बॉस की बीवी ने घर बुलाकर चूत चुदाई

(XXX Kahani: Boss Ki Biwi Ne Ghar Bula Kar Chut Chudai)

मैं राज हूँ. मैं सूरत से हूँ. एक दिन की बात है, जब मैं ऑफिस में था, मेरे बॉस केबिन में बैठे थे. बॉस बड़े ही अच्छे और शान्त स्वभाव के इंसान हैं और बातचीत में भी अच्छे हैं.
उन्होंने मुझे बुलाया और पूछा- आप अभी फ्री हो?
मैंने कहा- जी बिलकुल फ्री हूँ.
मुझे मेरे बॉस ने कहा- आपको मेरे घर जाना है, मेरी कुछ फाइल्स लानी हैं.
मैं कहा- ठीक है सर … मैं लाकर देता हूँ.

मैं उनके घर गया. घर जाकर मैंने डोरबेल बजाई और दरवाजा खोला तो देखा कि बड़ी अच्छी सी गोरी सी औरत ने दरवाजा खोला. उनको मैंने पूरी नज़र से नहीं देखा, बस मैं बोला- मैडम जी, फ़ाइल लेने आया हूँ.
उसने मुझे नजर भर के देखा और कुछ इस तरह से रिएक्ट किया जैसे उसको मैं कोई अजनबी सा लगा होऊं. खैर … अगले मिनट ही उसने मुझे फाइल्स दे दीं और मैं वापस निकल पड़ा. ऑफिस पहुंच कर मैंने बॉस को फाइल्स दीं औऱ मैं अपने कामों में लग गया.

मैं वहां आईटी डिपार्टमेंट में काम करता हूँ … मतलब ये कि कंप्यूटर इंजीनियर हूँ.

यह सिलसिला अगले दिन भी चला. वैसे ही दूसरे दिन फ़िर बॉस ने घर भेजा. इस बार दरवाजा खुला, तो आज मैं मैडम को देखता ही रह गया, सच में क्या कयामत थी … क्या जोरदार माल लग रहीं थी.

आज उसने कैफ़्री पेंट और बनियान टाइप का टॉप पहना हुआ था. उसके दोनों कंधों पर टॉप की पट्टी के साथ गुलाबी कलर ब्रा की पट्टियां भी दिखाई दे रही थीं. उसके बूब्स मस्त लग रहे थे, एकदम कड़क मीडियम साइज के, न ही बड़े औऱ न ही छोटे …
मैं तो उसको देखता ही रह गया.

तभी मैडम ने मुझे आवाज दी- हैलो कहां खो गए!
मैं डरते हुए हकला कर बोला- क … कुछ नहीं … बॉस ने भेजा है मुझे.
मैडम ने कहा- पता है मुझे … आओ अन्दर.

वो स्माइल देकर अन्दर चली गई. एक मिनट बाद वो पानी लेकर आई और मेरे सामने बैठ गई. मेरा तो पहले से बुरा हाल था.

जब मैंने पानी पी लिया तो मैडम ने कहा- आफिस में कब से हो? मुझे कभी दिखे नहीं?
मैंने कहा- जी मैं दो साल से कंपनी में हूँ … टेक्नीकल पर्सन हूँ.
मैडम ने कहा- गुड … लेकिन आप कुछ खाते पीते हो या नहीं?
मैंने कहा- जी … मैं समझा नहीं!
मैडम ने कहा- काफी पतले हो … बॉडी शॉडी बनाओ यार.
उसकी बिंदास बात से मैं हँसने लगा- क्या मैडम आप भी.

फिर मुझसे 10-15 मिनट बात उसने, तब मुझे जाने को कहा, मैं अपना काम पूरा करके उससे फाइल लेकर चलता बना.

उसके 3-4 दिन के बाद बॉस औऱ उनकी टीम ट्रिप पे मलेशिया निकल गयी.

फिर दूसरे दिन बॉस का मेल आया कि भाई जरा घर जाकर आना, तेरी भाभी का लैपटॉप बन्द हो गया है. तेरा जो भी चार्ज है तो ले लेना ओके.
मैंने कहा- ओके सर.

