कामसूत्र के खजुराहो में मौजां ही मौजां-2

(Kamasutra Khajuraho Me Maujan Hi Maujan- Part 2)

This story is part of a series:

जीजा साली की गांड चूत चुदाई की कहानी में आपने अब तक पढ़ा कि दो बहनें अपने पतियों के साथ खजुराहो घूमने गई।

शाम 5 बजे आँख खुली तो सुनील ने अजय को फोन करके अपने कमरे में बुलाया नाश्ते के लिए और ये भी कहा कि जैसे हो, वैसे ही आ जाना!
अजय बोला- ऐसे आना तो मुश्किल है क्योंकि कुछ भी नहीं पहना है।

फोन रिंकी ने ले लिया, बोली- फोन रीमा को दो जरा?
रिंकी ने रीमा से कहा कि वो केवल फ्रॉक डाल कर आ रही है नीचे कुछ नहीं… और वो भी ऐसे ही रहे।
अजय और सुनील केवल शॉर्ट्स में ही रहें।

जैसे ही रिंकी और अजय सुनील के कमरे में घुस रहे थे, सामने रूम का दरवाजा खुला और उसमें से बाकी दोनों जोड़े अंदर बैठे दिखाई दिए।
कुमुद ने रिंकी को हाय बोला और आँख मारी।

रिंकी ने अंदर आकर कमरा लॉक किया। रिंकी रीना के पास बेड पर बैठी और अजय और सुनील सामने चेयर्स पर!
सुनील ने पनीर कटलेट्स और पकोड़े मंगा रखे थे। चाय रूम में ही इलेक्ट्रिक केटल में बननी थी।

नंगी चूत

सुनील का लंड तो टॉवल में तन गया था, असल में रिंकी के मम्मे साफ़ नजर आ रहे थे और रिंकी जैसे ही बेड पर बैठी उसकी और रीमा की चूत भी अजय और सुनील को नजर आ रही थी।
चलो इसी सब के लिए तो आये थे यहाँ, ये सोच कर चारों मजे ले रहे थे।

चाय रीमा ने बनाई और सर्व की। कमरे में दो ही चेयर्स थीं, तो रिंकी तो दौड़ कर अजय की गोदी में बैठ गई पर रीमा संकोच में बेड पैर बैठी रही।
अब सुनील ने उसको भी गोदी में बैठने को कहा, पर रीमा को संकोच हो रहा था, उसका कारण भी था कि सुनील का लंड अब टॉवल से बहार झांकने लगा था।

रिंकी रीमा से बोली- अगर तुझे जीजू की गोदी में बैठने में शर्म आ रही है तो तू अपने जीजू की गोदी में बैठ ले, मैं अपने जीजू की गोदी में बैठ जाती हूँ!
और ऐसा कहकर वो बिना रीमा के जवाब का इन्तजार किये खड़ी हुई तो रीमा फटाफट सुनील के लंड के ऊपर बैठ गई, उसे मालूम था कि अगर इस वक़्त उसने देर की तो थोड़ी देर में सुनील का लंड रिंकी की चूत में होगा।

अब नाश्ता वाश्ता तो क्या होता, बस चुदाई का माहौल बन चुका था।
तभी इण्टरकॉम बजा।

रिंकी ने उठाया, कुमुद थी, उसने कहा कि रात को बाहर ड्रिंक्स और कैंपफायर है।
फोन आने से जो माहौल गरमाया था वो कुछ ठंडा पड़ा, सबने नाश्ता निबटाया, सब अब बेड पैर बैठ गए।

सुनील ने तो रीमा के मम्मे पकड़ ही लिए थे और वो उन्हें बाहर निकाल ही रहा था कि रीमा ने रोक दिया।
रिंकी ने अपने होंठ अजय से चिपका दिए थे, उन्हें देखकर सुनील और रीमा भी चिपट गए। अब चारों एक दूसरे से चिपटे हुए बेड पैर लेटे थे।
चुदाई का माहौल बन गया था, तभी अजय रिंकी को लेकर बाहर जाने लगा और उनके जाते ही कमरा बंद करके सुनील रीमा पर झपट पड़ा और उसकी फ्रॉक उतर कर सीधा उसकी चूत में घुस गया ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’

