नैट चेटिंग पर चूत दर्शन -1

(Net Chatting Par Chut Darshan-1)

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है:

दोस्तो, याहू चैटिंग तो उन सभी लोगों को बहुत पसंद होगी जो सामने वाली लड़की के मुँह से ग़ाली के साथ सेक्स का मजा लूटते होंगे।
तो चलिये दोस्तो, आपको अपनी एक ऐसी ही आप बीती सुनाता हूँ।

तीन चार साल पहले की घटना है। मैं नेट सर्फिंग कर रहा था और याहू मैसेन्जर खोल कर चैटिंग भी कर रहा था।
तभी एक रिक्वेस्ट आई!
‘हाय मैं नलिनी, 32 की हूँ। क्या मुझसे दोस्ती करोगे?’
‘हाँ मैं शरद, उम्र 32, मैं तैयार हूँ, लेकिन ये नलिनी हो न कि नलना!!! और मैं फिमेल नहीं हूँ। अब आप बताओ।’
‘मैं नलिनी ही हूँ, नलना नहीं, यानि मैं 100 प्रतिशत फिमेल हूँ।’

‘तब आप मुझसे दोस्ती क्यों करना चाहती हो।’
‘अरे यह क्या बात हुई? मैं सर्च कर रही थी, तुम मेरे हम उम्र मिले, इसलिये मैंने तुमको दोस्ती का प्रपोजल भेजा।’
‘बुर न मानना क्योंकि अधिकतर लोग फर्जी लड़की की आईडी बना कर बात करते हैं। तो मैं कन्फर्म कर रहा था। मैंने जानबूझ कर बुरा को बुर लिखा था।

तभी काल रिसिविंग की टोन मेरे हेड फोन पर बजी।
जब मैंने रिसिव किया तो दूसरी तरफ से एक खनकती हुई आवाज आई- हैलो!!!
‘हैलो…’ मैंने भी जवाब दिया।
‘हैलो, मैं नलिनी बोल रही हूँ। मि शरद, अब विश्वास हो गया न कि मैं एक लड़की ही हूँ।’
‘हाँ…’ कहकर मैंने अपना पूरा परिचय दिया और यह भी बताया कि मैं इलाहाबाद से बोल रहा हूँ।

वो बोली- मैं लखनऊँ से बोल रही हूँ।
फिर वो बोली कि अभी जो लास्ट मैसेज जो आप ने पेस्ट किया था। शायद गलती से आपने बुरा की जगह बुर लिख दिया??
मैं उसके मुँह से यह शब्द सुनकर उत्साहित हुआ कि किसी लड़की के मुँह से पहली बार परिचय में वो शब्द बोल रही थी जिसका यूज लड़के लोग ही किया करते थे।

मैंने भी झूठ नहीं बोला और उससे बोला- मैं देखना चाहता था कि तुम लड़की हो या लड़का। इसलिये मैंने जानबूझ कर बुर शब्द लिखा।
‘लेकिन इससे तुम कैसे समझ सकते हो कि अगला लड़का होगा या लड़की?’

मैंने कहा कि अगर लड़का होता तो वो उसी के साथ मजे लेकर बात करता और लड़की होती तो मैसेज बाक्स बन्द कर देती।
‘लेकिन मैंने तो तुम्हें काल कर दिया।’
‘आपने काल किया है, न कि बात को जारी रखा है।’
‘यदि मैं बात जारी रखती तो?’
‘तो मैं यही समझता कि तुम कोई लड़के हो, और मुझे चूतिया बना रहे हो।’
‘चलो ठीक है, अब मैं हेड फोन बन्द करती हूँ।’ कहकर उसने हेडफ़ोन को डिसक्नेक्ट कर दिया और चेट मैसेज बाक्स भी बन्द कर दिया।

मुझे लगा कि लड़की नराज हो गई है। मैं अपने आपको कोस रहा था और गुस्से में मैंने अपना मैसेन्जर को बन्द कर दिया।
चूँकि मुझे इस समय याहू मैसेन्जर का इतना चस्का चढ़ चुका था कि बर्दाश्त नहीं हुआ और मैसेन्जर को एक बार फिर चालू कर दिया। देखा तो कई मैसेज नलिनी के पड़े हुए थे और उन मैसेजों में हैलो लिखा हुआ था।

जैसे ही मेरा मैसेन्जर चालू हुआ, नलिनी का फिर मैसेज आया और उसमें लिखा था- अगर बात नहीं करना चाहते हो तो ठीक है, फिर आफ लाइन होने जा रही हूँ।
मैंने तुरन्त ही रिप्लाई किया- ऐसी कोई बात नहीं है। मैं तो बात करना चहाता था लेकिन आप कि तरफ से कोई रिप्लाई नहीं आया तो मुझे लगा कि आप नाराज हो गई हो। इसलिये मुझे अपनी गलती पर गुस्सा आ रहा था। इसलिये मैंने मैसेन्जर बंद कर दिया था।

Comments

सबसे ऊपर जाएँ