नग्न दिखाने की चाहत

(Nagan Dikhane Ki Chahat)

अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को मेरा यानि के अरुण का नमस्कार,
आज बहुत अंतराल के बाद में फिर से हाज़िर हूँ अपने पाठक पाठिकाओं के लिए कुछ हट के लिख रहा हूँ,

मेरा पिछ्ला सेक्स लेख
नारी की सेवा दिलाएगी मेवा
को सबने बहुत पसन्द किया उसके लिए आभारी हूँ.

जैसा कि आप सब को पता है कि मैं कामुक कहानियाँ लिखने के अलावा अन्तर्वासना के पाठक पाठिकाओं की सेक्स जिज्ञासा, सेक्स समस्याएं एवम् सेक्स सलाह भी मेल या वाट्सएप्प पे देता हूँ

और इस लेख को लिखने का आईडिया भी आप में से कुछ लोगों से, जो मुझे मेल करते हैं, उन से ही आया और तो और मैं खुद इस फेंटेंसी से उत्तेजना फील करता हूँ.
मैं अपना वो अनुभव भी इस लेख के अंत में आप लोगों से शेयर करूँगा.

जैसा मैंने शीर्षक दिया है ‘नग्न दिखाने की चाहत’ आजकल यह फेंटसी सब से ज्यादा चल रही है. एक समय था जब लोग यौन सम्बन्ध, नग्नता, प्रेमालाप के दौरान किये जाने वाले आलिंगन चुम्बन सब कुछ एकांत में या छुप के किया करते थे लेकिन अब नयी पीढ़ी में ये सब कुछ बदल रहा है सभी लोग तो नहीं लेकिन कुछ लोग यह सब खुलेआम करने लगे है, शेयर करने लगे हैं जो कि मैंने ऊपर लिखा है. और इसका एक सबसे बड़ा कारण हुआ है मोबाइल कैमरा की क्रांति की वजह से और खुद के खींचे हुए फोटो और वीडियो कैमरे से की हुयी रेकॉर्डिंग को अब प्रिंट या लोड करवाने के लिए फोटो स्टूडियोज नहीं जाना पड़ता, खुद ही फोटो और वीडियो बनाओ और तुरंत ही देख लो और दूसरों को भी दिखा दो.

पाठकों को याद होगा कि मैंने अन्तर्वासना पर युवक युवतियों से उन की सेक्स फेंटेसी से सम्बंधित एक सेक्स आर्टिकल लिखा था
यौन परिकल्पना सेक्स फ़ैंटेसी
लड़कों की यौन परिकल्पना सेक्स फैन्टसी
जो तीन भाग में प्रकाशित हुआ था, उस में बहुत सी लड़कियों ने ये लिखा था कि जब भी वो बाथरूम में पूर्ण निर्वस्त्र स्नान करती हैं या कपड़े बदलते समय अर्धनग्न या पूर्ण नग्न होती हैं तब यह मन करता है कि काश कोई अज़नबी या उनका चहेता उन्हें इस हाल में देखे और ये फेंटेसी उन्हें इतनी ज्यादा रोमांचित करती है कि उन की चूत भी गीली हो जाती है.

और अब मोबाइल और नेट पे उपलब्ध विभिन्न वेबसाइट जैसे यू ट्यूब वगैरा की वजह से ये सब संभव भी होता जा रहा है अन्तर्वासना के पाठक भी ऐसी साइट देखते होंगे तो उन्होंने ऐसे फोटो और वीडियो देखे होंगे जिस में लड़किया कैमरे के आगे नग्न हो रही हों, नहा रही हों, या फिर नग्न अश्लील डांस कर रही हों.
इस में आने वाले अश्लील कमेंट्स भी उन्हें रोमांचित करते हैं. और अब नेट पे ऐसी देसी वेब साइटस के भरमार हो गयी है जहां लोग अपने खुद के वीडियो और फोटो अपलोड कर रहे हैं. लड़कियाँ हस्त मैथुन को रेकॉर्ड कर रही हैं, नेट पर लोड कर रही हैं, हॉस्टल गर्ल समूह में अर्धनग्न या पूर्ण नग्न होकर डांस या मस्ती के वीडियो डाल रही है वो भी फुल गालियों के साथ!