उसने रीमा की टांगों को सर के पीछे तक उठाया और लंड की धकधक पेलमपेली की, रीमा भी उछल उछल कर उसका साथ दे रही थी, उसके मुख से खूब आवाज निकल रहीं थी।

तभी इण्टरकॉम बजा, उधर से रिंकी और अजय की चुदाई की आवाजें आ रहीं थी। रिंकी ने फोन मिला आकर आवाजें सुनने और सुनाने के लिए स्पीकर फोन खोल रखा था, अब दोनों कमरों की आवाजें एक दूसरे को सुनाई दे रहीं थी।

रिंकी तो सबसे ज्यादा चीख रही थी- और जोर से, आज फाड़ दो इसको… सुबह से परेशान कर रखा है इसने।
सुनील तो कह रहा था- क्यों न मानसी और कुमुद को भी बुला लें, सब के सब ग्रुप सेक्स करें।

रात को कैंपफायर में जैम कर डांस हुआ, सबने ड्रिंक्स भी लीं।

रात को 12 बजे कमरे में आये, पहले चारों सुनील के कमरे में आये, वहां से जब अजय और रिंकी जाने लगे तो रीमा ने रिंकी से कहा कि आज रात तू और मैं साथ यहां सोयेंगे और अजय और सुनील तेरे कमरे में सोयेंगे।
यह सुन कर अजय और सुनील बोले- ऐसा नहीं हो सकता!
तब यह तय हुआ कि चलो चारों यहीं सोयेंगे।

अजय और रिंकी फटाफट कपड़े बदलने चले गए और इस बीच रीमा और सुनील ने भी चेंज कर लिया। सुनील और अजय को तो लुंगी और टी शर्ट्स दे गईं और रिंकी और रीमा स्लीवलेस शार्ट फ्रॉक पहनी थी, कमरे की लाइट बहुत मंदी कर दी थी।

एक बेड बार चारों को सोना था। रीमा और रिंकी ने सुनील और अजय से कहा कि तुम लोग बाथरूम में जाओ और हम लोग लाइट बंद कर के बेड पर बैठती हैं, तुम दोनों अंधेरे में आओगे और जो जिसके पास पहुंचेगा, वो उसी के साथ सोयेगा।

वो तो होना ही था अजय रीमा के पास पहुंचा और सुनील रिंकी के पास।
चारों जोर से हंसे, लाइट जला दी गई, अब अजय रीमा से चिपट कर लेटा था और सुनील रिंकी से!
हंसी मजाक चल रहा था पर किसी की हिम्मत नहीं कर रही थी आगे बढ़ने की!

रिंकी बोली- हम यहाँ क्या करने आये हैं? चलो कुछ थ्रिल करते हैं।
उसने एक खाली बोतल बीच बेड पर पट रखी और बोली- हममें से एक इसे घुमायेगा और इसका मुंह जिसकी ओर रुकेगा, घुमाने वाला उसके साथ तीस सेकंड तक जो चाहे करेगा।

सबसे पहले सुनील ने घुमाई तो अजय के सामने रुकी, सुनील ने तुरंत अजय की लुंगी में हाथ डाल दिया।
अजय खूब चीखा- अबे क्या कर रहा है? लग जायेगी!
पर शर्त ऐसी थी कि कुछ नहीं हो सकता था, सब हंस रहे थे।

अब अजय ने घुमाई तो रीमा की ओर रुकी। अजय ने तुरंत रीमा के होंठ से अपने होंठ चिपका दिए।
फ़िर रीमा ने घुमाई तो सुनील पर रुकी, रीमा ने सुनील का लंड निकाल लिया और चूसना शुरू कर दिया।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

अब सुनील ने घुमाई तो फिर अजय पर रुकी, सुनील उठा तो रिंकी ने उसे धक्का दे दिया- हर बार तुम ही लुंगी में हाथ डालोगे क्या, अब के में डालती हूँ।
उसने तो अजय की लुंगी उतार कर फेंक दी, रीमा ने भी बोतल नीचे गिरा दी और लाइट बंद कर दी।

