सास के साथ लेस्बियन सेक्स की रियल स्टोरी

(Saas Ke Sath Lesbian Sex Ki Real Story)

दोस्तो, मैं निशा आपके लिए अपनी सेक्स स्टोरी लेकर आई हूँ, मेरी और मेरी सास की लेस्बियन कहानी. मेरी सास बहुत ही सेक्सी और हॉट है.

मैं बरेली की रहने वाली हूँ, मैं 37 वर्ष की हूँ और मेरे पति फौज में हैं जिसके कारण मैं सेक्स से परेशान रहती हूँ। मेरा फिगर 36 34 38 है मेरे घर पर मेरी बेटी 18 वर्ष की, ननद 26 वर्ष की और सास 59 वर्ष की है।

बात 8 साल पहले की है जब मेरी सास की उम्र 51 साल थी और फिगर 36सी 34 38 है और मेरा 34बी 32 38 है। मैं 29 साल की थी। हम दोनों दिखने में बहुत ही सेक्सी हैं.
सास के साथ सेक्स कैसे शुरू हुआ, यह मैं आपको बताने जा रही हूँ।

मेरे ससुर की मृत्यु होने के पश्चात मेरी सास बहुत ही दुखी रहने लगी थी। ससुर के खत्म होने के बाद एक दिन मेरी सास अपने कमरे में रात के 1 बजे टीवी पर क्सक्सक्स मूवी देख रही थी और बेड पर लेट कर अपनी चूत सहला रही थी।
यह सब मैंने खिड़की से तब देखा जब मैं बाथरूम से पेशाब करके निकली और देखते ही मेरे होश उड़ गये कि मेरी सास यह सब xxx देख रही है।

उस दिन तो कुछ नहीं हुआ और मैं अपने कमरे में जाकर सो गई।

अगले दिन मैंने सोचा कि आज मैं इनको देखूँगी सेक्स करते हुये। यह सब पूरी तरह से देखने के लिए मैंने उनके कमरे से कुर्सी जो खिड़की के पास रखी थी वो मैंने बाहर निकाल कर रख दी, खिड़की की चिटकनी को खोल दी और खिड़की बन्द कर दी।
मैं अपने कमरे की लाइट बन्द करके लेट गई।

रात के करीब 12.30 बजे मेन गेट खुलने की आवाज आई और कोई घर में आया, जब तक मैं उठी तब तक वो मेरी सास के कमरे में जा चुका था और मेरी सास के कमरे का दरवाजा बन्द हो चुका था. फिर करीब पांच मिनट बाद अपनी सास के कमरे की तरफ गई और खिड़की को हल्का सा खोल लिया।

अंदर देखा तो मेरी सास अकेली थी, उस रात को भी मेरी सास ने xxx मूवी लगा रखी थी और देख रही थी. वो एक प्लास्टिक का लंड अपनी चूत में डालकर खूब अन्दर बाहर करने लगी।

तभी मैंने देखा कि एक लड़की जो 25 26 साल के आस-पास होगी, वह बाथरूम से निकली और मेरी सास के ऊपर चढ़ कर उनके कपड़े उतारने लगी, धीरे-धीरे उनको नंगी कर दिया और खुद भी नंगी हो गई और दोनों एक दूसरी को किश करने लगी।

और फिर वो नंगी लड़की मेरी नंगी सास की चूत को चाटने लगी. कुछ देर बाद मेरी सास ने पानी छोड़ दिया और वो चाटने लगी. फिर सास ने उसकी चूत को चाटा, दोनों ने एक दूसरी की चूत चाटी और एक दूसरी की चूत में प्लास्टिक का लंड डाला.
यह खेल लगभग सवा घंटे तक चला.

मेरा भी मन कर रहा था कि मेरी भी चूत कोई चाटे. मैं जल्दी से बाथरूम में गई, साड़ी उठाई, पैन्टी उतारी और चूत पर हाथ रखते ही मेरी उंगली चूत के अन्दर जा घुसी और चूत को शीशे में देखकर खूब रगड़ा. मेरी चूत गुलाबी हो गई रगड़ते ही.
और फिर अन्त में मैं सिसकारी भरते हुये झड़ गई.
फिर मैं अपने कमरे में गई और फिर मैं सोचने लगी कि वो लड़की कौन थी जिसे आज मैंने पहली बार देखा था।

कुछ देर बाद गेट खुलने की आवाज आई और वो लड़की बाहर निकल गई और स्कूटी चालू करने की आवाज सुनाई दी और वो चली गई. फिर सास मेरे कमरे की तरफ आई और देखने लगी कि कोई जग तो नहीं रहा है।
और फिर अपने कमरे में जाकर सो गई और मैं भी सो गई।

अगले दिन सुबह मैं उठी और अपना काम करने लगी फिर मैंने देखा कि मेरी सास बाथरूम में है, वह नहाने गई है. तभी मैं अपनी सास के कमरे में गई, वहाँ मैंने इधर उधर देखा, कुछ नहीं दिखा फिर मैंने उनकी अलमारी खोली, देखा कि वही प्लास्टिक का लंड रखा हुआ था.