इसी तरह से लड़के भी कर रहे हैं लेकिन लड़कियों के जिस्म में जहां सब कुछ दिखाने जैसा होता है उनके उन्नत वक्ष, चिकना सपाट पेट, गहरी नाभि, गदरायी हुयी गांड, चिकनी या फिर झांट से आच्छादित चूत और मस्त फिगर!
लेकिन बेचारे लड़कों को तो भगवान् ने एक ही सेक्स हथियार दिया है और वो है उनका लंड तो वो उस के फोटो और वीडियो अपलोड करते रहते हैं, हस्त मैथुन करते हुए या किसी नग्न हसीना के फोटो पे वीर्य की पिचकारी छोड़ते हुए!

यह तो हुयी अकेले लड़के लड़कियों की फेंटेसी… एक और फेंटेसी जो ज़बरदस्त चल रही है, वो है शादीशुदा कपल्स द्वारा अपनी अपनी पत्नियों के अर्धनग्न, पूर्ण नग्न, और शयनकक्ष में की जाने वाली कामुक उत्तेजक क्रियायों जैसे कि मालिश, बाथरूम में किये जाने वाला नग्न स्नान और तो और सम्भोग की फोटो और रिकार्डिंग भी शेयर कर रहे हैं.

इसके अलावा वीडियो कॉल पे खुद के जैसे दोस्तों के साथ लाइव वीडियो में एक दूसरे की कामुक क्रियाओं को देख और दिखा रहे हैं.
और ये ट्रेंड बहुत ही तेज़ी से बढ़ रहा है आजकल.

और कुछ लोग अपनी पत्नी के बारे में सेक्सी कमेन्ट्स सुनना भी बहुत पसंद करते हैं. मैंने साल पहले अन्तर्वासना पे एक आर्टिकल लिखा था,
दोस्त की अर्धनग्न पत्नी
जिस में मेरे एक अन्तर्वासना के मित्र ने अपनी पत्नी के मादक जिस्म के बहुत फोटोस मुझे मेल किये थे और उसकी वाइफ का कामुक और अश्लील वर्णन मुझे अन्तर्वासना पे लिखने को कहा था, और मैंने ये किया भी था, और उसके बाद मेरे पास ऐसे विचारो वाले कपल्स की लाइन लग गयी, और कुछ लोग तो अपनी पत्नी का जिस्म मुझे लाइव भी दिखाते रहते हैं, और मेरी कही बातों से बहुत उत्तेजना फील करते हैं.

कुछ कपल तो लाइव वीडियो के समय मुझ से पूछते हैं कि अरुण बताइये आज मैं क्या क्या दिखाऊँ और कैसे कैसे दिखाऊँ.
और सच हमेशा से फिल्म से ज्यादा उत्तेजक होता है ये बात तो आप लोगो को भी पता होगी.

कुछ तो चाहते है कि उनकी पत्नी के बारे में निहायत ही अश्लील और गंदी भाषा का भी उपयोग किया जाए, पसंद अपनी अपनी!
बहरहाल ये नग्न दिखने और दिखाने की चाहत बहुत तेज़ी से बढ़ती जा रही है.

आजकल सबको पता है कि सार्वजनिक जगहों पे सी सी टीवी कैमरे लगे रहते हैं, एक रिपोर्ट में आया था कि आजकल के कुछ बिंदास युवा जान बूझ कर सी सी टीवी कैमरे के सामने भी अश्लील हरकतें, चूमा चाटी करते रहते हैं.

आप लोग इस विषय पर अपने अनुभव मुझे मेल करें.

उस से पहले मैं अपने एक ऐसे ही अनुभव से शुरूआत कर रहा हूँ.

अन्तर्वासना के जो पुराने पाठक हैं वो मुझे भली भांति जानते होंगे कि मेरी पत्नी बहुत बेबाक और बिंदास है और मैंने अन्तर्वासना पे अपने लेखन की शुरुआत उस के किस्से लिख कर ही की थी जो मेरे अन्तर्वासना पेज पर अभी भी उपलब्ध है.
मेरी पत्नी सेक्स के मज़े लेना बहुत जानती है और काफी बिंदास और बेबाक भी है.

यह काफी पहले की बात है, मैं अपने एक दोस्त और उसकी पत्नी के साथ माउंट आबू घूमने गया था, तब हमारे बेबी हो चुका था और वो करीब एक साल का होगा. वहां हम लोग नक्की झील के सामने एक ऐसे होटल में रुके जो एक घर में ही बनाया गया था. उस में दो ही कमरे थे और और दोनों कमरों के बाहर एक बड़ी सी बालकोनी थी और उस बालकोनी की तरफ बहुत बड़ी बड़ी खिड़कियाँ थी जहां से नक्की झील और उसके आस पास का विहंगम दृश्य दिखाई देता था.

