घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-7

आंटी बोली- मेरी जान, तुमने मुझे अपने जीवन का सबसे बढ़िया यौन आनंद एवं संतुष्टि दी है। आज तक तुम्हारे पापा के साथ सहवास में मुझे इतना मजा नहीं आया लेकिन तुमने तो मेरी योनि की खूब कसरत करवा दी।

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-6

अगले दिन पापा के ऑफिस जाने के बाद मैंने कॉलेज से छुट्टी मारने की सोची और दस बजे के बाद अपने घर को बंद करके आंटी के दरवाज़े पर दस्तक… [Continue Reading]

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-5

मैं आंटी के पीछे पीछे बाहर जा कर उनसे कहा- मुझे मालूम है कि आपके पास मेरे प्रश्नों का कोई उत्तर नहीं है क्योंकि मैं यह वीडियो के ऐसे दृश्य… [Continue Reading]

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-4

मुझे अपने पापा और पड़ोस की आंटी के बीच सेक्स संबंधों के बारे में पता चला. मैं अपनी तरफ से इस समस्या को गंभीर मान कर इसके हल में लग गया.

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-3

रात का खाना खा कर जब मैं सोने के लिए बिस्तर पर लेटा तब पापा फ़ोन पर किसी से बात कर रहे थे और उनकी बातों एवं चेहरे के हावभाव… [Continue Reading]

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-2

मेरी पड़ोसन आंटी के साथ मेरे पापा के सेक्स सम्बन्ध थे. मैंने सबूत जुटाने के लिए किसी तरह से आंटी के बेडरूम में कैमरा लगा दिया और फिर मैंने आंटी को उनके पति से सेक्स करते देखा.

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-1

यह हिंदी सेक्स कहानी है परायी नारी से मेरे पापा के संबंधों की, जिससे मेरे घर की सुख शान्ति को खतरा था. मैंने कैसे इस समस्या को हल किया, पापा और उन आंटी के सेक्स सम्बन्धों को कैसे तोड़ा, पढ़ें मेरी इस कामुक कहानी में!