रोमांस

स्नेहल के कुंवारे बदन की सैर -5

मैंने उसे कहा- आज के दिन प्यार से कर रहा हूँ, बाद में तुम्हें बहुत दर्द दूँगा मैं! उसने कहा- तुम्हारा दिया हुआ दर्द भी मुझे मीठा लगता है। और आज से मैं तुम्हारी हूँ, तुम्हें मेरे साथ जो करना है, वो तुम कर सकते हो।

स्नेहल के कुंवारे बदन की सैर -4

थोड़ी देर शांत रहने के बाद मैंने अपने होठों से उसके होंठों को आजाद छोड़ कर उसे कहा- स्नेहल, रो मत, जो दर्द होना था हो गया अब और दर्द नहीं होगा अब तो तुम्हें सिर्फ जन्नत की सैर करनी है।

स्नेहल के कुंवारे बदन की सैर -2

मैं अभी तक अपने प्यार का इजहार नहीं कर पाया था. तभी स्नेहल के जन्मदिन पर मैंने कुछ अलग करने की सोची और अपने प्यार का इजहार तो करना ही था... इस भाग में पढ़ें!

स्नेहल के कुंवारे बदन की सैर -1

वो मेरी क्लास में थी, सादी, भोली, शर्मीली, कम बोलने वाली! वो मुझे भा गई थी, मैं मन ही मन उसे चाहने लगा था लेकिन संकोच वश उससे बात भी नहीं करता था! एक दिन...

उसकी चुदने की चाहत और मेरा दीवानापन

एक दिन बस स्टॉप पर एक लड़की परेशान सी दिखी, मैंने डरते से पूछ लिया कि मैं उसकी क्या मदद कर सकता हूँ। ऐसे दोस्ती हुई, साथ-साथ घूमने लगे। एक दिन मैं उसे घर लाया।

तुझ को भुला ना पाऊँगा -4

रात को मैं भाभी के घर गया और खाना खाकर एक कमरे में लेट गया। अभी झपकी लगी ही थी कि मुझे महसूस हुआ कि एक जनाना बदन मेरे पास है, मुझे सहला रहा है। 'दीपो?'

तुझ को भुला ना पाऊँगा -3

On 2015-08-07 Category: जवान लड़की Tags: रोमांस

वो बोली- मैं अगले महीने यहाँ रहने आ रही हूँ, और वो भी पूरे 2 महीने के लिए, और तुम्हारी वो तमन्ना मैं उस वक्त पूरी करूँगी और जिस दिन मैं तुम्हें बुलाऊंगी, तुम्हें आना पड़ेगा

बहन का लौड़ा -68

अभी तक आपने पढ़ा.. आयुष के मुँह से ये बात सुनकर रोमा को झटका लगा कि टीना ने आयुष को सब बता दिया है। रोमा- आयुष प्लीज़ इस टॉपिक पर मुझे कोई बात नहीं करनी और ना ही मुझे दोस्ती करनी है.. हटो मेरे सामने से.. मुझे टीना से मिलना है। रोमा गुस्से में अन्दर […]

बहन का लौड़ा -67

नीरज से छुटकारा मिला, ममता को गर्भ ठहर गया, वो राधे और मीरा को यह खबर बताने आई। रोमा अपनी सहेली टीना से मिलने गई तो उसके भाई आयुष ने रोमा से बात करने लगा।

दोस्ती और प्यार के बीच का अहसास-1

इस कहानी को अगर आप दिल से अनुभव करें.. तो आपको भी इसमें आपके प्यार के झलक मिलेगी। उसका नाम श्री था.. और हम दोनों की एक क्लास में मुलाकात हुई थी। मैंने उससे एक पार्क में चलने को कहा.. फिर उसको मैंने अपने से चिपक कर बैठने को बोला।

तुझ को भुला ना पाऊँगा -2

On 2015-07-26 Category: जवान लड़की Tags: रोमांस

यह कहानी है सच्चे प्रेम की ! मुझे एक लड़की से प्यार हो गया, अपने घर वालों के हाथ रिश्ते की बात चलाई लेकिन जाती आड़े आ गई... उसकी शादी तय हो गई फिर भी हम मिले

