अंगूर का मजा किशमिश में-12

सारिका कंवल हम तीनों काफी थक चुके थे, फिर हमने खुद को पानी से साफ़ करके कपड़े पहने और वापस घर को आ गए। रास्ते में मैंने उनको बताया, “मेरे… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-11

सारिका कंवल मैं गर्म होने लगी थी, उधर मेरे सहलाने की वजह से विजय का लिंग भी सख्त हो चुका था। विजय ने तब मेरी टाँगों को फैला कर अपने… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-10

सारिका कंवल मैं अगले दिन उठी और अपने भाई और भाभी से कहा- आज दोपहर में मैं सुधा और विजय के साथ उनको गाँव दिखाने और गाँव के बारे में… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-9

सारिका कंवल उसने चोदने का मन बना लिया, उसने मुझे खड़े होने को कहा और खुद भी खड़ा हो गया, सुधा ने मेरी योनि पर थूक लगा दिया। मुझसे विजय… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-8

सारिका कंवल उसने कहा- आज रात मैं तुम्हें खुले में चोदना चाहता हूँ ! मैंने तुरंत कहा- यह नहीं हो सकता, यह गाँव है किसी ने देख लिया तो तुम्हें… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-7

सारिका कंवल तभी मेरी सहेली मुझे लेने आ गई और हम दोनों उस वक्त भी चुदाई कर रहे थे। वो हमें देख कर हँसने लगी और कहा- अभी तक तुम… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-6

सारिका कंवल हम काफी देर यूँ ही बातें करते रहे। वो मेरी और मेरे जिस्म की तारीफ़ करता रहा। अब उसने बातें करते हुए फिर से मेरी योनि को सहलाना… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-5

सारिका कंवल मैंने दर्द को सहते हुए जोर लगाया और उसने भी तो पूरा लिंग मेरी योनि में समा गया। मैं उसके सुपाड़े को अपनी बच्चेदानी में महसूस करने लगी।… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-4

वो नीचे बैठ गया और मुझे खड़े रहने को कहा और मेरी टाँगों को फैला दिया। अब उसने मेरी योनि को प्यार करना शुरू कर दिया। पहले तो उसने बड़े… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-3

करीब 30 मिनट के इस खेल के साथ विजय 10-12 जोरदार धक्कों के साथ शांत हो गया और उसके ऊपर ही हाँफता रहा, फ़िर अलग हुआ। जब उससे अलग हुआ… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-2

सारिका कंवल अगले दिन मेरी सहेली अपने दोस्त के साथ मुझसे मिलने आई, उसने मुझसे मुलाकात करवाई, उसका नाम विजय था। कद काफी लम्बा करीब 6 फ़ीट से ज्यादा, काफी… [Continue Reading]

अंगूर का मजा किशमिश में-1

नमस्कार मेरा नाम सारिका है। मैंने अपने बारे में पहले ही बता दिया है। कहानी ‘यौन लालसा तृप्ति अमर रस से‘ में। मेरे 3 बच्चे हैं, जिनमें से तीसरा बच्चा… [Continue Reading]