पति पत्नी की चुदास और मेरा लौड़ा

(Pati-Patni Ki Chudas Aur Mera Lauda)

नमस्कार दोस्तो, मैं आप का जाना-पहचाना नवदीप.. आज फिर आपके सामने एक नई और सच्ची घटना को लेकर आया हूँ।
पहले मैं उन साथियों को अपने बारे में बता दूँ.. जिनको मेरे बारे में नहीं पता है। मेरा नाम नवदीप है.. और मैं पंजाब का रहने वाला हूँ.. मेरे लिंग का साइज 7.5 इंच है। जिस किसी को भी मेरे लण्ड के दीदार करने हों.. वह मुझे ईमेल कर फोटो मंगवा सकता है.. चाहे वह लड़का हो या लड़की हो..

दोस्तो, यह कहानी कुछ अजीब सी है। आप यह सोच रहे होंगे कि मैं लड़कों के साथ सेक्स करता हूँ.. पर बात यह है कि ये 50% सच है.. क्योंकि इस कहानी में मैंने यही किया है।
इस कहानी में मैंने एक इंदौर की खूबसूरत भाभी को उनके पति के सामने चोदा..
जैसा कि आप जानते हैं कि मैंने पहले भी अपनी सेक्स स्टोरीस बहुत बार अन्तर्वासना पर डाली हुई हैं.. तो मुझे एक दिन व्हाट्सएप्प पर एक मैसेज आया। मैंने फोटो देखी तो पहले मुझे लगा कि किसी लड़के का मैसेज है। फिर बाद में बातचीत हुई तो पता चला कि वह एक लड़की है और अपने पति के मोबाइल से मेरे से बात कर रही है।

मैंने भी उससे अपनी बातचीत जारी रखी और हमारे बीच सेक्स चैट भी हुई। उसने अपनी चूत का जलवा मुझे दिखाया और मैंने अपने लण्ड का जलवा उसे दिखाया। मैंने उन्हें अपनी एक वीडियो भी दिखाई जो कि मैंने यू-ट्यूब पर अपलोड की हुई है। अगर आपको देखना है तो आप मुझे ईमेल कर सकते हैं।

उस खूबसूरत भाभी की चूत में चुदाई की आग बहुत ही ज्यादा थी.. तो उसने बहुत जल्दी से मिलने के बारे में फैसला किया।

इस कहानी की मेरी हीरोइन के बारे में आपको बताना चाहता हूँ.. उसका नाम शांति है (बदला हुआ नाम).. वह एक टीचर है और इंदौर से है। उसको अपने पति से चुदवाना तो अच्छा लगता था.. पर जब उसने मेरी कहानी पढ़ी और मेरे लिंग को देखा तो उसकी चूत में खुजली होने लग गई.. जिसे मेरा लण्ड ही मिटा सकता है।

तो जब भी उसका पति अपना मोबाइल फोन घर पर भूल जाते थे.. तो वह मुझे मैसेज करती थी और हम खूब बातें करते थे। हमने वॉयस सेक्स चैट भी की थी जिसमें उन्होंने अपनी आवाज भी मुझे रिकॉर्ड करके भेजी थी। फिर इस तरह हमने बातों बातों में चुदाई भी की थी।

एक दिन उसने मुझे एक प्लान बताया कि कैसे हम दोनों मिल सकते हैं और हम कैसे यह चूत चुदाई वाला खेल.. खेल सकते हैं।
उसने एक और राज की बात मुझे बताई कि उसके पति को मर्द का लण्ड चूसने में बहुत मजा आता है।
मैं यह बात सुनकर बहुत हैरान हो गया और पूछा- आपको कैसे पता चला?

तो उसने बताया कि मैंने अपने पति को खुद रंगे हाथों एक हट्टे-कट्टे मर्द का लण्ड चूसते हुए पकड़ा था।
तो मैंने पूछा- कैसे?
उसने इस बात को विस्तार से बताया कि एक बार उसके पति खाना खाने के बाद पार्क में घूमने गए थे और वहाँ पर इन्होंने एक लड़का देखा.. जो किसी और लड़के की गांड मार रहा था। तो इन्होंने देखते ही उसे पकड़ा और वह लड़का.. जिसका नाम साहिल था.. जो उस दूसरे लड़के की गांड मार रहा था।
तो वह साहिल रोने लग गया और बोलने लग गया कि भाई साहब किसी को मत बताना.. आप जो कहेंगे मैं वह करूँगा..
तो मेरे पति ने उसका मोबाइल नंबर ले लिया और घर आ गया।

