शौहर ने बीवी को चुदवाया

(Shauhar Ne Bivi Ko Chudvaya)

मेरा नाम रजनीश है, 21 साल का हूँ, मैं अपना एक अनुभव बता रहा हूँ यह बात पिछले साल की है जब मैं 20 साल का था।

मित्रो, सच कहूँ तो जो कुछ पति ऐसे होते हैं, अपनी बीवी को चुदते हुए देखने से उनको एक अलग ही मज़ा आता है।

मैं पुणे के एक ऐसे ही जोड़े के साथ सेक्स कर चुका हूँ, उनसे मेरा संपर्क अन्तर्वासना की कहानियों पर कमेन्ट वाले सेक्शन से हुआ था।

जोश में आकर उन आदमी ने मुझे अपने घर बुला लिया चार पांच दिन का प्रोग्राम बना कर..

जब मैं उनके घर पहुँचा तो देखा कि उसकी बीवी एकदम सेक्सी थी, फिगर बहुत अच्छा था पर उनका यह पहली बार था और मेरा भी… तो हम सब ज़रा डरे घबराये हुए से थे।

तो हमारा कुछ कम्यूनिकेशन गड़बड़ हो गया क्योंकि कौन क्या बोले यह किसी को सूझ ही नहीं रहा था।
पर धीरे धीरे हम सब नॉर्मल हो गये पर उसकी बीवी नगमा मुझसे ऐसे शर्मा रही थी जैसे कि नई नवेली दुल्हन दूल्हे से शरमाती है।

पर फिर मैंने हिम्मत से अप्रोच किया और बातें की, उससे दोस्ती की, उसके साथ एक देवर का रिश्ता सा कायम कर लिया।

दोस्तों यकीन करना कि मैं उनके घर जाकर भी उसकी बीवी की शर्म की वजह से दो दिन कुछ नहीं कर पाया लेकिन आखिर तीसरे दिन मैंने उसका चुम्बन लिया, वो भी उसकी रजामंदी से पर उस वक्त उसका शौहर अकरम किसी काम से, शायद खाने पीने का सामान लेने बाज़ार गया हुआ था।

वो मेरा पहला चुम्बन था.. पर मैं फ़िल्मों में काफ़ी देख चुका था।

मेरी हाइट भी नगमा से कम थी, मैं सिर्फ़ 5’1″ का हूँ और वो 5’4″ की थी और वो मुझसे दस साल बड़ी थी उम्र में…
हम दोनों आपने सामने खड़े थे, मैंने उसकी 30″ की कमर को आराम से हाथ डाल कर उसे अपनी ओर खींच लिया, उसने आँखें बंद कर ली और मेरी हरकत का इंतज़ार करने लगी.

मैंने उसके चेहरे को अपने चेहरे पर झुकाया उसके बालों की एक लत उसके चहरे पर ढलक आई, मैंने उसकी लटी को हटाया और उसके लबों को अपने लबों पर झुका लिया, चूमना शुरू किया… क्या मुलायम होंठ थे, वो भी थोड़ा रेस्पोन्स कर रही थी, हमारी ज़ुबान एक दूसरे से टकरा रही थी, कुछ ही देर में चूमा चाटी की आवाज़ कमरे में गूँजने लगी थी, वो मुझमें खो गई तो और मैं उसमें !

मुझे काफी अजीब सी फीलिंग आ रही थी कि मैं एक शादीशुदा औरत को जो मुझसे दस साल बड़ी है और हाइट में भी ज़्यादा है, वो मेरी बाहों में है और उसका शौहर भी इस बात की इजाज़त देता है.

पर वो शायद ऐसा कुछ नहीं सोच रही जोगी क्योंकि वो तो सिर्फ़ मुझमें खोई हुई थी आँखें बंद किए मेरे मुँह में ज़ुबान डाले हुए थी.
हमारी चूमा चाटी… नहीं… यह सिर्फ चुम्बन नहीं था, हमारा प्यार 10 मिनट तक चला. जैसे जैसे हम चुम्बन कर रहे थे, वैसे वैसे वो मुझसे लिपटती जा रही थी और हम एक दूसरे में खोते जा रहे थे.

लेकिन अचानक घंटी बजी, वो बजने के बाद भी हम एक दूसरे को चुम्बन करते रहे 2-3 मिनट तक…
लेकिन दरवाज़ा तो खोलना ही था, दरवाजा खोला तो उसका शौहर अकरम हमारे गीले होंठ देख कर समझ गया कि क्या हो रहा था.
उसने कहा कि उसने एक शानदार नजारा देख पाने का मौक़ा खो दिया।

यह सुनने के बाद उसकी बीवी नगमा शर्म से चूर हो गई।

उसके बाद जब अकरम ने कहा कि उसे वो नज़ारा देखना है और हमें दोबारा वही सब करने को कहा जो हम कुछ देर पहले कर रहे थे तो नगमा इतनी शरमा गई कि वो कमरे से निकल कर छत पर ही भाग कर चली गई…

उसके बाद अकरम अपनी बीवी को जाकर लाया और मेरे सामने खड़ी कर दिया और मुझे कुछ भी करने को कहा।

संकोचवश जब मैंने कुछ नहीं किया तो अकरम ने खुद नगमा के कपड़े उतारने शुरु कर दिये और जब मुझे नगमा की चूत में लौड़ा घुसाने में दिक्कत हुई तो अकरम ने खुद मेरा लौड़ा पकड़ कर नगमा की चूत के छेद पे टिकाया था।

Leave a Reply