सौराष्ट्र सेक्स विद मी

मेरे दोस्तो अब मैं आपको अपनी स्टोरी बता रहा हूं। मैं गुजरात(सौराष्ट्र) के एक मशहूर शहर में रहता हूं। मेरा ओफ़िस है और मैं एकदम फ्रेंडली लड़का हूं। बोडी अच्छी है, मेरा लंड ७ का है और थोड़ा मोटा है, वैसे तो मैं कई बार सेक्स का अनुभव कर चुका हूं, पर यहां की भाभी और लड़कियों में जो बात है वो भारत में और कहीं नहीं। बड़े बूब्स, चिकनी गांड, मस्त बोडी, जैसे चोदते हि रहो। मैं डेली ओफ़िस जाने के लिये बस मे आता जाता हूं। सुबह जाता हूं और शाम को वापस, रोज यही चलता है।

मेरे साथ एक लड़की भी रोज़ सफ़र करती है, वो आगे से ही उसी गाड़ी में होती थी शायद अगले शहर से आती होगी, एक बार गाड़ी में भीड़ ज्यादा ही थी, उसके बाजु में एक सीट खाली थी सो मैं उसके पास बैठ गया, वो मुझे देख कर हल्के से मुस्करायी मैने भी मुस्करा कर जवाब दिया, फ़िर थोड़ी देर बैठे रहे, अचानक ही उसने मुझसे पूछा कि तुम पढ़ाई करते हो या कोई जोब, मैने कहा कि मेरा बिजनेस है, और उसने बताया कि वो सरकारी नौकरी करती है, कुछ बातें हुई और फ़िर हम काम पर चले गये, रोज ऐसे ही मुलाकात होती रही, हम अपनी बातें बताते रहे, वो शादी शुदा थी पर तलाक हो चुका था अकेली रहती थी,उसका नाम सोनु था, उसकी आंखो में कुछ अजब सी कशिश थी, गोरा बदन, ३६ बूब्स, काफ़ी सुडौल बदन और एकदम सेक्सी। एक बार उसने कहा कि कल मेरी छुट्टी है हो सके तो मेरे घर चाय-पानी के लिये आओ। मैने कहा ठीक है।

और उससे पता और मोबाइल नम्बर लेकर मैं उसके घर पहुंचा। उसका घर काफ़ी सुंदर था। मैने डोरबेल बजाई और उसने दरवाजा खोला और मुझे वेलकम कहा। अंदर आके मैं ड्राइंग रूम में बैठा। थोड़ी देर में वो चाय ले कर आयी और हमने आपस में बातें करना शुरु किया। अचानक ही उसने कहा कि आई लव यु। मैं तुम्हे प्यार करती हूं और तुम्हे पाना चाहती हूं और मुझसे लिपट गयी, जैसे ही उसके बदन का सपर्श हुआ मेरे शरीर में करेंट दौड़ गया मैं भी उससे लिपट गया और उसे चूमने लगा, वो मुझे अपने बेडरूम में ले गयी

हम दोनो बेड में लेटे हुए एक दूसरे के कपड़ों पर टूट पड़े थोड़ी देर में हम एकदम नंगे थे, क्या बताऊं दोस्तों, उसका बदन था या कयामत, नर्म और बड़े बूब्स, उस पर गुलाबी निप्पल एकदम फ़ूल गये थे, चिकनी जांघें और बीच में गुलाब की तरह लाल चूत, जैसे मुझे न्यौता दे रही थी, उसने मेरे लंड को पकड़ा और कहा मेरे जानु तुम्हारा लंड तो एकदम कड़क है, अब मेरी प्यास बुझेगी, मैने अपना एक हाथ उसकी चूत पर रखा और रब करने लगा, मैने धीरे से उसकी चूत खोली, एकदम फ़ूली हुई और छोटी सी उसकी चूत थी। एकदम सफ़ाचट थी मैने चूत की क्लिट को छुआ तो वो तड़प उठी और आहें भरने लगी मेरा सर पकड़कर उसने चूत पर रख दिया और मैं धीरे धीरे उसकी चूत पर अपनी जीभ फ़ेरने लगा वो बुरी तरह से तड़प रही थी, उसकी चूत में से चिकना पानी निकल रहा था, मैने अपनी एक उंगली को चिकना किया और धीरे से उसकी चूत में डाल दिया और अंदर बाहर करने लगा।

वो मस्त हो रही थी, फ़िर उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और अपनी जीभ उस पर फ़िराने लगी मैं उसके दोनो निप्पल को चुटकियों में रगड़ रहा था फ़िर उसने कहा कि अब मुझमे समा जाओ और फ़िर मैने उसकी दोनो टांगो को अलग किया और बीच में बैठ गया। उसकी गुलाबी चूत एकदम फ़ूल गयी थी और पानी से एकदम चिकनी हो गयी थी। चिकना पानी लगातार निकल रहा था मैने अपना लंड चूत के पानी से चिकना किया और चूत पर रब करने लगा वो बहुत तड़प रही थी, उसने अपनी चूत दोनो हाथों से खोल दी, उसकी चूत का छोटा सा छेद एकदम साफ़ दिख रहा था, फ़िर मैने अपना चिकना लंड धीरे से उसकी चूत में डालना शुरु किया और वो कराहने लगी, धीरे धीरे मैने पूरा लंड उसकी चूत में डाला और अपनी कमर हिलाने लगा। अब वो भी मस्त होकर एकदम मुझसे लिपट पड़ी थी और मैं शोट पर शोट लगाता रहा, उसे बहुत मज़ा आ रहा था, चूत चिकना पानी निकाल रही थी और उसकी बजह से चप चपक चप जैसी आवाज़ आ रही थी, फ़िर मैने उसे घोड़ी बनाकर पीछे से अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया, मैं कभी लंड पूरा निकाल लेता और फ़िर पूरा डाल देता, रगड़ से छपाक छपाक की आवाज़ गूंज रही थी और फ़िर स्पीड से मैने उसे चोदना शुरु किया और अपना पूरा वीर्य उसकी चूत में डाल दिया। अब वो पूरी तरह सैटिस्फाई हो गयी थी। हम दोनो बेड पर लेटे एक दूसरे को चूमने लगे और दोस्तो फ़िर शुरु हुआ न खत्म होने वाला एक चोदने का सिलसिला।

Leave a Reply