चुम्बन करते ही वीर्यपात हो जाता है

(Premature Ejaculation)

मैं 22 साल का हूँ।

मैं तब तक सेक्स नहीं करना चाहता जब तक मेरी शादी ना हो जाये।

जब मैं अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ एकान्त में होता हूँ तो हम सेक्स नहीं करते, अधिकतर सिर्फ चुम्बन करते हैं।

चुम्बन करते ही मेरा वीर्यपात हो जाता है। 

 मैं उसके साथ शादी से पहले सेक्स करना भी नहीं चाहता लेकिन मेरा वीर्यपात होना मुझे बिलकुल अच्छा नहीं लगता।

मैं क्या करूँ?

समाधान- आपकी समस्या को जानने के बाद पश्चात् ऐसा प्रतीत हो रहा है कि आप नारी स्पर्श पाते ही अपने लिंग पर नियंत्रण खो बैठते हैं और ऐसी अवस्था में आपके लिंग से वीर्य स्वत: ही निकल जाता है. यौन समस्याओं में इसे शीघ्रपतन Premature Ejaculation कहा जाता है.

मुझे ऐसा लगता है कि आपने अभी तक अपने जीवन का पहला सेक्स नहीं किया है. अगर आपने अभी तक किसी के साथ भी सेक्स नहीं किया है तो लड़की को छूते ही वीर्यपात सामान्य बात है. जब आप दो चार बार सेक्स कर चुके होंगे तो यह समस्या खुद ही ठीक हो जायेगी.

आगे जो लिखा गया है वो उन लोगों के लिए है जो अपने जीवन में कई बार सेक्स कर चुके हैं और शीघ्रपतन की समस्या से जूझ रहे हैं.

पुरूषों के साथ शीघ्रपतन की समस्या अक्सर देखने में आती है. लेकिन यहां पर इस समस्या से गंभीर एक और भी समस्या बनी हुई होती है. वह है कि इस समस्या को लेकर पुरुष अक्सर शर्मिंदगी महसूस करते हैं और समस्या के बारे में खुल कर किसी अच्छे सलाहकार से सलाह या परामर्श लेने से कतराते हैं. यहां तक कि कई लोग तो अपने घनिष्ठ मित्रों तक को इस समस्या के बारे में नहीं बताते हैं.

आप यह बात पहले तो अच्छी तरह जान लीजिए कि जब तक समस्या आपके मन में ही दबी रहेगी तब तक आप उस समस्या का समाधान नहीं निकाल सकते हैं. इसलिए जब भी आपके मन में कोई शंका पैदा हो तो आप अपने किसी सगे संबंधी या अपने मित्र गणों से इस विषय पर चर्चा करने से कतई परहेज न करें.

शीघ्रपतन की समस्या से अधिकांश पुरुष ग्रसित रहते हैं. कहीं न कहीं इसके लिए मानसिक तनाव या मेंटल स्ट्रेस भी जिम्मेदार होता है. आजकल की व्यस्त जीवनशैली में मानसिक तनाव के चलते इस तरह की सेक्स समस्याओं से महिलाएं और पुरूष दोनों ही ग्रसित हो रहे हैं. इसलिए आप अपने मन और मस्तिष्क को शांत रखने का प्रयत्न करें।

कई बार समस्या का समाधान समस्या के पैदा होने की वजह में ही छिपा हुआ होता है. शीघ्रपतन भी ऐसी ही समस्याओं में से है। आप को यह जानना जरूरी है कि कहीं न कहीं आपकी बचपन की गलतियों के कारण भी कई ऐसी समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं जिनमें से एक है- हस्तमैथुन।

हस्तमैथुन करना एक प्राकृतिक क्रिया है और इसका नुकसान तब तक नहीं होता है जब तक कि हस्तमैथुन करने का सही तरीका और मात्रा आपको पता होता है. जानकारी के अभाव में अगर आप हस्तमैथुन जैसी आदत के आदि रहे हैं तो शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न होने का एक कारण यह भी हो सकती है।

जब भी आप हस्तमैथुन करें तो लिंग को अच्छी तरह से चिकनाहट युक्त कर लें ताकि लिंग की नसों पर अतिरिक्त दबाव न पड़े. यदि आप सूखे हाथ से हस्तमैथुन करते हैं तो लिंग की नसें कमजोर पड़ सकती हैं. हस्तमैथुन यदि ज्यादा मात्रा में कर ली जाये तो इससे भी शीघ्रपतन की समस्या पैदा हो सकती है।

शीघ्रपतन की समस्या से निजात पाने में यह क्रिया सहायक भी हो सकती है. सेक्स से लगभग एक घंटा पहले हस्तमैथुन कर लेना ऐसी समस्या से निजात पाने का सबसे अच्छा माध्यम है। यदि आप अपने पार्टनर के साथ सेक्स करने से पहले ही वीर्यपात कर लेते हैं तो सेक्स करते समय आप लंबे समय तक परफॉर्म कर सकते हैं.

