सलमा और इरफ़ान के चुटकुले-2

(Salma aur Irfan ke chutkule- Part 2)

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है:

एक बार इरफ़ान अपनी सलमा के साथ अपनी सुसराल में गया।

रात को इरफ़ान ने अपनी सलमा से कहा- चलो, चुदाई का एक दौर हो जाये?

सलमा बोली- नहीं, यह मेरे अब्बा का घर है।

इरफ़ान गुस्से से- तो क्या मेरे अब्बा का घर रेड लाइट एरिया है जो रोज रोज चुदने को तैयार हो जाती है?

***

एक दिन इरफ़ान एक पहुंचे हुए फकीर के पास गया और उनसे बोला- बाबा, मैं एक बहुत बड़ी मुश्किल में हूँ, क्या आप कोई हल बताएँगे?

फकीर- बोलो बरखुरदार?

इरफ़ान- बाबा, एक आदमी और एक औरत की जिंदगी में क्या फर्क होता है?

इरफ़ान की बात सुन फकीर ने ध्यान से इरफ़ान की तरफ देखा और कुछ देर सोचने के बाद मुस्कुराते हुए बोले- बरखुरदार, मर्द की सारी ज़िन्दगी उसकी टांगों के बीच में सिर्फ एक ही लंड रहता है, पर औरत की टांगों के बीच नहीं !

***

सलमा इरफ़ान से- हमारी बेटी नगमा की ब्रा मैंने ड्राइवर सुल्तान के कमरे में देखी।

इरफ़ान- कमीना कहीं का… लेकिन तुम वहां गई क्यों थी?

सलमा- मैं तो अपनी पैंटी लेने गई थी।

***

नगमा अपनी अम्मी सलमा के साथ दुकान पर जाकर बोली- चचा ! एक 28 नंबर की ब्रा देना !

दुकानदार अहमद- छोटे, एक ‘बाल गोपाल’ लाइयो !

सलमा- भाईजान, मुझे भी एक 42 नंबर की एक चाहिए।

अहमद- छोटू, साथ में एक ‘झूले लाल’ भी ले आइयो !
***
सलमा की शादी के बाद उसकी सहेली रुखसाना ने फोन करके पूछा- मेरा दिया हुआ लहंगा पहना क्या?

सलमा- एक हफ्ते से कच्छी तो पहनने नहीं दे रहा, लहंगा क्या खाक पहनूँगी?

***

इरफ़ान- बेगम नींद नहीं आ रही, एक बार चुदाई हो जाये?

सलमा- मादरचोद ! मेरी फुद्दी के अंदर क्या तेरी माँ लोरी सुना रही है जो नींद आ जायेगी?

***

इरफ़ान- शादी के बाद यह साली जिंदगी कुत्ते जैसी हो गई है !

सलमा- कुत्ते की क्या बराबरी करोगे तुम? वो तो एक घंटे तक फंसा कर रखता है, तुम्हारी तो एक मिनट में गांड फट जाती है.

***

सलमा गुस्से से- मैं घर छोड़ कर जा रही हूँ !

इरफ़ान उतने ही गुस्से से चीख कर- भाग जा कामिनी… मेरे लण्ड पे चढ़ !

सलमा- तुम्हारी यही खूबसूरत बातें तो मुझ जाने नहीं देती !

***
एक पठान इरफ़ान और उसका दोस्त सलमान एक XXX फिल्म देख रहे थे जिसमें दो लड़के एक साथ एक लड़की के साथ कार्यक्रम कर रहे थे।

इरफ़ान फिल्म खत्म होने के बाद बोला- लानत है ऐसी लड़की पर जो दो प्यार करने वालों के बीच में आ गई!

***

सलमा इरफान के साथ पहली बार गाँव में गई।

वहाँ उसने सन्ता किसान को बैलों की जोड़ी खेत में ले जाते देखा तो बोली- व्हाट अ कपल!! वाह, क्या जोड़ी है!

यह सुन कर इरफ़ान बोला- अरे पगली! ये बैल हैं!

सलमा- हाँ, बैल इनके गले में बंधी है!

इरफ़ान- अरे ये दोनों बैल हैं ऑक्स ऑक्स! मेल काऊ!

