पूजा ने मजेदार चूत चुदाई करवाई

(Puja Ne Majedar Chut Chudai Karwai)

This story is part of a series:

दोस्तो, मैं सन्नी आहूजा एक बार फिर से आपके सामने हाज़िर हूँ। मुझे नहीं पता था मेरी कहानी बहन की सहेली को चोदा को इतना अच्छा रिस्पॉन्स मिलेगा..

बहुत से दोस्तों के मेल्स आए.. मुझे पढ़ कर बहुत ही अच्छा लगा।
जैसे मैंने अपनी कहानी के पिछले भाग में लिखा था कि सपना को चोदने के बाद हम अक्सर होटल्स वगैरह में घूमने के लिए जाते थे। रोहतक वाले जानते होंगे नागपाल.. चॉकलेट.. अपनी बात की सत्यता को साबित करने के लिए बस इशारा ही काफी है।

एक दिन सपना अपने साथ अपनी बुआ की बेटी.. जिसका नाम पूजा है.. उसे साथ लेकर मुझसे मिलने आई। पूजा इतनी गोरी तो नहीं थी.. मगर उसके शरीर की बनावट खुदा ने अलग ही बनाई थी। क्या भरा हुआ बदन था.. Indian sexy Girl क्या मस्त उठे हुए चूचे.. मैं तो बस उसे देखता ही रह गया।

फिर ऐसे ही सपना के साथ उसका भी मुझसे मिलना शुरू हो गया और पूजा और मेरी कुछ सामान्य सी बातें होने लगीं।
एक दिन मैंने उससे पूछा- तुम्हारा कोई ब्वॉय-फ्रेण्ड है?

उसने बोला- हमारी सपना जैसी किस्मत कहाँ.. जो हमें घुमाए और हमें प्यार करे!
मैंने उससे पूछा- क्यों.. तुम्हारी किस्मत भी उसकी तरह हो सकती है.. अगर तुम चाहो तो!
वो मेरी बातों का इशारा समझ चुकी थी। उसने मुझसे बोला- हम कल मिलते हैं..

अगली शाम मैं सपना को बिना बताए.. पूजा से मिलने गया।
हमने रेस्टोरेंट में खाना खाया और काफ़ी देर तक हमारी बातें हुईं।

पूजा ने मुझे बोला- आई लाइक यू..
मैंने उससे कहा- अगर सपना को पता चल गया तो?
पूजा बोली- नहीं पता चलेगा..

दोस्तो, पूजा रोहतक में कैम्प में रहती है.. और रोहतक वाले ही जानते होंगे कि कैम्प की लड़कियाँ क्या होती हैं।

इस तरह हमारी पहली मीटिंग में कुछ ख़ास तो नहीं हुआ.. हाँ.. इसके बाद फोन पर हम हर तरह की बातें करने लगे थे।
मैंने उसे बताया कि कैसे मैंने उसकी बहन को चोदा था।
कुछ 7-8 दिन बाद पूजा का मुझे फोन आया- मेरा चंडीगढ़ में इंटरव्यू है.. तो तुम मेरे साथ चलना।

हम सुबह 4 बजे की बस से रवाना हुए.. रास्ते में मैंने उसके चूचे खूब दबाए.. उसने भी मेरा लण्ड दबा कर पानी निकाला.. सच में बहुत मज़ा आया।
यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !

