सलमा और इरफ़ान के चुटकुले-2

(Salma aur Irfan ke chutkule- Part 2)

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है:

एक बार इरफ़ान अपनी सलमा के साथ अपनी सुसराल में गया।

रात को इरफ़ान ने अपनी सलमा से कहा- चलो, चुदाई का एक दौर हो जाये?

सलमा बोली- नहीं, यह मेरे अब्बा का घर है।

इरफ़ान गुस्से से- तो क्या मेरे अब्बा का घर रेड लाइट एरिया है जो रोज रोज चुदने को तैयार हो जाती है?

***

एक दिन इरफ़ान एक पहुंचे हुए फकीर के पास गया और उनसे बोला- बाबा, मैं एक बहुत बड़ी मुश्किल में हूँ, क्या आप कोई हल बताएँगे?

फकीर- बोलो बरखुरदार?

इरफ़ान- बाबा, एक आदमी और एक औरत की जिंदगी में क्या फर्क होता है?

इरफ़ान की बात सुन फकीर ने ध्यान से इरफ़ान की तरफ देखा और कुछ देर सोचने के बाद मुस्कुराते हुए बोले- बरखुरदार, मर्द की सारी ज़िन्दगी उसकी टांगों के बीच में सिर्फ एक ही लंड रहता है, पर औरत की टांगों के बीच नहीं !

***

सलमा इरफ़ान से- हमारी बेटी नगमा की ब्रा मैंने ड्राइवर सुल्तान के कमरे में देखी।

इरफ़ान- कमीना कहीं का… लेकिन तुम वहां गई क्यों थी?

सलमा- मैं तो अपनी पैंटी लेने गई थी।

***

नगमा अपनी अम्मी सलमा के साथ दुकान पर जाकर बोली- चचा ! एक 28 नंबर की ब्रा देना !

दुकानदार अहमद- छोटे, एक ‘बाल गोपाल’ लाइयो !

सलमा- भाईजान, मुझे भी एक 42 नंबर की एक चाहिए।

अहमद- छोटू, साथ में एक ‘झूले लाल’ भी ले आइयो !
***
सलमा की शादी के बाद उसकी सहेली रुखसाना ने फोन करके पूछा- मेरा दिया हुआ लहंगा पहना क्या?

सलमा- एक हफ्ते से कच्छी तो पहनने नहीं दे रहा, लहंगा क्या खाक पहनूँगी?

***

इरफ़ान- बेगम नींद नहीं आ रही, एक बार चुदाई हो जाये?

सलमा- मादरचोद ! मेरी फुद्दी के अंदर क्या तेरी माँ लोरी सुना रही है जो नींद आ जायेगी?

***

इरफ़ान- शादी के बाद यह साली जिंदगी कुत्ते जैसी हो गई है !

सलमा- कुत्ते की क्या बराबरी करोगे तुम? वो तो एक घंटे तक फंसा कर रखता है, तुम्हारी तो एक मिनट में गांड फट जाती है.

***

सलमा गुस्से से- मैं घर छोड़ कर जा रही हूँ !

इरफ़ान उतने ही गुस्से से चीख कर- भाग जा कामिनी… मेरे लण्ड पे चढ़ !

सलमा- तुम्हारी यही खूबसूरत बातें तो मुझ जाने नहीं देती !

***
एक पठान इरफ़ान और उसका दोस्त सलमान एक XXX फिल्म देख रहे थे जिसमें दो लड़के एक साथ एक लड़की के साथ कार्यक्रम कर रहे थे।

इरफ़ान फिल्म खत्म होने के बाद बोला- लानत है ऐसी लड़की पर जो दो प्यार करने वालों के बीच में आ गई!

***

सलमा इरफान के साथ पहली बार गाँव में गई।

वहाँ उसने सन्ता किसान को बैलों की जोड़ी खेत में ले जाते देखा तो बोली- व्हाट अ कपल!! वाह, क्या जोड़ी है!

यह सुन कर इरफ़ान बोला- अरे पगली! ये बैल हैं!

सलमा- हाँ, बैल इनके गले में बंधी है!

इरफ़ान- अरे ये दोनों बैल हैं ऑक्स ऑक्स! मेल काऊ!

