जिस्मानी रिश्तों की चाह-70

आपी और मैं घर में अकेले थे, खुलेआम मस्ती कर रहे थे, मैंने आपी को इतना चूमा कि उनके लबों से खून छलक आया। उसके बाद आपी ने मुझसे कहा कि लम्बी चुदाई का मूड है।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-69

मेरी छोटी बहन पहली बार चुदने जा रही थी मेरे छोटे भाई से हमारे ही सामने! आपी को फ़िक्र थी कि हनी को फ़रहान ज्यादा तकलीफ़ ना पहुँचाए! क्योंकि वो छोटी थी।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-68

छोटी बहन को पटाने के चक्कर में मैं कम्प्यूटर पर एक ट्रिपल एक्स मूवी चलती छोड़ आया था। वो मेरे बिछाये जाल में फ़ंस गई, मैंने उसे मूवी देखते रंगे हाथ पकड़ा।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-67

ब्लू फ़िल्म देख रहे थे हम दोनों भाई आपी के इन्तजार में… आपी छोटे भाई से भी चुदने वाली थी। कहानी पढ़ कर देखिये कि हम दो भाइयों ने मिल कर अपनी आपी को कैसे चोदा।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-65

छोटे भाी को मैंने बता दिया कि मैं और आपी सेक्स कर चुके हैं। अब वो भी आपी के साथ सेक्स के सपने देखने लगा। आपी के बदन की गर्मी भी कुछ ज्यादा ही उछल रही थी।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-64

आपी के साथ सुहागरात मनाते हुए उनकी चूत में मैंने अपना लण्ड घुसाया तो आपी की फुद्दी ने खूब पानी छोड़ना शुरू कर दिया.. अब आपी छोटे भाई के लंड की बात करने लगी।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-63

आपी दुल्हन के लिबास में आज मेरे साथ पूरी रात थीं। आज आपी दूसरी बार मुझसे चुदाने के लिए उतावली हो रही थी और मैं भी उतना ही उतावला था. कहानी पढ़ कर देखें!

जिस्मानी रिश्तों की चाह-62

बहन के साथ सेक्स करने के अगले दिन खाला आई और अम्मी, हनी फरहान को अपने साथ ले गई. उनके जाने के बाद पहली रात हम दोनों ने सुहागरात की तरह मनाने की सोची.

जिस्मानी रिश्तों की चाह -61

आपी मेरे ऊपर चढ़ी बैठी थी और मेरे लंड उनकी चूत के मुँह पर था। आपी ने मुझे ऊपर आने को कहा और मेरे ऊपर आते ही आपी ने खुद को अगले कदम के लिये तैयार कर लिया।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-60

आपी चली गई और मैं सोने की कोशिश करने लगा। बीच रात में मेरी गर्दन पर तकलीफ़ हुई, नींद खुली, देखा तो आपी नंगी मेरे ऊपर बैठी थी। आपी ने मेरे लंड को पकड़ा और…

जिस्मानी रिश्तों की चाह-59

आपी को भरोसा दिला कर कि मैं अन्दर नहीं डालूँगा, मैं अपना लंड उनकी चूत पर रगड़ने लगा। आपी छोटे भाई का लंड चूस रही थी। आगे क्या क्या हुआ, कहानी पढ़ कर जानिये।

जिस्मानी रिश्तों की चाह -58

मैं बहन की चूत के दाने को चूस रहा था कि अम्मी आ गई, उन्हें कुछ दिखा नहीं और हम बाल बाल बचे। रात को आपी हमारे कमरे में आई तो छोटा भाई बेताब हो रहा था।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-57

आपी रात को कमरे में आने का कह कर जाने लगी तो मैंने उन्हें रोक कर चूत की खुशबू लेने की तमन्ना जाहिर की। तो आपी मुझे चकमा देकर भाग गई। लेकिन वो लौट कर आई और…

जिस्मानी रिश्तों की चाह-56

आपी की माहवारी खत्म हो गई थी तो उनकी अन्तर्वासना कुछ ज्यादा ही उबल रही थी। उन्होंने खुले में मेरे लन्ड को पकड़ा और देखने की जिद करने लगी। और उसके बाद…

जिस्मानी रिश्तों की चाह -55

इन दिनों अपने स्टोर के काम में इतना उलझ गया कि सेक्स की तरफ़ ध्यान ही नहीं जा रहा था। एक रात मेरे छोटे भाई ने बताया कि आपी ने पिछली रात उसका लन्ड चूसा था।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-54

सुबह उठ कर नीचे जाने लगा तो सीढ़ियों में आपी मिली, उन्होंने अपनी छाती प्लास्टिक के टब से छिपाई हुई थी। देखा तो उनकी कमीज भीगी थी और चूचियाँ पूरी नुमाया थी।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-53

आपी की चूत चूसने के साथ मैं उनकी चूत में उंगली करने लगा। फ़िर मैंने उनकी गांड में जीभ लगा दी और थोड़ी देर बाद आपी की गांड में उंगली घुसा दी तकरीबन डेढ़ इन्च…

जिस्मानी रिश्तों की चाह-52

रात के तीन बजे आते ही आपी ने मुझे जगा कर नंगा किया, खुद नंगी हुई और मेरा लंड चूसने लगी। फ़िर मैंने आपी को 69 पोजिशन में करके उनकी चूत चाटी, चूत में उंगली की।

जिस्मानी रिश्तों की चाह-51

आपी ने जो किया, उससे दिखा कि आपी हमें कितना प्यार करती हैं. लेकिन रात को भी मैं इंतजार करता रहा लेकिन आपी नहीं आई तो मैं सो गया. जब मेरी गहरी नींद टूटी तो..