रैगिंग ने रंडी बना दिया-95

(Gand Ki Chudai: Ragging Ne Randi Bana Diya- Part 95)

This story is part of a series:

चुदाई की कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि बेटी बाप को अपनी चुदाई के लिए कह रही थी, लेकिन बाप इसके लिए तैयार नहीं था. दूसरी तरफ मामा भांजी की चुदाई में कुछ नया होने को है. अब आगे पूजा की चुदाई की कहानी का मजा लीजिए…

कुछ दिनों से पूजा वासना की आग में जल रही थी और आज इत्तफ़ाक़ से उसके घर वाले और संजय के घर वाले किसी फंक्शन में साथ गए. वैसे वो पूजा को लेकर जा रहे थे मगर पूजा ने पैर में दर्द होने का नाटक करके मना कर दिया था और संजय तो वैसे भी उनके साथ बहुत कम कहीं जाता था.

पूजा ने चहक कर कहा- मामू आप आ गए… मैं कब से आपका इन्तजार कर रही थी. चलो जल्दी से खाना खाओ, उसके बाद पढ़ाई भी करनी है.
संजय- क्या बात है आज पहली बार तेरे मुँह से चुदाई के बजाए पढ़ाई शब्द सुन रहा हूँ.
पूजा- वो तो आपसे होती ही कहाँ है. कितने दिन हो गए, आप रोज कोई ना कोई बहाना बना देते हो.
संजय- बहाना नहीं बनाता हूँ… आजकल माँ दोपहर में सो नहीं रही ना, अब उनके आने का ख़तरा रहता है और वैसे भी इतने भी दिन नहीं हुए, जितने तू बता रही है.

पूजा- अच्छा अच्छा बातें बंद… जल्दी से खाना खाओ आज आपके लिए एक सरप्राइज भी है.
संजय- क्या बात है मेरी जान… ऐसा क्या है?
पूजा- आप बात बहुत करते हो… जल्दी से खाना खाओ उसके बाद खुद देख लेना ना.

जब संजय फ्री होकर ऊपर गया तो पूजा ने अपने ऊपर एक चादर डाल रखी थी. जब संजय ने चादर हटाई तो पूजा एकदम नंगी लेटी हुई थी और उसकी उंगली चुत पे टिकी थी, जो एकदम क्लीन थी.

संजय- वाउ पूजा आज तो तेरी चुत बहुत चमक रही है… तूने साफ की है क्या?
पूजा- हाँ मेरे प्यारे मामू अब मुझे भी चुत को चमकाना आ गया है.
संजय- अच्छा तो ये है तेरा सरप्राइज.
पूजा- जी नहीं मेरे मामू, ये तो सरप्राइज के साथ फ्री है… वो तो अलग है.
संजय- अब ये नहीं तो क्या है, बता ना?
पूजा- ऐसे नहीं, पहले आप जल्दी से अपने कपड़े निकालो. मेरे प्यारे लंड को मुझे दिखाओ… उसके बाद मैं सब बताऊंगी.

संजय को पता था पूजा जिद्दी है, ऐसे मानेगी नहीं… उसने जल्दी से अपने कपड़े निकाल दिए. उसका लंड तो पूजा की चुत देख कर ही उफान पे आ गया था.

पूजा उठी और घुटनों के बल बैठ कर लंड को किस किया, फिर उसको चूसने लगी.

संजय- सस्स आह… पूजा… अब लंड ही चूसेगी या बताएगी भी क्या है?
पूजा- आपको क्यों बताऊं… वो गिफ्ट तो मेरे प्यारे लंड के लिए है. मैं तो इसको ही बताऊंगी.
संजय- अच्छा ये बात है तो इसको बता दे.

पूजा ने लंड को हाथ में पकड़ा और उसको सहलाते हुए उससे बात करने लगी- तू कितना अच्छा है और ये मामू गंदे हैं. इनको मत बताना हाँ… आज मैं तेरे लिए एक मस्त चीज लाई हूँ. तुझको वो बहुत पसंद आएगी, एकदम टाइट है तू उसमें घुस जाना. हाँ और मज़े से उसमें पानी फेंक कर आना, तुझे बहुत मजा आएगा.
संजय- अरे ऐसा क्या लेकर आ गई मेरी जान… जो टाइट है अब दिखा भी दे.
पूजा- आपको उससे मतलब में अपने प्यारे लंड को दिखाऊंगी… आप चुप रहो बस.

इतना कहकर पूजा खड़ी हुई और लंड को पकड़ कर पलट गई, फिर लंड को अपनी गांड पे एड्जस्ट करके बोली- देख मेरे राजा, आज तुझे इसमें जाना है, ये बहुत टाइट है तुझे बहुत मजा आएगा. मगर दर्द मत करना हाँ… मेरी गांड की चुदाई प्यार से करना तुम. ये सिर्फ़ तेरे लिए ही है. मैंने इसके लिए बहुत अच्छा प्लान बनाया है, किसी को पता भी नहीं लगेगा और तू इसको अच्छी तरह चोद भी देगा. तुम समझे मेरे प्यारे लंड राजा जी.

