चुटकुले- जीवन की सच्चाई

(Chutkule- Jeevan Ki Sachchayi)

दया और जेठालाल घर की बालकोनी में खड़े थे.

दया आसमान के तारे देख कर बोली- टप्पू के पापा.. ऎसी कौन सी चीज है जो आप देखते तो रोज हो पर घर नहीं ला सकते?

जेठा लाल सोच में डूबा हुआ था, वो बोला- बबीता जी…

***

पति चाहे कितना ही खर्च कर दे पत्नी की शौपिंग के लिए…

लेकिन पत्नी ‘थैंक यू’ तो दूकानदार को ही बोलेगी..

***

सिर्फ रोज जूस पीने से ताकत नहीं आयेगी…

रोज मुठ मारनी भी बंद करनी पड़ेगी..

***

अगर भारत में मैगी Maggie बैन हो गई तो ज्यादातर लड़कियाँ वैवाहिक matrimonial साईट या विवाह के विज्ञापन में अपना BIO-DATA लिखते समय Hobby वाले कॉलम में खाना बनाना यानि ‘Cooking’ नहीं लिख पायेगी

***

वक़्त की क़दर

वक़्त की क़दर उस शख्स से पूछो, जो बाथरूम के बाहर खड़ा हो और उसे ‘दस्त’ लगे हों
और
.
..

अंदर वाले को हो रही हो ‘क़ब्ज़’!

***

गाण्ड देख साली की…

लड़कियाँ तो अक्सर खूबसूरत दिखने के लिए

* चेहरे पर क्रीम, पाउडर लगाती हैं

* बालों को कलर करती हैं

* होंठों पर लिपस्टिक लगाती हैं

* नाखूनों पर नेल-पालिश लगाती हैं

* आई-ब्रो बनवाती हैं

* आँखों की पलकों पर मस्कारा लगाती हैं

* स्टाइलिश ड्रेस पहनती हैं

फिर घर से बाहर निकलती हैं..!
.
.
.
और लड़के देख के बोलते है..
यार…
.
.
गाण्ड देख साली की…!!!!!!!

***

लड़के ही कमीने होते हैं

अगर लड़का घर आकर उलटी करे तो माँ बाप कहते हैं- कमीने कितनी पीकर आया है?
अगर लड़की घर आकर उलटी करे तो माँ बाप कहते हैं- कौन था वो कमीना?
इस बात से यही पता चलता है कि- उल्टी कोई भी करे गालियाँ लड़के को ही दी जाती हैं!

लड़कों के संस्कार

चार लड़कियाँ एक साथ बैठ कर बोल सकती हैं कि तेरा भाई मस्त दीखता है!
पहचान तो करा दे!

पर

चार लड़के एक साथ बैठ कर कभी नहीं बोल सकते कि तेरी बहन मस्त सुंदर है!
पहचान तो करा दे!
ऐसे होते हैं लड़कों के संस्कार!

What did you think of this story??

Comments

सबसे ऊपर जाएँ