सलमा- क्या कहा? दोनों मेल? क्या यह अब जानवरों में भी और यहाँ गाँव में?
***

***

इरफ़ान ने बीवी सलमा के जन्मदिन पर तोहफे में

अगर घड़ी दी तो:

सलमा- समय देखने से क्या मिलेगा… मेरा समय तो तभी से खराब हो गया जब मैंने तुमसे शादी की थी।

तोहफे में गहने दिए तो:

सलमा- फालतू पैसों की बर्बादी करी… पुरानी डिजाइन के है। वैसे भी मैं कौन सा कुछ पहन पाती हूँ, आखिरी बार तो तुम्हारी बहन की शादी में 2 महीने पहले पहने थे।

तोहफे में मोबाइल दिया तो:

सलमा- मेरे पास तो पहले से है, और वैसे भी तुम्हारे वाला ज्यादा अच्छा है।

इरफ़ान- ठीक है, तो मैं बदल कर मेरे जैसा ला देता हूँ।

सलमा- रहने दो, महंगा होगा। वैसे भी मुझे उसके फंक्शन्स समझ नहीं आते।

तोहफे में परफ्यूम दिया तो:

सलमा- ये नहीं नहाने वालों के चोचले हैं… और ये मुझे देकर साबित क्या करना चाहते हो?

तोहफे में रेशमी साड़ी दी तो:

सलमा- ये कौन पहनता है आजकल? कभी कभार किसी त्योहार या शादी ब्याह में पहनेंगे फिर रखी रहेगी।

तोहफे में सूट दिया तो:

सलमा- फिर पैसों की बर्बादी… इतने सारे सूट पड़े पड़े सड़ रहे हैं। इसको भी रखने का सर दर्द ले आए।

तोहफे में फूलों का गुलदस्ता दिया तो:

सलमा- ये फूल पत्ती में क्यों पैसे बहा आए? इससे अच्छे फूल तो बाहर गमले में लगे है।

इरफ़ान बाहर गमले से फूल ले आया तो:

सलमा- ये क्यों तोड़ दिया? दिखने में कितने अच्छे लगते थे और वैसे भी मैंने इसे कल सुबह की पूजा के लिए छोड़ा था।

तोहफे में कुछ नहीं दिया तो:

सलमा- आज क्या दिन है?

इरफ़ान- सोमवार

सलमा- ऊहुँ… तारीख?

इरफ़ान- 21 अगस्त।

सलमा- तो?

इरफ़ान- तो, हैप्पी बर्थडे।

सलमा- बस, मेरा तोहफ़ा कहाँ है?

***
इरफ़ान भाई ने अपनी गर्लफ्रेंड का नाम फोन बुक में LOW BATTERY के नाम से सेव किया

एक बार इरफ़ान बाथरूम में था और उसकी गर्लफ्रेंड का फोन आ गया.

इरफ़ान की बीवी सलमा ने फोन देखा तो

मालूम है कि क्या हुआ?

अरे कुछ नहीं हुआ

बस सलमा ने ‘LOW BATTERY’ पढ़ कर उसे चार्जिंग पे लगा दिया.

इरफ़ान भाई का नाम नोबेल पुरूस्कार के लिए भेजा गया है..

***
***

सुहागरात के बाद पति इरफ़ान अपनी नई नवेली बीवी सलमा से बोला- अरे खून तो निकला ही नहीं?

इरफ़ान की चुदाई से असंतुष्ट सलमा ने गुस्से में जलभुन कर जवाब दिया, “क्यों बे मादरचोद, तूने अंदर तीर कौन सा तीर मारा था?

***

इरफ़ान कंडोम का पैकेट खरीदने के लिए कैमिस्ट की दुकान पर गया।

और तभी उसकी बीवी सलमा का मोबाइल पर मैसेज मिला- ‘घर आते वक़्त ‘व्हिस्पर’ (WHISPER) लेते आना !

***

सलमा- जानू आपने कोई ऐसी गाली सुनी है जो देखी भी हो?

इरफ़ान हँसने लगा और बोला- हाँ! कई बार!

सलमा- कौन सी?

इरफ़ान हँसते हुए बोला- तेरी बहन की चूत!

***

इरफ़ान ने एक दिन अपनी पत्नी सलमा को बड़े ही प्यार से कहा- जान, तुम्हारा दिल नहीं चाहता कि तुम भी मर्द होती?

सलमा गुस्से में बोली- नहीं, पर मेरा दिल हमेशा यह चाहता है कि काश तुम मर्द होते!

***

सलमा इरफ़ान से- सुना है मरने के बाद मर्दों को जन्नत में हूरें मिलती हैं. तो औरतों को क्या मिलता है?

