पप्पू सलमा इरफ़ान

(Pappu Salma Irfaan)

माशूका सलमा अपने आशिक पप्पू से- आज मेरी ले लो ना !

पप्पू- नहीं ! मैं कुंवारी लड़कियों के साथ सेक्स नहीं करता।

सलमा- क्यूँ?

पप्पू- बस मुझे खून-खराबा, शोर शराबा बिल्कुल पसंद नहीं है।

***

शौहर इरफ़ान के लंड पर मधुमक्खी ने काट लिया तो वह अपनी बीवी सलमा के साथ डॉक्टर छोटूमल साब के पास गया।

सलमा शर्माते हुए डॉक्टर छोटूमल साब से बोली- सिर्फ दर्द की दवा देना, सूजन रहने देना !

***

इरफ़ान का सेक्स करने का मूड था वह ऑफिस से घर आते हुए बाज़ार से कंडोम ले आया तो सलमा ने उससे पूछा- ये कंडोम कितने के हैं?

इरफ़ान- 50 रुपये के।

सलमा- हे अल्लाह, 50 रुपए के सिर्फ़ तीन? महंगाई तो देखो, जब मैं दसवीं में पढ़ती थी तब 5 रूपये के तीन आते थे।

***

पप्पू अपनी गर्लफ्रेंड सलमा की याद में उदास बैठे पानी में पत्थर मार रहा था…

तभी एक मेंढक पानी से निकल कर बोला- पानी में आ तेरी उदासी उतारूँ साले…

अपनी वाली के चक्कर में मेरी वाली का सिर फोड़ दिया।

***

वर्ड कप के मैच चल रहे थे…

इरफान भी मैच देखने में मग्न था..

आखिर उस मैच से तंग आकर उसकी बीवी सलमा बोली- हर वक्त बस मैच मैच और मैच… मैं तो तंग आ गई इस मुए मैच से… मैं घर छोड़ कर अपने मायके जा रही हूँ…

इरफान मैच की धुन में ही बोला- पहली आर कदमों का बेहतरीन उपयोग..

***

पप्पू ने एक बार कॉलोनी के पार्क की झाड़ियों के पीछे सलमा और इरफान को चोदम चोदी करते हुए देख लिया तो उन दोनों से बोला- मुझे भी चुदाई करने दो नहीं तो मैं तुम दोनों के मम्मी-डैडी को बता दूँगा कि तुम दोनों यहाँ क्या कर रहे थे।

पप्पू की धमकी सुनकर सलमा इरफान घबरा गए और सलमा पप्पू से बोली- प्लीज़ ऐसा ना करना… अरे तुम भी आ जाओ ना… तुम भी चोद लो… पर यह बात किसी को बताना मत।

यह सुन कर पप्पू मान गया।
उसने सलमा को चोदने की पूरी कोशिश की लेकिन उसे चोदना आता ही नही था तो वो कुछ नहीं कर पाया !

बार बार प्रयत्न करने के बाद भी पप्पू से कुछ नहीं हुआ तो वो उठ गया और अपने क़पड़े पहनते हुए बोला- जहन्नुम में जाए दुनिया दारी, जो काम ग़लत है वो ग़लत है मैं तो शिकायत ही लगाऊँगा।

***

एक बार पप्पू अपने दोस्त इरफ़ान के घर गया।

इरफ़ान, उसकी बीवी सलमा और पप्पू तीनों बैठे खाना खा रहे थे कि अचानक पप्पू के पैर से कुछ टकराया तो उसने मेज के नीचे देखा कि इरफ़ान की बीवी सलमा उसे पैर मार कर छेड़ रही थी।

पप्पू ने सलमा की तरफ देखा तो वो पप्पू को इशारा करके रसोई में चली गई।

पप्पू ने भी बहाना बनाया और वो भी रसोई में चला गया।

रसोई में सलमा ने पप्पू से पूछा- तुम कुछ समझे? क्या इरादा है?

