एक के साथ दूसरी मुफ्त

मेरा नाम शिरीष शर्मा है! मैं २० साल का गोरा-चिट्टा नौजवान हूँ और इंदौर में रहता हूँ! आज मैं आप सबको मेरी पहली कहानी बताता हूँ….

मई का महीना था ! घर पर मैं अपने मोम डैड के सांथ रहता हूँ लेकिन उस दिन वो भोपाल गए हुए थे और हमारी काम वाली आ गई! वो बहुत ही सुन्दर है और उसका फिगर ३४ २८ ३४ का है….. !

मैंने दरवाजा खोला और वापस जाकर अपने बेड पर लेट गया ! इतनी देर में मैंने देखा कि वो अपना ब्लाउज़ खोल के हवा खा रही थी! मुझे देख के वो एकदम सहम गई और मैं वहां से उठ के चला गया और न्यूज़ पेपर पढ़ने लगा !

तभी वो मेरे पास आई और बोली,” आपने कुछ देखा तो नहीं……………?”

मैंने उसे कहा,” कुछ तो शर्म किया करो, ऐसे कहीं भी कपड़े खोल के खड़ी हो जाती हो…..?”

तो वो बोली- बहुत गर्मी हो रही है, भैय्या !! क्या करूँ ?

मैंने कहा,”अब कभी ऐसा मत करना…!”

तो वो- ठीक है, बोल के चली गई !

लेकिन मेरे दिमाग में तो वही मोटे मोटे गोल गोल बोबे दिख रहे थे ….

मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसे जाकर पूछा,”तुम अपने घर पर क्या बिना कपड़ों के घूमती हो इतनी गर्मी में …?”

तो वो शरमाई और बोली,”हाँ ! मेरा मरद तो मुझे मना नहीं करता नंगा घूमने के लिए…!”

तो मैंने कहा,”जब इतने मस्त बोबे देखने को मिलेंगे तो कौन मना करेगा ..?”

तो वो शरमा के वहां से चली गई ….

फिर मैं नहाने चला गया ! लेकिन मैंने दरवाजा खुला छोड़ दिया ! थोड़ी देर में कमला मेरे कमरे में आई तो उसने मुझे नहाते हुए देखा और मेरी चाल काम कर गई…..!

वो मेरा ९ इंच लम्बा लंड देख कर खुद को रोक नहीं पाई और बोली,” इतना लम्बाऽऽऽ!!!???”

तो मैंने पूछा,” तुझे चाहिए ये….?”

वो मेरे पास आई और मैंने उसके सारे कपड़े निकाल दिए ! अब हम दोनों नंगे थे…!

हम दोनों सांथ में नहाये ! फिर मैं उसे अपने बेडरूम में ले गया ! उसे बेड पर पटका कर अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया, वो भी मजे से चूसने लगी ! १५ मिनट तक चुसवाने के बाद मैंने सारा माल उसके मुँह में ही डाल दिया और वो भी चाट चाट के पी गई…. !

५ मिनट तक और चुसवाने के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया ! फिर मैंने उसे घुटनों पर बिठा के पीछे से अपना लंड उसकी चूत पे रखा और ३ धक्कों में पूरा का पूरा लंड अन्दर डाल दिया और वो जोर से चिल्लाई, ऊऊऊऊऊईईईईईई,,,, आह आह आह आह आह मर गई…. !

उसके बाद मैंने धक्का मारना शुरू किया ! पहले धीरे धीरे धक्के मारे और फिर जोर जोर से !! पूरा कमरा पचक-पचक की आवाज़ से भर गया !

कमला भी लगातार चिल्ला रही थी ऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊउईईईईईईए ऊऊऊउईई उए उए आह आह आह आह अहह ह्ह्ह .. !

२० मिनट तक वो ३ बार झड़ चुकी थी! लेकिन मेरे लौड़े में बहुत जान बाकी थी और वो अन्दर बाहर लगा हुआ था !

फिर मैंने अपने लौड़ा निकाल के उसकी गांड पे रख दिया और वो बोलने लगी,”साहब, गांड मत मारो !! मैंने कभी नहीं मरवाई ….!”

लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और पूरा लंड उसकी गांड में पेल दिया !

वो अब बहुत जोर से चिल्लाई, “आहआह आह आआअह्ह्ह्ह्ह आआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह….! “

फिर मैंने झटके देना शुरू किया और वो दर्द से चिल्लाई,” आआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह ऊऊईईईए…. और १० मिनट तक चोदने के बाद मैंने सारा माल उसके अन्दर डाल दिया !”

उसे चोद के मैं जैसे ही पीछे मुड़ा तो मैंने देखा कि हमारे घर के सामने रहने वाली शीतल भाभी वहां खड़ी थी ! कमला ने बाहर का दरवाजा खुला छोड़ दिया था….. !

भाभी को देख कर कमला ने जल्दी से कपड़े पहने और चली गई और मैंने भी जल्दी से तौलिया उठा के लपेट लिया !

तभी भाभी बाहर गई और दरवाजा लगा दिया !

मैंने सोचा,” आज तो मैं गया…..!”

तभी भाभी आई और बोली,” तुम तो बहुत अच्छी चुदाई करते हो ……मुझे चोदोगे ?????”

यह सुन कर मैं तो हैरान ही रह गया …..!

वो बहुत ही सुंदर है! ३४ २८ ३४ की कमसिन कली ! मैंने भी बिना देर किये भाभी को पूरा नंगा कर दिया और भाभी ने भी मेरा तौलिया हटा दिया और मेरा लंड चूसने लगी !

५ मिनट में मेरा लंड पूरा कड़क हो गया तो वो बोली,”जल्दी चोद दो मुझे ! मेरे पास ज्यादा टाइम नहीं है, तुम्हारे भईया आने वाले हैं ! ”

तभी मैंने भाभी को बेड पे लिटाया और पूरा लंड चूत में पेल दिया ! वो चिल्लाई,” आह आह ऊऊऊऊउईईईईए…. और फिर खुद भी गांड हिला-हिला कर मेरा साथ देने लगी !

” पचक -पचक …. ‘और मैंने धक्के तेज़ कर दिए ! ३० मिनट तक चोदने के बाद मैंने सारा माल अंदर डाल दिया तभी वो मुझसे यह वादा करके चली गई कि मैं मौका देख के फिर चुदाई करवाउंगी…. !

उस दिन मैंने दो औरतों को चोदा…..

कुछ दिन बाद पता चला कि भाभी माँ बनने वाली हैं ! उसके अगले दिन वो हमारे घर पर आई और मुझे बताया कि यह उस दिन की चुदाई का ही नतीजा है और वो बहुत खुश थी क्योंकि उनकी शादी के ५ साल बाद भी भैय्या उन्हें बच्चा नहीं दे पाए थे !

0988

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! एक के साथ दूसरी मुफ्त

प्रातिक्रिया दे