बदलते रिश्ते-11

रानी मधुबाला सुबह सुनीता ने आकर दोनों के ऊपर से कम्बल उठाया तो दोनों को नंगा लिपटे देखकर खिलखिलाकर हंस पड़ी तो उनकी नींद टूटी। अनीता की बात बन आई,… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते -10

सुनीता और अजय दोनों भाई-बहन अपनी दीदी अनीता के यहाँ आ गये थे। अनीता ने भाई बहन की खूब खातिरदारी की। सुनीता ने पूछा- दीदी, कहीं मौसा जी दिखाई नहीं… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते-9

रानी मधुबाला सुनीता अपनी दीदी के घर से वापिस आ तो गई किन्तु रातें काटे नहीं कट रहीं थीं। जब उसे रामलाल के साथ गुजारी रातों की याद सताती तो… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते-8

रानी मधुबाला रात के करीब दो बजे सुनीता का हाथ रामलाल के लिंग को टटोलने लगा। वह उसके लिंग को धीरे-धीरे पुन: सहलाने लगी। बल्ब की तेज रोशनी में उसने… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते-7

रात हुई, दोनों बहनें अलग-अलग बिस्तरों पर लेटी। सुनीता आँखें बंद करके सोई हुई होने का नाटक करने लगी। रात के करीब दस बजे धीरे से दरवाजा खुलने की आवाज… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते-6

रानी मधुबाला ‘दीदी, बताओ प्लीज, फिर पति क्या करता है पत्नी के साथ?’ ‘उसे पूरी तरह से नंगी कर देता है और फिर खुद भी नंगा हो जाता है। दोनों… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते -5

अनीता अपने ससुर की पक्की चेली बन गई। अब वह ससुर के खाने-पीने का भी काफी ध्यान रखती थी ताकि उसका फौलादी डंडा पहले की तरह ही मजबूत बना रहे,… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते -4

रामलाल जब लिंग धोकर बाथरूम से लौटा तो उसके गोरे, मोटे और चिकने लिंग को देख कर अनीता की योनि लार चुआने लगी। योनि रामलाल के लिंग को गपकने के… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते -3

बहू के नितम्बों को सहलाने के बाद तो उसका भी तनकर खड़ा हो गया था, इधर अनीता के अन्दर का सैलाब भी उमड़ने लगा, उसके तन-बदन में वासना की हजारों… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते -2

अनीता की शादी अनमोल से हुई और सुहागरात को अनमोल की मुँहबोली भाभी उन दोनों को एक साथ कमरे में करके अनीता को बता गई कि अनमोल शर्मीला तो संभोग… [Continue Reading]

बदलते रिश्ते-1

उसे बड़ी बेसब्री से इन्तजार था अपने पति के आने का, वह धीरे से घूँघट उठाएगा और कहेगा- वाह! कितनी ख़ूबसूरत हो तुम ! और फिर उसे आलिंगन-बद्ध करके उसके होंठ चूमेगा