मेरी सेक्सी भान्जी को मेरे दोस्त ने चोदा

(Meri Sexy Bhanji Ko Mere Dost Ne Choda)


मेरा नाम अरमान है. यह कहानी मेरी और मेरे बेस्ट फ्रेंड से जुड़ी हुई है. साहिल मेरा बेस्ट फ्रेंड है. मैं 42 साल का हूँ और वो 41 साल का. हम दोनों ही रेलवे में काम करते थे लेकिन ये नहीं जानते थे कि हम एक सोशल नेटवर्किंग साइट पर भी अन्जाने में एक दूसरे से बात कर रहे हैं. हम दोनों एक दूसरे से अन्जान बनकर चैट कर रहे थे और हमें काफी समय हो गया था.

वो दादर रेलवे स्टेशन पर टी.सी. की जॉब करता था और मैं माहिम रेलवे स्टेशन पर. साहिल मुझसे अपनी बहनों की बात करता रहता था और मैं उसको अपनी भान्जियों के बारे में बताता रहता था.

हमें बाद में पता चला कि हम दोनों वर्चुअल ही नहीं बल्कि रीयल लाइफ में भी दोस्त हैं. साहिल की हाइट 5.7 फीट थी. वो देखने में हट्टा कट्टा था और उसको देख कर लगता नहीं था कि वो 40 को पार कर गया है.

एक दिन वो मेरे घर पर आ गया. वह मेरी भान्जियों की जवानी को और करीब से देखने के लिए आया था. वह हमारी पहली मुलाकात थी. जब वो घर आया तो मैंने हीना बानू को कॉफी बनाने के लिए कहा और वो कुछ ही देर में कॉफी बनाकर ले आयी.
हीना ने एक गुलाबी रंग की साड़ी और उस गहरे गुलाबी रंग का लो-नेक ब्लाउज पहना हुआ था. वो उसमें ऐसी लग रही थी कि मन कर रहा था उसको नंगी करके अभी उसकी चूत चाट कर उसका पानी निकाल दिया जाये. लेकिन अभी तो साहिल उसके मजे लेने के लिए आया था.

उस दिन हीना ने साहिल को पहली बार देखा था मगर फोन पर होने वाली चैट पर वो एक-दूसरे को पहले से ही जानते थे. हीना भी साहिल को देख कर खुश हो गई थी. वो उसको मामा बुलाती थी.
उसने कॉफी का कप टेबल पर झुक कर रखते हुए कहा- वेलकम साहिल मामा. ये लीजिए आपके लिए कॉफी. फिर उसने दूसरा कप मेरी तरफ बढ़ाते हुए मुझसे कहा- अरमान मामा, ये आपके लिये. झुकते हुए उसकी चूचियों की क्लीवेज पर मेरी नजर पड़ी तो मन किया कि इसको नंगी करके अभी चोद दूं.

साहिल ने उसको पहली बार देखा था तो साहिल की नजर उस पर से हट नहीं रही थी. मैंने इससे पहले साहिल को हीना की बस एक ही फोटो दिखाई थी जिसको देख कर साहिल मुट्ठ मारा करता था. साहिल का लंड मैंने देखा हुआ था. वो एक महान लंड का मालिक था.
मैंने कहा- हीना यही साहिल है जिससे मैंने तुम्हारी फोन पर बात करवाई थी.

साहिल ने उठ कर उसके साथ हाथ मिलाया और फिर हीना भी हमारे साथ ही बैठ गई. हीना अभी कुंवारी थी और उसकी उम्र 26 साल हो चुकी थी. मगर उसकी जवानी को देख कर लगता था कि वह 22-23 के आस-पास ही होगी. अभी तक उसने अपनी चूत में लंड नहीं लिया था.

मगर एक बार मेरा एक दोस्त रमेश उसको घर पर अकेली पाकर उसको जबरदस्ती नंगी करके उसके चूचे दबाते हुए रंगे हाथ पकड़ा गया था. मैं मार्केट गया हुआ था और चूचे मसलने के बाद वह हीना को चोदने की तैयारी में था तभी मैंने आकर डोरबेल बजा दी थी और उसकी चूत चुदने से बच गई थी.
खैर, वो बात तो अब काफी पुरानी हो चुकी है.

मैंने उन दोनों से कहा- तुम बातें करो तब तक मैं वॉशरूम होकर आता हूं.
उठते हुए मैंने हीना बानू की क्लीवेज देख ली. उसकी चूचियों की क्लीवेज देख कर मुझसे रहा न गया और मैंने बाथरूम में जाकर लंड हिलाना शुरू कर दिया. आह-अह … हीना … रंडी … ले ले मेरा लंड … आह … करते हुए मैंने लंड को रगड़ दिया.

