पेंटर बाबू: आई लव यू-1

मैं 40 साल का हूँ, उस दिन सब काम से फ्री होकर मैं अपने बिस्तर में नंगा उल्टा पड़ा अन्तर्वासना पर गर्मागर्म कहानी पढ़ते हुए बिस्तर को ही चोद रहा था. तो मेरे साथ क्या हुआ?

मम्मी से बदला लिया सौतेले बाप से चुदकर-2

मैं चुदाई के लिए बेताब थी, मैंने पापा का लंड देखा जब वे मम्मी को चोद रहे थे तो मैंने अपने पापा को पटाने का फैसला किया. मुझे पटा था कि पापा भी मुझे चोदना चाहते हैं.

ताऊ की लड़की को चोदा-2

मेरी चचेरी बहन ने अपने रूम की लाइट ऑन कर रखी थी, वो बिल्कुल की-होल के सामने नंगी लेटी हुई थी. मैं समझ गया कि बहन जानबूझ कर की-होल के सामने नंगी बैठी है.

भाई के साथ मस्ती

मैं अपने छोटे भाई से बहुत प्यार करती हूँ. वो भी मुझे बहुत परेशान करता है. इसी भाई बहन के प्यार के चलते हम दोनों ने क्या क्या कर डाला, पढ़ें मेरी कहानी में!

एक कुंवारी एक कुंवारा-1

समलैंगिकों को कानूनी मान्यता मिलने पर बहुत-बहुत बधाई। यह कहानी तब की है जब मैं पढ़ रहा था और मुझे लड़के अच्छे लगने लगे थे लेकिन मेरी गांड कोरी थी. एक जाट लड़का मुझे अच्छा लगा.

पड़ोसन भाभी से सेक्स की कहानी

यह सेक्स कहानी है मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी की चूत चुदाई की … एक दिन मैं उनके घर गया तो उनके बेडरूम से कुछ आवाजें आ रही थी. मैंने बेडरूम में झाँक कर देखा तो …

चुत की खुजली और मौसाजी का खीरा-1

मैं अपनी पढ़ाई के लिए शहर में अपनी मौसी के घर में रहने लगी. लेकिन मेरे फ़ौजी मौसाजी बहुत सख्त थे तो मेरी चूत को लंड मिलने बंद हो गए.

मेरा पहला सेक्स: साजन अनाड़ी सजनी खिलाड़ी

गर्मी की छुट्टियों में मैंने फर्स्ट सेक्स का मजा लिया. तब मुझे सेक्स के बारे में कुछ नहीं पता था. मेरे मौसा जी के घर उनकी बहन की बेटी आई हुई थी, मैं भी वहां गया हुआ था. पढ़िए क्‍या हुआ आगे..

वासना के पंख-1

यह लम्बी कहानी मेरी पिछली कहानी ‘होली के बाद की रंगोली’ जो भाई बहन के सेक्स सम्बन्धों पर थी, से ही सम्बंधित है. उस घटना से पहले क्या हुआ, यह बताया गया है.

बहू की मेहरबानी, सास हुई बेटे के लंड की दीवानी-5

आते ही उसकी नजर सोफे पर सोई अपनी अधनंगी माँ पर पड़ी तो उसकी धड़कनें एकदम बढ़ गई, उसकी नाईटी जाँघों तक उठी हुई थी। इस अवस्था में अपनी मम्मी को देख उसके दिल में हलचल सी मची।

साठा पे पाठा मेरे चाचा ससुर-2

एक दिन मैंने अपने चाचा ससुर को हमारी कामवाली को चोदते देखा, चचा का लंड देखा तो मेरे तनबदन में वासना भड़क गयी. मुझे चाचा ससुर का लंड अपनी चूत में लेने की इच्छा होने लगी.

बहू की मेहरबानी, सास हुई बेटे के लंड की दीवानी-3

बहू अपने पति से साथ अपनी चूत चुदाई का सजीव नजारा अपनी सास को दिखाने वाली थी. उसने अपनी सास को अपने कमरे में परदे के पीछे छुपा दिया और खुद अपने पति के साथ यौन आनन्द लेने लगी.

चूत जो खोजन मैं चल्या चूत ना मिल्यो कोय

मेरी कहानी तब की है जब मैं किसी चूत के लिए तरस रहा था, तड़प रहा था. मुझे उम्मीद है कि मेरी यह कहानी पढ़ कर आपको मेरी और मेरे जैसे और भी नौजवानों की हालत समझ में आएगी.

मेरा पहला समलैंगिक सैक्स

मुझे गे सेक्स बारे में कुछ पता नहीं था लेकिन मुझे बुड्ढे लोगों को देखना, उनको नहाते हुए देखना या चड्डी बदलते देखना बहुत अच्छा लगता था. मुम्बई में ट्रेन में एक आदमी ने मेरा लंड पकड़ लिया तो…

अधूरी ख्वाहिशें-5

मेरी बहन मेरी फैली टांगों के बीच औंधी लेट कर हाथ से मेरी योनि के ऊपरी सिरे को सहलाने लगी। मेरे दिमाग में चिंगारियां छूटने लगीं। मैंने कभी सोचा नहीं था कि पेशाब करने वाली जगह में इतना अकूत आनंद हो सकता है।

चुदाई की कहानी शबनम भाभी की-2

मैं शबनम भाभी का दीवाना हो चला था. एक दिन भाभी को साड़ी में देख कर मैं अपने कमरे में उन्हें याद करके उनका नाम लेकर मुठ मार रहा था तो भाभी आ गई और मुझे पता भी नहीं चला.

मेरी बहन की कामुकता

दीदी ब्लू रंग की ब्रा और ब्लू रंग की जी स्ट्रिंग पहने हुए अपनी गांड मटकाते हुए किचन में दाखिल हुईं. दीदी के बड़े बड़े बूब्स ब्लू रंग की ब्रा में जकड़े हुए थे… ब्रा इतनी टाइट लग रही थी कि मानो बीच से अभी टूट जाएगी और दीदी के चुचे अभी ब्रा से बाहर कूद पड़ेंगे.

माँ की गांड का दीवाना-2

मेरी जवानी भी अब कुछ ज़्यादा ही उफान मारने लग गयी थी।ऐसे ही एक रात मैं अपनी माँ की गांड पर हाथ फिरा रहा था कि मुझसे रुका नहीं गया और मैंने ज़ोर से अपनी माँ की गांड को दबा दिया।

गर्लफ्रेंड की मम्मी की कामुकता जगाकर चुदाई

मैंने पड़ोस में रहने वाली एक लड़की को पटाया. मैंने उसके साथ थोड़ा बहुत चूमाचाटी की है. उसकी मम्मी हमारे घर आती थी. गर्लफ्रेंड को तो नहीं चोदा पर उसकी मॉम को मैंने कैसे चोदा, पढ़ें मेरी इस कहानी में!

सम्भोग से आत्मदर्शन-7

आंटी की हालत मेरे लिंग को देखकर खराब होना स्वाभाविक था, आंटी की आँखों में एक चमक थी, वे अपने एक पैर के ऊपर दूसरे पैर को रख कर खुद की वासना संभालने की नाकाम कोशिश कर रही थी।