सन्ता और इरफ़ान के चुटकुले-2

(Santa Aur Irfaan ke Chutkule- Part 2)

एक बार सन्ता की बीवी प्रीतो अपने घर पर नहा रही थी तो इरफ़ान ने चुपके से उसे देख लिया।

अगले दिन सन्ता जब इरफ़ान से मिला तो इरफ़ान बोला- मैंने कल तुम्हारी बेगम को नहाते हुए देखा।

सन्ता को यह सुन बहुत गुस्सा आया और उसने भी कभी मौका मिलने पर बदला लेने की ठानी।

सन्ता के सौभाग्य से उसी शाम को सन्ता ने देखा कि इरफ़ान के कमरे के परदे कुछ खिसके हुए हैं और कमरे में सेक्स हो रहा था।

अगले दिन सन्ता इरफ़ान से बोला- तुमने तो मेरी बीवी को नहाते हुए देखा था ना, मैंने तो कल तुम दोनों को सेक्स करते देखा।

इरफ़ान हँसते हँसते बोला- चल साले झूठे, कल तो मैं घर पर ही नहीं था, रात दो बजे घर पहुंचा था मैं! तूने कैसे देख लिया!

***

एक कंपनी का बॉस सन्ता अपने सेल्समेन इरफ़ान को डाँट रहा था।

बॉस सन्ता- मुझे इस बात का जवाब दो कि तुम उस कंपनी में आर्डर लेने क्यों नहीं गए?

सेल्समैन इरफ़ान- सर आप चाहे मुझे लाख गालियाँ दे लीजिये पर मैं उस कंपनी में नहीं जाऊँगा।

सन्ता- क्यों ऐसा क्या है उस कंपनी में?

इरफ़ान- सर मैं वहाँ 15-20 बार गया था पर वो आर्डर नहीं देते और ऊपर से बेइज्जती अलग से करते हैं।

सन्ता- अबे भोंसड़ी के ! इसका मतलब अगर तेरी बीवी बच्चा नहीं देगी तो उसे चोदना छोड़ देगा?

***

एक बार इरफान ने मोटर साइकिल पर बैठ कर सिनेमा हाल के सामने सन्ता से पूछा- भाईसाहब, मोटर साइकिल का स्टैंड कहाँ है?

सन्ता- भाईसाब, पहले आप अपना नाम बताइये?

इरफान- इरफान!

सन्ता- आपके माता-पिता क्या करते हैं?

इरफान: क्यों? भाई साहब मैं लेट हो जाऊंगा और फिल्म शुरू हो जाएगी।

सन्ता- तो जल्दी बताओ?

इरफान- मेरी माँ एक डॉक्टर हैं और मेरे पिता जी इंजीनियर हैं। अब बता दीजिये?

सन्ता- आपके नाम कोई जमीन जायजाद है?

इरफान: हाँ, गांव में एक खेत मेरे नाम है? प्लीज़ भाई साहब अब बता दीजिये स्टैंड कहाँ है?
सन्ता- आखिरी सवाल, तुम पढ़े लिखे हो?

इरफान- जी हाँ, मैं MBA कर रहा हूँ। अब बताइये जल्दी से।

सन्ता- भाई साहब, देखिये आपकी पारिवारिक पृष्ठभूमि इतनी अच्छी है, आपके माता पिता दोनों उच्च शिक्षित हैं, आप खुद भी इतने पढ़े लिखे हैं पर मुझे अफ़सोस है कि आप इतनी सी बात नहीं जानते कि मोटर साइकिल का स्टैंड उसके नीचे लगा होता है। एक बड़ा और एक साइड वाला।

***

सन्ता अपने दोस्त इरफ़ान के घर पहली बार आया।

वहाँ एक बालक को खेलते देख कर सन्ता बोला- यार तेरा बेटा तो बिल्कुल तेरे जैसा दीखता है।

इरफ़ान सकपका कर बोला- यार धीरे बोल… यह काम वाली का बेटा है, जब वो काम करने आती है तो यह अक्सर उसके साथ आ जाता है…

***

डॉक्टर इरफ़ान ने सन्ता को फ़ोन करके बताया- मुबारक हो, आप के घर लड़का पैदा हुआ है!

सन्ता- अरे, यह तो कमाल की टेक्नोलॉजी है। मेरी बीवी अस्पताल में है और बच्चा घर में पैदा हुआ है?

***

इरफ़ान पत्रकार ने सन्ता से पूछा- अगर आपकी बीवी को भूत चिपट जाये तो आप क्या करेंगे?

