहाल हैं।

कमसिन बेटी की महकती जवानी-2

खूब चूमाचाटी के बाद अब बापू से रहा न गया और वो पद्मिनी के ऊपर चढ़ गया. पद्मिनी सोच रही थी कि उफ़ क्या करेगा यह बापू अब… ओह माय गॉड? कहीं अन्दर तो नहीं डालेगा… मैं क्या करूँगी अगर अन्दर डाला तो??

बुआ की बेटी ने अपना बनाया

एक रात मुझे अपनी बुआ के घर उनकी युवा बेटी के संग रात को अकेले रहने का अवसर मिला. मैं पहले से ही अपनी बहन की जवानी पर नजर लगाए था. उस मौके का फ़ायदा मैएँ कैसे उठाया, पढ़ें मेरी बहन की चुदाई कहानी में!

कमसिन साली की मस्त चुत चुदाई

मेरी बीवी की चचेरी बहन मुझसे बहुत मजाक करती थी. मैं भी उसको गले लगाने के बहाने खूब चूचियों से अपना सीना रगड़ देता. उसकी कसमसाहट भी मुझे हरी झंडी सी लगती थी. मैंने अपनी साली को कैसे चोदा?