जूही और आरोही की चूत की खुजली-20

पिंकी सेन
हैलो दोस्तो, मज़ा आ रहा है न कहानी में..
आज आपको यह भाग बड़ा पेश कर रही हूँ क्योंकि अधूरा भाग आपको समझ नहीं आता और दोस्तो, आपके मेल से पता चल रहा है कि आपको कहानी कितनी पसन्द आ रही है उम्मीद है, आगे भी आपका ऐसे ही मनोरंजन करती रहूँगी तो अब आप इस भाग का आनन्द लीजिए।
अब तक अपने पढ़ा…
रेहान अपने हाथों से जूही को बीयर पिला कर मदहोश कर देता है और राहुल को पावर की गोली दे देता है ताकि ज़्यादा टाइम तक वो आरोही को चोद सके। डांस के बाद रेहान जूही को और राहुल आरोही को कमरे में ले जाता है, जहाँ राहुल और आरोही अच्छे से चुदाई कर के बेड पर लेट जाते हैं।
अब आगे….
दोनों एक-दूसरे के पास लेटे हुए मुस्कुरा रहे थे जैसे कोई किला फतह करके आए हों।
आरोही- क्या देख रहे हो भाई…!
राहुल- तुम्हें देख रहा हूँ न… कल तक तो में खेल-खेल में तुम्हारे मम्मों को टच करता था। लौड़ा चूत पर रगड़ता था और आज देखो तुम मेरे सामने नंगी पड़ी हो, जब चाहूँ मम्मों को दबा दूँ.. चूत चाट लूँ.. चुदाई कर दूँ.. है ना…!
आरोही- हाँ भाई सही कहा आपने.. आप जब खेल के समय ये सब करते थे न..तो चूत एकदम गीली हो जाती थी। आपको पता है मैं और जूही सेक्सी वीडियो देखते थे और सोचते थे कि कब हमको भी लौड़ा मिलेगा। अब देखो दोनों बहनें एक साथ चुद रही हैं।
राहुल- अरे जूही से याद आया… चलो उसको देख कर आते हैं क्या हाल है उसके.. रेहान में बहुत पावर है.. वो पक्का अभी तक चोद रहा होगा…!
दोनों जल्दी से खड़े हुए और बिना अंडरगारमेंट के कपड़े पहन कर रेहान के रूम की तरफ गए।
राहुल- अन्दर से तो कोई आवाज़ नहीं आ रही क्या बात है, जूही की सिसकारियाँ तो सुनाई देनी चाहिए ना..!
आरोही कुछ नहीं बोली और दरवाजा खटखटाया, अन्दर से रेहान की आवाज़ आई- बस दो मिनट..!
आरोही- ओके… पर जल्दी खोलो हमें जूही को देखना है।
कुछ मिनट बाद दरवाजा खुलता है। रेहान ने तौलिया बाँधा हुआ था और जूही बेड पर पड़ी सिसक रही थी। उसकी आँखों में आँसू थे और बेड पर खून ही खून था।
यह नजारा देख कर राहुल की तो सांस अटक गई। आरोही भाग कर जूही के पास गई और उसका सर अपनी गोद में रख लिया।
जूही की आँखों से लगातार आँसू गिरना जारी थे, पर वो कुछ बोल नहीं रही थी।
राहुल- ओ माई गॉड… यार ये क्या कर दिया तुमने इतना खून…!
रेहान- टेंशन मत लो यार… मुबारक हो जूही सील पैक थी.. किसी से चुदी हुई नहीं थी। इसका मुहूर्त मैंने ही किया है.. थैंक्स यार ऐसी कच्ची कली को तोड़ने का मौका देकर तूने मुझे अपना कायल बना लिया है।
राहुल- यार इसे हुआ क्या है.. ये रो क्यों रही है और कुछ बोलती क्यों नहीं?
रेहान- अरे कुछ नहीं हुआ है यार.. थोड़ा दर्द है अभी ठीक हो जाएगी। तुम दोनों जाओ एंजाय करो यार…!