इरफ़ान- वहाँ सिर्फ दुखियारों की सुनी जाती है!

***

जोरू सलमा- सुनो जी, मैंने नए डिटर्जेन्ट पाउडर से अपनी नयी पैंटी धोई और वो छोटी हो गई।
अब क्या करूँ ? ”
शौहर इरफान- उसी डिटर्जेन्ट पाउडर से ग़ाण्ड भी धो ले… फिट आ जायेगी।

***

लड़का इरफ़ान निकाह के लिए लड़की सलमा को देखने गया।

काफ़ी देर बैठे रहे, इरफ़ान को जोर से सूसू आ रहा था पर रोके रहा।

जब देर ज्यादा हो गई और उससे रुका नहीं गया तो इरफ़ान सलमा से बोला- सूसू करने की जगह तो दिखाओ!

सलमा शरमाते हुए बोली- पहले आप दिखाओ!

***

गुनहगार कौन?

पति-पत्नी इरफ़ान और सलमा सो रहे थे।

अचानक सलमा सपना देख कर चिल्लाई.. “भागो, मेरा पति आ गया!”

इरफ़ान उठा और खिड़की से कूद गया।

***

आजकल रात को सैक्स के फौरन बाद कपड़े जरूर पहन लिया करें,

बार बार भूकंप के झटके आ रहे हैं…

कभी भी घर से बाहर भागना पड़ सकता है !!

अपना ध्यान रखिये।

***
इरफ़ान अपनी बीवी सलमा को बहुत प्यार करता था।

एक बार जब उसकी बीवी सलमा को प्रसव के लिए ऑपरेशन थिएटर ले जाया गया तो उसके दर्द को देख कर इरफ़ान डॉक्टर के पास गया और डॉक्टर से बोला- डॉक्टर साहब, मैं अपनी बीवी को तकलीफ में नहीं देख सकता इसीलिए मैं चाहता हूँ कि आप कुछ ऐसा करें जिससे जितनी तकलीफ मेरी बीवी को हो रही है उतनी ही मुझे भी हो।

इरफ़ान की बात सुन कर डॉक्टर कुछ देर के लिए सोच में पड़ गया।

कुछ देर सोचने के बाद वह इरफ़ान को अपने साथ ऑपरेशन थिएटर में ले गया और इरफ़ान के टट्टे उसकी बीवी सलमा के हाथ में पकड़ा दिए.

***

इरफ़ान ने एक कॉल सेंटर में काम करने वाली लड़की सलमा से शादी कर ली।

सुहागरात को इरफ़ान अपना लौड़ा टाइट करके आया।
उसे उम्मीद थी कि उसकी नई नवेली दुल्हन सलमा अपनी चूत सहलाती हुई बैठी होगी।

लेकिन सलमा बिल्कुल मरे हुए कुत्ते की तरह बिस्तर पर पसरी हुई थी।

इरफ़ान- मादरचोद, यह क्या हाल बना रखा है? देखती नहीं मैं आ गया हूँ… मैं !

सलमा- नमस्कार, बिस्तर पर आपका स्वागत है।
अंग्रेज़ी स्टाइल में चुदाई करने के लिए बाईं चूची दबाएँ। हिन्दी स्टाइल में चुदाई करने के लिए दाईं चूची दबाएँ।

इरफ़ान- यह क्या मज़ाक है साली रंडी की औलाद?

सलमा- चूत संबंधी जानकारी, जैसे टाइट चूत या फटी चूत के बारे में जानने के लिए अंगुली डालें।
लौड़ा ठीक से काम नहीं कर रहा है जैसी किसी जानकारी के लिए अपना लंड मुँह में डालें।

गांड मारने के लिए गाँड में अंगुली डालें और अपनी झांटें खींचकर तीन बार अंगुली अंदर घुसाएँ।

इरफ़ान- बहन की लौड़ी, तेरी माँ की चूत, तुझे चोदने के लिए आया हूँ।

सलमा- मुझे चोदने के लिए ग्राहक सेवा एक्ज़ीक्यूटिव से बात करें।

इरफ़ान (लगभग रोते हुए)- भाड़ में गई ऐसी चूत। मादरचोद किस मनहूस से शादी कर ली।

सलमा- कृपया लाइन पर बने रहें। आपका लण्ड कतार में है। हमारे आंतरिक प्रशिक्षण व प्रयोजन के लिए आपकी इस हरकत को रिकॉर्ड
किया जा सकता है।

***

एक बार पठान इरफ़ान खान अपनी बेगम सलमा के साथ अपनी आरामगाह में लेटा हुआ था।

तभी अचानक वह बड़े प्यार से अपनी पत्नी की तरफ देख कर बोला- क्या हुआ? क्या हमारी जान हमसे नाराज़ है?