पूजा की बात सुनकर संजय के लंड में और तनाव आ गया, उसने जल्दी से पूजा को घुमाया और उसकी आँखों में देख कर पूछा- सच में पूजा आज तू मुझे अपनी गांड की चुदाई करने देगी, मगर कैसे? हम दोनों ने तो प्रोग्राम बनाया था कि वहीं करेंगे. फिर आज हम यहाँ कैसे करेंगे और तुमने ऐसा क्या प्लान बनाया है मुझे भी तो बताओ?
पूजा- मामू मुझे तो कल ही पता चल गया था कि आज सब जाने वाले हैं. इसलिए मैंने सुबह मोच आने का बहाना बना दिया और लंगड़ा कर चल रही हूँ ताकि आपके मोटे लंड को गांड में ले सकूं और अगर उसकी वजह से मुझे दर्द भी हुआ तो किसी को शक भी नहीं जाएगा कि मैं ऐसे क्यों चल रही हूँ. समझे मेरे प्यारे मामू…!

पूजा की बात सुनकर संजय खुश हो गया. उसने पूजा के होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिए और एक लंबा किस शुरू हो गया. इस दौरान संजय पूजा की गांड को हाथों से दबा कर मजा लेने लगा और पूजा भी उसके लंड को पकड़ कर दबाने लगी.

थोड़ी देर बाद संजय ने पूजा को बांहों में उठा लिया और बिस्तर पर ले गया- मेरी जान, बहुत दिनों से सोच रहा था कि तेरी गांड का छेद बहुत गुलाबी है, इसमें जब लंड जाएगा तो मुझे कितना आनन्द आएगा. आज तो मैं इसको फाड़ ही दूँगा.
पूजा- नहीं मामू, प्लीज़ आराम से करना.

पूजा की बात सुनकर संजय को हँसी आ गई क्योंकि उसने कही ही ऐसे थी- हा हा हा अरे मजाक कर रहा हूँ मेरी जान… तुझे दर्द देकर मुझे मजा थोड़ी आएगा. तू तो मेरी जान है चल जल्दी से 69 की पोज़ में आ जा. मैं तेरी गांड को चाट कर रेडी करता हूँ और तू मेरे लंड को जल्दी से चूस कर तैयार कर दे.
पूजा- नहीं मामू, मुझे पता है आप गांड मारोगे तो मेरी जान निकाल दोगे. मजा तो दूर की बात है, मेरी चुत में जो खुजली मची हुई है, वो भी गायब हो जाएगी इसलिए पहले आप मेरी चुत चोद कर शांत करो… उसके बाद गांड मार लेना.
संजय- ठीक है पूजा डार्लिंग वैसे आज तेरी चुत भी चमक रही है, इसको ठोकने में भी बहुत मजा आएगा.
पूजा- तो हो जाओ शुरू और चाटो मेरी चुत को.

दोनों 69 के पोज़ में लेट गए और एक-दूसरे को चुसाई का मजा देने लगे.

थोड़ी देर बाद संजय ने पूजा के पैरों को उल्टी दिशा में मोड़ दिया और उसकी चुत पर लौड़ा टिका कर एक झटके में लौड़ा घुसा दिया.

पूजा- आह… आह सस्स… मामू क्या करते हो उफ्फ… आपको पता है ना आपका आ लंड कितना बड़ा है इसस्स… मेरी तो जान निकाल देते हो आह…
संजय- मेरी पूजा रंडी, कितनी बार तो चुद चुकी है, अब कैसा दर्द… ले संभाल मेरे झटके… तू अब लंड ले साली उहह उहह ले लंड अपनी चिकनी चुत में खा… अह…
पूजा- आह… चोदो आह… फाड़ दो मामू उफ्फ… ये चुत आपकी ही है… अह… ज़ोर से चोदो आह…

करीब 15 मिनट तक संजय दे दनादन पूजा की चुत का भुर्ता बनाता रहा… तब कहीं जाकर वो झड़ी और उसकी चुत अब शांत हो गई थी. मगर संजय वैसे ही धकापेल लगा हुआ था.
पूजा- आह… बस भी करो मामू… आह… अब थोड़ा पैरों को आराम दे दो आह…
संजय ने चुत से लौड़ा निकाल कर पूजा को पकड़ कर बैठा दिया और लौड़ा उसके मुँह में घुसा दिया.

संजय- ले पूजा डार्लिंग मेरे लंड से चख ले अपनी चुत का स्वाद. अब तेरी चुत तो गई काम से और अभी मेरे लंड में बहुत जान बाकी है… क्यों ना तेरी गांड को भी आज खोल ही देता हूँ. फिर तू पक्की चुदक्कड़ बन जाएगी, जहाँ चाहे लंड घुसवा लेना.