आरोही- लेकिन रेहान जी आप इसको बाथरूम तक तो लेकर जाओ पूरा खून ही खून हो गया है।
रेहान- यार तुम तो ऐसे बोल रही हो जैसे मुझे कुछ पता नहीं है तुम जाओ मैं सब संभाल लूँगा…!
जूही कुछ बोल तो नहीं पा रही थी, पर कोशिश करके वो बोली- द दीदी आप जाओ.. आ..हह.. रेहान की बात मानो आ आ एंजाय करो आ मैं ठीक हूँ आह..!
राहुल- लेकिन जूही तुम्हें दर्द हो रहा होगा यार रेहान तुम भी ना क्या हाल बना दिया इसका ऐसे कोई करता है क्या…!
रेहान- अरे यार अब तुमको कैसे समझाऊँ पहली बार में ऐसा होता है। ये ठीक है कुछ नहीं हुआ इसको.. तुम लोग जाओ.. थोड़ी देर में यह बिल्कुल ठीक हो जाएगी। मैं खुद तुमको बुला लूँगा और हम चारों यहीं एक साथ चुदाई करेंगे.. अभी तुम जाओ…!
जूही- आ हा भाई आ आप जाओ आ मैं ठीक हू आ.ह..!
जूही के कहने पर वो दोनों वहाँ से चले गए। आरोही तो जानती थी ये सब साधारण बात है। उसकी भी यही हालत हुई थी।
दोनों वापस अपने रूम में चले आए।
दोस्तो, आप सोच रहे होंगे इन पाँच मिनट में ऐसा क्या हुआ होगा, वो आदमी कौन था जो आया था, तो आप टेंशन ना लो, मैं बताती हूँ चलो वापस पीछे चलते हैं।
मैं पीछे की कुछ लाइन वापस लिख रही हूँ ताकि आपको अच्छे से समझ आ जाए कि क्या हुआ था ओके..!
रेहान तो पागल हो गया था ऐसी जवानी पाकर जूही के होंठों का रस पीने के बाद अब वो निप्पल को चूसने लगा था। दूसरे निप्पल को चुटकी में लेकर दबा रहा था।
जूही- आ आ रोनू उफ्फ मज़ा आ रहा है तुम बहुत आ अच्छा चूस रहे हो उफ्फ आ आ.
दोस्तों रेहान निप्पल चूसने में बिज़ी था तभी दरवाजे पे नॉक होती है और रेहान जल्दी से उठ कर दरवाजे खोल देता है। एक आदमी अन्दर आ जाता है जूही तो नशे में  थी। उसे कहाँ होश था कि कौन आया है। रेहान ने दरवाजे बन्द कर दिया और वो आदमी अन्दर आ कर खड़ा जूही को देखने लगता है।
रेहान- यार सचिन क्या बात है, यहा क्यों आ गए…!
सचिन- अरे यार क्या बताऊँ मुझ से रहा नहीं गया.. क्या सेक्सी आइटम है यार..! इसकी चुदाई का तो वीडियो एकदम करीब से बनाऊँगा देख मैं कैमरा साथ लाया हूँ..!
रेहान- अरे इतने कैमरे तो लगे हैं फिर ये क्यों…!
सचिन- हाँ पता है, पर इसकी चूत पर जो तिल है उसको ज़ूम करके लूँगा तो मज़ा नहीं आएगा इसलिए नज़दीक से लूँगा.. यार तू चालू रख अपना प्रोग्राम..!
जूही- उहह रोनू कहाँ चले गए आ आओ ना आ मेरे जिस्म में आग लग रही है आ जाओ ना..!
सचिन- जाओ यार, साली खुद बुला रही है कि आओ मुझे चोदो.. जाओ भाई.. देर क्यों करते हो.. आप कहो तो मैं चला जाऊँ क्या…!
