देसी गर्ल

इंडियन देसी गर्ल, देसी लड़की की सेक्स कहानियाँ
Indian Desi girl, Village girl, Desi Ladki Ki Sex Stories

अंगूर का दाना-8

अंगूर ने अपने दोनों हाथ पीछे किये और अपने नितम्बों को पकड़ कर उन्हें चौड़ा कर दिया। आह... अब तो उसके नितम्ब फ़ैल से गए और गांड का छेद भी और खुल गया। अब जन्नत के गृह प्रवेश में चंद पल ही तो बाकी रह गए थे।

अंगूर का दाना-7

उसकी गांड के छेद पर लगाने में लिए जैसे ही अपना हाथ बढ़ाया, वो बोली- बाबू... जरा धीरे करना... मुझे डर लग रहा है... ज्यादा दर्द तो नहीं होगा ना?'

अंगूर का दाना-6

बापू कहाँ मानते हैं। वो तो अम्मा को अपना हथियार चूसने को भी कहते हैं पर अम्मा को घिन आती है इसलिए वो नहीं चूसती इस पर बापू को गुस्सा आ जाता है और वो उसे उल्टा करके जोर जोर से पिछले छेद में चोदने लग जाते हैं।

अंगूर का दाना-2

मैं उसकी तेज़ होती साँसों के साथ छाती के उठते गिरते उभार और अभिमानी चूचकों को साफ़ देख रहा था। जब कोई मनचाही दुर्लभ चीज मिलने की आश बंध जाए तो मन में उत्तेजना बहुत बढ़ जाती है।

सीढ़ियों में पटा कर छत पे चोदा

मेरे अपार्टमेंट बिल्डिंग में एक नई लड़की दिखी, अच्छी लगी, उसके पीछे गया, बात की, मस्का लगाया. तभी मैं उसे बिल्डिंग की सीढ़ियों में ले गया और फिर...

मोहल्ले से चूत चुदाई की शुरुआत हुई

सभी को मेरा नमस्कार! मेरा नाम आदित्य है(बदला हुआ नाम) आज मैं अपनी पहली कहानी लेकर आपके सामने आया हूं। मैं बहुत दिनों से इसे लिखने की कोशिश कर रहा हूँ मगर आज मैंने लिख ही दी किसी की मदद से। सीधे मुद्दे पर आता हूँ। मैं दिखने में स्मार्ट हुँ और सेक्सी भी, मेरे […]

सुबह की भूली

मेरा नाम अंकित है, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, अपनी पहली कहानी लिखने जा रहा हूँ जो एक तरह से मुझे मेरे जीवन की दुर्घटना लगती है। बात उन दिनों की है जब मैंने अपनी स्नातिकी की परीक्षा दी थी, नौकरी की तलाश में था और मैं ज्यादातर समय घर पर ही बोर होता […]

बीवी की सहेली की बेटी

मैंने कमरे में उसको दबोच लिया, वो बिस्तर पर गिर गई। मैंने उसकी टीशर्ट में हाथ घुसा कर पहले बगलों में गुदगुदी की फिर उसके मम्मों को मसलने लगा। उसके चुचूकों को चुटकी में भर कर मसला.

मासूम अक्षतयौवना-1

उन्होंने मेरा घाघरा उठाना शुरू किया, मैंने अपने दुबले पतले हाथों से रोकना चाहा मगर उन्होंने अपने मोटे हाथ से मेरी दोनों कलाइयाँ पकड़ कर सर के ऊपर कर दी.