संभोग से ज्यादा फोरप्ले पर ध्यान दें- जब भी आप अपनी साथी के साथ रति क्रिया करते हैं तो जल्दबाजी कतई न करें. आप धीरे-धीरे सेक्स की क्रियाओं का मजा लें. सीधे ही लिंग को योनि में प्रवेश कराने की बजाय आप अपने पार्टनर के साथ फोरप्ले पर ध्यान दें. इससे आपके पार्टनर को संतुष्टि तो मिलेगी ही, साथ ही आप दोनों ज्यादा समय तक एक दूसरे के जिस्म को भोग सकेंगे क्योंकि सेक्स में फोरप्ले बहुत अहम होता है. यदि आप फोरप्ले करना अच्छी तरह जानते हैं तो आप लिंग और योनि के मिलन से पहले भी अपने पार्टनर को अधिकांश रूप से संतुष्ट कर सकते हैं. इससे आपको शीघ्रपतन की समस्या से भी नहीं जूझना पड़ेगा।

स्क्वीज़िंग तकनीक को आजमायें- सेक्स करते वक्त जब भी आपको लगने लगे कि अब आपका वीर्यपतन होने को है, आप तुरंत अपना लिंग अपनी साथी की योनि से बाहर निकाल कर लिंग के के आगे के भाग को को करीब आधा मिनट के लिए अपनी उँगलियों से दबाकर रखें। उसके बाद पुनः योनि में लिंग डाले और फिर से सम्भोग करना शुरू करें।

इस क्रिया को यदि आप बार-बार दोहराते रहेंगे तो आपको शीघ्रपतन की समस्या से काफी हद तक छुटकारा मिल जायेगा और आपकी साथी को भी परमानन्द की प्राप्ति होगी. प्रारंभ में इस तरह का प्रयोग करने में आपको कुछ दिक्कत हो सकती है क्योंकि सेक्स करते समय इस तरह का प्रयोग करना बहुत मुश्किल होता है. उत्तेजना के चलते योनि से लिंग को बाहर निकालने का मन नहीं करता है. किंतु यदि आपके मन में अपनी समस्या से छुटकारा पाने का दृढ़ निश्चय है तो आप यह आसानी से कर जायेंगे। इसलिए अपने मन को वश में करते हुए प्रयास करते रहें।

अगर आप सेक्स करते समय कंडोम का प्रयोग नहीं करते तो कंडोम भी इस समस्या में आपकी मदद कर सकता है. कंडोम के प्रयोग से लिंग की संवेदनशीलता कम हो जाती है और आप देर तक ठहर सकते हैं.

इस तरह से आप उपर्युक्त बताये गये उपायों से अपनी इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं.

यहां पर सबसे महत्वपूर्ण आपका अपने मन की भावनाओं पर नियंत्रण पाना है. यदि आपके मन में यह बात बैठ गई है कि आपको शीघ्रपतन की बिमारी है तो आप इस समस्या से कभी ऊबर नहीं पाएंगे. इसलिए बिमारी पर ध्यान देने की अपेक्षा आप ऊपर बताये गये तरीकों और तकनीकों पर ध्यान दें और हमेशा मन और मस्तिष्क को तनाव रहित रखने का प्रयास करते रहें.

यदि आपका मन स्वस्थ रहेगा तो तन भी स्वत: ही स्वस्थ रहेगा। यदि इन उपायों से भी आपको राहत नहीं मिल पाती है तो आप किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं. कई बार समस्या के कारण कुछ और भी हो सकते हैं. मगर सबसे ध्यान देने वाली बात यह है कि आप अपने मन में किसी भी बात को दबा कर न रखें.
बात करके उस समस्या से निजात पाने की कोशिश करेंगे तो कहीं न कहीं आपको समस्या का समाधान अवश्य ही मिल जायेगा.

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top