रेहान- हे अपनी हद में रहो.. वक़्त आने पर तुम भी मज़े ले लेना.. ओके अब कैमरा चालू करके उसके सेक्सी पोज़ ले लो.. डरो नहीं नशे में है। उसको कुछ पता नहीं चलेगा कि इस कमरे में मेरे अलावा भी कोई है। जाओ लेलो पोज़…!
सचिन करीब जाकर जूही की वीडियो बनाने लगा, ज़्यादातर वो चूत का पोज़ ले रहा था और अपने हाथ से छू कर मज़ा भी ले रहा था।
जूही- उई उफ्फ मत तड़पाओ आ जाओ ना रोनू आ.हह..!
रेहान बेड पर आ जाता है और सचिन को इशारा करके पीछे कर देता है।
जूही- आ..हह.. रोनू कहाँ हो मुझे नींद आ रही है। आ जाओ ना…!
रेहान दोबारा जूही के निप्पल को चूसने लगता है और अपना लौड़ा उसकी चूत पर रगड़ने लगता है।
जूही- आ आ उफ्फ मज़ा आ रहा है.. तुम आ कितने अच्छे हो आ उई…!
पाँच मिनट तक रेहान मम्मों के मज़े लेता रहा उसके बाद वो उल्टा होकर जूही पर लेट गया और अपना लौड़ा उसके मुँह में डाल दिया। जूही को यह अहसास हुआ तो आँखें बन्द किए हुए ही वो लौड़ा चूसने लगी और रेहान उसकी चूत चाटने लगा।
काफ़ी देर तक रेहान चूत चाटता रहा और अपनी ऊँगली से उसे खोलने की कोशिश करता रहा। जब रेहान चूत में ऊँगली डालता तो जूही दर्द के कारण “उउउउउउ” करती और सचिन पोज़ को नज़दीक से लेता।
अब रेहान का लौड़ा जवाब दे रहा था। उसको चूत चाहिए थी इसलिए रेहान उठा और जूही के दोनों पैर मोड़ कर साइड में कर दिए उसकी कमर के नीचे तकिया लगाया, जिससे उसकी चूत ऊपर उठ गई।
जूही- आ आ..हह.. रोनू कितना मज़ा आ रहा था उफ्फ चाटो ना.. मेरी चूत को आ आ.हह..!
रेहान ने पास में रखी तेल की शीशी ली और जूही की चूत पर ढेर सारा तेल लगाया और अपनी ऊँगली से अन्दर करने लगा।
जूही- आ उफ्फ रोनू दुखता है.. आ उई आ आ…!
सचिन पास खड़ा चूत का पोज़ ले रहा था और अपने एक हाथ से जूही के मम्मों को भी दबा रहा था। रेहान अपनी ऊँगली से जूही की चूत को चोदने लगा ताकि आयल अच्छे से चूत में समा जाए और लौड़ा फिसल कर अन्दर जाए उसको तकलीफ़ कम हो।
पाँच मिनट तक रेहान ऊँगली से चूत को चोदता रहा जूही की चूत पानी छोड़ रही थी जिससे वो एकदम गीली हो गई थी और तेल ने भी अपना काम कर दिया था।
रेहान ने लौड़े पर भी अच्छे से आयल लगाया और चूत की फाँक खोल कर टोपी अन्दर फंसा दी।
जूही- आआ उउइई रोनू बहुत दर्द हो रहा है आ.हह..!
यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !
सचिन- भाई टोपी फँसाई तो इसका ये हाल है, अब तो भयंकर चीख निकलेगी इसकी…!
रेहान- निकलने दो.. तभी तो लोगों को पता चलेगा कि ये कुँवारी कली है…अच्छे से रिकॉर्ड करना तुम…!