उस घर वाले ने एक लड़के को रखा हुआ था जो रूम की सफाई भी करता, चाय, दूध, नाश्ता भी लाता और घूमते समय हमारे साथ गाइड बन के भी चला जाता तो उस से अच्छी दोस्ती जैसी हो गयी. मेरी वाइफ की और भी ज्यादा उससे दोस्ती हो गई क्योंकि बेबी की वजह से उसे दूध मंगवाना पड़ता था और वो था भी हंसमुख और साफ़ सुथरा.

और हम दोनों ने ही नोटिस कर लिया था कि वो मेरी वाइफ पे कुछ ज्यादा ही फ़िदा हो रहा था, हर समय उसे देखना, कुछ मंगवाने के लिए पूछना, उसके आस पास रहना!
और मेरी वाइफ जैसा कि आप लोग जानते हो, उसे पराये मर्द से फ़्लर्ट करने में बहुत ही मजा आता है, वो उसके बहुत मजे भी लेती थी, और उसका फायदा भी लेने लगी, वो घूमने के दौरान वाइफ का सामान उठा लेता था, बेबी को गोदी में ले लेता था.
मैं भी नोटिस करता था कि उसकी निगाहें वाइफ पे ही रहती थी.

यहाँ तक कि मैं और मेरी वाइफ भी उसका कामुकता भरा आकर्षण समझ गए. मैं अपनी पत्नी को छेड़ने भी लगा, सोचा कि कुछ मज़े लिए जाए.
फिर हम ने वो शरारत की जो आज के टॉपिक से ताल्लुक रखती है.

हुआ यूँ कि देर रात हम रूम में थे, मुझे खिड़की पे कुछ आहट सी सुनाई दी, मैंने बाहर जा कर देखा तो वही लड़का था जो खिडकी से झाँक रहा था. वो मुझे देख कर सकपका गया.
मैंने उसे अपनी बातों से रिलेक्स किया और सीधे मुद्दे की बात पे आ गया, उसे बोला- तुम्हें अच्छी लगती है वो?
वो बोला- हाँ, मेम साब अच्छी हैं, बहुत ही अच्छी!
मैंने पूछा- क्या क्या अच्छा लगा उसमें?

यह सुन कर वो झेंप गया और बोला- स्वभाव की अच्छी हैं.
मैंने कहा- दिखने में नहीं है क्या?
वो तपाक से बोला- बहुत सुन्दर!
मैंने फिर छेड़ा- क्या क्या सुन्दर है उसमें?
वो चुप हो गया.

मैंने फिर पूछा.
तो बोला- सब कुछ!
मैं बोला- झूठ बोल रहे हो तुम!
इस बार वो तुनक कर बोला- नहीं… मेम साब हैं बहुत सुंदर पूरी की पूरी!
मैंने कहा- बिना देखे कैसे बोल रहे हो तुम? इसका मतलब तुमने देखा है मेम साब को छुप छुप के पूरा?

यह सुन उसका चेहरा सन्न रह गया और वो डर के बोला- नहीं नहीं साब, कुछ नहीं देखा. सच बोल रहा हूँ!

मैंने जो अगली बात बोली उसे सुन के उस के होश ही उड़ गए- देखने का मन है अपनी प्यारी मेम को?
वो घबरा सा गया और जाने लगा, मैंने उसे पकड़ के रोका- रुको यार, कहां जा रहे हो? मेम पसंद है न तुम्हें?
वो फिर बोला- हाँ बहुत!
“तो फिर मना क्यू कर रहे हो? देख लो… देखने में क्या घिसता है किसी का?”

दोस्तो, उसे ये सब बोलते हुए सच में मैं खुद बहुत उत्तेजित हो गया था, मेरा लंड पूरा कड़क हो गया था.
मैंने उस से कहा- तुम यहीं पे रुको, मैं तुम्हें तुम्हारी मेम के दर्शन करवाता हूँ.
उसकी आँखें चमक उठी.

मैं रूम में वापिस आया, मेरी बीवी बेड पे लेटी मोबाइल चला रही थी, हमारी बेबी सो चुकी थी.
मैंने आकर उसे सब कुछ बताया तो वो शरारत से मुस्कुरा दी, बोली- मजा आएगा.