चंडीगढ़ पहुँचने के बाद करीब 12 बजे उसका इंटरव्यू खत्म हुआ और हमने वहाँ एक होटल में कमरा ले लिया। कमरे में जाते ही मैंने उसको अपने गले से लगा लिया और उसके होंठों को खूब चूसा।

वो बहुत अनुभवी माल लग रही थी.. सच में दोस्तों जिस तरह से वो चूस रही थी.. मुझे भी उसको चूसने में मस्त मज़ा आया।
मैंने उसकी शर्ट और ब्रा को खोल दिया।
क्या मस्त नज़ारा मेरे सामने था.. इतने कसे हुए चूचे दोस्तों.. कि पूरे 20 मिनट तक तो मैंने उसके चूचों का ही रसपान किया।

फिर उसने मेरे कपड़े उतारे और मैंने भी उसको पूरा नंगा कर दिया..
दोस्तो, एक मस्त साँवली लड़की का मादक जिस्म मेरे सामने था.. झूठ नहीं बोलूंगा.. साली सच में वो क़यामत लग रही थी.. मेरा लवड़ा तो उसकी उठी हुई चूचियाँ देख कर एकदम अकड़ गया।

हमने एक-दूसरे को खूब चूसा.. मैंने उसके निपल्स को मुँह में लेकर ऐसे चचोरा जैसे उसमें से अभी दूध निकल आएगा। वो तो ऐसे सिसकारियाँ ले रही थी.. जैसे अभी झड़ जाएगी।
सच में उसनी जवानी ने मुझे पागल ही कर दिया था।

उसका शरीर आग की भट्टी था दोस्तो.. मैंने उसकी चूत को चूसा और उसने लंड को मुँह में लेने में 2 पल भी नहीं लगाए। उसका मुँह इतना गर्म था और वो इतने मजे से मेरे लवड़े को गले के आखिरी छोर तक लेकर चूस रही थी कि कुछ ही देर में मैं उसके मुँह में ही झड़ गया।

उसने मेरी सारी क्रीम गटक ली.. साली बहुत बड़ी वाली रंडी थी।

अब मेरा लौड़ा सिकुड़ गया था.. पर फिर भी उसने मेरा लंड मुँह में लेकर दोबारा खड़ा किया..
और इस बार जैसे ही लवड़ा खड़ा हुआ उसने चित्त लेटकर अपनी चूत पर सैट किया.. वो मेरे नीचे थी और मैंने सुपारा चूत में फंसा दिया और धक्के लगाने स्टार्ट कर दिए।

जब लंड उसकी चूत में गया तो अन्दर मुझे इतना गरम लगा मानो अन्दर आग लगी पड़ी हो।

फिर मैंने उसको तेज-तेज धक्के लगाने स्टार्ट किए और जो उसकी मादक आवाजें थीं ‘आमम.. उहह..’ मेरे लौड़े को तो जैसे मस्ती चढ़ गई थी।

सच में दोस्तो, जब ऐसी आवाजें निकलती हैं.. तो चुदाई का मज़ा कुछ और ही आता है।

फिर कुछ मिनट यूं ही चुदाई के बाद.. मैंने उसे अपने ऊपर आने को कहा।
फिर जो उसने मजेदार चुदाई करवाई.. क्या धक्के लगाए.. लंड की माँ चोद दी।

चुदाई के मज़े से हम दोनों की आवाजें निकल रही थीं।
इस तरह धकापेल 20 मिनट की मस्त चुदाई के बाद हम दोनों एक साथ झड़ गए।

बहुत मज़ा आया.. दोस्तो.. पूजा सच में चुदवाने में एक्सपर्ट थी। हमने 12 से 3 बजे तक 3 बार चुदाई की.. वो भी अलग-अलग पोज़ में..
फिर 4 बजे की बस से रोहतक वापिस आ गए। वापसी में बस में फिर से हमने एक-दूसरे को छेड़कर पानी निकाला।
पूजा को चोदने में बहुत मज़ा आया दोस्तों.. कसम से..

यह मेरी दूसरी चुदाई की घटना थी जो एकदम सच्ची थी.. आपका अच्छा रिस्पॉन्स मिला तो आगे भी कहानी लिखूंगा..
अपनी राय देने के लिए ईमेल कीजिएगा। आपके कमेंट्स का इंतज़ार रहेगा..
गर्ल्स तुम्हारे कमेन्ट भी मेरा खड़ा कर देते हैं.. सो प्लीज़ तुम सब भी लिखना।
[email protected]