सन्ता ने तुरंत जवाब दिया- मैं क्यों कुछ करूँगा? गलती भूत की है, भूत खुद ही निपटेगा !!

***

सन्ता अपनी बिमारी के इलाज़ के लिये इरफ़ान हकीम के पास गया, बोला- हकीम साब, मुझे एक अजीब सी बिमारी हो गई है।

हकीम इरफ़ान- जरा खुल कर बताइए जनाब !

सन्ता- जब मेरी बीवी प्रीतो बोलती है तो मुझे कुछ सुनाई नहीं देता…

हकीम इरफ़ान-अरे साहब, यह बीमारी नहीं, ऊपर वाले की रहमत है, उस खुदा का शुक्रिया अदा कीजिए जनाब !

***
सन्ता केले वाला- गाण्ड फाडू केले ले लो.. गाण्ड फाडू केले ले लो..

इरफान- अरे वाह… गाण्ड फाडू केले ! कितने का है एक कला?

सन्ता केले वाला- 150 का एक !

इरफ़ान- बहनचोद इतना महंगा केला?

सन्ता केले वाला- क्यूँ? फट गई ना गाण्ड !

***

एक 19 साल का गोरा-चिट्टा लड़का इरफ़ान घर से भाग कर मुंबई चला आया.

वहाँ काम-धंधा तो कुछ मिला नहीं लेकिन दारू की लत ज़रूर लग गई.

इरफ़ान सारे दिन में कोई छोटा-मोटा काम करता और रात को देसी दारू पीकर पूरे नशे में टल्ली होकर एक गैराज़ के बाहर सो जाता था.

एक रात गैराज़ का मालिक सन्ता गैराज में कुछ चेक करने आया और उसे इरफ़ान वहाँ सोता हुआ दिखा.
गोरा-चिट्टा चिकना सा लड़का देख कर सन्ता का लंड खड़ा हो गया और उसने लड़के की गान्ड मार ली

इरफान भी दारू के नशे में फुल टल्ली था, उसे कुछ महसूस नहीं हुआ.
इरफ़ान की गाण्ड मारने के बाद सन्ता को उस पर तरस आया तो उसने इरफ़ान की जेब में 50 का एक नोट रख दिया.

अगले दिन सुबह उठ कर इरफ़ान को जब उसकी जेब से 50 का नोट मिला तो वो खुशी से पागल हो गया और उस दिन उसने और ज़्यादा देसी दारू पी ली.

अब तो सन्ता का भी रोज़ का काम हो गया था कि रात को आना, इरफ़ान की गाण्ड मार कर 50 का नोट जेब में डाल कर चले जाना.
एक रात को सन्ता अपने साथ अपने 3 दोस्तों को भी ले आया.
सन्ता और उसके दोस्तों ने भी इरफ़ान की गाण्ड मारी और 50-50 रुपये उसकी जेब में रख कर चले गये.

अगले दिन इरफ़ान ने अपनी जेब में 200 रुपये देखे तो उसकी आँखें फटी की फटी रह गई, वो सीधा ठेके पे गया और बोला- ये ले पैसे और आज तो एक अँग्रेज़ी का पव्वा दे दे, साला देसी पी पी कर तो गाण्ड में दर्द होने लगा है!

***

एक बार सन्ता समुद्रतट पर नंगा होकर उल्टा लेटा था.

तभी वहाँ इरफ़ान आया और सन्ता के चूतड़ देख कर उन पर तबला बजने लगा!

काफी देर बाद जब इरफ़ान थक कर बैठ गया तो सन्ता सीधा हुआ और बोला- हाथ दुखने लगे हैं तो ले अब बांसुरी बजा!
***

हकीम इरफ़ान और सन्ता

हकीम इरफ़ान लण्ड लम्बा करने की गोली बेच रहा था।

सन्ता ने उससे पूछा- इस गोली का असर कैसा है?

हकीम इरफ़ान बोला- एक गोली लोगे तो लंबा होगा और दो लोगे तो डण्डा होगा।

सन्ता- तीन गोली ले ली तो?

हकीम इरफ़ान- अबे भोसड़ी के! तुझे चोदना है या कुआँ खोदना है?

***

आखिरी ख्वाहिश

सन्ता अपराधी को फांसी की सजा सुनाने के बाद जज इरफ़ान ने सन्ता से पूछा- तुम्हारी आखिरी ख्वाहिश क्या है?
मुजरिम सन्ता बोला- मेरी आखिरी तमन्ना यही है कि मैं उस बच्चे की शादी में शामिल होऊं जो मुझे दादा कहता हो और आपको नाना!

***

Leave a Reply