क्लासमेट लड़की की कुंवारी चुत को चोदा

मेरे पड़ोस में रहने वाली एक युवा लड़की मेरी क्लासमेट थी. हम साथ साथ रहते थे. मेरी कोई गलत भावना नहीं थी उसके प्रति… लेकिन उसके मन में क्या था, मुझे नहीं पता था. वो मुझसे कैसे चुद गई?

मेरी क्लासमेट बेस्ट फ्रेंड की चुदाई

मेरी क्लासमेट मेरी बेस्ट फ्रेंड है, वो जबरदस्त काँटा माल है. मैंने मैथ्स में उससे मदद मांगी तो वो मुझे अपने घर बुला कर पढ़ाने लगी. उसे देख देख कर मेरा मन उसे चोदने को करता था. क्या मैं उसे चोद पाया?

मेरी क्लासमेट की चूत चुदाई

मेरी क्लास में एक सुन्दर लड़की ने प्रवेश लिया. मैं पहले दिन ही उसे घूरे जा रहा था. उसने भी इसे नोटिस किया. मैंने अपनी क्लासमेट की चुदाई कैसे की, पढ़ें!

मॉर्निंग वाक में मिला पोर्न सेक्स

पोर्न सेक्स का यह मेरा अनुभव मेरी एक क्लास मेट के साथ का है जब उसने एक वीरान पड़ी इमारत में मुझसे अपनी चुदाई करवाई. पढ़ें और मजा लें!

बेशर्म स्कूल गर्ल की चुत चुदाई की सेक्स स्टोरी

मैं अपनी क्लासमेट के साथ पढ़ने उसके घर जाता था, एक दिन उसने रूम का दरवाजा बन्द किया और गर्मी के बहाने अपना टॉप उतार दिया। इसके आगे की बात कहानी में पढ़ें।

कॉलेज में गर्लफ्रेंड के पहली चुदाई अधूरी रह गई

मेरी क्लास की लड़की ने अपनी सहेली के जरिये मुझे प्रपोजल भेजा, मैं भी उसे पसन्द करता था, मैंने हाँ कह दी। अब हम सुबह जल्दी आकर क्लासरूम में रोमांस करते थे।

गर्लफ्रेंड ने मेरे घर आकर अपनी चूत चुदाई

मेरे साथ पढ़ने वाली लड़की एक दिन बारिश में भीगते हुए आई.. उसको देख कर मैं उसको चोदने के लिए पागल हो गया। वो शर्मा कर अपने चूचों को हाथों से छिपाने लगी।

क्लासमेट की पहली और आखिरी चुदाई

कोचिंग क्लास में एक लड़की ने मुझे पहली नज़र में ही अपना दीवाना बना लिया। मैं रोज उसको देखता और बात करने का कोई मौका नहीं छोड़ता। उसके साथ सेक्स की कहानी पढ़ें!

देसी लड़की से मुझे मिल गया मेरा सच्चा प्यार

मुझे एक लड़की अच्छी लगती थी, वो मेरी कोचिंग में आई तो मुझे उससे एक तरफ़ा प्यार हो गया। लेकिन वो मुझे भाव नहीं देती थी। कहानी पढ़ कर देखें कि मुझे मेरा प्यार कैसे मिला।

कॉलेज की हंसमुख और सुन्दर सहपाठिनी संग प्रेम प्रसंग

कॉलेज की हंसमुख और सुन्दर सहपाठिनी मित्र के साथ उसके गृहनगर सूरत में प्रेम लीला, काम लीला रति क्रिया… इसमें प्यार है, ममत्व है, रोमांस है, वासना है… समर्पण है, पढ़ कर मजा लीजिए।

एक परी से मुलाकात और प्यार

प्यार करने वालों का दिन यानि वैलेनटाइन डे आया.. हम एक आइसक्रीम पार्लर में गए, वहाँ मैंने उसे प्रपोज किया.. उसकी जो प्रतिक्रिया हुई मैं हैरान हो गया। मैंने जैसी ही उसे प्रपोज करते हुए ‘आई लव यू’ कहा.. उसने एक थप्पड़ मुझे रसीद किया और कहा- सचिन तुमसे मुझे ऐसी उम्मीद नहीं थी।

क्लासमेट की कुँवारी चूत का मज़ा

मेरी मस्त पटाका आइटम क्लासमेट मेरे साथ ही कोचिंग में थी। हमारी दोस्ती प्यार में बदल गई। कहानी में प।धें कि कैसे हमारे बीच चूत चुदाई की शुरुआत हुई।

पोर्न की शौकीन गर्लफ्रेण्ड ने सील खुलवाई

मेरी क्लासमेट मेरी अच्छी दोस्त थी। एक दिन वो अपनी सहेली के साथ मोबाइल पर नंगी विडियो देख रही थी। उसने मुझे भी लैपटॉप पर सनी लियोनी की फ़िल्म दिखाने को कहा।

प्रेमिका को पहली बार उसके घर में चोदा

मैंने कहा- जान आज तो मुझे अपना दूध पिला दे.. क्या कड़क चूचे थे साली के.. मैं उन्हें पकड़कर दबाता रहा.. संजना की आवाज़ मेरे कानों में नहीं पड़ी- बस अब छोड़ दो बहुत दर्द हो रहा है।

मेरा गुप्त जीवन- 151

ज़ुल्फी बड़े ही आहिस्ता और शाइस्तगी से बोली- खैर मुकदम हज़ूर-ऐ-आली, आपके जिन्सी करतब देख रही थी! वाह क्या कुवते मर्दानगी है… क्या यह नाचीज़ आपकी मर्दानगी का एक जलवा देख सकती है?

क्लासमेट को पटा कर मज़े किये

मेरी क्लास में एक लड़की पर सब क्लास मेट लाइन मारते थे.. लेकिन वो किसी को भाव नहीं देती थी। लेकिन वो मेरी पड़ोसी थी.. तो मैंने उसे पटा ही लिया.

कमसिन क्लासमेट पूजा की चुदाई -3

पूजा बिस्तर पर पेट के बल लेटी हुई थी, उसके मस्त बदन पर सिर्फ ब्लैक ब्रा.. जिसकी स्ट्रिप बहुत पतली थी और एक ब्लैक धागे वाली पैंटी चिपकी हुई थी और पूरा जिस्म नंगा था।

ब्ल्यू फिल्म ने दिलवाई पहली चूत

मेरा जीवन का यह पहला सेक्स अनुभव है. मेरे घर मेरी क्लासमेट पढ़ने आई हुई थी. पढ़ाई में मन नहीं लगा.. तो मैं अपने बेडरूम में गया, कम्प्यूटर चालू किया. कोई नई मूवी नहीं थी तो मैंने ब्लू-फिल्म चालू कर दी।

कमसिन क्लासमेट पूजा की चुदाई -1

मेरी क्लास में नई लड़की को टीचर ने मेरे साथ बिठा दिया। वो मेरे पड़ोस में ही रहने आई थी. हम अच्छे दोस्त बन गए। पढ़ाई के लिए अब मैं उसके घर ही जाता था क्योंकि अपने घर में वो छोटे कपड़ों में रहती थी।

मेरा गुप्त जीवन- 143

मैं आलिंगन से छूटा तो बोला- उफ़ लोनी, तुम तो कमाल की चीज़ हो… क्या हॉट और सेक्सी शरीर है तुम्हारा! यह कहते हुए मैंने उसके गोल गुदाज़ मम्मों पर हाथ फेरा और फिर दोनों हाथों से उसके उभरे हुए चूतड़ों को सहलाया।