इरफ़ान की फिलोसफी

(Irfaan Ki Philosophy )

इरफ़ान अपने दोस्तों के बीच खडा अपनी फिलोसफी झाड़ रहा था !

उसने कहा- लोहा लोहे को काटता है, हीरा हीरे को काटता है…

तभी अचानक पीछे से आकर एक कुत्ते ने इरफ़ान को काट लिया..

***
एक बार इरफ़ान अपनी जोरू सलमा का फोन चेक कर रहा था.

उसने देखा कि सलमा ने सबके फोन नम्बर ऐसे सेव कर रखे थे-

आँखों का इलाज
दिल का इलाज
कानों का इलाज़

उसे अपना नाम कहीं नही दिखा तो उसने गुस्से में अपना नंबर डायल किया तो नाम सामने आया- लाइलाज

What did you think of this story??

Comments

सबसे ऊपर जाएँ