पूजा ने लंड को अच्छे से चूस कर चिकना किया, उसके बाद वो गांड फैला कर घोड़ी बन गई- लो मामू आपकी पूजा की गांड हाजिर है… घुसा दो अपना लंड और कर दो इसका भी मुहूर्त अपने लंबे लंड से.
संजय- तू बस हाथों को टाइट रखना, कहीं नीचे मत लेट जाना, नहीं तो मजा नहीं आएगा.
पूजा- आप डालो तो बाकी जो होगा देखा जाएगा. अब तो बस गांड मरवाना ही है.

संजय ने पूजा की गांड के छेद पर अच्छे से थूक लगाया, फिर अपनी एक उंगली उसमें घुसेड़ने लग गया, वो वाकयी बहुत टाइट गांड थी… मगर धीरे-धीरे उसने उंगली अन्दर घुसा ही दी.

पूजा- आह ससस्स मामू आह… उंगली से ही दर्द हो रहा है आह… आज तो आपका लंड मेरी जान लेकर रहेगा.
संजय- कुछ नहीं होगा जान ये तो शुरूआत है. तूने जब चुत में ले लिया तो यहाँ भी ले लेगी. तू बहुत हिम्मत वाली लड़की है.

थोड़ी देर तक संजय उंगली से ही पूजा की गांड मारता रहा, जब उसको लगा अब गांड चिकनी हो गई तो उसने दोबारा लंड पर थूक लगाया और लंड को हाथ से पकड़ कर गांड के छेद पर दबाने लगा. थोड़ी देर कोशिश करने के बाद सुपारा गांड में घुस गया और पूजा दर्द से बिलबिलाने लगी, मगर उसने दाँत कस कर भींच लिए और वैसे ही डटी रही.

संजय को लंड को आगे सरकाने के लिए बहुत ताक़त लगानी पड़ रही थी. जब उसका 3″ लौड़ा गांड में समा गया, तो इसके बाद वो रुक गया. अब संजय ने पूजा की कमर को कस के पकड़ा और ज़ोर से एक दे झटका मारा.
पूजा- एयाया एयाया मर गई आह… मामू उफ्फ अब्ब… बहुत दर्द हो रहा है आह…
संजय- यार पूजा, बस एक झटका और झेल ले… तेरी गांड बहुत टाइट है वैसे तो लंड अन्दर जाएगा भी नहीं… बस थोड़ा सा और बर्दाश्त कर ले तू, फिर दर्द नहीं होगा.
पूजा ने कराहते हुए कहा- उफ्फ… ठीक है आह… मामू अब आपको जो करना है आह… जल्दी करो… आह… मेरी गांड में बहुत जलन हो रही है आह… सस्स आह…

संजय ने आधे लंड को बाहर निकाला, जो गांड में था, फिर पूरी ताक़त से वापिस अन्दर डाला. अबकी बार गांड फाड़ता हुआ पूरा अन्दर घुस गया और पूजा की जोरदार चीख निकल गई. मगर घर में कोई था नहीं, तो डर किस बात का. उसकी आँखों से आँसू बहने लगे, सर चकराने लगा मगर उसने हिम्मत नहीं हारी. वो वैसे ही घोड़ी बनी रही और संजय उसकी गांड को स्पीड से चोदने लगा.

कुछ मिनट तक संजय ज़ोर-ज़ोर से पूजा की गांड में लंड अन्दर-बाहर करता रहा. अब पूजा को थोड़ा सा दर्द कम लगा तो उसने संजय को उत्तेज़ित करने के लिए मादक सिसकारियां भरना शुरू कर दीं, साथ में उसको उकसाने लगी ताकि उसका पानी जल्द निकल जाए और उसकी जान छूटे.

संजय अभी भी स्पीड से गांड मारने में लगा हुआ था और पूजा बोले जा रही थी- आह… मामू सस्स आपका लंड बहुत अच्छा है… आह… चोदो… फाड़ दो मेरी गांड को… नहीं आह… ज़ोर से करो.

ऐसे ही दस मिनट और निकल गए और अब गांड की गर्मी लंड को पिघलने लगी थी. अब संजय का खुद पे काबू नहीं था उसकी नसें फूलने लगी थीं और एक के बाद एक पिचकारी उसके लंड से छूटने लगीं, जो पूजा की गांड में मलहम का काम कर रही थीं.
जब लंड से सारा रस बह गया, तो संजय ने लौड़ा बाहर निकाल लिया. लंड फूच्च की आवाज़ से निकला और पूजा उस मीठे दर्द से सिहर गई.

संजय ने फौरन अपनी जीभ गांड पे लगा दी और उसको चाटने लगा ताकि पूजा को आराम मिल जाए. थोड़ी देर चाटने के बाद संजय पूजा को अपने सीने से चिपका कर लेट गया.

मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे इस भांजी की गांड की चुदाई की कहानी पर कमेंट्स कर सकते हैं.

[email protected]
गांड की चुदाई की कहानी जारी है.

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top