अब मैं खिड़की के पास गया और पर्दा काफी सारा खिसका दिया, वो खिड़की के शीशे के एक दम बाहर ही खड़ा था, बाहर घुप्प अँधेरा था, रूम में रोशनी थी तो इस लिए वो अँधेरे में रह कर भी अंदर के सभी नज़ारे साफ़ साफ़ देख सकता था.

वाइफ नाइटी में थी, मैंने उस पे लेटते हुए उसे अपने आलिंगन में लिया और चेहरे पे चुम्बन लेने लगा. वो कसमसा कर बेड पे पसर सी गयी. अब मैंने उसकी पिंडलियों पे हाथ रख के उसकी नाइटी को ऊपर सरकाना शुरु किया क्योंकि आज की फेंटेसी सेक्स की नहीं बल्कि किसी अज़नबी को नग्नता दिखाने की थी.

उसकी गोरी गोरी, वैक्स की हुई चिकनी टाँगें जांघों तक उजागर हो गई और मैं उन्हें सहलाने लगा, दबाने लगा. वो लड़का बाहर खडा सब कुछ साफ़ साफ़ देख रहा था. कोई मेरी बीवी के अध् नंगे बदन को देख रहा है, यह अहसाह मुझे था और मुझे बहुत उत्तेजित कर रहा था.
और मैं ये सब इस तरह से कर रहा था कि उसे सब कुछ साफ़ दिखाई देता रहे.

अब मैंने मेरे हाथ जांघों के बीच वाली जगह से अपनी पत्नी की चड्डी के अंदर सरका दिए और जम के मसलना, दबाना शुरू किया, वो अपने पैरों को पटकने लगी और उस की आहें निकलने लगी थी.
मैंने नोटिस किया कि उसकी चूत आज पहले से ही गीली हो गयी थी, उसे भी किसी के देखे जाने का अहसास था.

अब मैंने अपनी पत्नी को उठा कर उसकी नाइटी निकाल दी और फिर उसके पीछे बैठ के मैंने उसके हाथ ऊँचे कर दिए और उसकी ब्रा का हुक खोल के उसे निकाल फेंका.
मेरी पत्नी इस स्थिति में थी कि उसके बूब्स वो लड़का बहुत साफ़ देख पा रहा होगा.

अब मैंने उस लड़के के बहन में कामुकता की आग भड़काने के लिए अपनी बीवी के बूब्स को खूब मसला, दबाया, सहलाया, और उछाला. फिर मैंने उस को घोड़ी वाली पोज़िशन में कर दिया, वो भी ऐसे कि उसकी गांड खिड़की की तरफ थी.

अब मैंने अपनी पत्नी के सर को बिस्तर पे टिकवा दिया और गांड को और ऊँचा कर दिया. फिर मैंने उस की चड्डी को उन्नत विशाल गांड से नीचे सरकाना शुरू किया.
यह सब देख के बाहर उस लड़के को भी बेचैनी और आग लग रही थी, इस का अहसास मुझे रूम तक हो रहा था.

फिर मैंने अपनी पत्नी की चड्डी उसकी नंगी टांगों से पूरी निकाल कर खिड़की की तरफ ही उछाल दी.
बाहर से एक सिसकारी की सी अस्पष्ट आवाज आयी, मुझे मज़ा आ रहा था, शायद मेरी वाइफ को भी… क्योंकि वो मेरी किसी भी हरकत का विरोध नहीं कर रही थी.

अब मैंने उसके चिकने मोटे चूतड़ों पर कामुक और अश्लील हरकतें शुरू की, खूब तड़ातड़ चांटे लगाए, दांतों से काटा, गांड की दरार में घुसा के पहले तो उंगली फिराई और फिर अपनी जीभ फिराई, उसके बाद वाइफ को सीधा चित कर के पटक दिया.

उत्तेजना के मारे मेरा बुरा हाल था. अब मैंने अपनी नंग धडंग पत्नी के दोनों हाथ ऊपर कर दिए और दोनों पैर पूरे के पूरे चौड़े कर दिए इस से उसकी चूत पूरी खुल गयी, वो बहुत ही कामुक अवस्था में पसरी पड़ी थी.

मैंने अपनी बीवी को कान में कहा- ऐसे ही रहना, मैं उस के पास हो कर आता हूँ.
उस ने बहुत ही चौंकाने वाली बात मुझे बोली, सुन कर मैं भी सन्न रह गया.
दोस्तो, मैंने पहले भी बताया है कि अत्यधिक उत्तेजना में इंसान बहुत ही ज्यादा बेशरम, बेहया हो जाता है यही हाल हम दोनों पति पत्नी का हो चुका था क्योंकि उसने मुझे कहा कि मेरी आँख पे पट्टी बाँध के उसे रूम में ले आओ एक दम मेरे नज़दीक!