इधर साहिल हीना को देख कर खुश हो गया था. उसका भी मन कर रहा था कि उसकी क्लीवेज के बीच में लंड को फंसा कर उसकी चूचियों को चोदते हुए सारा माल उसकी क्लीवेज की घाटी में गिरा दे.

तभी हीना साहिल से पूछ बैठी- मामा, आपने अभी तक शादी क्यों नहीं की?
साहिल- मुझे एक लड़की ने धोखा दे दिया था. इसलिए मैंने शादी नहीं की. मेरा प्यार और शादी पर से भरोसा उठ गया था. मैंने तो नहीं की लेकिन तुम कब कर रही हो?
हीना- वो तो अरमान मामा ही बता सकते हैं.
साहिल- कहीं प्यार-व्यार का चक्कर तो नहीं?
हीना- नहीं मामा, ऐसी कोई बात नहीं है.
साहिल- इतनी मॉडर्न लड़की को किसी ने आज तक प्रपोज़ नहीं किया क्या?
हीना- किया था चार-पांच लड़कों ने, वो मुझे डेट पर भी लेकर गये थे लेकिन मैंने मना कर दिया क्योंकि मैं अभी लाइफ को इंजॉय करना चाहती हूं. शादी देर से ही करूंगी. अभी तो मेरी इंजॉय करने की उम्र है साहिल मामा.

साहिल- हम्म … और वो झारखण्ड वाले अंकल का क्या हुआ?
हीना- आपको कैसे पता मामा?
साहिल- अरमान ने ही बताया था. तुम्हारा नम्बर अरमान मामा ने ही उसको दिया था.
हीना- हां, मैं उससे बात करती थी लेकिन मुझे ये नहीं पता था कि उसको मेरा नम्बर अरमान मामा ने दिया है.

जब मैं मुट्ठ मार कर बाहर आया तो देखा कि मेरे फोन की रिंग बज रही थी.
मैंने कहा- साहिल और हीना, तुम दोनों बातें करो, मैं एक जरूरी फोन कॉल अटेंड करके वापस आता हूँ.

मेरे बाहर जाने के बाद हीना ने दरवाजे को अंदर से लॉक कर दिया. मैं बाहर फोन पर बात कर रहा था लेकिन खिड़की से मेरी नज़र अंदर ही झांक रही थी. मैं जानता था कि हीना से रूबरू होने के बाद साहिल खुद पर ज्यादा देर तक काबू नहीं रख पाएगा.

साहिल अपने फोन में से हीना की फोटो उसको दिखाने लगा. उसके हाथ में फोन देकर साहिल ने आगे की और भी फोटो देखने के लिए कहा.
हीना ने आगे स्वैप किया तो उसने देखा कि साहिल ने एडिटिंग करके उसके चेहरे को नंगी लड़कियों की फोटो पर लगा दिया है. हीना वो फोटो देख कर चौंक गयी. वह आगे देखने लगी तो उसको साहिल के लम्बे और मोटे लंड की फोटो भी सेल फोन में मिल गई. वो उनको देखते हुए साहिल की तरफ देख कर मुस्कराने लगी.

साहिल ने उसको अपनी गोद में बैठा लिया और हीना आराम से साहिल की गोद में बैठ कर फोटो देखती रही. साहिल का लंड टाइट हो गया था और हीना की गांड पर महसूस हो रहा था. फिर साहिल के अंदर काम वासना जागने लगी और उसने हीना की कमर पर हाथ डाल दिये और उसके होंठों को किस करने लगा.

हीना बानू साहिल के मोटे लंड पर बैठी थी. उसको भी मजा आने लगा था. इधर दोस्त की भान्जी को अपने लंड पर बिठाकर साहिल भी मजे ले रहा था. उसका लंड बार-बार हीना की गांड पर टक्कर मार कर कह रहा था कि उसकी प्यास बुझा दो. इधर हीना की सांसें भी भारी होने लगी थी. हीना बानू अपनी गांड को साहिल के लंड पर रगड़ते हुए उसके जोश को और ज्यादा भड़काने लगी थी. इस क्रिया से वो साहिल के लंड को अपनी गांड पर और अच्छी तरह महसूस करने का कामुक अहसास भी पाना चाहती थी.