मैं देख ही रही थी कि तभी अचानक से मेरी सास बाथरूम से निकल आई और मुझे वह प्लास्टिक का लंड पकड़े देख लिया और बोली- निशा तुम यहाँ क्या कर रही हो? और यह क्या है तुम्हारे हाथ में? मेरी अलमारी क्यों खोली तुमने?
और कई सारे सवाल करने लगीं.

मैं बोली- ये आपकी अलमारी से निकला है। और आपको रात में मैंने किसी लड़की के साथ सेक्स करते हुये भी देखा है।
यह सुनकर वो दंग रह गई और बोली- तुमने उसको देखा है?
मैंने कहा- हाँ, वो लड़की दो घण्टे तक घर में रही और आपके साथ सेक्स किया उसने!

यह सुनकर मेरी सास मेरी तरफ देखने लगीं और बोली- मैं क्या करूँ, मुझे सेक्स करने की बहुत इच्छा होती है, उनके गुजरने के बाद से मैं सेक्स नहीं कर पाई थी जिस कारण यह सब करना पड़ा। और मैं बोली- कोई बात नहीं!
फिर मैं आगे बढ़ी और उनका तौलिया खींच दिया, मेरी सास पूरी नंगी हो गई. उनके दूध लटक रहे थे पर मस्त थे एकदम… मैंने नीचे देखा तो चूत क्लीन थी जैसे अभी-अभी चूत के बाल साफ किये हों.
मैं उनके चिपक गई, मैंने उनके मोटे मोटे चूतड़ पकड़ लिये और दबाने लगी. तभी मैंने चूत पर हाथ लगाया, उनकी चूत को टच करते ही मैं बोली- झाँटे बना रही थी इतनी देर से?
तो मेरी सास बोली- हाँ!
मैं अपनी सास से बोली- मेरी जान, मैं भी तो हूँ, मुझसे नहीं करोगी सेक्स?

उन्होंने यह सुन कर मुझे कसकर पकड़ लिया और मैंने उनके होंठों को किश किया और वे भी मुझे कसकर पकड़ कर किश करने लगी.
मैंने अपनी सास को बेड पर गिरा दिया, फिर अपनी साड़ी, पेटीकोट, ब्लाऊज, ब्रा, पैन्टी उतार दी.
मैं पहली बार उनके सामने नंगी हुई थी।

मैं अपनी सास के ऊपर चढ़ गई और फिर से किश करने लगी, वो भी मुझे किश करने लगी.
फिर मैं उनकी चूत पर आई और चूत पर मुँह लगा के चाटने लगी। उनकी चूत को काफी देर चाटने के बाद उन्होंने इतनी तेज पानी छोड़ा कि जैसे क्सक्सक्स मूवी में करती हैं वैसे ही कुछ पानी मेरे मुँह के अन्दर और कुछ पानी मेरे चेहरे पे इतनी तेज फच्च से… एकदम मजा आ गया.
और मेरी सास चिल्लाई- निशश्शश्शा मैं झड़ रही हूँ।
कह कर झड़ गई. मैंने सास की चूत को जीभ से चाटकर साफ किया.

कुछ देर बाद मेरी सास उठी, मुझसे वोली- रात से ज्यादा मजा तो अब आया है मेरी जान!
यह कहकर वो मेरी चूत पर टूट पडी और चूत देखते ही बोली- तू भी मेरी तरह है, तेरी चूत भी एकदम रसीली हो गई है, पानी छोड़ने लगी है। मेरा बेटा 2 महीने से बार्डर पर है। तुम क्या करती हो अपनी चूत की शान्ति के लिए निशा?
मैंने कहा- मैं तो उंगली से ही काम कर लेती हूँ और रगड़ कर काम हो जाता है लेकिन झड़ने में टाईम लग जाता है, चूत काफी देर तक रगड़नी पड़ती है।

उन्होंने मेरी चूत को काफी देर तक चाटा और प्लास्टिक का लंड डाला और फिर मैं भी अपनी सास की तरह जोर से चिल्लाई- मैं झड़ने वाली हूँ।
और मेरी चूत ने फच्च से पिचकारी मारी और मैं सीसी सीसी करके हहहहह करके झड़ गई. मेरी सास ने अपनी जीभ से मेरी चूत को साफ किया।

हम नंगी ही चिपक कर एक दूसरे की टाँगों में टाँगें डाल कर लेट गयी।

फिर मैंने अपनी सास से पूछा- वो रात वाली लड़की कौन थी?
तब उन्होंने बताया कि उसे किराये पर बुलाया था और वो आज रात को भी आयेगी। क्या तुम भी करोगी उसके साथ सेक्स?
मैंने भी हाँ कर दी.

उस दिन रात को भी हम तीनों ने मिलकर सेक्स किया। उस रात 4 बार तो मैं झड़ी और 4 बार मेरी सास और वह लड़की 3 बार झड़ी।
उसके बाद से मैं और मेरी सास रोज सेक्स करने लगी, रोज चूत चाटने और चटवाने के मजे लेने लगी, फिर हम दोनों एक ही रूम में रहने लगी जिससे हम दोनों रोज रोज सेक्स कर सकें!

आपको मेरी रियल लेस्बियन सेक्स स्टोरी कैसी लगी, जरूर बतायें, कमेन्ट जरूर करें।
[email protected]

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! सास के साथ लेस्बियन सेक्स की रियल स्टोरी