तुझ को भुला ना पाऊँगा -1

On 2015-07-23 Category: जवान लड़की Tags: रोमांस

यह कहानी है सच्चे प्रेम की ! जो कहानी पढ़ने का शौक रखते हैं उनको यह कहानी अच्छी लगेगी पर जो सिर्फ़ सेक्स ही पढ़ने वालों को शायद उनको यह कहानीअच्छी ना लगे।

प्रेम और वासना

On 2015-06-29 Category: जवान लड़की Tags: रोमांस

कोचिंग में मेरी एक फ्रेंड थी.. मैं उसे मन से चाहता था.. एक दिन उसने बताया कि उसका कोई ब्वॉय-फ्रेंड था.. जिससे उसका हाल ही में ब्रेक-अप हुआ है.. मैंने कहा- कोई बात नहीं.. ऐसा तो सबके साथ हो ही जाता है। प्यार चीज़ ही ऐसी है.. जिसे मिले.. उसे कदर नहीं होती और मेरे जैसे जिन्हें कदर होती है.. वो बस इंतज़ार के लम्हे काटते हैं। ऐसे ही प्यार का इजहार हो गया… कैसे हुआ? इस कहानी में पढ़िये…

सुपर स्टार-2

पहले झारखण्ड के कोडरमा शहर में चार कमरों के मकान में रहता था.. मेरा एक खुशहाल मध्यम वर्गीय परिवार था। मम्मी.. पापा.. मैं और मेरी एक बहन.. कितने खुश थे हम सब.. मैं यूँ तो तृषा के घर अक्सर जाया करता था। आज तो दिन ही खराब था..

पहली मोहब्बत एक नशा एक जूनून-1

अन्तर्वासना के सभी पाठको को आशिक राहुल का नमस्कार ! दोस्तो, कहानी की शुरुआत से पहले मैं अपने बारे में आप सभी को थोड़ा बता दूँ। मैं दिल्ली के पास हरियाणा से हूँ, 5’10” कद का 25 वर्षीय लड़का हूँ। बचपन से ही मैं बहुत शर्मीला रहा हूँ। कक्षा में हमेशा प्रथम आता था, बस […]

रोमांटिक सेक्स चाहिए

नमस्कार दोस्तो, मैं अन्तर्वासना की कथायें 3 साल से पढ़ रहा हूँ। यह कहानी मेरी फ्रेंड सीमा और मेरी है। हमारी दोनों की उम्र 30 साल है और हम मुंबई में एक साथ काम करते हैं। सीमा बहुत स्लिम और सुन्दर लड़की है। हम दोनों काफी खुले ख्यालों वाले हैं और जिन्दगी के अपने-अपने तरीके […]

एक ख्वाहिश

बदन में सिहरन सी हो रही थी जिसे मैं महसूस कर सकता था। उसकी आँखें अब बंद सी हो रही थी... उसकी स्कर्ट घुटनों से थोड़ी ज्यादा ऊपर हो गई थी, अपने हाथों से मैंने उसका स्पर्श किया और अपने होंठ उसकी जांघों पर टिका दिए।

गर्लफ्रेंड को पत्नी बना कर चोदा

जब मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को पहली बार चोदा तो पूरे इंडियन स्टाइल में दुल्हन बना कर उसके साथ सुहागरात मनाई. सेक्स स्टोरी पढ़ कर आनन्द लें!

एक व्याख्या प्रेम की…-1

On 2011-12-15 Category: कोई मिल गया Tags: रोमांस

लेखक : निशांत कुमार वासना और प्रेम एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। प्रेम का सुख मिल जाए तो वासना मनुष्य के नियंत्रण में हो जाती है और जिस्म का सुख मिल जाए तो प्रेम पीछे छूटने लगता है। मैं जो कहानी सुनाने जा रहा हूँ वो इन्ही दो शब्दों के बीच है, वासना […]

मधुर प्रेम मिलन-3

उन्होंने अपने मुन्ने को मेरी मुनिया (लाडो) के चीरे पर रख दिया। मैंने अपनी साँसें रोक ली और अपने दांत कस कर भींच लिए। मेरी लाडो तो कब से उनके स्वागत के लिए आतुर होकर प्रेम के आंसू बहाने लगी थी।

Scroll To Top