सलमा- क्या कहा? दोनों मेल? क्या यह अब जानवरों में भी और यहाँ गाँव में?
***

***

इरफ़ान ने बीवी सलमा के जन्मदिन पर तोहफे में

अगर घड़ी दी तो:

सलमा- समय देखने से क्या मिलेगा… मेरा समय तो तभी से खराब हो गया जब मैंने तुमसे शादी की थी।

तोहफे में गहने दिए तो:

सलमा- फालतू पैसों की बर्बादी करी… पुरानी डिजाइन के है। वैसे भी मैं कौन सा कुछ पहन पाती हूँ, आखिरी बार तो तुम्हारी बहन की शादी में 2 महीने पहले पहने थे।

तोहफे में मोबाइल दिया तो:

सलमा- मेरे पास तो पहले से है, और वैसे भी तुम्हारे वाला ज्यादा अच्छा है।

इरफ़ान- ठीक है, तो मैं बदल कर मेरे जैसा ला देता हूँ।

सलमा- रहने दो, महंगा होगा। वैसे भी मुझे उसके फंक्शन्स समझ नहीं आते।

तोहफे में परफ्यूम दिया तो:

सलमा- ये नहीं नहाने वालों के चोचले हैं… और ये मुझे देकर साबित क्या करना चाहते हो?

तोहफे में रेशमी साड़ी दी तो:

सलमा- ये कौन पहनता है आजकल? कभी कभार किसी त्योहार या शादी ब्याह में पहनेंगे फिर रखी रहेगी।

तोहफे में सूट दिया तो:

सलमा- फिर पैसों की बर्बादी… इतने सारे सूट पड़े पड़े सड़ रहे हैं। इसको भी रखने का सर दर्द ले आए।

तोहफे में फूलों का गुलदस्ता दिया तो:

सलमा- ये फूल पत्ती में क्यों पैसे बहा आए? इससे अच्छे फूल तो बाहर गमले में लगे है।

इरफ़ान बाहर गमले से फूल ले आया तो:

सलमा- ये क्यों तोड़ दिया? दिखने में कितने अच्छे लगते थे और वैसे भी मैंने इसे कल सुबह की पूजा के लिए छोड़ा था।

तोहफे में कुछ नहीं दिया तो:

सलमा- आज क्या दिन है?

इरफ़ान- सोमवार

सलमा- ऊहुँ… तारीख?

इरफ़ान- 21 अगस्त।

सलमा- तो?

इरफ़ान- तो, हैप्पी बर्थडे।

सलमा- बस, मेरा तोहफ़ा कहाँ है?

***
इरफ़ान भाई ने अपनी गर्लफ्रेंड का नाम फोन बुक में LOW BATTERY के नाम से सेव किया

एक बार इरफ़ान बाथरूम में था और उसकी गर्लफ्रेंड का फोन आ गया.

इरफ़ान की बीवी सलमा ने फोन देखा तो

मालूम है कि क्या हुआ?

अरे कुछ नहीं हुआ

बस सलमा ने ‘LOW BATTERY’ पढ़ कर उसे चार्जिंग पे लगा दिया.

इरफ़ान भाई का नाम नोबेल पुरूस्कार के लिए भेजा गया है..

***
***

सुहागरात के बाद पति इरफ़ान अपनी नई नवेली बीवी सलमा से बोला- अरे खून तो निकला ही नहीं?

इरफ़ान की चुदाई से असंतुष्ट सलमा ने गुस्से में जलभुन कर जवाब दिया, “क्यों बे मादरचोद, तूने अंदर तीर कौन सा तीर मारा था?

***

इरफ़ान कंडोम का पैकेट खरीदने के लिए कैमिस्ट की दुकान पर गया।

और तभी उसकी बीवी सलमा का मोबाइल पर मैसेज मिला- ‘घर आते वक़्त ‘व्हिस्पर’ (WHISPER) लेते आना !

***

सलमा- जानू आपने कोई ऐसी गाली सुनी है जो देखी भी हो?

इरफ़ान हँसने लगा और बोला- हाँ! कई बार!

सलमा- कौन सी?

इरफ़ान हँसते हुए बोला- तेरी बहन की चूत!

***

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! सलमा और इरफ़ान के चुटकुले-2

प्रातिक्रिया दे