मेरी गर्लफ्रेंड की सड़क पर ट्रक ड्राईवर से चूत चुदाई की कहानी

(Meri Girlfriend Ki Sadak Par Truck Driver Se Choot Chudai Ki Kahani)

दोस्तो, मेरी गर्लफ्रेंड और मैं हमेशा से ओपन रहे हैं.. ख़ास कर सेक्स में और हम दोनों हमेशा ही चुदाई के लिए तैयार रहते हैं। हम दोनों को ही काले लंड पसंद हैं.. अफ्रीकन हों या इंडियन.. लंड मोटा और काला होना चाहिए।

मैं हमेशा ही अपनी गर्लफ्रेंड को किसी नीग्रो से चुदते हुए सोच कर मुठ मारता हूँ, मेरी गर्लफ्रेंड को भी यही पसंद है।

हम दोनों एक नई ठरकी सेक्स स्टोरी लेकर आपके सामने हाज़िर हैं। इसमें मेरी गर्लफ्रेंड और मैं एक ट्रक ड्राइवर से केवल 50 रूपए ले कर मज़े की शुरूआत कर लेते हैं।

एक रात जब हम दोनों कहीं से वापिस आ रहे थे.. तो रास्ते में हमारी गाड़ी खराब हो गई। यह जगह थोड़ी सुनसान थी, घना अंधेरा था और वहाँ पर सिर्फ़ एक ट्रक खड़ा था।

मैं गाड़ी से उतरा और उस ट्रक के पास मदद माँगने चला गया। ट्रक में एक बुड्डा ड्राइवर सो रहा था। उसकी उम्र करीब 65 साल की रही होगी, वो भुजंग काला था और बहुत पतला दुबला मरियल सा था।

मैंने दरवाज़ा खोला तो वो उठ गया।

‘सॉरी.. आपको उठाने के लिए.. पर मेरी गाड़ी खराब हो गई है.. और मुझे लगा कि शायद आपको गाड़ी सुधारने के बारे में कुछ पता हो।’
ड्राईवर- कोई बात नहीं.. चलिए कहाँ है गाड़ी?

मैं उसको पीछे गाड़ी की तरफ ले आया और गाड़ी का बोनट खोल दिया।

ड्राईवर चैक करने लगा.. और करते-करते उसकी नज़र मेरी गोरी गर्लफ्रेंड पर चली गई.. जो गाड़ी के अन्दर सीट पर बैठी थी। मेरी गर्लफ्रेंड ने मिनी स्कर्ट पहनी हुई थी, जो घुटनों के ऊपर तक ही थी।

वो पूरे 10 सेकंड तक मेरी गर्लफ्रेंड को घूरता रहा और फिर मुश्किल से आँखें हटा कर गाड़ी में झाँकने लगा। फिर वो गाड़ी का ड्राइवर साइड का दरवाज़ा खोल कर अन्दर गया और झुक कर स्टियरिंग व्हील के नीचे देखने लगा।

मेरी गर्लफ्रेंड उस टाइम फोन पर लगी थी.. तो उसने नहीं ध्यान दिया।
वो ट्रक ड्राइवर उसकी सेक्सी टाँगों और उसके हाई हील्स को बार-बार आँख मोड़ कर देख रहा था।

वो फिर बाहर आया और बोला- साहब आपकी तो लॉटरी लग गई.. इतनी सुन्दर लड़की आपको मिली है। इनको तो सारे लोग मुड़-मुड़ कर देखते होंगे?
‘हाँ यह तो है.. सब लोग उसको कुत्तों की नज़र से देखते हैं.. मुझे भी यह अच्छा लगता है कि लोग इसे देखें और घर जा कर यह सोचें कि वो मेरी गर्लफ्रेंड के साथ हैं, बीवी के साथ नहीं।’
मैंने हँसते हुए जबाव दिया।

‘इनकी टाँगें तो बहुत लंबी और गोरी हैं.. और मिनी स्कर्ट में तो बहुत अच्छी लग रही हैं.. बिल्कुल किसी बड़ी एक्ट्रेस की तरह। साहब एक बार एक गरीब आदमी की मदद करने की सोच कर दिखवा दो.. पूरी ज़िंदगी आपको याद करूँगा।’
मैंने कुछ सोचा और कहा- तुम्हें उसका क्या देखना है?
‘सब कुछ.. साहब आप मेरे लिए उनको बाहर बुलाओगे..?’
‘हाँ पर उसके लिए तुम्हें 50 रुपए देने होंगे।’

