शादीशुदा शीला की जवान चूत

(Shadishuda Sheela Ki Jawan Choot)

हाय फ्रेंड्स, मैं 2006 से भीलवाड़ा राजस्थान में जॉब कर रहा हूँ पर मूलतः मैं हरियाणा का हूँ। मेरा कद 6′ है रंग एकदम साफ़ है.. बॉडी स्लिम फिट है और शक्ल से भी बुरा नहीं लगता हूँ।

बात शुरू होती है 2006 से.. जब मेरी जॉब भीलवाड़ा में लगी थी। जिधर मेरी जॉब थी उधर हम काफ़ी लड़के थे और 5 लड़कियाँ भी थीं.. जिनमें से एक शीला थी.. जो शादीशुदा थी।

शुरुआत में हम सब ट्रेनिंग पर चले गए, वापिस आने पर सबकी पोस्टिंग अलग-अलग जगह हो गई।

मैं काफ़ी शर्मीला था.. उस वक्त मेरी उम्र 19 साल की थी। जब हम सभी आपस में मिलते तो मैं कभी लड़कियों से बात नहीं करता था, उनसे हमेशा दूर-दूर ही रहता था।

उन लड़कियों के कइयों के साथ चक्कर चलने की अफवाहें उड़ीं.. पर मैं सबसे दूर अलग रहता था। लेकिन मन ही मन में मैं शीला को कई बार चोद चुका था।

तभी मेरी पोस्टिंग रूरल एरिया में हो गई, मैं वहाँ चला गया।

यह बात 2007 की है.. जब शीला की पोस्टिंग मेरे साथ ही इस गाँव में हो गई।

मैंने बहुत दिनों बाद उसे देखा था.. तो मैं देखता ही रह गया। एक 5 साल के बच्चे की माँ होने के बावजूद उसका गजब का शारीरिक कटाव था। उसका रंग तो हल्का दबा हुआ था मगर फिगर बहुत ही मस्त थी।

मैं ऑफिस वर्क में अच्छा था.. तो बॉस ने मुझे फील्ड के बजाए ऑफिस वर्क में रखा था। शीला को भी बॉस ने ऑफिस वर्क सिखाने के लिए मुझे कहा था।

अब से पहले कभी हमारी आपस में बात नहीं हुई थी.. मगर हम एक-दूसरे को जानते थे। धीरे धीरे हमारी आपस बात होने लगी लेकिन बातचीत से आगे बढ़ने की मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी।
शीला का लड़का उसके साथ रहता था.. मगर उसका पति अलवर में टीचर था.. जो कभी कभी ही आता था।

ऐसे करते-करते लगभग 8 महीने गुजर गए लेकिन नॉर्मल बातों के अलावा हमारे बीच कुछ नहीं हुआ। उसका पति जब आता तो मैं उससे ज़रूर मिलता।

मैं लगभग डेली ड्रिंक करता था.. जिसका शीला को भी पता था। मैंने उसके पति के साथ भी उसके क्वॉर्टर पर भी ड्रिंक की थी।
क्वॉर्टर सरकार से मिले थे।

यह बात शायद जुलाई 2008 की है.. जब एक रात मैंने शराब के नशे में शीला के मोबाइल पर 2-3 मैसेज कर दिए और मैं सो गया। मैसेज मैंने जानबूझ कर किए थे।

सुबह मेरी गांड फटी कि अगर उसने हल्ला कर दिया तो फिर क्या होगा।
मैं डरता हुआ ऑफिस गया.. और जैसे ही वो ऑफिस में आई.. मैंने उससे कहा- एक बात कहनी है।
वो बोली- कहो..
तो मैंने कहा- सॉरी.. रात को आपको ग़लती से मैसेज हो गया.. मैं तो किसी और को भेज रहा था.. उसका नम्बर आपके नम्बर के पास ही सेव है और वो आपके ही नाम की है.. जो मेरे गाँव में रहती है।

मैंने अपना मोबाइल उसको दिखाया.. जिसमें उसके और मेरी एक्स गर्लफ्रेंड जो वास्तव में गाँव में थी। हालांकि उसकी शादी हो चुकी थी।
शीला मान गई और बोली- कोई बात नहीं हो जाता है।

इस प्रकार हमारी बातचीत नॉर्मल चलती रही।

एक महीने बाद में छुट्टियों में मेरे गाँव गया.. तब मेरी वो गर्ल फ्रेंड आई हुई थी। रात में मैं उससे मैसेज से बात कर रहा था.. तो वो थोड़ा भाव खा रही थी। मैं उसको मनाने के लिए एक रोमांटिक मैसेज सेंड करने लगा और वो मैसेज ग़लती से शीला के पास चला गया।

थोड़ी देर बाद शीला का रिप्लाई मैसेज आया- अच्छा ये बात..
तो मेरी गांड फट गई.. मैंने सोचा कि ये क्या हो गया।

सुबह मैंने हिम्मत करके शीला को फोन करके फिर से सॉरी बोला.. तो उसने कहा- कोई बात नहीं।
फिर मैं वापिस ऑफिस आ गया और वो ही नॉर्मल बातें शीला से होने लगीं।
मैं शीला को चोदना चाहता था.. पर हिम्मत नहीं हो रही थी। उसका रिप्लाई भी आया.. पर मैं फिर वही पुरानी बात दोहरा बैठा।

इस बार शीला का लड़का भी उसके पति के साथ चला गया।

शीला के साथ चुदाई करने की मेरी लालसा अभी परवान चढ़ती कि इस बीच मेरी सगाई भी हो गई।

असली कहानी अब शुरू होती है।

पांच अक्टूबर को जब मेरे पुराने बॉस का तबादला हुआ और उनके स्थान पर एक नया बॉस आया। इसके बारे में सुना था कि यह बहुत खड़ूस है.. जबकि जाने वाला बॉस निहायत ही शरीफ और बुजुर्ग आदमी था।

उस दिन शाम को स्टाफ की तरफ से खाने-पीने का प्रोग्राम रखा गया। हमारे ऑफिस के पीछे ही 8-10 स्टाफ क्वॉर्टर्स थे.. जिनमें फैमिलीज रहती थीं। खाने में उस दिन दाल-बाटी चूरमा और खीर बनाई गई थी।

मैं वहाँ पर सबसे कम उम्र का और अविवाहित था.. तो मैं सब महिलाओं को ‘भाभी’ कहता था।
मैं और शीला पहले सब लेडीज और बच्चों को खाना खिला रहे थे। वहाँ से फ्री होकर मैं अपने साथियों के साथ ऑफिस के पास ही खड़े हो कर वाइन पीने लगा।

Comments

सबसे ऊपर जाएँ