हवसनामा

‘हवसनामा’ के अंतर्गत मैं कुछ चुनिंदा कहानियों को लिख रहा हूँ जो दूसरों की हैं जिन्हें खुद लिखने में दिक्कत है या हुनर नहीं है. मैं उन्हें अपने अंदाज में इस मंच तक पहुंचा रहा हूँ। आपके पास भी कुछ ऐसा है तो मेल या फेसबुक पर मुझसे शेयर कर सकते हैं। मेरा ईमेल एड्रेस और फेसबुक एड्रेस है
[email protected]
https://facebook.com/imranovaish2

हवसनामा: सुलगती चूत-1

चूत की भूख क्या होती है, यह मुझसे बेहतर कौन समझ सकता था। न चाहते हुए भी एक अदद लिंग को तरसती अपनी योनि की तरफ ध्यान बरबस ही चला जाता है जो क्षण भर के संसर्ग की कल्पना भर में गीली होकर रह जाती है.

हवसनामा: कुंवारी छात्रा ठरकी टीचर

बोर्डिंग स्कूल में रह कर पढ़ाई कर रही एक देसी, भोली भाली लड़की को उसके अध्यापक ने कैसे अपनी वासना का शिकार बनाया. पढ़ें कुंवारी लड़की की दास्ताँ उसी की जुबानी!

हवसनामा: मेरी तो ईद हो गयी

निकाह के बाद मुझे शौहर मिला तो गल्फ वाला ... दो साल बाद आता तो चूत की चुदाई होती, बाक़ी सारा वक्त फाके ... आखिर अपनी चूत की तरावट के लिए मैंने क्या किया?

Scroll To Top