अगले दिन साहिल आया तब मैं अपनी एक सहेली के घर गई थी। मेरी सहेली का घर मेरे घर के पास में ही था। जब मैं अपने घर वापस आई तो मैंने देखा कि कोई आया हुआ है.. क्योंकि चार चप्पलें देखने को मिलीं।
मैंने उत्सुकता से आगे जाकर देखने की सोची.. तो जब अन्दर जाकर देखा कि मेरे बेडरूम का दरवाजा अन्दर से बन्द है और अन्दर से अजीब सी आवाजें आ रही हैं तो मैंने दरवाजे के की होल से देखा कि मेरा पति एक नौजवान का लण्ड मुँह में लेकर चूस रहा है।
मैं तो यह देख कर हैरान हो गई।
मैंने गुस्से से ज़ोर से दरवाजे पर मुक्का मारा और बोलने लग गई- अन्दर कौन है.. और क्या हो रहा है?

मेरी आवाज सुन कर वे दोनों डर गए.. और अपने-अपने कपड़े पहनने लग गए।
मैंने दरवाजे पर ठोकना जारी रखा और मेरे पति ने उस लड़के को जिसका नाम साहिल था.. उसको अपने बाथरूम के दरवाजे से घर के बाहर जाने के लिए बोला.. तो वह लड़का बाथरूम से होकर घर के बाहर जाने लगा, पर आगे रास्ता बंद था तो वह वहीं रुक गया।
मेरे पति ने कमरे का दरवाजा खोला.. और उस वक्त वह अपने शरीर पर एक तौलिया लपेटे हुए थे। मैंने पूछा कि इतनी देर क्यों लगा दी दरवाजा खोलने में.. तो मेरे पति ने कहा कि वह नहाने जा रहे थे.. तो दरवाजा खोलने में टाइम लग गया।

पर मुझको तो पता था कि अन्दर क्या चल रहा था.. मैं बाथरूम की ओर जाने लगी तो मेरे पति ने मुझे रोका और बोला कि पहले तुम मेरे लिए चाय बनाकर लेकर आओ।

मैं शांत हो गई और मैंने वैसा ही किया। मैं रसोई में जाकर चाय बनाने चली गई और मेरे पति ने साहिल को बाथरूम से बाहर निकाला और उसको कंप्यूटर रूम में भेज दिया, साहिल कंप्यूटर रूम में जाने के बाद कंप्यूटर ठीक करने की एक्टिंग करने लग गया।

फिर मैंने कंप्यूटर रूम में जाकर उसको पकड़ा और उससे पूछा- तुम कौन हो और यहाँ क्या कर रहे हो?
वह लड़का बहुत ही घबराया हुआ लग रहा था, मुझको तो सब कुछ मालूम था, मैंने उससे फिर पूछा- तुम कौन हो और कहाँ से आए हो और यहाँ क्या कर रहे हो?
इतने में मेरा पति आ गया और बोलने लगा कि कंप्यूटर में कुछ खराबी हो गई थी तो मैकेनिक को बुलाया है।

मैं फिर से बेडरूम में गई और देखा कि चादर पर ढेर सारी सिलवटें हो रखी हैं और मैंने देखा कि एक अंडरवियर जो कि उसके पति का नहीं था.. वहाँ पर पड़ा मिला। मैंने वह अंडरवियर उठाया और उस लड़के की ओर चली गई। मैंने साहिल से पूछा- यह तुम्हारा अंडरवियर है?
तो साहिल ने बोला कि नहीं भाभी जी यह मेरा अंडरवियर नहीं है..
मुझको बहुत गुस्सा आया और उससे बोला- अपना अंडरवियर दिखाओ..
तो देखा कि साहिल ने हड़बड़ी में मेरे पति का अंडरवियर पहन लिया है..
मैंने गुस्सा करते हुए बोला- मैं अब पुलिस को फोन करने वाली हूँ.. सच-सच बता दो कि क्या माजरा है?