रेहान ने लौड़े पर दबाव बनाया और एक इंच लौड़ा अन्दर घुसा दिया, चूत बहुत टाइट थी अगर तेल ना होता तो लौड़ा छिल जाता या चूत छिल जाती, चूत इतनी टाइट हो रही थी कि लौड़ा घुसते ही उसका दर्द के मारे जूही का बदन अकड़ने लगा नशा उतरने लगा था।
जूही- उई रोनू उफ़फ्फ़ रूको अई बहुत दर्द हो रहा है, अई आह उ प्लीज़ रूको आ धीरे से आ आ.हह..!
रेहान- मेरी जान अभी सील टूटी नहीं है अब दाँत भींच लो और देखो कैसे तुम्हें कली से फूल बनाता हूँ…!
इतना कहकर रेहान ने कमर को पीछे किया और जोरदार धक्का मारा.. 4″ लौड़ा सील तोड़ता हुआ चूत में फँस गया।
रेहान को बहुत ज़्यादा ताक़त लगानी पड़ी थी सील तोड़ने के लिए। कमसिन चूत में आख़िर इतना मोटा लौड़ा गया था, तो ज़ोर तो आना ही था ना…!
जूही- आआआआ आआआआ मुम्मय्ययययई मार गई आआआआअ…!
दिल दहला देने वाली चीखें कमरे में गूंजने लगीं। सचिन से यह देखा नहीं गया तो उसने उसके होंठों पर हाथ रख दिए।
रेहान- सचिन.. अब निकल लो बेटा.. इसका नशा उतर गया है जल्दी करो…!
सचिन चुपचाप दरवाजे खोल कर निकल गया दरअसल मैं आपको बता दूँ सचिन एक 25 साल का हैण्डसम लड़का है और यह कौन है रेहान को कैसे जानता है ये सब वक्त आने पर आप जान जाओगे।
रेहान ने जूही के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनको चूसने लगा।
दर्द के मारे जूही का सारा नशा उतर गया था।
रेहान उसी पोज़ में लेटा रहा, उसका लौड़ा चूत में फँसा हुआ था और उसे अहसास हो रहा था कि जूही की चूत से खून रिसने लगा है।
वो बस जूही के होंठों को चूसने में लगा हुआ था और जूही रोए जा रही थी। उसका दम घुटने लगा था। तब उसने हाथ से रेहान को हटाना चाहा, मगर रेहान कहाँ हटने वाला था..!
थोड़ी देर बाद जब जूही ढीली पड़ी तो रेहान ने अपने होंठ हटाए।
जूही- अया ह आह आ रोनू प्लीज़ मेरी जान निकल जाएगी आह.. उठ जाओ न…आ आज के लिए बस इतना काफ़ी है आह.. प्लीज़ रोनू आ मुझे बहुत दर्द हो रहा  है आहह..!
रेहान- सॉरी जान मैं जानता हूँ दर्द बहुत ज़्यादा है, पर पहली बार तो सब को सहना पड़ता है.. तुम बस आज बर्दाश्त कर लो फिर सब ठीक हो जाएगा। आरोही को देखो दो ही दिन में उसकी चूत को ऐसा घिसा कि आज राहुल से मज़े लेकर चुद रही है।
जूही- आ मई आ ज ज्जानती हूँ एमेम मैं पर दर्द बहुत हो रहा है आ..हह…..!
रेहान- कोई बात नहीं मैं हिलूँगा नहीं.. जब तक तुमको सुकून ना मिले अब कैसा लग रहा है.. दर्द कम हुआ या नहीं…!
जूही- आ आ हा थोड़ा सा कम हुआ.. आ पर आ..हह….!
रेहान- अब मैं धीरे-धीरे लंड को आगे-पीछे करता हूँ ताकि जितना गया है उसको चूत में एडजस्ट कर दूँ.. बाद में तुमको मज़ा आएगा…!
जूही आँखों से ‘हाँ’ का इशारा कर देती है।
अब रेहान धीरे-धीरे लंड को हिलाने लगता है और जूही की जान निकलने लगती है। उसकी चूत में बेन्तहा दर्द होने लगता है। वो रोती रहती है।
रेहान- आ..हह.. सेक्सी क्या टाइट चूत है.. यार बहुत ताक़त लगानी पड़ रही है..उफ्फ अब तो पूरा लौड़ा जाएगा तभी कुछ मज़ा आएगा जान.. अब मुझ से बर्दाश्त नहीं हो रहा.. मैं डाल रहा हूँ तुम प्लीज़ एक बार बर्दाश्त कर लो बस…!
