जैसे आपके दोस्त बंता के साथ

संता अपनी बीवी को संतुष्ट नहीं कर पाता था जिस कारण वह बहुत परेशान था!

एक दिन वह अपने दोस्त बंता के पास गया और उससे कहा यार मैं जानता हूँ कि तुम हमेशा अपनी बीवी को संतुष्ट करते हो तुम ये सब कैसे कर लेते हो?

बंता ने कहा इसमें कोई परेशान होने की जरुरत नहीं है मैं कैसे करता हूँ ये तुम्हें बताता हूँ, मैं पहले आराम से अन्दर डालता हूँ फिर उसे बाहर खींचता हूँ और फिर झटके से पूरा अन्दर डालता हूँ और फिर तेज तेज हिलाता हूँ और काफी देर तक करता हूँ!

संता घर गया उसने रात को अपने दोस्त की बताई हुई तरकीब से सेक्स करना शुरू कर दिया उसने पहले आराम से अन्दर डाला, फिर बाहर खींचा और फिर तेजी से अन्दर डाल दिया और तेज तेज सेक्स करने लगा और लगातार करता रहा!

थोड़ी देर बाद उसने अपनी बीवी से पूछा डार्लिंग, जिस तरह मैं आज सेक्स कर रहा हूँ उसमें तुम्हें कैसा लग रहा है?

बीवी: जी, ऐसा लग रहा है जैसे मैं आपके दोस्त बंता के साथ सेक्स कर रही हूँ !

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! जैसे आपके दोस्त बंता के साथ

इस कैटेगरी की और अधिक कहानियाँ पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें हास्य रस- चुटकुले या ऐसी ही अन्य कहानियाँ

प्रातिक्रिया दे