बेगम सलमा- तौबा-तौबा खान साहब ! कैसी बात कर रहे हैं?

इरफ़ान- नहीं ! हमको लग रहा है कि आप हमसे नाराज़ हैं।

बेगम सलमा- नहीं खान साहब, ऐसी कोई बात नहीं है आप ऐसा क्यों कह रहे हैं?

पठान इरफ़ान खान- क्योंकि आज आप अपना मुँह हमारी तरफ और अपनी गांड दूसरी तरफ करके सो रहीं हैं।

***

पठान इरफ़ान के घर शादी के बीस साल बाद बच्चा हुआ और पठान उदास हो गया !

पड़ोसी ने पूछा- यार तू उदास क्यों है?

पठान अपना थोबड़ा लटका के बोला- बीस साल बाद बच्चा हुआ और वो भी छोटा सा !

***

एक पठान इरफ़ान का निकाह हो रहा था!

सुहागरात को उसके दोस्तों ने दुल्हन सलमा की जगह एक लड़के सन्ता को बिठा दिया!

पठान कमरे में गया और जैसे ही घूंघट उठाया तो सलमा की जगह सन्ता को बैठा पाया !

पठान खुश होके बोला- इंसान का नियत साफ़ हो तो क्या नहीं मिलता !

***
इरफ़ान- सलमा डार्लिंग, क्या तुम मेरे साथ ज़िम जाना पसंद करोगी?

सलमा- तुम कहना क्या चाहते हो? मैं मोटी हो गई हूँ?

इरफ़ान- ओके, पसंद नहीं तो मत चलो!

सलमा- कहना क्या चाहते हो? मैं सुस्त हूँ?

इरफ़ान- उफ़्फ़ गुस्सा क्यूँ हो रही हो जानू?

सलमा- तुम्हारा मतलब है कि मैं हमेशा झगड़ती हूँ?

इरफ़ान- मैंने ऐसा तो नहीं बोला बाबू!

सलमा- अच्छा तो मैं झूठी हूँ?

इरफ़ान- ओके बाबा, मत चलो, मैं अकेले चला जाता हूँ।

सलमा- रुको रुको, अकेले क्यूँ जाना चाहते हो?

***

इरफान और सलमा की शादी हुई.

सुहागरात को इरफ़ान सलमा के निप्पल चूसते हुए बोला- तुम्हारे निप्पल कितने नर्म और रसीले हैं!!

सलमा शरमाती हुई बोली- पता नहीं जी… जितने मुँह उतनी बातें… कोई कुछ बोलता है तो कोई कुछ !

***

इरफ़ान एक लड़की सलमा को पटाकर कार में जंगल में ले गया।

इरफ़ान ने सलमा को चोदने के लिए उसके कपड़े उतरने शुरू किए तो सलमा बोली- मैं बताना भूल गई इरफान भाई कि मैं एक वेश्या Prostitute हूँ और एक बार चुदाई के 500 रुपये लेती हूँ।

इरफ़ान ने मजबूरी में पैसे दे दिए और सलमा को नंगी करके चोद दिया।

सलमा की चुदाई करने के बाद इरफ़ान कार से पीठ लगा कर आराम से सिगरेट पीने लगा।

सलमा- चलो, वापस नहीं जाना क्या?

इरफ़ान बोला- मैं बताना भूल गया था सलमा बहन कि मैं टैक्सी चलाता हूँ, और यहाँ से शहर जाने का किराया 700 रुपये बनता है!

***

सलमा ने अपने शौहर इरफ़ान को फोन किया- जानू, क्या कर रहे हो?

इरफ़ान- क्या है, तुम जानती हो कि इस समय मैं दफ्तर में होता हूँ, काम कर रहा हूं बिज़ी हूं ! तुमने फोन क्यों किया?
.
.
.
.
.
.
सलमा- केएफसी में बच्चों को बर्गर खिलाने लाई हूँ, तुम्हारे पीछे बैठी हूँ, बच्चे पूछ रहे हैं कि पापा के साथ यह कौन-सी वाली बुआ हैं?

***

सलमा इरफ़ान की शादी हुई।

सुहागरात को इरफ़ान ने सलमा की ब्रा खोलते हुए पूछा- पहले किसी से खुलवाया है?