जूही- अई आ इतना दर्द आ क्या कम है जो अब और सहूँ आ डाल दो रोनू आ..हह.. आपकी ख़ुशी के लिए आ..हह.. सह लूँगी उफ्फ आ आ आ…!
रेहान जूही की गरदन पर चुम्बन करने लगा और उसके होंठों को चूसने लगा, अपने लौड़े को पीछे खींच कर एक तगड़ा धक्का मारा।
7″ लौड़ा चूत में घुस गया पर रुक गया जैसे आगे कोई दीवार आ गई हो..
रेहान ने दोबारा लौड़ा बाह्र निकाल कर ज़ोर से झटका मारा तो फिर लौड़ा वहीं जाकर टकराया, पर उसको बर्दाश्त नहीं हुआ और वो बार-बार झटके मारने लगा।
पाँच बार के प्रयास के बाद आख़िर लौड़े ने अपनी जगह बना ही ली और पूरा का पूरा चूत में समा गया।
जूही का मुँह बन्द था, वरना पूरा फार्म सर पर उठा लेती वो.. और दर्द की वजह से उसकी सांस हलक में अटक गई, उसे चक्कर आने लगे और वो अपनी बहन की तरह बेहोश तो नहीं हुई, पर कुछ बाकी भी ना रहा।
रेहान जानता था जितना जल्दी शॉट मारेगा उतनी ही जल्दी जूही की चूत का दर्द कम होगा।
जूही की आँखों से आँसू और चूत से खून लगातार जारी था।
पंद्रह मिनट तक रेहान ताबड़तोड़ लौड़ा पेलता रहा।
दोस्तो, सच कहूँ जूही को दर्द इतना था कि उसको ओर्गज्म का अहसास ही नहीं हो रहा था, पर वो दो बार झड़ चुकी थी।
अब उसके शरीर में जान ना के बराबर थी।
रेहान ने उसके मुँह को आज़ाद किया और लौड़े की धक्कमपेल को रोका।
जूही- अहह र र रोनू आ मु मु मुझे सांस आ लेने में आ..हह.. तकलीफ़ ह हो रही है अई बदन में बहुत दर्द ह हो रहा है…!
रेहान- जान तुम बहुत पावरफुल गर्ल हो इतने दर्द के बाद भी होश में हो…आरोही तो बेहोश हो गई थी आई प्राउड यू माई लिटल गर्ल.. अब सब ठीक है लौड़ा पूरा अन्दर जा चुका है… अब तुम मज़ा लेने के लिए तैयार हो जाओ… पर एक-दो बार और दर्द होगा.. फिर अपनी चूत में चाहे जितने लौड़े लेना हा हा हा हा..!
रेहान को हँसता देख कर जूही भी मुस्कुरा दी पर उसकी आँखों में अब भी आँसू जारी थे।
रेहान- जान बस थोड़ी देर और सह लो आ..हह.. मेरा लौड़ा चूत में जकड़ा हुआ है उफ्फ…!
रेहान फिर से शॉट लगाने लगा, जूही जल बिन मछली की तरह तड़पती रही.. चीखती रही.. पर रेहान अपने बम्बू को आगे-पीछे करता रहा।
जूही- एयाया आआआ ह ओई मम्ममी आआ मारी आ..आ..हह.. प्लीज़ अई अई…!
रेहान.- उहह उहह उहह बस आ..हह.. थोड़ी देर और आ आह उः उहह आआआ मेरा पानी अई आ रहा है लो रानी आ..हह…..!
