नौकरी के लिए चूत चुदाई की शर्त

(Job Ke Liye Choot Chudai Ki Shart)

दोस्तो.. मेरा नाम राज जैन है.. मैं अन्तर्वासना बहुत सालों से पढ़ता आ रहा हूँ। मैं अन्तर्वासना की सेक्सी कहानियां पढ़कर रोज मुठ मारता था।
सभी की सेक्सी कहानियां पढ़ने के बाद आज मैं भी पहली बार अन्तर्वासना पर कहानी लिखने जा रहा हूँ। यह कहानी पूरी तरह से फंतासी यानि कल्पना पर आधारित है।

कहानी के किरदार:

राहुल- बिजनेसमैन.. उम्र 30 साल.. ख़ासा तगड़ा और लम्बा मूसल जैसा लम्बा और मोटा लंड वाला बहुत ही मादरचोद किस्म का इंसान

प्रिया- एक गरीब लड़की.. उम्र 22 साल.. फिगर 34-28-34 वाली एक बेहद कन्टाप माल.. जिसे चोदने को ज़माना बेकरार था।

बहुत ही गरीब घर की लड़की है प्रिया, उसके घर में उसके बीमार माँ-बाप और छोटा भाई है।
प्रिया की पढ़ाई अभी ही पूरी हुई थी, उसे नौकरी की बहुत जरूरत थी.. वो एक कंपनी मैं जॉब इंटरव्यू के लिए गई थी.. उस कम्पनी के बॉस का नाम राहुल है।

राहुल एक बहुत ही बड़ी कंपनी का मालिक है, वह बड़ा ही चालू क़िस्म का आदमी है और उसकी कंपनी में अधिकतर लड़कियां ही काम करती हैं।
कम्पनी में भर्ती के लिए इंटरव्यू हो रहा था। अपनी बारी आने पर प्रिया अन्दर ऑफिस में राहुल के पास गई।

प्रिया- हैलो सर.. मेरा नाम प्रिया है.. मैंने M.B.A किया है, ये मेरे सर्टिफिकेट्स हैं।

राहुल ने प्रिया को देखा और उसकी हरामी नजरों ने प्रिया को परख लिया था- हाय प्रिया.. बैठो.. मुझे आप अपनी फाइल दो.. हम्म.. इस जॉब के लिए आप परफेक्ट हैं।
प्रिया- धन्यवाद सर..
राहुल- लेकिन मिस प्रिया आपके सर्टिफिकेट्स इस जॉब को पाने के लिए काफी नहीं हैं.. इसके लिए कुछ और चीजें भी जरूरी हैं.. क्या तुम उन जरूरतों को पूरा कर सकोगी।

प्रिया- सर मैं कंपनी की जरूरतों को पूरी करने की पूरी कोशिश करूँगी.. सर प्लीज मुझे पर विश्वास कीजिए.. मुझे इस नौकरी की बहुत जरूरत है।
राहुल- प्रिया तुम गलत समझ रही हो.. इस कंपनी की जरूरत तो पूरी करोगी.. इसका मुझे पूरा विश्वास है.. मैं मेरी जरूरतों की बात कर रहा हूँ।

चूत चुदाई की शर्त

प्रिया- सर मैं कुछ समझी नहीं.. आप किस चीज़ की बात कर रहे हो?
राहुल- मैं जिस्मानी जरूरतों की बात कर रहा हूँ।
प्रिया- सॉरी सर.. मैं यह नहीं कर सकती..

राहुल- देखो प्रिया जज्बाती बनने से कोई फायदा नहीं होने वाला है। तुमने अभी कहा है कि तुम्हें इस नौकरी की बहुत जरूरत है। अगर तुमने यह मौका छोड़ दिया.. तो तुम्हारा ही नुकसान है। तुम इस नौकरी को छोड़ोगी तो दूसरी नौकरी इतनी आसानी से नहीं मिलेगी.. तुम एक बार फिर सोच लो। वैसे भी लंच टाइम हो गया है.. आधे घंटे बाद तुम वेटिंग रूम में बैठ कर सोचो.. कि तुम्हें क्या करना है।

आधे घंटे बाद..

प्रिया- मैं अन्दर आ सकती हूँ सर?
राहुल- कम इन प्रिया.. तो प्रिया क्या सोचा तुमने?
प्रिया- सर मुझे इस नौकरी की बहुत जरूरत है.. आप चाहे सैलरी कम दे देना.. पर मुझसे यह नहीं हो पाएगा।
राहुल- प्रिया सैलरी की बात नहीं है.. बात मेरी जरूरत की है.. अगर तुमने ‘हाँ’ कर दी.. तो तुमने सोचा भी नहीं होगा तुमको उतनी सैलरी मिलेगी।

कुछ देर सोचने के बाद..
प्रिया- सर कितनी सैलरी मिलेगी?
राहुल- 35000 रूपए प्रति माह..
प्रिया खुश होते हुए बोली- सर, ये तो मेरी जरूरत से बहुत ज्यादा हैं।

राहुल- तुम बहुत सेक्सी दिखती हो.. इस लिए इतने दे रहा हूँ.. लेकिन दूसरी लड़कियों को तो 25000 ही देता हूँ.. अब बताओ तुम्हें नौकरी चाहिए या नहीं?
प्रिया- नौकरी तो चाहिए सर.. लेकिन इस कीमत पर..!

Comments

सबसे ऊपर जाएँ