मॉम की तड़फती चूत की चुदाई की

(Indian Aunty Sexy Mom Ki Tadfti Choot Ki Chudai )

मेरा नाम रवि है और मैं अपनी पहली सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ।

बात उस समय की है.. जब मैं स्कूल में पढ़ता था।

मेरे पापा ने दूसरी शादी की थी और मैं अपनी दूसरी मॉम को उससे पहले वासना की नजर से कभी नहीं देखता था, लेकिन उस दिन ऐसा हुआ कि मैंने अपनी मॉम को किसी से फोन पर बात करते सुना।

‘अब तो तुम भी मुझे भूल गए हो और मेरे पति भी काम की वजह से हमेशा आउट ऑफ़ कंट्री रहते हैं। महीनों तक मुझे सेक्स करने को नहीं मिलता है।’

ये सब बात सुन कर अब मेरे मन में मॉम को चोदने का प्लान बनने लगा कि कब मॉम की वो प्यारी से चूत चोदने को मिलेगी।

मेरी मॉम देखने में गजब की माल लगती थीं.. कोई भी जवान लड़का उनको एक बार चोदने को जरूर सोचेगा क्योंकि उनकी फिगर ही कुछ ऐसी थी।

उनका 34-32-38 की फिगर वाला एकदम गोरा बदन जमाने भर पर कहर ढाता था। ये तो हुई मेरी मॉम की फिगर की बात.. अब मैं आपको ये बताता हूँ कि मैंने मॉम को कैसे चोदा।

बात उस रात की है जब मैं और मॉम घर में खाना खाने के बाद सोने की तैयारी में थे।
हम सब एक ही कमरे में सोते थे.. पर उसे दिन जिस खाट में मैं सोता था.. वो टूट गई थी, जिससे हम दोनों एक ही खाट में सो गए।
मेरे को नीद कहाँ आनी थी क्योंकि मैं इतनी हसीन बदन की मालकिन के साथ जो सोया था।

जब बहुत रात हो गई तो मैं हिम्मत करके मॉम की चूची को ऊपर से दबाने लगा।
मुझे बहुत मजा आ रहा था.. पर डर भी लग रहा था कि कहीं मॉम जाग गईं तो डांट पड़ेगी।
लेकिन उस समय तो मैं कहाँ होश में था, मैं तो बस मॉम को चोदने के मूड में था।

जब मॉम की ओर से कोई हरकत नहीं हुई.. तो मैंने अपना हाथ उनके ब्लाउज में डाल दिया और उनके रसीले मम्मे दबाता रहा।

तभी मॉम जाग गईं.. और उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया, वे बोलीं- ये क्या कर रहे हो?
यह हिन्दी सेक्स कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

तभी मैंने सब बता दिया- मैंने आपको फोन पर बात करते सुन लिया था कि आपको पूरा सेक्स नहीं मिल रहा है.. इसलिए मेरा आपके साथ सेक्स करने को जी कर रहा है।

कुछ देर सोचने के बाद मॉम मान गईं।

फिर क्या था.. मैं तो सातवें आसमान को छूने लगा क्योंकि ये मेरा पहला सेक्स था।

मैंने मॉम के एक-एक करके सारे कपड़े निकाल दिए।
अब मॉम पूरी नंगी मेरे सामने पड़ी थीं।

वो क्या गजब की माल लग रही थीं।

फिर मैं भूखे शेर की तरह मॉम के भरपूर जवान बदन पर टूट पड़ा।
मैं कभी मॉम की चूचियों को दबाता.. तो कभी पूरा चूचा मुँह में भर लेता।

ऐसा करीब 10-15 मिनट तक चला.. इसके बाद मैं मॉम की चूत को छूने लगा। जैसे ही मैंने चूत को अपने जीभ से छुआ.. मॉम का पूरा बदन सिहर उठा।

कुछ देर चूत चटवाने के बाद मॉम बोलीं- अब और मत तड़पा अपनी मॉम को.. चोद डाला अपनी मॉम की चूत को।

फिर क्या था.. मैंने अपना लम्बा और मोटा लंड उनकी चूत पर टिका कर अन्दर पेल दिया।

पहली बार में तो आधा ही लंड गया.. क्योंकि वो महीनों से चुदी नहीं थी.. इसलिए उनकी चूत मुंद सी गई थी।

फिर एक बार जोरदार धक्का लगाया और मेरा पूरा लंड उनकी मरमरी चूत में समा गया।

कुछ ही पलों बाद फिर पूरे कमरे में ‘फच.. फच..’ की आवाजें गूंजने लगी थीं।

करीब 7-8 मिनट के बाद मैं झड़ने वाला था.. तो मैंने मॉम से बोला- मैं आने वाला हूँ।
वो बोलीं- अपना माल मेरे मुँह में देना.. मुझे वीर्य पीना बहुत पसंद है।

मैंने सारा माल मॉम के मुँह में छोड़ दिया और वो पूरा रस पी गईं।

कुछ देर हम दोनों नंगे ही पड़े रहे। फिर दुबारा चुदाई का दौर चला और अब तो ये हो गया था कि जब भी भी हम लोगों का मूड होता.. तो हम दोनों चुदाई कर लेते थे। किसी का कोई डर तो था नहीं।

ये थी मेरी कहानी.. आपको कैसी लगी.. ये जरूर बताना।
[email protected]

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! मॉम की तड़फती चूत की चुदाई की