मुझे भी यह आईडिया ज़बरदस्त सेक्सी लगा क्योंकि वो हमारे लिए अज़नबी था, यहाँ से जाने के बाद भविष्य में हम उस से कभी नहीं मिलने वाले थे, इसलिए आज ये सब करने का मौका जाया नहीं देना चाहिए, मैंने अपनी पत्नी की ब्रा से ही उसकी आँखों पे पट्टी बांध दी, वो भी ऐसी कि वो आसानी से देख भी सकती थी.

यह सब कर के मैं बाहर आया तो वो अपना लंड हाथ में लिए मिला, उस की आँखों में चमक थी.
मैंने उस से पूछा- कैसी लगी मेम?
वो बोला- साब बहुत मस्त हैं ये तो… साब आप के तो मज़े हो गए, बहुत ही ज़बर लग रही है मेम तो!

“अब तो देख लिया न सब कुछ अच्छे से?”
वो बोला- हाँ साब, बहुत बहुत मज़ा आया!
मैंने पूछा- और कुछ देखना है?
वो कुछ नहीं बोला, वो एकटक अंदर ही देख रहा था, मेरी बेशरम बीवी वैसे ही बेशर्मी से पड़ी हुयी थी.

वो बोला- साब, आपने तो आज फुल मजे दे दिए. लेकिन आपने मेम साब की आँखों पे पट्टी क्यू बाँधी है?
मैंने कहा- उसे रोशनी चुभ रही थी इस लिए बाँधी है, अब उसे कुछ दिखेगा भी नहीं, तुम चलोगे रूम में?
वो हक्का बक्का सा रह गया लेकिन साला तैयार हो गया. बोला- हाँ सन, मज़ा आ जाएगा अगर अंदर जाने का मौक़ा मिल जाए तो!
मैंने कहा- तो आओ!

और हम दोनों रूम में आ गये एक साथ.

उधर यह अहसास मेरी वाइफ को भी हो गया कि हम दोनों अंदर आ गए हैं तो उसका जिस्म अकड़ सा गया, तेज़ तेज़ साँसों से उसके वक्ष के उभार ज़ोर ज़ोर से ऊपर नीचे होने लगे, पसीना भी चमकने लगा.
वो फिर भी अनजान बने रहने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

और उस नौकर लड़के की स्थिति तो बस देखने लायक थी, उसका लंड भयानक आकार ले चुका था.
मैं उसे बेड के एकदम नज़दीक ले आया, मेरी वाइफ ने अनजान बनते हुए पूछा- कहां चले गए थे? और अब ये लाइट बंद करो प्लीज़!
मैंने कहा- करता हूँ यार… तुम बहुत मस्त लग रही हो, रोशनी में तुम्हें इस तरह पूरी नंगी देखने का मज़ा ही कुछ अलग ही है.

मैंने उस लड़के का हाथ पकड़ा और चुप रहने का इशारा करते हुए बीवी के नग्न जिस्म के एकदम पास ले आया उसे… और फिर मैंने अपनी वाइफ की चूत पे उसका हाथ रख दिया.
वो पागल सा हो गया.
शायद उसी समय उसके लंड ने उसका साथ छोड़ दिया, उसकी पिचकारी चल गयी, वो तेज़ी से अपना हाथ छुड़ा कर रूम से भाग गया.

हम दोनों खूब हँसे. उस दिन की हमारी चुदाई में बहुत बहुत ज्यादा, बहुत ही ज्यादा मजा आया.

किसी अनजान या यहाँ तक कि किसी जानकार को भी अनजान बनाते हुए अपने, अपनी साथी के नंगे बदन को, या बदन की नग्नता से भरपूर झलक दिखने का अहसास… यह अहसास सच में बहुत ही उत्तेजक होता है.
क्या आप लोग मेरी इस बात से सहमत हैं?

इस टॉपिक पे और भी बहुत कुछ लिखने का मन है, लेकिन में चाहता हूँ कि हर बार की तरह इस बार भी अन्तर्वासना के पाठक पाठिकाएं इस विषय पर अपने विचार और सच्चे अनुभव मुझे मेल करें.
मैं आगे इस विषय पर और लिखूंगा.

मेरा मेल आई डी है- [email protected]
आपका अरुण

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top