सलमा- ब्रा का हुक खोलने वाले तो आप पहले ही हो, बाकी सब तो ऊपर करके ही चूस लेते थे।

***

इरफ़ान ने अपनी सारी ज़िन्दगी बहुत काम किया और बहुत पैसा कमाया।

पैसा होने के बावजूद भी वो बहुत कंजूस था।

उसे अपनी ज़िन्दगी में सबसे ज्यादा प्यार अपने पैसे से था।

यहाँ तक कि उसने अपनी बीवी सलमा से भी यह वायदा लिया था कि जब वो मर जायेगा तो उसका सारा पैसा उसके साथ उसकी कब्र में दफना देना।
उसकी बीवी सलमा ने भी उससे वायदा कर दिया कि जब वो मरेगा तो वो ऐसा ही करेगी।

कुछ दिनों बाद इरफ़ान की मौत हो गई, उसको ताबूत में लिटाया गया और जब सब लोग उस ताबूत को दफ़नाने लगे तो सलमा ने उनको रुकने को कहा।

सब रुक गए तभी सलमा एक डिब्बा लेकर आई और उसे ताबूत में रख दिया और कहा- इसमें मेरे शौहर का सारा पैसा है.

सब लोग यह देख कर हैरान थे कि वो ऐसा क्यों कर रही है। इरफ़ान तो अब मर चुका है तो अब सारा पैसा सलमा का ही है फिर भी वो डिब्बा ताबूत में रखना चाहती है।

सलमा ने सब की बात सुनी और बोली, “मैं एक अच्छी बीवी हूँ जो अपने शौहर की हर इच्छा पूरी करुँगी। मैंने उनसे वायदा किया था कि मैं उनके सारे पैसे उनके साथ ही ताबूत में छोड़ दूंगी।”

किसी ने उससे पूछा, “इसका मतलब तुमने सारे पैसे एक साथ इसमें रख दिए?”

सलमा ने जवाब दिया, “हाँ बिल्कुल, मैंने उसके सारे पैसे अपने खाते में जमा करवा दिए हैं और अपने शौहर इरफ़ान के नाम का चेक लिख दिया है जो कि इस डिब्बे में है!”

***

सलमा और इरफ़ान की शादी के बाद…

सलमा पहले साल- मैंने कहा जी, खाना खा लीजिए, आपने काफ़ी देर से कुछ नहीं खाया !

दूसरे साल- सुनो जी, खाना तैयार है, लगा दूँ?

तीसरे साल- खाना बन चुका है, जब खाना हो तब बता देना…!

चौथे साल- खाना बनाकर रख दिया है, मैं बाज़ार जा रही हूँ, खुद ही निकाल कर खा लेना !

पाँचवे साल- मैं कह रही हूँ, आज मुझसे खाना नहीं बनेगा, होटल से ले आओ !

छठे साल- जब देखो खाना खाना और खाना, अभी सुबह ही तो खाया था !

और शादी के बाद इरफ़ान कैसे बदला…

पहले साल- जानू, संभलकर… उधर गड्ढा है…

दूसरे साल- अरे यार देख के, उधर गड्ढा है…

तीसरे साल- दिखता नहीं, उधर गड्ढा है…

चौथे साल- अन्धी है क्या, गड्ढा नहीं दिखता?

पाँचवे साल- अरे उधर किधर मरने जा रही है, गड्ढा तो इधर है…

***

सलमा- मैं तुम्हारे प्यार में लुट गई, मर गई, बर्बाद हो गई!

इरफ़ान- मैं कौन सा तेरे प्यार में बिल गेट्स बन गया हूँ !?!

***

एक बार इरफ़ान अपनी जोरू सलमा का फोन चेक कर रहा था.

उसने देखा कि सलमा ने सबके फोन नम्बर ऐसे सेव कर रखे थे-

आँखों का इलाज
दिल का इलाज
कानों का इलाज़

उसे अपना नाम कहीं नही दिखा तो उसने गुस्से में अपना नंबर डायल किया तो नाम सामने आया- लाइलाज

***

इरफ़ान दफ्तर से घर लौटा।
उसे देखते ही सलमा ने कपड़े उतार दिए।
सलमा- पता है ना अब क्या करना है?
इरफ़ान- बिजली नहीं है, मैं मशीन के बिना कपड़े नहीं धो सकता।

***

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! सलमा और इरफ़ान के चुटकुले-2

प्रातिक्रिया दे