अब अगले दो मिनट में चारों के कपड़े उतर चुके थे और रीमा और रिंकी के मुँह में अजय और सुनील के लंड थे।
सुनील ने रिंकी को 69 पोजीशन में कर लिया।

अब रिंकी की चूत सुनील के मुँह में थी, सुनील का लंड तो रिंकी लोलीपॉप की तरह चूस रही थी, अजय ने हाथ बढ़ा कर उसके मम्मे दबाने शुरू कर दिए।

रीना ने कहा- चलो तुम दोनों पहले रिंकी की बजाओ, मैं दूर से ही मजे लूंगी।
अब अजय ने रिंकी के मुँह में अपना लंड दे दिया और रीना को पास खींच कर उसके मम्मे मुँह में ले लिए।

उधर सुनील ने रिंकी की टांगों को चौड़ाया और अपना लंड पूरा पेल दिया।
अब सुनील रिंकी की टांगों को पकड़ कर फुल स्पीड में रिंकी की चुदाई करने लगा। अजय ने भी रीमा को कुतिया बनाया और पीछे से उसकी चूत में अपना लंड कर दिया।

रीमा आगे होकर रिंकी की चूत के पास अपना मुँह ले आई और कभी रिंकी की चूत पर कभी सुनील के लंड पर अपनी जीभ लगाने लगी। सुनील ने भी एक हाथ से उसके मम्मे दबाने शुरू किये।

अजय ने अपना लंड रीमा की चूत से निकाला तो रीमा उठी और रिंकी के मुंह के ऊपर अपनी चूत ले आई, वो घुटनों पैर बैठ गई थी। रिंकी ने उसकी चूत को मुँह में ले लिया।

रीमा की चूत चूंकि अजय चोद चुका था तो उसमें गीलापन और लंड का स्वाद था। रिंकी पूरे मजे लेकर चूस रही थी रीमा की चूत और रीमा और सुनील के होंठ मिल गए थे।

साली की गांड में लंड

अब अजय बेड पर पीठ के बल लेटा और रीमा को अपने लंड पर बिठाया। उसने अपने लंड पर वेसलीन लगा ली थी और थोड़ी वेसलीन उसकी उँगलियों में थी जो उसने रीमा की गांड में लगा दी।

रीमा ने गांड कभी नहीं मरवाई थी, इसलिए वो चीखी- नहीं। मेरी गांड में मत डालना, बहुत दर्द होगा!

पर यहाँ कौन किसकी सुन रहा था, कुछ तो चुदाई का आलम और कुछ वेसलीन का चिकनापन, उसकी गांड में अजय का लंड आराम से चला गया, वो दर्द या डर से एक बार तो चीखी पर सुनील ने अपने होंठ उसके होठों से मिलाकर उसकी चीख बंद कर दी।

अब अजय उसकी गांड मार रहा था, सुनील ने अपने पैर रीमा के इधर उधर रखे और अपना लंड उसकी चूत में घुसेड़ दिया।
अब रीमा का मजा दोगुना हो गया था, मजा दोगुना तो दर्द भी दोगुना!
पर दर्द से मजा बड़ा होता है, उसके दोनों छेदों में दो लंड थे और चुदाई जोरों पर थी।

रिंकी ने अपने होंठ उसके होठों से मिला दिए थे। दो मिनट की पेला पेली के बाद अब रिंकी ने रीमा की जगह ली और अजय ने सुनील की, यानी रिंकी की गांड में अब सुनील था और चूत में अजय का!
रीमा रिंकी के नीचे दोनों लंडों को अपनी जीभ से सहला रही थी।

अब फाइनल राउंड की तैयारी हुई और दोनों को नीचे लिटाकर और उनकी टांगों को चौड़ा करके सुनील और अजय ने फाइनल राउंड की चुदाई की और सारा माल उनकी चूतों में डाल दिया।

सब थक चुके थे तो इसे ही निढाल होकर नंगे ही सो गए।

चूत चुदाई की कहानी जारी रहेगी।
enjoysunny6969gmail.com

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top