उसने हामी भरी तो मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को बहाने से बाहर बुलाया- बाहर आओ जान.. गाड़ी ठीक करने में तुम्हारी हेल्प चाहिए।
उधर मैंने यह कहा और इधर उस ड्राईवर ने मुझे पैसे हाथ में दे दिए।

मेरी गर्लफ्रेंड ने कार का दरवाज़ा खोला और बाहर आ गई, उस ड्राइवर ने उसको इशारे से बुलाया और अपने साथ खड़े हो कर गाड़ी के इंजन के पास एक चीज़ पकड़ने को बोला।

मेरी गर्लफ्रेंड थोड़ी झुक गई। उसकी लंबी टाँग और हील्स किसी मॉडल की तरह दिख रही थीं।

ड्राईवर उसके पीछे थोड़ी दूर को खड़ा हो गया और मेरी गर्लफ्रेंड की टाँगों को ललचाई नज़रों से देखने लगा। ड्राईवर का लंड धीरे-धीरे खड़ा हो रहा था।
मुझे पता चल रहा था कि बुड्डा गरम हो रहा है।

फिर वो किसी बहाने से मेरी गर्लफ्रेंड के पीछे यह बोलता हुआ खड़ा हो गया- मैं आपको बताता हूँ.. कैसे पकड़ते हैं।

अब वो मेरी गर्लफ्रेंड से थोड़ा चिपक सा गया और उसका लंड मेरी गर्लफ्रेंड की गांड पर थोड़ा थोड़ा लगने लगा था।
वो ड्राईवर मजा लेकर मेरी गर्लफ्रेंड को बता रहा था कि क्या करना है।

फिर वो थोड़ा पीछे हुआ और मेरे पास आकर बोला- उसको मुझे चोदना है.. जितने मर्ज़ी पैसे ले लो.. मुझे यह चाहिए और तू मुझे इसको मज़े लेते हुए देखना।
‘ठीक है तो 1000 निकाल..’

मैं अपनी गर्लफ्रेंड के पास गया और उसको बोला- देखो यहाँ पर सिर्फ़ यह बुड्डा ही है.. जो हमारी मदद कर सकता है। यदि इससे हेल्प नहीं ली, तो सुबह तक यहीं सुनसान जगह पर ही अटके रहेंगे.. अभी कोई मैकेनिक भी नहीं आ सकता है। जो यह कहता है.. तुम कर देना.. प्लीज़।
मेरी गर्लफ्रेंड समझ गई और मुस्कुराते हुए मान गई।

फिर मैं वापिस उस बुड्ढे के पास आया, उसने मुझे पैसे दिए और मेरी गर्लफ्रेंड के पास जाकर उसे पकड़ लिया।

ड्राईवर बोला- अब एक घंटे तक तू मेरी है और मैं अच्छी तरह से तुझे मज़े दूँगा.. चिंता मत करना मेरे पास छतरी है।
‘छतरी..?’
‘मतलब कंडोम है।’
मेरी गर्लफ्रेंड एकदम हँस पड़ी, वो मुड़ी और बोली- ठीक है.. पर ज्यादा ज़ोर से नहीं करना.. मैं आराम से करवाने के लिए तैयार हूँ।

ड्राईवर यह सुनकर अपने हाथ गर्लफ्रेंड के ऊपर फेरने लगा, वो कभी उसके मम्मे मसलता, कभी उसकी टाँगें सहलाता। ड्राईवर ने अपना हाथ मेरी गर्लफ्रेंड की स्कर्ट में डाला हुआ था। वो मेरी गर्लफ्रेंड की चूत को अपने हाथों से रगड़ रहा था।
मेरी गर्लफ्रेंड को भी मजा आने लगा था।

मैंने देखा कि एक गंदा सा बुड्डा.. 65 या 68 साल का, जो काला भूत जैसे था। उसके शरीर से हल्की सी बदबू भी आ रही थी। मेरी आयशा टकिया जैसे गर्लफ्रेंड के सामने खड़ा था और अपने गंदे हाथ उसके पूरे शरीर पर घुमा रहा था।

उस बुड्ढे ने एक हाथ मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में डाला हुआ था और उसकी मिनी स्कर्ट ऊपर करके पेंटी को हटा दिया था।

अब ड्राईवर अपनी 3 उंगलियां मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में अन्दर-बाहर कर रहा था। फिर ड्राइवर मेरी गर्लफ्रेंड के सामने खड़ा हो गया और मेरी गर्लफ्रेंड के पूरे मुँह पर पागलों की तरह किस करने लगा।

वो एकदम ठरक में आ गया और बोला- चल रांड.. साली अब ज़िप खोल, मेरा लंड मेरी पैंट में से निकाल और उसको पकड़ कर हिला!