रेहान के लौड़े ने पानी की पिचकारी चूत में मारी जिसकी गर्माहट से जूही का भी पानी निकल गया।
यह उसका तीसरी बार था, पर अबकी बार उसको चूत में गुदगुदी हुई और झड़ने का मज़ा आया।
जूही- आ..हह.. आह उफ़फ्फ़ उईईईई आ..हह.. मेरा भी निकल आ..हह.. रहा है…!
जूही की चूत पानी से भर गई थी।
रेहान उसके ऊपर से उठा तो ‘पक्क’ की आवाज़ से लौड़ा बाहर आया और जूही एक बार ज़ोर से चीखी और उसकी आँखों में दोबारा आँसू आ गए।
रेहान खड़ा हुआ और बेड का हाल देखा खून से लाल था और उसका लौड़ा भी खून और वीर्य से लथपथ हो रहा था उसने चादर से अपना लौड़ा साफ किया और कैमरा के पास जाकर बेड को ज़ूम करके पोज़ लिया। उसने नकाब उतार कर रख दिया था।
जूही- उफ्फ ओ माई गॉड आ..हह.. इतना दर्द आ..हह.. मैंने सहा कैसे उई मैं मरी क्यों नहीं.. रोनू आ और ये नकाब क्यों लगाया था उफ्फ आ…!
रेहान ने कैमरा पर कैप लगा दिया पर बन्द नहीं किया। तभी फ़ोन की घंटी बजी, रेहान ने फ़ोन उठाया।
रेहान- हैलो हाँ कहो.. क्या हुआ…!
सचिन- वो दोनों तुम्हारे रूम की ओर आ रहे हैं।
रेहान- ओके बाय।
रेहान ने पास पड़ा तौलिया लपेट लिया।
रेहान- जान, राहुल और आरोही आ रहे है तेरा हाल-चाल पूछने उन्हें वापस भेज देना ओके.. आगे का प्रोग्राम मैं तुम्हें बाद में बताता हूँ ओके माई स्वीट जान…!
जूही- आ..हह…. ओके अई दर्द से जान निकल रही है उफ्फ ये फ़ोन किसका था आ..हह.. आपको कैसे पता आ वो आ रहे है…!
तभी दरवाजे पर दस्तक हुई।
रेहान ने बेड के करीब आकर कहा- बस दो मिनट रूको, सब बाद में बताऊँगा.. पहले उनको वापस भेजो ओके…!
दोस्तो, आगे क्या हुआ वो तो आप जानते ही हो कि जूही का हाल जानने ये आरोही और राहुल आए हैं तो चलो अब राहुल और आरोही के पास चलते हैं। वो वापस अपने रूम की ओर जा रहे हैं और रास्ते में उनकी बातचीत हो रही है।
राहुल- आरोही यार मुझे जूही के लिए बहुत चिंता हो रही है कितना खून निकला उसका.. उफ्फ मेरी तो हालत खराब हो गई देख कर…!
आरोही- अरे भाई जूही को कुछ नहीं होगा.. आप रूम में चलो मैं सब समझाती हूँ आपको…!
ओके फ्रेंड्स, आज का भाग यहीं तक..
अब आपके कुछ सवालों के जवाब तो शायद मिल गए होंगे या फिर कोई नया सवाल खड़ा हो गया कि आख़िर यह सचिन कौन है? अचानक कहाँ से आ गया। जूही ने नकाब देख लिया है और क्या उसने सचिन को भी देखा है??
अब आगे क्या होगा??
जानने के लिए अगला भाग पढ़िए जो जल्द ही प्रकाशित होगा और आप भी जल्दी से अपनी राय बताएँ कि कहानी कैसी लग रही है?? कोई कमी है.. तो आप मेरा मार्गदर्शन कर सकते हो।
मेरी [email protected] पर मेल करके आप कहानी से जुड़ा कोई भी सवाल पूछ सकते हो।
तो अब जल्दी से मेल कीजिए और आज के भाग के बारे में अपनी राय बताइए।
बाय फ्रेंड्स…

Leave a Reply