दिल्ली काल बोय की चुदाई

हेल्लो रीडर्स!
हाउ आर यू!
मैं लक्ष्य हूँ दिल्ली से!
आई ऍम अ काल बॉय.
मेरी उमर 28 साल है और हाईट 5.7 और मेरा लंड 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है.

कुछ दिन पहले ही मुझे 1 मेल मिली जिसमे उस लेडी ने मुझसे मिलने की बात लिखी और अपना फ़ोन नम्बर दिया था. मैंने फ़ोन पर बात की तो उसने बताया की वह ग्रेटर कैलाश में रहती है और उसके पति अमेरिका में जॉब करते हैं. उसने मुझे अपने घर का पता बताया और कहा कि कल 2 बजे उसके घर आ जाऊँ.

अगले दिन मैं पता ढूंढते हुए उस एड्रेस पर पहुंचा और बेल बजाई तो दरवाजा खुला और 1 करीब 26 साल की गोरी लेडी ने दरवाजा खोला तो मैंने बताया की मैं- लक्ष्य! तो उसने मुस्कराकर मुझे अन्दर बुला लिया. जब वो मेरे आगे चल रही थी तो मैंने देखा कि उसकी गांड बहुत सुंदर थी उसका साइज़ 34-28-32 था.

हम ड्राइंग में पहुंचे और वो मेरे लिए काफ़ी लेने चली गई. जब वो काफ़ी लेकर आई तो मेरे बराबर में बैठ गई और मेरी जांघ पर हाथ रखकर बात करने लगी. काफ़ी पीने के बाद मैंने उससे पूछा कि क्या वो ड्रिंक करती है तो उसने हाँ कहा. मैंने अपने बैग से बियर निकाली. वो आइस और स्नैक्स लेकर आ गई और हमने बियर पीनी शुरू की.

जब धीरे -धीरे उसे बीयर का सुरूर होने लगा तो वो मेरे पास आई और मेरी जिप खोल कर लंड निकाला और उसे पहले किस किया फिर अपने नर्म होठों में दबाकर चूसने लगी फ़िर मैंने उसकी ब्लाउज के बटन खोले फ़िर उसकी ब्रा उतार दी. ब्रा खुलते ही दो सफ़ेद फल निकल कर बाहर आ गए और मैंने उन्हें दबोच लिया और ऊँगलियों से टिट्स को मसलने लगा वो सिस्कारने लगी आ आ आः ह ह्ह्ह धीरे दबाव…आया आह ह्ह्ह ओ ओ ऊह ह फ़िर मैंने उसे खड़ा किया और एक झटके से उसकी साड़ी और पेटीकोट उतार दिया उसने भी मेरे कपड़े उतारना शुरू किया.

अब हम दोनों नंगे थे. मैंने उसे बाँहों में उठाया और सोफे पर लिटा दिया और एक उंगली उसकी चूत में डाल दी वो चिल्ला पड़ी. फ़िर धीरे उंगली करता रहा ओर उसके बूब्स को चूसता रहा वो फ़िर बोली कि अपना लण्ड मेरी चूत में डाल दो. लेकिन मैं उसकी चुचियों को चूसता और कभी -2 काटता रहा. फ़िर मैंने उसे डौगी स्टाइल में किया और लंड उसकी चूत पर लगाकर एक झटका दिया, तो 2 इंच अन्दर चला गया वो चीख पड़ी आअ अआः ह्ह्ह्छ मर गई. उसकी चूत बहुत टाईट थी मैंने फ़िर 1 और झटका दिया तो लंड 5 इंच घुस गया मैंने फ़िर पूरा लंड निकल कर एक जोरदार झटका दिया तो वो रोने लगी मैं वहीँ रुका रहा और उसकी निप्पल को सहलाता रहा.

जब थोडी देर बाद वो पीछे धक्का देने लगी तो मैं समझ गया कि दर्द कम हो गया फ़िर मैंने धीरे-2 शोट लगाने शुरू किए तो वो सिसकारी भरते हुए कहने लगी आअ आः हह हह जानू और तेज करो फाड़ डालो मेरी चूत को- आ आ हह ऊओह हह उसकी बात सुनकर मैंने स्पीड बढ़ा दी तभी उसका पानी छुटने लगा वो चिल्लाई मैं गई- आ आः -हह ह्ह्ह अह

पर मैं रुका नहीं, करीब 25 मिनट तक करता रहा. इस बीच वो 3 बार डिस्चार्ज हो चुकी थी. मैं भी क्लाइमेक्स पर था मैंने जल्दी से अपना लंड निकल कर उसके मुंह में डाल दिया और अपना सारा लोड उडेल दिया और वो उसे सारा पी गई बिना एक बूँद वेस्ट किए. फ़िर हमने कपड़े पहने और उसने फ़िर मुझे 3000 रूपये दिए और कहा कि ये लो तुम्हारी फीस.

उसके बाद उसने कई बार मेरी सर्विस ली.
[email protected]

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! दिल्ली काल बोय की चुदाई