मैं शाम को काम खत्म होने के बाद सर के घर गया. मैडम ने डोर खोला. मैडम ने आज जीन्स और टी-शर्ट पहना हुआ था. मैडम काफी आकर्षक लग रही थी.
मैंने बोला- आपका लैपटॉप खराब हुआ है मैं उसे ठीक करने के लिये आया हूँ.
मैडम बोली- मैंने झूठ बोला था. मेरा लैपटॉप तो चालू है, मुझे तुमसे अकेले मिलना था. सॉरी बुरा मत मानना.
मैं- ठीक मैडम … नो इश्यू!

मैडम बोली- मेरा नाम रीता है औऱ तुम मुझे रीता ही बुलाओ.
मैंने की बात मान ली, माननी ही थी, आखिर बॉस की बॉस जो थी वो!

उसके बाद उसने कहा- कल सैटरडे है और फिर संडे है. यानि पूरे 2 दिन हैं. देख मैं ज्यादा घुमा फिर कर बातें नहीं करती, मैं चाहती हूं तुम दो दिन एक रात मेरे साथ रहो … क्योंकि तुम्ह़ारे बॉस मंडे को ही आएंगे. कल शाम को या कल रात भर यहीं रह जाना … सोमवार को यहीं से ही आफिस चले जाना.
मैंने कहा- नहीं … मैडम मैं नहीं रुकने वाला, मेरे घर वाले मेरा इंतजार कर रहे होंगे.
मैडम- देखो, तुम आज भी कोई भी बहाना बना सकते हो. बोल देना ऑफिशियल काम से बाहर जा रहा हूँ … सोमवार को घर आऊँगा.

मैंने ओके कहा और चला आया. मैंने अपने घर पर अपने काम को लेकर सोमवार तक बाहर जाने का बोला, तो मेरे घरवाले भी बड़ी आसानी से मान गए थे. लेकिन मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि हो क्या रहा है.

शाम को रीता के घर गया तो रीता बोली- तुझे दो दिन तक मेरे साथ सेक्स करना है … अगर तुझे नहीं भी आता हो तो मैं सिखा दूँगी.
मैं समझ तो रहा था कि मुझे इसकी चुत मिलने वाली है, पर वो इतनी तेज निकलेगी, ये मैंने भी नहीं सोचा था. मैं बस चूतिया सा पलकें झपका रहा था.
फिर वो मुझे रिक्वेस्ट करके बोली- प्लीज़ हेल्प मी.
मैंने ‘ओके …’ बोल दिया.

जैसे ही मैंने ओके बोला, वो डायरेक्ट मुझे किस करने लगी. कम से कम दो मिनट तक उसने मुझे किस की, उसके बाद बोली- आई लव यू.

कुछ देर बाद उसने मुझे नहाने के लिये बोला. मैं नहाने चला गया. जाते समय रीता ने मेरे हाथ में एक ट्यूब दिया. ये बाल साफ़ करने वाली क्रीम का ट्यूब था. उसने मुझे ट्यूब देते हुए कहा- प्लीज़ नीचे के बाल साफ़ कर लेना.
मैंने स्माइल उसने फ़्लाइंग किस किया … और बाथरूम में घुस गया. उसने भी मुझे हवा में चुम्बन उछाल कर मुस्कुरा दिया.

मैं दस मिनट में तैयार होकर बाहर निकला. इस वक्त मैंने सिर्फ़ टॉवेल पहनी हुई थी और अन्दर से पूरा नंगा था. ये बात उसे भी पता थी, क्योंकि मेरे पास दूसरे कपड़े नहीं थे.

मेरे बाद वो भी नहाने गई. वो भी वैसी ही बाहर निकली, सिर्फ टॉवल लपेटकर. वो जब तक बाहर नहीं निकली मैं अपने चिकने हो चुके लंड को हाथ से सहलाता रहा. जिससे मेरा लंड बड़ी जोर से हिनहिनाने लगा था.

रीता मेरे पास आई औऱ मुझे किस करने लगी. फ़िर मैं भी साथ देने लगा. हम दोनों किस करते करते ही एकदम नंगे हो गए. वो वहीं सोफ़े पर बैठ गई औऱ मेरे बालों को पकड़ कर नीचे चुत में दबा कऱ चूत चाटने को कहा. मैं उसकी सुगन्धित चूत चाटने लगा … उसकी मस्त चिकनी चूत एकदम लाल लाल थी. मुझे ऐसा फील हुआ, जैसे कोई खज़ाना मिल गया हो. मैंने रीता की चूत को चाट चाट कर उसका पानी निकाल दिया.

