जीजा सलमान-साली सलमा

सलमान की बीवी नगमा पेट से थी, तो नगमा की देखभाल के लिए वो अपनी साली सलमा को लेकर ससुराल से अपने गांव लौट रहा था।

उसके हाथों में एक बाल्टी, एक छड़ी, बगल में एक मुर्गी और बकरी की रस्सी थी।

सुहावनी चाँदनी रात थी और साली सलमा खूबसूरत और जवान थी।

अचानक सलमा बोली- जीजाजी, मुझे आपके साथ चलने में डर लग रहा है। कहीं आप कुछ बदमाशी ना करने लगें?

जीजा सलमान- अरे, मैं कैसे कोई बदमाशी कर सकता हूँ। मेरे तो दोनों हाथ घिरे हुए हैं, चाह कर भी मैं कुछ नहीं कर सकता।

साली सलमा- कैसे नहीं कर सकते? अभी अगर आप छड़ी ज़मीन में गाड़कर बकरी उसके साथ बांध दें और मुर्गी को बाल्टी के नीचे रख दें तो फिर मेरे साथ जो चाहें कर सकते हो आप।

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! जीजा सलमान-साली सलमा

प्रातिक्रिया दे