जिस तरह से वह साहिल की तारीफ कर रही थी उससे लग रहा था कि मेरी भान्जी साहिल के लंड की दीवानी हो चुकी है. कोई जवान लड़की अपने प्रेमी को भी इतना प्यार नहीं देती होगी जितना कि हीना साहिल के जिस्म को दे रही थी. चूंकि हीना भी अपनी जवानी के चरम पर थी इसलिए लंड का स्वाद लेना उसके लिए बहुत जरूरी था. फिर साहिल का लंड तो था भी लेने लायक. इसलिए वो साहिल मामा को गर्म करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती थी.

हीना कहने लगी- जब मैं फोन पर तुमसे बात करती थी तो मुझे आपकी आवाज सुनकर पता लग गया था कि आपका लंड काफी मोटा और लम्बा होगा. आपके लंड के लिए मेरी कुंवारी चूत तरसती रहती थी. मैंने बहुत बार सोचा कि अरमान मामा के पास बिस्तर पर नंगी सो जाऊं और अपनी चूत को उनके मोटे लंड से चुदवा लूं. मुझे उनका मोटा लंड बहुत पसंद है साहिल मामा. उन्होंने भी अभी तक शादी नहीं की है. मैं उनका लंड चूस कर उनका माल अपने मुंह में निकलवाना चाहती हूँ.

साहिल- आह्ह … हीना तुम तो बहुत ही चुदक्कड़ बातें करती हो.

साहिल ने हीना को जोर से चूसना शुरू कर दिया. फिर उसको अपने शरीर से थोड़ी दूर हटाकर उसने उसके चूचों को चूसना शुरू कर दिया. साहिल अब हीना के ब्लाउज के हुक खोलने लगा. साथ ही वह उसकी गर्दन पर चूम रहा था. उसका लंड बेकाबू हो चुका था. वो हीना को आह्ह रंडी … कहते हुए संबोधित कर रहा था. अब तक उसने हीना के ब्लाउज को निकाल कर उसके चूचों को नंगा कर दिया था.

तभी दरवाजे की घंटी बजी. उन दोनों ने जल्दी से अपने कपड़े ठीक किये.

साहिल उठ कर दरवाजा खोलने के लिए गया तो दरवाजे पर समीरा बानू खड़ी थी. मैंने अभी तक समीरा के बारे में साहिल को कुछ नहीं बताया था. वो एक कमसिन कली थी. 23 साल की कुंवारी कली जिसका फीगर 34-28-36 था. उसकी हाइट 5.6 फीट थी.
दोनों एक दूसरे को खड़े होकर वहीं पर देखते रहे. तभी हीना बानू उठकर आई और पीछे से बोली- अरे समीरा, तुम आज इतनी जल्दी कैसे आ गई?

फिर उसने साहिल से परिचय करवाते हुए कहा- समीरा, ये साहिल मामा हैं, अरमान मामा के दोस्त.
फिर उसने समीरा का परिचय साहिल से करवाते हुए कहा- साहिल मामा, ये मेरी बहन समीरा है.

उन दोनों ने आपस में हाथ मिलाया और साहिल दो जवान चूतों को चोदने की खुशी में मस्त हो गया. साहिल सोफे पर बैठ गया और समीरा बानू ड्रेसिंग रूम में जाते हुए बोली- मैं अभी चेंज करके आती हूं.

कुछ ही देर में समीरा बाहर आते हुए सामने सोफे पर साहिल के सामने बैठ गई, वो बोली- अरमान मामा ने आपके बारे में कई बार बताया था कि आप उनके बेस्ट फ्रेंड हो.
साहिल की नजर समीरा पर फिसलने लगी. उसने सफेद रंग का टॉप और स्कर्ट पहनी हुई थी. वो सोचने लगा कि इसको तो कुर्सी पर बैठा कर अपना लंड इसकी चूत में डालकर इसको लंड की सवारी करवाने में बहुत मजा आयेगा.

समीरा और हीना दोनों ही साहिल के साथ बैठी हुई थी. साहिल का लंड उसकी पैंट में खड़ा हो चुका था. हीना की गांड को छूकर उसमें आया हुआ तनाव अब तक गया नहीं था. ऊपर से अब समीरा की जवानी को देखकर उसके लंड का बुरा हाल होने लगा था.
हीना ने कहा- समीरा, तुम बाहर से आई हो थक गई होगी. कुछ खा लो. अगर किचन में जाओ तो साहिल मामा के लिए भी कुछ स्नैक्स वगैरह बना देना. वो पहली बार तेरे हाथ का स्वाद चखना चाहते हैं.

जबकि हीना भी जानती थी कि साहिल समीरा के हाथ का नहीं बल्कि उसकी चूत का स्वाद चखना चाहता था. उसकी नजरों से टपकती हुई हवस वो साफ देख सकती थी. मगर अभी वो समीरा को वहां से अंदर भेज कर खुद साहिल के मोटे लंड के मजे लेना चाहती थी.

