चचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ा -8

भाभी मेरे ऊपर बैठ कर चुदवा रही थी, बल्कि मुझे चोद रही थी। साथ ही हम दोनों बातें भी कर रहे थे। मैं भाभी की चूत की तारीफ़ करते हुए उनकी गान्ड में उंगली करने लगा तो…

चचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ा -7

भाभी के क्या कमाल के मखमली चूतड़ हैं… और उस पर गाण्ड की पागल कर देनी वाली दरार.. क्या कमाल का नजारा होता है दोस्तों.. जब भाभी मुझे अपना पिछवाड़ा दिखाती हैं!

चचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ा -6

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे मुझे भाभी की खूबसूरत चूत नसीब हुई। अब कहानी के इस हिस्से में भाभी के साथ कैसे संयोग बना और पूरी रात भाभी की जी भर कर चुदाई हुई!

चचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ा -5

मेरा वीर्य उनकी जांघों से रिस कर बाहर आने लगा, देख कर भाभी बोलीं- देवर जी आप कितना झड़ते हो.. तुम्हारे भैया की तो कुछ बूँदें ही बाहर आती हैं.. वो भी कभी-कभार ही! मैंने कहा- इसे चख कर देखो भाभी..

चचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ा -4

वे मुझे अपनी और खींचते हुए बोलीं- आ जाओ मेरे अन्दर मेरे चोदू देवर जी। मैं इस पर खुश होकर भाभी को सोफे पर गिरा कर उन पर चढ़ गया और जोर से उनको भींच लिया।

चचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ा -3

मैं तो उनकी गुलाबी गली देखता ही रह गया.. एकदम गुलाबी और छोटा सा छेद। मैं यह सोच रहा था कि एक शादीशुदा और दस साल की बेटी की माँ की चूत का छेद इतना छोटा कैसे हो सकता है।

चचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ा -2

एक दिन भाभी बाथरूम में मूत रही थीं, मैं दरवाजे के नीचे से उनकी चूत देख रहा था। तभी अचानक से उन्होंने वैसे ही बैठे हुए ही टॉयलेट का दरवाजा खोल दिया, मैं डर के मारे वहीं खड़ा रहा।

चचेरी भाभी का खूबसूरत भोसड़ा -1

मुझे अपने चचेरे भाई के साथ रहने का मौक़ा मिला तो भाभी की सुन्दरता मेरे लौड़े पर कहर ढाने लगी. बाथरूम में भाभी मूतने गई तो अनायास उनकी चूत के दर्शन मुझे हुए!