उधर यह सब देख कर मेरे पति को पसीना आ रहा था।
तो साहिल ने घबराते हुए बोला- नहीं भाभी जी यह मेरा अंडरवियर नहीं है.. सच में नहीं है..
तो फिर उसके बाद साहिल ने मुझे सब कुछ सच-सच बता दिया कि कैसे भाई साहब मुझे पार्क में रात को मिले थे और कैसे इन्होंने मेरा नंबर ले लिया और इन्होंने मुझे फोन करके अपने घर बुला लिया और जब भाई साहब नहाने जा रहे थे.. तभी मैं घर में आ गया और इन्होंने अपना काम चालू कर दिया। अचानक से इनका तौलिया जो है.. वह नीचे गिर गया और भाई साहब का लण्ड मेरी आंखों के सामने आ गया और भाई साहब ने पहले तो मुझे कुछ नहीं बोला और अपना तौलिया सही कर लिया और उसके बाद भाई साहब मेरे पास आए और मुझे बोले कि अपना भी मुझे दिखा दो तुमने मेरा तो देख लिया है।

फिर साहिल बोला कि उसने भी अपनी पैन्ट उतार दी और मेरा पति उसका लण्ड देख कर हैरान हो गया और बस इसके बाद आपके पति ने झट से मेरा लण्ड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लग गए। साहिल ने आगे बोला कि उसको थोड़ा सा मजा आने ही लगा था कि इतने में आप इधर आ गईं और हम दोनों हड़बड़ी में इधर-उधर भागने लग गए। साहिल बोला कि भाभी मुझे माफ कर दीजिए.. मैं आगे से ऐसा कभी नहीं करूँगा.. बस इस बार छोड़ दीजिए।

मैंने कहा- अच्छा.. तो यह बात है चलो कोई बात नहीं.. इस बार तुमको जाने दे रही हूँ.. पर अगली बार हमारे घर के आसपास भी दिखे तो पुलिस में डलवा दूंगी।

मैं यह सोचकर बहुत परेशान हो रही थी कि उसके पति ऐसा काम भी करते हैं और उसके पति को मर्द का लण्ड चूसना क्या अच्छा लगता है?
यह सब बातें मेरे दिमाग में चल रही थीं और फिर मैं करती भी तो क्या करती। एक भारतीय नारी होने के कारण उसने यह सभी स्वीकार कर लिया और अपने काम में लग गई। मैंने अपने पति को इसके बारे में अब और कुछ नहीं पूछा और वह अपनी जिंदगी जीने लग गए थे।

फिर एक दिन मुझको किसी ने बताया कि इंटरनेट पर हिन्दी सेक्स स्टोरी होती हैं.. उन्हें पढ़ा करो मजा आता है.. तो मैं हर रोज इंटरनेट पर सेक्स कहानियाँ पढ़ती रही और मुझको एक दिन नवदीप जी आपकी कहानी मिल गई। फिर तो मैंने अन्तर्वासना की सारी कहानियां पढ़ डालीं.. मुझे बड़ी अच्छी लगीं।

दोस्तो, जब ये सब शांति ने मुझे कहा तो मुझे बड़ा मजा आया। उसने इमेल में टाइम नहीं खराब किया और डायरेक्टर मेरे नंबर के साथ जुड़ गई। उसने मुझे यह सब बातें बताईं.. तो मुझे कहानी में कुछ पेचीदगी सी लगी।

मैंने पहले भी बताया था तो हुआ यूं कि शांति ने मुझे यह सारी बातें मैसेज के द्वारा मुझे बता दी थीं और उसने बोला था कि अगर आप मेरे पति को मना लेते हैं तो हम दिल्ली आ सकते हैं और आपके लण्ड का मजा हम दोनों ही ले सकते हैं। मेरा पति आपका लण्ड देखकर पागल हो जाएगा और चूसता ही रहेगा और आप मेरी चूत को चाटना और मेरी चूत में अपना इतना बड़ा लण्ड डाल देना और मेरे पति के सामने ही मुझे चोदना।

मुझे शांति की यह सब बातें सुनकर बहुत अच्छा लग रहा था कि कैसे वह मेरा लण्ड लेने के लिए उतावली हो रही है और शांति ने ही मुझे बोला कि मैं आपके साथ बाथरूम में चूत रगड़वाते हुए नहाना चाहती हूँ.. आपके साथ चुदाई का मजा लेना चाहती हूँ।