पलक और अंकित

अंकित ने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और मेरे ऊपर आ गया। उसने मेरी टीशर्ट उतारने की कोशिश की, मैंने उसका पूरा साथ दिया और हाथ ऊँचे करके उठ कर टी शर्ट उतरवा ली।

बरसात की रात में शीला की जवानी-1

हेलो, नमस्कार, वॉल-ए-कूम अस्सलाम, ससरिया-काल! मेरी कुछ हिंदी सेक्स कहानी जैसे इशिका की जवानी पर सावन की बरसातबरसात में चाची की चुदाई अन्तर्वासना डॉट कॉम पर आ चुकी हैं। बंदा फिर हाज़िर है आपके सामने फिर एक नया तोहफा लेकर! माफी चाहूँगा दोस्तो, काफ़ी लम्बे समय आप लोगों से दूर रहा। दोस्तो, पेश है आपकी […]

तीन चुम्बन-5

तीसरा चुम्बन : मिक्की ने हिचकिचाते हुए पहले तो उसने अपनी नाज़ुक अंगुलियों से उसे प्यार से छुआ और फिर अन्डरवीयर नीचे खिसकाते हुए मेरे लण्ड को पूरा अपने हाथों में भर लिया और सहलाने लगी। मेरे लण्ड ने एक ठुमका लगते हुए उसे सलामी दी और पत्थर की तरह कठोर हो गया। अब मिक्की […]

मेरी बिगड़ी हुई चाल

बूढ़े ने अपना लण्ड मेरे चेहरे पर घुमाते हुए मेरे होंठों पर रख दिया। मैं भी अपने होंठों से उसको चूमने लगी और अपने होंठ खोल दिया। उसने अपना लण्ड मेरे होंठों में घुसा दिया.

नौकरी में मिली छोकरी

मैंने उसे अपना फ़ोन दे दिया। वो अन्दर देखने लगी। अन्दर देखते देखते उसने मेरे गर्म वीडियो देख लिए और वो उन्हें चला कर देखने लगी।

पटियाले दा पटोला

पैंटी उतरते ही जो नजारा मेरे सामने आया मैं उसका बता नहीं सकता। उसकी फुद्दी पर कोई भी बाल नहीं था, उसकी फुद्दी भी बहुत गोरी थी। मुझे ही पता है कि मैंने कैसे खुद पर काबू रखा।

चरित्र बदलाव-1

मेरा नाम अमित है, मैं दिल्ली(रोहिणी) का रहने वाला एक इंजीनीयर हूँ. मैं 23 साल का लड़का हूँ. कहानी शुरू करने से पहले बता दूँ कि यह अन्तर्वासना पर मेरी पहली और सच्ची कहानी हैं. इस घटना से पहले मैंने किसी लड़की के साथ सेक्स नहीं किया था. मुझे नहीं मालूम था कि मुझे मेरा […]

मेरी पहली मांग भराई-3

वो बिस्तर पर कूद गया और पागलों की तरह मेरे मम्मे चूसने लगा, कभी चुचूक चूसता, काट देता! मैंने भी उसके अंडरवीयर को उतार फेंका, लौड़े को पकड़ मुठ मारने लगी।

मेरी पहली मांग भराई-2

उसने मुझे बाँहों में लेकर खूब चूमा, मेरी कुर्ती उतार दी फिर उसने ब्रा खोल मेरे अनछुए चुचूकों को चूसा और फिर जमकर मेरे होंठों का रसपान किया।

जीजू संग खेली होली-2

जीजा साली चुत चुदाई कहानी का पिछला भाग : जीजू संग खेली होली-1 सवेरे से ही मेरा मन बहुत खुश था। आज चुदना जो था। मैं किसी ना किसी बहाने जीजू के कमरे में आती जाती रही। मैंने आज बहुत ही तीखा मेकअप किया था। आंखो के किनारों को काजल से और सुन्दरता दे दी […]

मेरी बीवी की पहली चुदाई

विनोद अफ़सोस जताने लगा- ओह ! तुम्हें चोट लगी ! यह तो बेशकीमती खजाना है। आखिर तुम्हारा पति क्या सोचेगा? कहीं इस पर दाग ना पड़ जाये ! तुम अपने बच्चों को दुधू कैसे पिलाओगी?

Scroll To Top