आज दिल खोल कर चुदूँगी-21

उसने मेरे बड़े-बड़े मम्मों को अपनी मजबूत चौड़ी छाती के बीच दबा कर मुझे बाँहों में जकड़ लिया और अपने होंठों को मेरे नाजुक होंठों पर कसकर.. उनका रसपान करने लगा। मैं कसमसाते हुए बोली- मैं आपकी बीवी नहीं हूँ.. एक अंजान औरत हूँ।

आज दिल खोल कर चुदूँगी -20

दीपक मेरे जिस्म से इस तरह से खेलते हुए प्यार कर रहा था कि मेरी चूत खुद ब खुद कुलबुलाने लगी, मैं दीपक के प्यार को पाकर पिघलने लगी।

आज दिल खोल कर चुदूँगी-19

अब तक आपने पढ़ा.. मैं देश दुनिया से बेखबर बुर चुदाती रही ताबड़तोड़ चुदाई से मेरी बुर पानी छोड़ रही थी। तभी उसका लण्ड मेरी चूत में वीर्य की बौछार… [Continue Reading]

आज दिल खोल कर चुदूँगी- 18

महमूद मुझे शॉपिंग और डिनर के लिये ले गए। डिनर लगने के इन्तजार में एक लड़के पर नजर पड़ी, वो मुझे देख कर उतावला हो रहा था। मैं मुस्कुरा दी। कहानी में पढ़ें कि मैं उससे कैसे चुदी।

आज दिल खोल कर चुदूँगी-17

अब तक आपने पढ़ा.. मैं बिस्तर पर बैठे हुए ही झुककर महमूद का लण्ड ‘गपागप’ चूस रही थी। महमूद पीछे से मेरी चूत मलकर मेरी प्यासी चूत की प्यास बढ़ाते… [Continue Reading]

आज दिल खोल कर चुदूँगी-16

दो अंग्रेजों से जमकर चुदाई के बाद मैंने कई दिन आराम किया फिर एक दिन मुझे एक और मर्द को खुश करने जाना था. हम वहां पहुंचे तो वो साठ साल का निकला.

आज दिल खोल कर चुदूँगी- 15

रात भर उन दोनों ने मेरी चुदाई करके शरीर के पोर-पोर को दुखा कर रख दिया था। मेरी चूत को और मुझे.. आराम की सख्त जरूरत थी। नाश्ता देने आय विनय को मैंने मालिश के लिये तेल लाने को कहा।

आज दिल खोल कर चुदूँगी -14

चार्ली का मोटा लम्बा लण्ड मेरी गाण्ड को चीरता हुआ तीन-चौथाई हिस्सा अन्दर दाखिल हो गया। मैंने चिल्लाना चाहा.. पर रिची के लण्ड के हलक में होने की वजह से आवाज नहीं निकाल पाई।

आज दिल खोल कर चुदूँगी-13

मेरे काफ़ी दोस्त मेरी चूत चोदना चाहते हैं। मैं भी आप सबको अपनी चूत देना चाहती हूँ और मेरी चूत आप लोग जम कर चोदो भी. मेरी चूत की रसीली दास्तान की तरफ बढ़ते हैं। उस शाम एक फाईव स्टार होटल में दो विदेशी लौड़े मेरी चूत की चुदाई के लिए अपने लण्ड को तैयार कर रहे थे।

आज दिल खोल कर चुदूँगी-12

मुझे नाश्ता देने आया लड़का बांका जवान था, उसे देखते ही मेरी चूत गर्म हो गई, मैंने उसे अपने चूतड़ और चूत दिखा कर पटा लिया और अपनी चूत में उसका मजेदार लंड ले लिया.

आज दिल खोल कर चुदूँगी- 10

नवीन मुझे चोद कर झड़ गया पर मैं प्यासी ही रह गई। सुनील नवीन की बीवी को चोदने क्र बाद मुझे मेरे पति के पास छोड़ गया तो मैं अपने पति से चुदी।

आज दिल खोल कर चुदूँगी- 9

सुरेश के दफ्तर से निकल कर सुनील मुझे अपने एक दोस्त नवीन के घर ले गया. उसने मुझे नवीन के हवाले किया और नवीन ने बताया कि अब सुनील उसकी बीवी को चोदेगा.

आज दिल खोल कर चुदूँगी -8

मेरे शरीर में तरावट आने लगी, सारा जिस्म मीठे जोश से भर गया, मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं कभी ना झड़ूँ.. बस जिन्दगी भर चुदाती ही रहूँ.. यह… [Continue Reading]

आज दिल खोल कर चुदूँगी -5

उसने अपना लन्ड मेरे मुँह में से निकाला और बोला- बोल साली पहले रन्डी किधर डालूँ? मैं बोली- आज तक मैंने अपनी गाण्ड एक ही बार मरवाई है, आज तू… [Continue Reading]

आज दिल खोल कर चुदूँगी-4

मेरी कहानी के पिछले तीन भागों में आपने पढ़ा था कि किस तरह मेरे पति ने मुझे रण्डी बना दिया जिसमें मेरी भी सहमति थी। आप लोगों के सामने अपनी… [Continue Reading]

आज दिल खोल कर चुदूँगी-3

मेरी इस कहानी के पिछले दो भागों में आपने पढ़ा था कि किस तरह मेरे पति ने मुझे रण्डी बना दिया जिसमें मेरी भी सहमति थी। मेरे पति खाना लेकर… [Continue Reading]

आज दिल खोल कर चुदूँगी-2

हमारी बात हो ही रही थी कि तब तक सुनील अन्दर आ गया, अन्दर आते ही मेरे पति से बोला- यार बड़ी देर कर दी? फिर मुझसे बोला- तू तैयार… [Continue Reading]