मेरी गर्लफ्रेंड ने उसकी जिप खोली और लंड बाहर निकाला, ड्राईवर का लंड छोटा सा था, लंड करीब 4.5 इंच का था, मेरी गर्लफ्रेंड ने अपना हाथ उसके लंड पर रख दिया और हल्के से उसे हिलाने लगी। इस दौरान वो ड्राईवर अपने हाथ की 3 उंगलियां मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में अन्दर-बाहर कर रहा था।

मेरी गर्लफ्रेंड ने सिर्फ़ दो उंगलियों से उसका लंड पकड़ा हुआ था और वो हिला रही थी। मुझे ऐसा लग रहा था कि वो पेन्सिल को हिला रही हो।
ड्राईवर के लंड में से बदबू भी आ रही थी पर उसका लंड बिल्कुल काला था.. एकदम अफ्रीकन लंड की तरह था।

मेरी गर्लफ्रेंड ड्राईवर से बोली- अरे यह क्या लंड है तुम्हारा.. इतना छोटा सा.. यह किस काम का है?
ड्राईवर बोला- हाँ जी छोटा है.. पर काफ़ी बड़ी पिचकारी छोड़ता है।
‘ठीक है देखते हैं..’

यह बोल कर मेरी गर्लफ्रेंड ने उसके लंड की मुठ मारना शुरू कर दी, मेरी गर्लफ्रेंड का हाथ बहुत तेज़ी से ऊपर-नीचे हो रहा था।
थोड़ी देर में उस बुड्डे का शॉट निकल आया और सही में काफ़ी सारा माल निकला।

मेरी गर्लफ्रेंड ने उसकी पिचकारी ली तो उसका पूरा हाथ भर गया- हाँ यह तो सच कह रहा था..यह तो काफ़ी ज्यादा माल निकला है..

‘हाँ मैंने बोला था ना.. अब चल रंडी की तरह ज़मीन पर बैठ जा और मेरे सोते हुए लंड को साफ करके खड़ा करना शुरू कर दे.. साथ में सारे कपड़े उतार दे और मेरे सामने नंगी हो जा।’

मेरी गर्लफ्रेंड ने अपने कपड़े उतार दिए और उस ड्राईवर के सामने नंगी होकर अपने घुटनों पर बैठ गई।
उस ड्राईवर ने भी अपने कपड़े उतार दिए और मेरी गोरी गर्लफ्रेंड के साथ लिपट गया। वे दोनों नंगे थे और वो बुड्डा मेरी गर्लफ्रेंड के साथ बैठा हुआ था।

गर्लफ्रेंड के दोनों घुटनों पर थे और वो ड्राइवर मेरी गर्लफ्रेंड को सब जगह किस कर रहा था। वो उसके मम्मे पर, मुँह पर, उसके पेट पर.. उसकी टाँगों पर चूमे जा रहा था।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

फिर बुड्ढे ने मेरी गर्लफ्रेंड के 36डी साइज़ एक मम्मे को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा। वो कभी ज़ोर से चूसता.. तो कभी आराम से चुसकने लगता। कभी वो मेरी गर्लफ्रेंड के निप्पल चूसता और निप्पल पर दातों से काटने लगता।

कुछ मिनट तक चूसने के बाद वो खड़ा हुआ और अब उसका छोटा सा लंड फिर से खड़ा हो गया था। वो फिर से मेरी गर्लफ्रेंड के सामने आया और अपना गंदा, काला बदबू वाला लंड उसके मुँह पर रख दिया। उसके लंड से बेहद बदबू आ रही थी.. फिर भी उसने मेरी गर्लफ्रेंड के मुँह पर रगड़ना शुरू कर दिया।

‘चल अपना मुँह खोल और मेरा लंड अपने सुन्दर होंठों के अन्दर लेकर रंडी की तरह चूस इसको..’

यह सुनकर मेरी गर्लफ्रेंड ने मना किया पर उसने कुछ ना सुना। उसने मेरी गर्लफ्रेंड की नाक दबा कर बंद कर दी और तब मेरी गर्लफ्रेंड ने अपना मुँह खोल दिया, अब मेरी गर्लफ्रेंड ने उसका छोटा सा काला लंड अपने मुँह में ले लिया।

उस ड्राइवर का लंड अब मेरी गर्लफ्रेंड के मुँह में अन्दर-बाहर हो रहा था, उसका बदबू वाला लंड मेरी गर्लफ्रेंड चूसने लगी थी।
लंड चुसवाने से आनंदित होते हुए उस ड्राईवर की आँखें बंद हो गई थीं.. और वो लंड चुसाई का मजा ले रहा था- उम्म्ह… अहह… हय… याह…