बाद उसने मेरे लंड को पकड़ा, मुँह में लेने लगी. मेरा लंड इतना ख़ास नहीं है लेकिन तब भी साढ़े पांच इंच का तो है ही. वो लंड चूसने लगी. मुझे लंड चुसवाने में काफ़ी मजा आ रहा था. दो मिनट में मेरा भी पानी निकल गया, लंड पहले ही काफ़ी गर्म हो चुका था … तो उसे पानी निकालने में ज्यादा टाइम नहीं लगा.

हम दोनों ही एक बार झड़ कर थक गए थे. रीता और मैं यूं ही नंगे लिपट कर कुछ देर के लिए सो गए.

फिर रीता उठी और उसने खाना बनाया. हम दोनों ने खाना खाया. खाने के बाद मैं टीवी देखने लगा. रीता काम निपटा कर आयी, वो साथ में कुछ सूखे मेवे और दूध लेकर आई थी. हम दोनों ने मेवे खाए और मैंने अपने लिए लाया हुआ दूध पिया.
रीता बोली- अब जरा मेरा दूध भी खाली करो.

रीता ने गाउन ही पहना था. अन्दर से वो पूरी नंगी ही थी. मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने मेरा गाउन उतारा औऱ मुझे भी नंगा कर दिया. मैंने बॉस की बीवी की चुची से दूध पीना चालू कर दिया. मैंने रीता के दोनों मम्मों को बारी बारी से अच्छे से लाल लाल कर दिया.

उसने किसिंग चालू की. हम दोनों एक दूसरे के होंठ चूसते रहे औऱ जीभ मिला कर मजा लेने लगे.

काफी जबरदस्त किसिंग के बाद रीता बोली- राज अब देर न कर!
मैं तुरन्त उठा, उसकी दोनों टांगें चौड़ी की … लंड चुत पर रखा और धीरे से धक्का लगा दिया. लंड चिकना होने की वजह से चूत में अन्दर जाने लगा.

आह आह क्या गर्म अहसास हो रहा था. बाद में मैंने धीरे धीरे मजे ले ले कर चोदना चालू किया, तो वो भी मजे ले रही थी.

कुछ देर यूं ही चोदने के बाद मैंने उसे अपने ऊपर बिठाया औऱ नीचे से चोदने लगा. अभी 10-15 धक्के ही मारे होंगे कि वो एकदम से अकड़ गई और हम दोनों ही एक साथ झड़ गए. इसके बाद थोड़ी देर आराम किया.

हम दोनों बेड पर नंगे हो कर ही मस्ती कर रहे थे. वो मेरे लंड से खेलने लगी. मैं उसके बूब्स चुत और गांड के खेलता रहा. इसी तरह खेलते खेलते मैंने एक बार फिर से उसे चोदा. फ़िर हम दोनों सो गए.

सुबह उठे … हम दोनों साथ में नहाये, नहाने के बाद वहीं खड़े खड़े मैंने उसकी गांड मारी. नहाने के बाद हम दोनों घर में नंगे ही घूमे, नंगे ही चाय भी पी.
ऐसे ही हम दोनों ने दो रात दो दिन तक हमने एक दूसरे के मज़े लिए. तीसरी नाईट में सुबह सुबह में घर के लिये निकल गया.

रीता ने मेरा मोबाइल नम्बर ले लिया था … तो उसके बाद और हम व्हाट्सप पर चैट सेक्स का मजा लेते रहे. वो कहती है कि जैसे ही मौक़ा मिलेगा तो तुझे फिर से बुलाऊंगी.

आपको मेरी सेक्स कहानी पसंद आयी हो तो भी … और ना पसंद आए तो भी … प्लीज़ मेल जरूर कीजिये.
अब दूसरी बार रीता मुझको घर बुलाए तो मुझे क्या करना चाहिए … अपना एक्सपीरियंस भी भेजिएगा.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top