समीरा बोली- ठीक है दीदी, मैं अपने और साहिल मामा के लिए किचन में जाकर कुछ स्नैक्स बना लेती हूं. तब तक आप साहिल मामा से बात कर लो नहीं तो वो बोर हो जायेंगे.

हीना समीरा की ओर देख कर मुस्करा दी. उसका रास्ता साफ था. वह साहिल के खड़े लंड को अपने हाथ में भरने के लिए बेताब थी. इसलिए समीरा के जाते ही वह साहिल की टांगों के बीच में जाकर नीचे जमीन पर बैठ गई. उसने साहिल की जिप को खोला और उसका मोटा लौड़ा बाहर निकाल लिया.

साहिल का तना हुआ लंड तो पहले से ही भूखा था. हीना ने साहिल का लंड अपने मुंह में ले लिया और उसको आंखें बंद करके मजे से चूसने लगी. साहिल ने हीना के सिर को पकड़ लिया और उसके मुंह को चोदने लगा और मजे में सिसकारने लगा- उम्म्ह… अहह… हय… याह…

फिर साहिल ने हीना की चूचियों को भींचना शुरू कर दिया. हीना समीरा के आने से पहले साहिल के लंड का स्वाद चख लेना चाहती थी. इसलिए उसने अपनी साड़ी ऊपर उठाते हुए पैंटी को नीचे सरका लिया और सोफे पर टांगें फैलाकर बैठे हुए साहिल के खड़े हुए लंड पर अपनी चूत को सेट करते हुए नीचे बैठती चली गई.

साहिल ने उसकी कमर को थाम लिया और पूरा लंड हीना की चूत में उतार दिया. जल्दी ही हीना साहिल के लंड पर उछलने लगी. सेक्स दोनों पर ही सवार था मगर मुंह से आवाज निकाल कर वो समीरा को दावत नहीं देना चाहती थी. इसलिए अंदर ही अंदर दबी हुई सिसकारियों के साथ साहिल के लम्बे और मोटे लंड से चुदते हुए मजा लेने लगी.

साहिल की हालत बहुत बुरी थी. हीना जैसी कमसिन लड़की की चूत में लंड को पेलते हुए वो ऐसे देख रहा था जैसे आज उसकी चूत को खा ही जायेगा. स्स्स … स्सस … ऊंह्ह … की बेहद हल्की सी आवाज दोनों के मुंह से निकल रही थी जो केवल उनके पास बैठा हुआ कोई शख्स ही सुन सकता था.

चुदते हुए हीना के चूचे उसके ब्लाउज में झूल रहे थे जिनको साहिल कैद से आजाद करके उनका रस पीना चाहता था. उसने हीना के ब्लाउज तक हाथ भी बढ़ाए मगर हीना ने उसके हाथों को रोकते हुए समीरा के आने के डर का इशारा कर दिया. इसलिए वो हीना के मस्त चूचों को अपने हाथों से दबाने में संतोष प्राप्त करने की कोशिश करने लगा.

हीना की चूत में साहिल का लंड तेजी से अंदर-बाहर हो रहा था. चूंकि हीना हुस्न की मल्लिका थी इसलिए साहिल का लंड ज्यादा देर उसकी चूत की गर्मी के सामने टिक नहीं पाया और उसने उसकी चूत में अपना लावा उगल दिया.

साहिल ने धक्के देने बंद कर दिये तो हीना समझ गई कि साहिल का माल उसकी चूत में खाली हो चुका है. अपनी साड़ी को नीचे करते हुए वो उठकर दूसरी तरफ जा बैठी. अभी तक साहिल का लंड उसकी जिप के बाहर ही था जो धीरे-धीरे सिकुड़ते हुए अपने सामान्य आकार में आ रहा था. हीना अपने कपड़ों को दुरुस्त कर रही थी कि तभी पीछे से समीरा दबे पांव स्नैक्स की प्लेट हाथ में लिए उनकी तरफ आती हुई दिखाई दी.

साहिल का लंड उसकी जिप के बाहर लटका हुआ था. हीना ने साहिल को इशारा करने की कोशिश भी की कि वो अपने लंड को अपनी जिप के अंदर डाल ले मगर साहिल की आंखें अभी चूत चुदाई के नशे में बंद थीं और तब तक समीरा साहिल के करीब पहुंच चुकी थी.

लेखक के आग्रह पर इमेल आईडी नहीं दिया जा रहा है.

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top