थोड़ी देर में उसने मेरी गर्लफ्रेंड का सर ज़ोर से पकड़ लिया और अपना लंड ज़ोर-ज़ोर से उसके मुँह में अन्दर-बाहर करने लगा।
मेरी गर्लफ्रेंड को तो होश ही नहीं रह गया था.. वो बस उस बुड्ढे के कहने पर लंड चूसे जा रही थी। उधर ड्राईवर भी मेरी गर्लफ्रेंड के मुँह में अपने काले लंड से ज़ोर से ठोकर मारते मुँह चोद रहा था।

कुछ देर और फिर उसने अपना सारा पानी मेरी गर्लफ्रेंड के सुन्दर से मुँह के अन्दर छोड़ दिया। इस बार मेरी गर्लफ्रेंड ने उसका सारा पानी पी लिया। उसका बहुत अधिक वीर्य निकला था, मेरी गर्लफ्रेंड का पूरा मुँह भर गया था।

यह देख कर.. मैंने भी मुठ मारना शुरू कर दिया।

अब ड्राईवर बोला- क्यूँ, यह सिनेमा देख कर मज़ा आ रहा है क्या? चल तू भी हिलाता रह लंड चुसाई देख कर.. हा हा हा..

तभी उसने एकदम से अपना लंड मेरी गर्लफ्रेंड के मुँह से निकाला और मेरी गर्लफ्रेंड को लेटने को बोला।
मेरी गर्लफ्रेंड ज़मीन पर लेट गई और वो बुड्डा मेरी गर्लफ्रेंड के ऊपर चढ़ गया, मेरी गर्लफ्रेंड के ऊपर एक गंदा आदमी देख कर मेरी पिचकारी छूट गई।

ड्राईवर हँस कर बोला- क्या हुआ.. झड़ गए.. कोई बात नहीं अभी तो टाइम है.. दुबारा खड़ा कर ले।
यह बोल कर वो काला बुड्डा मेरी गर्लफ्रेंड के ऊपर लेट कर उसे किस करने की कोशिश करने लगा, मेरी गर्लफ्रेंड इधर-उधर मुँह करके उसकी चुम्मी से बचने का प्रयास कर रही थी।

तभी उस बुड्ढे ने मुझे उसका लंड हाथ में पकड़ा कर लंड को मेरी गर्लफ्रेंड की नंगी चूत पर रखने को कहा। मैंने गर्लफ्रेंड की चूत में उसका लंड रगड़ना शुरू कर दिया, मेरी गर्लफ्रेंड तो पागल हो गई थी, कुछ ही देर में बुड्डे का लंड खड़ा हो गया और उसने लंड पर छतरी चढ़ा ली।

अब बुड्ढे ने फिर से अपना कंडोम वाला लंड मेरी गर्लफ्रेंड की चूत के छेद पर टिका दिया और धीरे से अपना टोपा मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में घुसा दिया।

उसने मेरी गर्लफ्रेंड के हाथ ऊपर करके पकड़े हुए थे जैसे कि वो मेरी गर्लफ्रेंड से जबरदस्ती करने की कोशिश कर रहा हो।

मेरी गर्लफ्रेंड चूत में लंड लेकर अब वो मस्त हो गई थी और एक सड़क छाप आदमी के साथ उसके लंड से अपनी चूत की खुजली मिटवाने का मजा ले रही थी।
उस ड्राईवर ने अब अपना पूरा लंड मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में जड़ तक घुसा दिया था और धीरे-धीरे अन्दर-बाहर करने लगा।
चूत चोदने के साथ ही ड्राईवर मेरी गर्लफ्रेंड के मम्मे चूस रहा था। उसने अब अपनी स्पीड तेज़ कर दी और लंड को ज़ोरों से चूत में अन्दर-बाहर करने लगा।

कुछ ही देर में चूत के रस ने मेरी गर्लफ्रेंड को उस बुड्ढे की आँख से आँख मिला कर चुदवाने पर मजबूर कर दिया।

थोड़ी देर में वो ट्रक ड्राइवर झड़ गया और थक कर मेरी गर्लफ्रेंड के ऊपर ही लेट गया, उसका लंड अभी भी चूत के अन्दर ही था फिर कुछ देर में उसका लंड बाहर निकल आया।

उसके बाद उसने हमारी गाड़ी ठीक कर दी और हम वहाँ से दो घंटे बाद चले आए।

मेरी गर्लफ्रेंड की सड़क पर चूत चुदाई की कहानी पर कमेंट्स और अपनी राय मेरी मेल पर भेजिएगा।
[email protected]