मेरी हॉट सेक्सी मॉम -1

(Meri Hot And Sexy Mom- Part 1)

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है:

मैं रॉनी पटेल.. एक अभी एक 20 साल का एक स्मार्ट यंग लड़का हूँ। मेरे लंड का साइज़ काफ़ी बड़ा, एकदम हार्ड और बहुत मोटा है।
मुझे मेरे डैड ने मॉम से शादी करने पहले गोद लिया था जैसे सुष्मिता सेन ने बिन ब्याहे एक लड़की को गोद लिया है।

अब मैं जवान हो गया हूँ। मेरे डैड ने अपने से 14 साल छोटी लड़की से शादी करके उसे मेरी मॉम बना दिया था। वे बहुत ही खूबसूरत थीं.. साफ़ शब्दों में कहूँ तो वे एक माल थीं और मेरे डैड को अपने बिजनेस से फुर्सत नहीं होने के कारण उनकी जवानी का रस बह रहा था।

खैर.. अब मैं कॉलेज में पढ़ रहा हूँ.. तो मेरी कॉलेज में क्लासिस सुबह 6.00 स्टार्ट हो जाती थीं जिसके लिए मुझे 5 बजे घर से निकलना होता था।
मेरे फ्लैट में एक ही बाथरूम था। मेरा और मेरी मॉम का उठने का टाइम एक साथ था.. तो मुझे कई बार बाथरूम के बाहर वेट करना पड़ता था।

एक दिन मैंने बाथरूम के दरवाजे में एक छेद से अपनी आँख लगा कर अन्दर देखने की कोशिश की। मैंने उसमें से देखा तो बाथरूम के भीतर का पूरा सीन साफ़ दिख रहा था।
बाथरूम में मॉम नहा रही थीं, उनका गोरा-गोरा चिकना भीगा बदन साफ़ दिख रहा था और वे बिल्कुल नंगी सिर्फ़ एक पैंटी पहने हुए नहा रही थीं। उनके उभरे हुए बड़े-बड़े मम्मे उनके नहाने से खूब उछल रहे थे।

उन्होंने नहाकर अपना बदन पोंछा।
ये सब पहली बार देख कर मैं एकदम से गनगना गया।
अब तो मैं मौका पाकर रोज ही देखने लगा।

एक दिन तो मॉम पूरी नंगी नहा रही थीं.. उस दिन तो वो पैन्टी भी नहीं पहने हुए थीं। वो अपनी बुर में भी साबुन लगाकर साफ़ कर रही थीं। ये देखकर मेरा लण्ड तन गया था और सम्भल ही नहीं पा रहा था। मैं सोच रहा था कि मैं कैसे अपनी मॉम के बदन से लिपटूं..

मैंने पहले एक बार मॉम को डैड के साथ सेक्स करते हुए भी देखा था।
उस दिन अचानक मैं बैलेंस नहीं रख पाया और दरवाजे से टकरा गया।

दरवाजे पर आवाज़ होने से मॉम ने पूछा- कौन?
मैंने कहा- मैं हूँ.. मुझे कॉलेज के लिए देर हो रही है.. जल्दी करो..
वो बोलीं- तुम अन्दर आ जाओ.. मैं दरवाजा खोलती हूँ।
दरवाजा खुला और मैं अन्दर चला गया।

मॉम ने दरवाज़ा बंद कर लिया, मैं जल्दी से लेट्रीन में घुस गया।

मेरे पौटी जाते ही मॉम बदन से तौलिया हटाकर नहाने लगीं। मैं लेट्रीन के डोर के होल से देखने लगा.. मॉम पूरी नंगी होकर नहा रही थीं, उन्होंने अपने पूरे बदन पर साबुन लगाया और अपने चूचे मसल-मसल कर नहाने लगीं।
उनका पीठ पर हाथ नहीं पहुँच पा रहा था..

इस वक्त उनका भीगा गोरा बदन और भी सेक्सी लग रहा था। फिर उन्होंने अपनी बुर के ऊपर साबुन लगाया और मसल-मसल कर साफ़ करने लगीं। बुर के ऊपर काले-काले घने बाल बहुत सेक्सी लग रहे थे.. वो उनको धो रही थीं।

मैंने इसी समय लेट्रीन से बाहर आने की सोची.. किंतु फ्लश और दरवाजा की आवाज़ सुन कर उन्होंने बदन को तुरंत सामने से तौलिया से कवर किया और हड़बड़ी में मुझे देखकर पीठ देते हुए घूम गईं.. जबकि पीछे तौलिया नहीं था और उनके पूरे नंगे बदन को देखकर मेरे पूरे बदन में सनसनी दौड़ गई।

Comments

सबसे ऊपर जाएँ