पप्पू- समझ गया, मैं वही चाहता हूँ जो तुम चाहती हो।

इरफ़ान की बीवी सलमा- लेकिन मैं पाँच हजार रुपये लूंगी।

पप्पू ने कुछ देर सोचा और बोला- ठीक है, मैं कल आऊंगा पैसे लेकर।

अगले दिन पप्पू पैसे लेकर आया और उसने जमकर सलमा की चुदाई की।

शाम को जब इरफ़ान वापिस घर आया तो उसने सलमा से पूछा- आज पप्पू आया था क्या?

सलमा पहले तो यह सुनकर घबरा गई कि कहीं इरफ़ान को पता तो नहीं लग गया फिर थोड़ी हिम्मत करके बोली- जी हाँ, आया था।

इरफ़ान- वो पाँच हजार दे गया ना?

सलमा चकरा गई कि इसे कैसे पता लगा, लेकिन घबराहट में हाँ में सिर हिला दिया।

इरफ़ान बोला- चलो अच्छा है, दरअसल वो मुझ से कल शाम पाँच हजार रुपये ले गया था, बोल रहा था कि आज शाम तक भाभी जी को घर पर दे जाऊँगा।

***

एक बार इरफ़ान और सलमा अपने सात साल के बेटे पप्पू को लेकर ‘मर्डर’ फिल्म देखने गए।

फिल्म में जब वो सीन आया जिसमें इमरान खान मल्लिका शेरावत के साथ सेक्स करता है तो:

पप्पू जोर से चिल्लाया- अब्बू अम्मी… देखो.. ये लोग आपकी नकल कर रहे हैं…

***

बेटा पप्पू अपने इरफ़ान अब्बा से- अब्बू अब्बू, मुझे एक बहुत खूबसूरत लड़की से इश्क हो गया है। मैं उसे डेट पर ले जाना चाहता हूँ।

इरफ़ान- बहुत अच्छे बेटा, पर बताओ तो वो कौन है?

पप्पू- वो साथ वाले सन्ता की बेटी रज्जो !

इरफ़ान- ओह ! काश कि तु्झे उससे इश्क ना हुआ होता !

पप्पू- आप ऐसा क्यों कह रहे हो अब्बू?

इरफ़ान- मैं तुमसे एक राज की बात कहना चाहता हूँ पर पहले मुझसे वादा करो कि यह बात तुम अपनी अम्मी को नहीं बताओगे?

पप्पू ने वादा किया तो इरफ़ान ने बताया- असल में रज्जो तुम्हारी बहन है, एक बार मैं सन्ता की घरवाली प्रीतो के चक्कर में पड़ गया था।

पप्पू की गाण्ड फ़ट गई, उसने रज्जो को भुला दिया।

कुछ दिन बाद…

पप्पू- अब्बू, अब मैंने एक और भी जोरदार माल पटाया है, मुझे दो हज़ार रुपए चाहिएँ, मैं उसे घुमाने ले जाना चाहता हूँ।

इरफ़ान- बहुत अच्छे बेटा, पर बताओ तो वो कौन है?

पप्पू- वो साथ वाले बन्ता की बेटी लाजो !

इरफ़ान- ओह ! काश कि तु्झे उससे इश्क ना हुआ होता !

पप्पू- आप ऐसा क्यों कह रहे हो अब्बू?

इरफ़ान- मैं तुमसे एक राज की बात कहना चाहता हूँ। असल में लाजो भी तुम्हारी बहन है, एक बार मैं बन्ता की घरवाली जीतो के चक्कर में भी पड़ गया था।

पप्पू ने लाजो को भी छोड़ दिया।

कई बार यही हुआ तो पप्पू सीधा अपनी अम्मी सलमा के पास गया- अम्मीजान, मैं पागल हो जाऊँगा, मैंने छः लड़कियाँ पटाई, पर अब्बू कहते हैं उन सबके बाप वे खुद हैं।

सलमा ने पप्पू को बड़े प्यार से अपने आगोश में लेते हुए कहा- मेरे बेटे, जा तू उनमें से किसी को भी या सबको घुमाने ले जा ! तू जिसे अब्बू कहता है, असल में वो तेरे असली अब्बू नहीं हैं।

***

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top