मौसम की करवट-6

प्रिया के साथ उन प्यारे लम्हों के बाद मैं काफी अकेला हो गया था, वो विदेश चली गई थी। मुंबई के एक मल्टिनेशनल कंपनी में मेरा चयन हो गया, कुछ अच्छे दोस्त बने।

मौसम की करवट-4

विकास जैन सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार, मैं विकास, आज फिर आप सभी के सामने अपनी अधूरी कहानी पूरी करने आया हूँ। क्षमा चाहता हूँ आप सभी को इतना… [Continue Reading]

मौसम की करवट-2

आप सबको एक बार फ़िर प्यार भरा प्रणाम! मेरी कहानी आप सभी ने पढ़ी और मुझे मेल किया, मैं इसको आप सभी का प्यार समझता हूँ… जैसे कि मैंने अपनी… [Continue Reading]

मौसम की करवट-1

वो आकर मेरी गोद में बैठ गई और अपनी बाहों को एक हार की तरह मेरे गले में डाल दिया। मैंने भी उसको अपनी बाहों में लिया और हमारी प्रेम कहानी शुरू हो गई…