मैं उसे सुनता रहा।
इस समय उसकी चूत में बड़ी आग लगी हुई थी सो वो बोली- मुझे आपके साथ अभी चैट सेक्स करना है..
मैं कहा- ठीक है करो..
वो आगे बोली- जान.. सच में तुम देखने में बहुत ही ज्यादा सुंदर हो.. और जो भी तुमको देखेगी वो लड़की तुम पर मरती होगी।
मैं अपनी तारीफ खुद नहीं कर रहा पर ये अकेली वो ही नहीं कह रही थी.. बल्कि यह सब लड़कियाँ कहती हैं।

फिर हमने सेक्स चैट स्टार्ट कर दी और शान्ति ने मुझे अपनी चूत की एक फोटो सेंड की और मैंने भी अपने लण्ड की एक तस्वीर उसे भेज दी और उसने लण्ड को देखते ही मुझे रिपलाई किया- मैं आपका मुँह में लेकर चूस रही हूँ और बहुत मजा आ रहा है और आपका लण्ड इतना बड़ा है कि पूरा अन्दर नहीं जा रहा है.. मुझे चूसने में बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है।

तो मैंने भी उसे कह दिया कि मैं भी तुम्हारा सर पकड़ कर आगे-पीछे कर रहा हूँ.. हाँ शांति मेरी जान.. क्या मस्त लण्ड चूसती है तू.. बहुत मजा आ रहा है.. मैं तेरी चूत को भी चाट लेता हूँ।
तो उसने रिप्लाई किया- हाँ ठीक है.. चाटो..
अब इस सेक्स चैट में मैं उसकी चूत चाटने लग गया और वह मेरा लण्ड चाट रही थी।
यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !

मित्रो.. मैं आपको बता नहीं सकता बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था। उसके बाद मैंने उसको कुतिया बना दिया और उसकी चूत में पीछे से अपना लण्ड डाल दिया।

अब मैंने एक धक्का मारा तो आधा लंङ उसकी चूत में चला गया और उसकी चीख निकल गई। मुझे उसकी चीख सुनकर बहुत बहुत मजा आया और मैंने एक और धक्का मारा तो मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत को फाड़ते हुए अन्दर चला गया और फिर मैंने धीरे से नीचे से उसके मम्मों को दबाना शुरू कर दिया।

उसे भी अब बहुत ज्यादा मजा आ रहा था और वह ‘आ.. आह्ह्ह..’ कर रही थी और फिर उसके बाद मेरे लण्ड का पानी भी निकल गया और मैंने अपने लण्ड की तस्वीर उसको भेज दी और उसने मेरे लण्ड का पानी सारा चाट कर साफ कर दिया।
उसकी चूत का पानी मैंने चाट कर साफ कर दिया।

तो इस तरह से हमारी हर रोज सेक्स चैट होने लग गई। हम दोनों रोज एक-दूसरे को अपनी पिक्चर्स भेजते रहते थे।

हर रोज अपने मोबाइल पर सेक्स चैट करते रहते थे और अपना-अपना पानी निकालते रहते थे.. तो शांति की चूत में बहुत ही ज्यादा आग लग गई थी।
एक दिन उसने मुझको बोला- मेरे पति को मना लो.. और फिर हम दिल्ली आ जाएंगे और आपके लण्ड का मजा लेंगे।

तो मैंने शांति की योजना अनुसार काम करना शुरू कर दिया। मैंने उसके पति को मैसेज भेजा था और मैंने अपने बारे में उसको सब कुछ बताया और धीरे-धीरे हम दोस्त हो गए।
फिर एक दिन मैंने जानबूझकर अपनी लण्ड की तस्वीरें उसके पति को भेज दीं.. और लिख दिया- सॉरी.. मैंने किसी और को भेजनी थी.. गलती से आपको सेंड हो गई हैं।

उसके पति ने मेरे खड़े लौड़े की तस्वीरें देखीं तो उसके मुँह में मेरा लण्ड देखकर पानी आ गया। तो उसने बोला- अरे कोई बात नहीं.. चलता रहता है वैसे मुझे आपका लण्ड बहुत अच्छा लगा।
तो मैंने उसके पति को धन्यवाद बोला।
बस इसी तरह मेरी उससे सैटिंग हो गई। अब हमारी योजना कामयाब होने के रास्ते पर चल दी।

दोस्तो, मुझे बहुत अच्छा लगेगा.. अगर आप मुझे मेरी ईमेल आईडी पर फीडबैक देंगे।
naviforgirls@gmail.com

Is Kahani Ko Desi/Hinglish mein padhne ke liye yahan click karen…

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! पति पत्नी की चुदास और मेरा लौड़ा